Papa ke dost ke sath maa ki najayez sex kahani

Dosto.. aaj jo indian sex kahani batane jaa raha hu wo meri maa ki sex story hai,aaj main share karunga kaise meri maa ne papa ki dost ke sath sex kiya,aur kaise papa ke dost ne meri maa ko choda,maa ka naam ranjana hai .meri maa dekhne ne main bohut hi khoobsurat hai.meri maa ki sexy figure dekhte hai kisi admi ka lund khada hone ke liya majbur hai.meri maa ki mast gand aur maa ki bade bade boobs, meri maa bohut sexy bhi hai. Papa kissi kaam say bahar gaye hue the… ghar mein mein aur mummy akelay the… us din sham ko papa kay do dost ghar aye unko maloom nahin tha ki papa ghar pay nahin hain….. hum nay unko bataya ki papa 15 din say ghar say bahar hain aur next week ayengay…. Who mom ki taraf dekh kay boley okay bhabhi jee chaltay hain fir kabhi ayengay…. Aur fir halka sa muskrat kay chaley gaye…… mom bhi thodi si hansi

Us kay baad mein apnay room mein hala gaya aur mom loby mein…. Fir ek dost dubara aya aur mom ko kuch halka sa bol kay chala gaya…… mainey mom say poocha kya bola rahey the uncle mom boli bol rahe the ki papa ko bata dena hum aye they maine kaha okay…..Hum nay raat ka kahan khaya aur mein apnay room mein chala gaya   aur kuch time baad mom bhi room main chali gayeee…. Fir mom kay kamray mein table ki awaaz aye… maine store room kay chotey ventilator say dekha…. Mom table ko seedha kar rahi thi aur fir apnay room ki safyee kar rahi thi … raat mein safai samaj nahin aye .. maine samjha ki kuch gadbad hai. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Aur fir mein thodi thodi daer baad room mein jhankata raha Kareeb raat kay 12.15 bajay jab maine andhar jhanka…. Mein dang rah gaya…… mom nay tight gown pehna hua tha aur papa ka ek dost jiska naam  chauhan hai sofa pay batha tha aur mom chouhan ki goudi mein bathi huee thii…. Aur unki baaten meray ko saaf sunayee de rahi thi aur
Chouhan  : prashant (meray papa) kab say gaya hua hai …. Park sookha hoga
Mummy  : park bhi sookha hai aur doodh ka bhi paneer ban gaya hai
Chouhan ; koi nahin aaj sab theek kar dengay……….jab kaam zada ho jaye park ka tab do ya teen mali ko  karna padta hai…..
Mummy : tumahari wife kahan hai ….
Chouhan : ghar…. Mein bol kay aya tha rat ko prem kay ghar kaam hai wahan rahonga
Mummy : okay
Fir chouhan nay mummy ka ek mumma bahar nikala …….
Chouhan : uffffffffffffffffff…….Sali raand kitna bada doodh ka drum ho gaya hai…..
Mummy : khali karo na fir isko
Chouhan : ek say kahan khali hongay dono…time lagega

Dheeray dheeray mom garam ho gayeeee… aur apnay aap ki usnay apna sara ka sara gown utaar diya
Mom ab sirf  bra aur kacchi meinn thi aur mom kay dono mummay bra kay bahar latak rahe the… aur who choos raha thamom uska lund hila rahi thi…….Chouhan nay mom ki kacchi bhi utaar di aur mom ki shaved chikni choot dekh kay pagal ho gaya aur kuttay ki tarah chaatanay laga…..
Chouhan ; ranjana  bura mat manana prem bahar wait kar raha hai……please uskao bhi bula loon…
Mummy : kissi ko bole ga to nahin.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.
Chouhan : are nahin Fir chouhan nay phone lagaya aur who bhi peechay kay darwaze say andhar aa gaya
Prem mom ko nanga dekha kay pagal ho gaya aur bola yaar chouhan mast maal hai…. Iski to lenay mein maza ayega….Chouhan : hum aissay hi iskay deewanay thodi hain… abhi jab chadega tab dekhna kaissi sair karwagee Chouhan : prem cha lab apnay kapday uataar aur tayari kar
Prem nay apnay sare kapday khol diya aura b teeno nangay bathey hue the, chouhan aur prem ki taangon kay beech say saamp latak rahe the aur mom ki chest par aaam aur neechay saamp ka bill chupa hua tha….
Chouhan ab bed pay laet gaya aur mom  ghutno kay bal bath kay apni choot chouhan kay  muh kay upar rakh dee aur prem ka lund choosnay lagi…..
Chouhan ki chatnay ki awaaz aur prem ki ah ah ah aur mom ki puch puch lund choosnay ki awaazein saff aa rahi thi…

Prem : ranjana chalo ab apna park to chatanay do na…..
Mummy :  pelay is kuttay ko to chaatnay do na……
Fir mummy chouhan kay upar say uthi bed pay dono taangay faila kay laet gayee….chouhan bed kay neechay khada ho gaya aur prem mom ki moti moti jaango mein uska garden chaatnay laga…. Aur chouhan nay mom kay muh mein apna pani ka pipe (lund ) daal diya
Chouhan : chal Sali kutiya ab mera pani thoda agay tak kar taki ki teray garden ko acchi tarah seench sakoon…….
Mom idhar lund choos rahi thi udhar apnay hathon say prem ka mum daba rahi thi taaki who acchi tarah say chaat sakey
Chouhan : cha lab ranjana ghodi ban ja……….
Prem haan  jaldi bano ab control nahin hota……..
Mom jhat say ghodi ban gayeee………………… dono dost ab mom kay peechay khaday the
Chouhan : prem kaissa hai drawng room……
Prem  :  ab mehmaan andhar jayega tabi to bata paoonga…….
Chouhan : Ranjana bina dekhay batana ka kiska menmaan andhar gaya hai ….. tab manoonga tera experience
Fir prem nay ki choot mein apna lund daal diya…….
Mom : Prem ka gaya hai na chouhan…
Chouhan : are wah randi bilkul sahi… par tumko kaisay pata ki iska gaya hai
Mummy :  are itna experience hai ki agar mein kissi ko peshaab karti hue uska lund dekh loon to bhi jab andhar jayega bata doogi prem ka to maine suck kiya hai aur tumahara to bahut baar liya hai
Prem :  wah re wah
Mummy :  chalo chouhan ab agey aao aur mereay muh mein dalo

Prem peechay say jhatakay maar raha tha aur chouhan agay mummy kay muh mein jatak raha tha…..
Fir prem nai apna bahar nikaala aur chouhan ko bola chalo ab tum dalo mein iskay mummay mein daal kay rub karoonga Mom bistar pay laet gayee aur prem mom kay paet ka upar bath gaya apna lund mom kay mummay mein daal kay jhatka maarnay laga aur neechay say chouhan mom ki choot ka bhoot bana raha tha…. Jatka itna zor ka tha ki bed ki awaazen aa rahi thi mom dheeray dheeray karo jai uth jayega…..
Chouhan  : okay par who gahri neend mein hoga aur saath mein uskao koi shak thodi hai ki meri ma chudati hai…. Mom ka parak aur uakay andhar chouhan unckle ka lund andhar bahar jaatey muj ko saaf nazar aa raha tha … maa ki choot mein say thoda thoda pani tapak rahai tha.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Fir doot mom kay upar say utray aur sofa pay chale gaye Mummy sofae pe laet gaye mom ki ek taang sofa ki back support pay thi aur prem nay mom ki choot ko apnay saamp say poori tarah bhara hua tha aur jatka maar rahi tha aur chouhan mom ko chusa raha tha aur mummay daba raha tha..
Prem :  ranjana honay wala hai…..
Mummy : bahar nikalo aur idhar aao… chouhan ab tum dalo
Mummy :  chouhan jaldi jaldi jatka maaro honay wala hai……. Fir chouhan tez tez jatka maarnay laga idhar mom nay prem ka lund haath say pakad kay masal rahi thi….. mummy na eke k zor say prem ka lund chod kay chouhan ko dono arms mein daba liya aur neechay say dono jaano mein chouhan ko daba diya mom ka kaam ho gaya tha…
Fir chouha aur prem dono mom kay paas khaday ho gaye aur mom dono hathon say unki muth maarnay lagi…
Fir dono ka maal mom nay apnay mummaon pey gira diya….
Mummy : maza aa gaya
Prem  :  chouhan isnay to saali nay itna ragda ki ab 10 din koyee zaroorat nahyin……
Mummy hasnay lagi aur fir who chaley gaee
friends.. kaisi lagi meri maa ki sex kahani, ascha lage to share karo .. agar kisine meri maa ki pyasi chut ki chudai karna chahte ho aur real me meri maa ke sath sex karna chahte ho to add karo Facebook.com/RanjanaSharma

Sexy navel wali mami ki chudai

Friends.. aaj jo hindi chudai kahani batane jaa raha hu wo meri mami ke sath chudai ki kahani hai. aaj main bataunga kaise meri mami ko nanga kar ke choda, kaise mami ki sexy navel chati,kaise mami ki chut chati,kaise mami ki gand mari aur kaise mami ko seduce karke choda.Mere summer vacation start hogayi tab mai aur meri mummy mere mamaghar kathmandu chale gaye. Mai ek din waha thik raha par dusre din mai ziddi karne lagjata tha khane mai tab meri mummy mujhse bahot gussa hoti thi aur chillati bhi thi thik us time meri mami aagayi aur mummy se puch ne laggayi q chilarahi hai mere upar tab mummy mami ko saab explain kari. Tab mami mummy ko boli ki aab aap isko mere jimme mai  chord do, mai isse thik kardungi tab mummy ne kaha thik hai phir mummy waha se chali gayi.

Tab mami mere se puchi ki kush tum apni mummy ko q paresan karte ho? Toh mai kuch reply nai diya. Mai mami k haanth se bhi kuch nai khaya tab mami boli tujhhe ek cheez dikhaungi agar tu khana khalega toh. Tab maine kaha kya dikhaogi aap? Mami ne kaha tu pehle khana khale uske baad dikhaungi. Mai jaldi se khana khatam kardiya phir mami mujhe apne bedroom mai legayi ustime ghar pe koi bhi nai tha saab bahar mandir k liye gaye the. Phir mami bed pe let gayi aur apni Saree ka palloo hata di phir unhone kaha dekh yeh nabhi hai phir unhone mera hanth unke pet pe rakh diya aur boli mere pet ko masal, toh mai unke pet ko dabane laggaya phir unhone kaha ki  kush apni ungli meri nabhi k under dalo toh mai meri ungli unke nabhi k under daldiya phir boli zara isko sungho toh mai sungha toh ekdum erotic smell aaraha tha mere ungli se us time mujhe kuch bhi ehsas nai hua aur kuch din k baad mai waha se apne ghar laut gaya qki mera skul khulne ka time hogaya tha.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Jaise jaise mai bada hote gaya mujhe nabhi wali baat yaad aane lag gayi aur mai masterbate karne laggaya aur jaise jaise mai bada hote gaya mai meri mami k taraf aaksarshit hone laggaya meri mami ki age recently 43 hai aur unka figure 34 30 36 hai aur meri mami pehle se bahot khubsurat dikhne laggayi yeh baat tab ki hai jab mai bba 1st year ka exam deke free hua tha toh mera maan nai lagraha tha toh mai mamaghar chalagaya waha pahochne k baad mai mere mama mami nani ko greeting diya i.e

Charan sparsh mere mama ka bahot bada business hai aur woh aajkal out of nepal hi rehte hai aur meri nani bahot budhi hai aur mere mami ka koi bhi child nai hai jab mai waha pahocha toh meri mami red color ki saree pehni hui thi kuch ghante tak mujhe woh baad yaad nai aaya phir jaise hi mami khana leke upar aayi toh mera eyes mami k stomach pe gaya mai dekh k dang hogaya ki mami apni saree nabhi se 3-4 inch niche pehni hui hai. mami ki nabhi ko dekhte hi mai toilet mai jake masterbate kark aagaya.Agle din mama china chalegaye 1 week k liye toh mai socha yehi opportunity hai mami ko seduce karne k liye afternoon mai mami kitchen mai khana paka rahi thi toh mai piche se jake mami k gaal strech kardiya jisse mami ek baar dar gayi thi phir maine pucha mami kya paka rahi ho toh mami kahi tumko kya khana hai? Toh maine kaha mujhe toh bahot kuch khana hai phir mami mujhe dekhne lag gayi mai unko eyes wink karke chala gaya kuch der baad phir mai kitchen mai gaya aur Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Mami ki pet ko dekh k mera lund khada hone lag gaya tha toh mai ek min baad chup k se jake mami k stomach ko pakad liya aur mami ek sec k liye daar gayi thi aur unhone apna pet ander kar liye tha aur mai apna finger ko unke naver k pass leja k unki nabhi k under daal diya phir mami boli chal badmass kitna dara ta hai mujhe ja mujhe khana banane de phir mai waha se chala gaya aur living room mai jake apna finger smell karne lag gaya waah kya mast smell aaraha tha smell ko

Sungte sungter mera automatically sperm nikal gaya suddenly mami waha aagayi aur mujhe dkehi aur puchi kya kar rahe ho shaitan? Maine kaha kuch nai toh mami ko shak hogaya tha phir us din mai living room lete lete socha raha tha ki kaise chodu mami ko aur unki navel ko imagine karte karte phir masterbate kardiya agle din subah uth kar fresh hogaya aur nani ko dekha toh unki tabiyat kuch thik nai thi toh woh sorahi thi phir mai waha se chala gaya aur kitchen mai dkeha toh Mami shelf se mixer grinder nikal rahi thi bt woh nikal nai payi tab mai waha gaya aur bola mami kya hua toh woh boli mixergrinder nikal rahi hun toh mai bola help chahiye toh woh boli haan, toh mai bola aacha thik hai mai aapko aage se pakad ta hun aap mixy nikal lo toh woh boli dekh k girana nai mujhe mai bola nai giraunga phir mai mami ko upar kiya toh unki nabhi mere aankh k samne aagayi aur usme se smell aaraha tha toh mami ko halka aur upar kiya aur nabhi ko nose
Portion tak leke aagaya phir suddenly unke nabhi ko sungelaga aur kiss karne laga tab mami mujhe boli kush yeh kya kar rahe ho? Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Niche utaro mujhe. Mai daar gaya aur mami ko niche utar diya aur mami mujhse gussa hogayi thi. Mai phir sorry bolk garden mai baith gaya. Kuch ghante baad mami aayi aur boli tum kya kar rahe ho? Mai tumhe upar dundh rahi thi chalo resturant jana hai toh tayar hojao toh mai waha se uth kar resturant k liye reday hogaya.

Mami ne unke room se aawaz di kush ekbaar idhar aao toh mai mami k room mai chala gaya aur unhone pucha ki kaun si saree pehnoon toh mai kuch nai bola. Phir unhone pucha ki abhi tak tum gussa ho toh maine kaha nai toh unhone kaha chalo batao kaun si sareee pehnu? toh maine kaha green wali toh unhone kaha thik hai tum bahar wait karo mai ready hoke aati hun 20 min baad mami apne room se livin room mai aayi mai unko dekh k dang reh gaya unhone apni saree nabhi k Bahot niche pehni hui thi aur unki butt ko dekh k mera lund khada hone laggaya tha toh mami puchi ki chalo batao mai kaisi lag rahi hun? Maine kaha sexy lag rahi ho mami woh mujhe naughty smile di phir humlog waha se chalegaye. Resturant pahunhne k baad mami boli kya khaoge? Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Toh mai bola momo n pizza mangwala lete hai unhone kaha thik hai aur momo n pizza ka order dene lag gayiv jab woh order de rahi thi toh mai mami ki sexy navel aur boobs ko dekhe jaraha tha achanak unhone Mujhe dekh liya aur saree ka pallo adjust karne laggayi. Khane k baad humlog waha se chale gaye. car mai mami puch ti hai ki tum kya dekh rahe the toh maine kaha kuch nai unhone kaha jhooth mat bolo sacchi batao warna mai tumse baat nai karungi toh mai darte huye kaha ki apki nabhi dekh raha tha toh woh hasne lag gayi aur apna ek haanth se mera haanth pakad kar apne pet pe rakdi aur boli chalo apni ungli meri nabhi mai dalo mai khus hogaya tha aur ungli jor jor se nabhi mai dal ne lag gaya tha.

Ghar pahunche k baad mami car park kar k apne bedroom mai chali gayi aur mai nani se baat karke living room mai chalagaya. Raat k 11 pm mai mami mujhe call kark boli mere room mai aao. toh mai mami k room mai chala gaya. waha pahocha toh dekha mami raat mai bhi saree mai thi woh bhi above navel. mami ne mujhe apne pass bulayi aur puch ne lagi tumhe kya pasand hai mujheme? Maine kaha aapke baal, aapki aankh, gaal, bas phir mami boli bas toh mai bola haan, Phir unhone apni saree ko nabhi se niche karte hue kahi ki yeh pasand nai hai, Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. toh maine kaha mami yeh toh aapki saab se beautiful part hai toh unhone kaha chalo meri nabhi ko sungho aur isme fingering karo mai time waste kiye bina hi unki pet ko kiss karne laga aur nabhi mai apne tounge ghusnane laga unki nabhi 1 gehri hai mami k mooh se aahhhhh uiiiii maaa ohhhh jaise aawaz aane lag gayi thi aur bol rahi thi aur chodo meri nabhi ko I love to being fucked my nabhi by you kush chodo meri nabhi ko 10 min tak mai unki nabhi chatte raha uske baad unko bed pe legaya aur unki forehead pe kiss karne lagaya unke gaal pe kiss karne k baad humlog french kiss kiye lagbhag 15 min tak. phir mai mami ki boobs se hote hue unki nabhi tak pahoch gaya aur unki nabhi mai ice cream daal k chatne lag gaya nabhi k under jeeb dali toh woh ek baar uchalgayi aur mere baal ko pakad kar apni nabhi k taraf push kar rahi thi baad mai mai unke saree k pin khol kar k unki peticoat ka knot knol diya aur unke thighs ko chat ne lag gaya

Mami machalne lag gayi thi. phir mai unke blouse k hook khol dia aur bra k upar se boob pe kiss karne aur dabane laggaya tha unke mooh se aaahhhh oo maaaaa ki aawaz aarahi thi aur boli please dihre dabao dard hota hai mai phir unke bra khol kark phek diya aur boobs lick karne laggaya aur bite bhi karne lagaya tha woh boli zara dihre dabao dard hota hai aaahhh kiss my boobs bolne lag gayi aur boli bas boobs pe kiss karoge ya niche bhi kuchKaroge yeh sunte hi mai navel ko sungte huye mami ki choot pe aagaya aur panty nikal diya aur phir unke boor ko kiss karne laggaya kiss karne k baad mai apne tounge unke hole mai dal ne lag gaya toh chatne laggaya woh boli aahhhhh raja aache se karo aur mera baal ko sehlane laggayi phir unhone kaha aab tum bhi apna jeans utar do mai phir unke agya ka palan karte huye meri jeans utardi aur unhone mera underwear bhi utardiya phir woh boli tumhara toh thik size ka Hai bolk mere land pe kiss kardi aur hilane lag gayi aur boli drawer se tumhare mama ka condom leke aajao phir mai condom leke aagaya woh boli chalo aab kaam karte hai aur woh bed pe let gayi mai unke boor ko chat k apna land unke boor mai ahiste ahiste daal raha tha woh bol rhai thi rajjjaaa dard horaha hai ahhhhhhh uiiiiiii maaa nikal do isse please bahottt dard horaha hai ahhhhhh mai unke lips pe kiss karte huye apna pura land unki boor mai daal diya woh bhi kuch

Rahat ka saas li suruwat mai ahiste ahiste apna lund aage piche kar raha tha baad mai thoda sa speed badhaya toh mami ahhhhh oooiiii maa margayi bolne lagayi aur boli please nikaldo apna lund warna mai maar jaungi please ahhhhh oooo mai kaha sunne wala tha kuch der tak unhe dard hua baad mai woh bhi apna gaand hila k mera saath dene laggayi mai unke boobs bhi daba raha tha aur unke time time mai nabhi bhi sung raha tha isse unko aur bhi maaza aane laggaya the aur Woh boliii oohhhhh mere raaaaja please aaache se chodo mujhe please 2 saal ki pyaar bujhado meri oooo ahhhhhhh oiiiiiii maaaaa zor se chodo aaahhhh mai unki yeh aawaz sunk aur speed badha diya aur kuch der baad condom mai mera sperm gir gaya bt mai woh sperm unki nabhi mai daal diya aur ungli se usko under tak daal diya phir mai unki nabhi mai 5 min tak ungli karta raha aur sungta raha baad mai 1 ghante k baad mami ko bola mami aab butts ka kya irada hai toh woh
Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Boli raja bas ek baar tumhare mama ne choda tha uske baad ek baar bhi nai choda hai toh mai kaha mai choddeta hun uske gand ko dabate huye woh boli nai dard hoga yeh mujhse nai saha jayega mai bola try karte hai woh boli nai nai isse chord do mai bola please ek baar try karte hai phir woh pet k bal let gayi aur mai unki gand pe kiss karne lag gayi kuch der baad unko bola aap doggy style mai raho woh boli thik hai phir mai apna lund unke ekdum chote se ched mai

Daalne wala tha unki gand ekdum thight thi lund ko halka daalthe hi woh chilllaaaaa uthiii please nai naiiiii bahot dard hota hai please issse mat chodo mai bola kuch nai hoga aur mami ki boobs daba raha tha piche se aur dhire dhire apna lund under daal raha tha jaise jaise lund under jaraha tha waise waise woh chillllaaa rahi thi aaahhh naiiii mat karo mai maarrrr gayi ohhhh maaab try karte karte lund pura unke gand mai chala gaya Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Woh boli bahot dard horaha hai nikal do mai bola itne mehnet se ghusaya hun aab kaam bhi karne dedo mami woh kuch nai boli aur pillow ko pakad kar aazeeb aazeb aawaz nikal rahi thi mai dhere dhere unke gand marne laga aur wohh aaahhhh ooohhhh chodo meri gand ko isko bada kardo aur chodoo mujhe apni biwi bana lo please chodo bolne laggayi thi aaahhhh oooohhh maaaaa jor se chodo mujhe kuch der baad mera sperm nikal gaya aur mai woh condom ko dustbinMai fek diya aur french kiss karne laggaye aur raat mai mai apna lund unke boorr mai hi daal k sogaya aur apna face unke nabhi k pass rakh k sogaya qki unke nabhi ki mahek mere lund ko khada kardeti hai phir subah mami ne mera lund bahar nikaldi aur woh mere upar bedsheet dal k nahane chali gayi mai jab 11 am mai utha toh mami lunch prepare kar rahi thi aur mai piche se jake mami k nabhi mai ungli daal ne lag gaya aur apna lund mami k saare k upar se hi rangad ne laggaya Mami kuch der baad apne bed room mai aayi aur phir mai mami ko chodna start karne laggaya humlog 1 week tak aise hi chod te rahe aur kisi ko pata bhi nai chala .. kaisi lagi meri mami ki chudai kahani, ascha lage to share karo , agar kisine meri mami ki choot aur gand ki chudai karna chahte ho to add karo real me chudai ke liya Facebook.com/DiviyaSharma

Vidhwa aunty ki pyasi choot ki chudai

Dosto aaj jo aunty ki chudai ki kahani batane jaa raha hu wo meri aunty ke sath chudai ki kahani kahani hai. aaj main bataunga kaise meri aunty ko choda,kaise aunty ki pyasi chut ki pyas bujhai,kaise aunty ne mera lund chusa aur apni chut ki khujli mitwaya..Mere ghar mei mai meri mummy mere papa aur mere papa ki bahan yani meri aunty mona rahte hai.mona aunty widhwa hai unke pati ki maut unki shadi ke 2nd manth me ho gayi thi uncle ko canser tha. mona aunty ki umar 35yr hai wo sawle rang ki magar bahot sexy lady hai.aunty ki choochi badi badi hai aur gaand bhi bahot bahar nikli hai.unka size 38 34 42 hai jo mujhe baad mei aunty ne bataya.mera ghar dobble story ka hai.neeche 3 room uper bhi 3 room hai.mummy aur papa neeche ke room mei rahte hai.mai aur meri mona aunty uper ke room mei rahte hai.ek din mai apne room mei so raha tha to meri aankh khuli to mujhe aunty ke kamre se kuch awaz sunaye di.aunty ka room mere barabar mai hai.dono room ke attech bhathroom hai.mai bhathroom ja kar unke kamre mei jhak kar dekha aunty bilkul nangi leti huii apni choot mai ungli kar rahi hai.maine pahli baar aunty ko nanga dekha tha.

wow kya choochi thi mai wahi par muth marne laga.aunty apni ungli se apni choot chod rahi thi aur apni choochi daba rahi thi.kuch der baad sayad wo jhad gayi aur bhi jhad gaya.mai ja kar apne room mei aunty ke khayalo mei so gaya.doosre din se mai mona aunty ko alag najron se dekhne laga.Ek din papa ke mobile par khabar aayi ki unke mama ki maut ho gayi hai to sabko jana padega.mona aunty boli aap log chale jao mai nahi jaoongi.to papa bole ke tum akeli yaha kaise rahogi.to aunty boli ki dilnawaz bhi ruk jayega mai bahot khush ho gaya aur kaha ha papa app log jaye mai aur aunty yaha ruk jaate hai.to papa bole thik hum log ja rahe.wo log apna saman bhandh kar tayyar ho kar station chale gaye.phir mai apne kamre mai computer par porn movie dhekne laga.mona aunty ghar ke kaamo mei lag gayi.mai movie dhekte huye muth marne laga.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. tabhi aunty koi kaam se mere room mei aayi aur mai ghabra gaya.aunty mere 7 inch ka lund ko dekh rahi thi jo ekdum khada tha.maine janboojkar lund ko nahih chupaya.,aunty jaldi se wapas chali gayi.mujhe darr bhi lag raha raha tha.raat aunty mere room mei aayi aur boli chalo khana kha lo.mai aunty ke peeche peeche bahar ja kar hath mooh dho kar khana khane ke liye baith gaya.aunty muhhe khana de rahi thi to unke blouse mei se unki aadhi choochi dhikh rahi thi mai unhe dhekhne laga.aunty ne ye baat notice ki aur wo janboojh kar apni nahi chupaii. aunty boli khana kha kar mere room mei aao mujhe tum se kuch baat karni hai maine kaha thik hai aur aunty uth kar chali gayi.

Main man hi man bahot khush tha aur socha ki aaj mujhe aunty ko chodne se koi nahi rok payega.mai aunty ke room mei gaya aur sar jhuka kar kaha aunty kya baat karni hai.to aunty boli yeh tum apne kanre me kya kar rahe the mai darr gaya.maine kuch bhi to nahin aunty boli jhooth mat bolo maine khud tumhe muth marte huye dekha hai.aunty ke mooh se yeh sun kar mai dang rah gaya.aunty bed par pair neeche kar ke baithi thi.aunty boli mujhe bhiya aur bhabhi se is bare mai batana padega mai darr ke maare mai unke pairo gir gaya aur kaha nahi aunty papa se kuch na kahna ab yeh galti nahi karoonga.mujhe maaf kar do kahte hoye mai rone laga.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. to aunty boli thik hai mai kisi se kuch nahi kahoongi lekin jo mai kahoongi wo tumhe karna hoga.maine kaha thik hai kya karna hoga to aunty apni saree upar ki unhone mera sar pakad kar kaha meri choot mei khujli bahot ho rahi hai.ise chat kar shant karo maine apna mooh dheere se aynty ki choot par kar jaban se choot chatne laga aunty ne mera sar apni choot par daba liya aur kaha haa chat ise bahot dino se ise kisi ne cata nahin hai ah aha aha aha aha aha ah si sis sis ssiiiiiiiiiiiiiii phir 10 minute baad wo jhad gayi. aunty khadi ho kar apne saare kapde utar diye maine bhi apne kapde utar diye.aunty ne mera lund pakar kar use gap se mooh mei le liya mai ah aha h ah karne laga aur unke mooh ko chodne laga.phir hum 69 ki possision me ho kar wo mera lund choos rahi thi mai aunty ki choot chata raha poore room mei cap chap ah sii ah aia hhh sssss siii  ki awaz goonj rahi thi is beech aunty 2 baar aur jhad gayi aur mai bhi jhad gaya.phair aunty ne apni choochi mere mooh me de kar kaha ise chooso mai unki choochi jor jor se choosne laga aur masalne laga aunty garam hone lagi.aur aunty ne mera lund coosne lagi mera lund phir khada ho gaya.aunty boli ki ab mat tadpao apna lund meri choot me daal kar meri choo phad do.

maine apna lund aunty ki choot me daal kar jor jar dhakka mara mera lund aunty ki choot me aadha lund ghus gaya.aunty chilla uthi ah ah si sis si sisisiisi ah aha ah phir deere deere dhakke dene laga. aunty apna gaand utha kar mera sath dene lagi.maine apni speed bada di. aunty 10 minute baad jhad gayi to maine kaha app ki gaand marni hai wo boli maine apni gaand kabhi nahin marwai.maine kaha kuch na mana aur aunty ko ulta lita diya toda thook laga kar unki gaand mei apna lund daal diya. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. wo chilla uthi uui maa mar gayi nlkalo ise meri gaand fat jayegi.par mai na mana aur dhakke lagane laga.wo boli matherchod nikal mai bola chup raand kahin ki chup chap padi rah warna teri bur ka bhosda bana doonga.phir maine apni raftar tej kar di jam kar aunty ki gaand mari 20 minute baad mai jhad gaya.phir mummy papa ke aane tak roj mai aur aunty chudayi karte the .. friends kaisi lagi meri aunty ki chudai ki story.. ascha lage to share karo .. agar kisine meri aunty ki pyas choot ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/MonaSharma

Maa ki saheli sunita aunty ki chudai

dosto aaj jo aunty ke sath chudai ki kahani batane jaa raha hu wo meri maa ki saheli sunita aunty ki chudai ki hai.aaj main bataunga kaise me sunita aunty ko choda, kaise aunty ki moti gand mari aur dudh chus chus ke aunty ki chut me lund dali. meri mom ki friend Sunita ki umar karib 40 se jayda hi hogi par wo lagti nahi thi unka pati office ke kaam se aksar bhar jate the aur un ka 2 bache the ek ladka jo hostal mai padta tha aur ek ladki jis ki kuch time pahel shaadi hui thi wo meri mami ki kuch time pahle hi new friend bani thi phir wo mere ghar aane lagi Sunita aunty Hamesh sarri hi pahanti hai mai unke bare mai kabhi kuch galt nhi sochta tha aunty mere ghar aayi aur meri mami se kahe lagi mere ghar mai koi nhi hota mai rahul se kabhi kuch kaam hoga tu us kara lugi meri mami ne ha kaha diya aap koi bhi kaam ho is ko bol diya karo ye kar dega phir kya tha Sunita aunty muj ko ek 1 2 din main kuch na kuch saman magti rahti thi aur mai un ke ghar mai jata rahata par kabhi ghar ke ander nhi jata tha bhar se un ko sama de kar chala jata tha

aunty ki chudai
Maa ki saheli sunita aunty ki chudai
ek din aunty ne muj ko call kiya ki rahul mere sath tum market chalo muj ko kuch saman lena hai un dino barish ho rahi thi main aunty ke ghar ke bhar aaya aur call ki aunty main aa gya hu.phir aunty ke kya sarri pahni thi red silk color ki silky sarre maine itna dhaya nhi diya kyu ki mai aunty ke bare mai kabhi bhi glat nhi sochta tha mai aunty ko bike mai le jane laga aur aunty ko market le aaya aunty ne kuch ghar ka saman liya aur phir aunty ke shop mai gyi jaha panti aur bra milta tha mai shop ke bhar hi ruk gya aunty boli Rahul kya huva mai bola aunty aap hi jaiye aunty bolo chalo na koi dekat nahi hai aunty ke sath ander chala gya aunty ne shop keeper se kuch panti aur bra magi aunty ka size 42 tha aunty ne 3 panty aur bar purchse kar li aur aunty ko mai ghar lane laga tabhi baris hone lagi aunty aur mai thoda bhiga gya hum jaise aunty ke ghar pahche tabhi barish taz ho gyi aunty boli rahul ander chalo jaldi se main bike laga ke aunty ke ghar chal diya aunty ne apne ghar ka lock open kiya aur hum ander gye main aunty ke ghar ke ander pahali bar gya tha Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aunty ne kaha rahul ye lo towal jaldi se dress utar lo nhi tu thad lag jay gi main kaha aunty koi nahi mai barish kam hote hi chala jayo ga aunty ne kaha are rahul tumhari dress puri bhiga gyi hai tum bimar ho jayo ge maine aunty ki bat mai le aur dress utar li aur tower ko pahan liya aur aunty bhi dress change karne chali gyi apne room mai aunty jab wapas ayi to kya lag rahi thi wo pink colour ki nite mai aayi aur mere samne aa ke baith gyi phir aunty boli Rahul mai chaya bana kar lati hu us time tak mere liye aunty ke liye kuch galat nahi soc raha tha

pihr aunty chaya lekar aayi aur mere samne aa kar bath gyi aur hum dono chaya pin lage aur aunty idhar udhar ki baate karne lagi ki Rahul tum kya karte aur kya karna chate ho phir aunty kahen lagi Rahul mai bra sab check kar lo ki size sahi hai ya nhi agar sahi nhi hoga tum change kar lana phir aunty ander gyi aur thodi der baad aunty ne muj ko awaz mari rahul jara ander aana mai towel mai hi ander gya aur ander jate hi meri ankhe khuli ki khuli raha gyi aunty panti aur bra mai thi bra panhe ki koish kar rahi thi anine ke samea main ander nahi ja raha tha aunty boli ander aa jayo mai himment kar ke ander gya aur aunty boli rahul jara is ko pahna muj se lag nhi raha mai bola aunty mai aunty boli tu kya huva mai aunty ki bra ka huk laga ne laga aur mirror mai se chupke chupke aunty ki mote boobs dekh raha tha aunty muj se puchne lagi Rahul tumhari koi girlfriend hai main us time chup raha aunty phir boli bato na main kaisi ko nahi bolo gi main bola aunty aisi koi baat nahi meri koi girlfriend nhi hai aunty kyu jhoot bol raha hu main bola aunty koi mile nahi aunty boli tum ko kis taraha ki ladki chiye main bola jo muj ko pyaar kare aunty boli ha sahi hai maine aunty ka bra ka huk laga diya aunty aunty mere same sidhi ho kar khadi ho gyi aunty ki mota mota boobs dekha kar land kahda ho gya aur towal se saf dikh ne laga aunty ne shayd dekha liya phir aunty boli rahul jara wo wali lana jo bad mai hai main us dusri bra lene gay tab tak aunty ne apni bra utar di aur mere same sirf panty main thi mere dimag hi kaam nhi kar raha tha Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aunty boli lago main leka aunty ke pass gya aunty boli kya huva rahul kabhi kisi ladies ko aise nahi dekha main kaha nhi aunty mere land ki tharf dehke lafi aur woli ye kya hai mai bola aunty kuch nhi aunty mere pass ayi aur mere land ko chone lagi

aur boli ye tu kuch kahan chata hai main aunty ki bate sun kar pagal se hu raha tha aunty ke mere towal nikal diya main aap sift apne underwear mai tha aunty boli is ko sant karti hu aur aunty mere land ko underwear ke bhar se hilne lagi muj se control ni huva main aunty ko baho mai bhar liya aur un ko kiss kare laga aunty boli rahul kafi time se tere uncle ne muj ko pyaar nahi kiya is liye maine ye sab kara ager main tuj se bolti tu tu muj se baat bhi nahi karta kyu ki tum ko muj main kya mile ga maine bola aunty aisa baat  nahi hai mai aap ko aaja se main aap ko pyar karo ga aunty muj ko kiss kare lagi main aunty ko good mai liya aur bad mai lata diya maine aunty  ki panty ke uper se hi aunty ki choot maslne laga aur aunty ki milky boobs ko chuse laga aunty mast awaz nikalti ja rahi thi maine aunty ki panty utaar di maine dekha aunty ki chut mai ek bhi baal nahi hai puri lal chut thi aunty boli main aaj ki saf kiya hai main aaj tuj se jo milna tha maine kaha kya baat hai sali wo hasne lagi aur mere land ko aage piche karne lagi mai aunty ki boobs chuste chuste us ki nabhi ko kis chate laga us ne kaha rahul apni aunty ko mat tadpo please apne land dalo main kaha acha maine aunty ki paro ko falya aur aunty ki choot mai apna land rakha dhere se ander danlna suru kiya ek sort  diya aunty ki chekh nikal gyi aur main apni speed baad li aur aunty ki awaz muj ko dewana karne lagi hhhhaaaaaa hhhhmm hhaaaa maine speed se unki choot ke ander bhar apne land karta raha aunty ne apna pani chod diya

par meri speed chalo rahi karbi 15 min Baad mere bhi nikle wala tha main pucha aunty kaha niklo wo boli bhar nikal du mere apna land bhar nikal aur aunty ke upper hi nikal diya aunty boli are tune apni aunty ko gand kar diya main kaha aunty lo is choso na aunty boli ye sab acha nahi hota maine kaha aunty please wo mana kare lagi maine  apne land us ke muh ke ander dal diya aur unko chuse ko kaha wo mana kare lagi par maine kaha aap muj se Pyaar nhi karti phir aunty ne kaha aisa nhi chalo main tumhara land chusti ho aur aunty ne mere land chuse lagi aur mere land ki us ne puri saaf kar diya aur kahne lagi tum sab ko is mai kya maza aata hai maine kaha aunty todi daar baad mere land tayar hone laga aur aunty apni aap ko saaf karn gyi bathroom phir aunty saaf hokar bhar aayi mere man aur kar raha tha aunty ko maine apne hatho se phir utha kar bad mai Rakha aunty boli aab kya karna hai maine kaha aunty abhi aur kare aunty kyu nahi main aunty ko kiss kare laga aur aunty ki boobs ko chuse laga maine aunty ki chut main phir se apne land ko raha aur phir se ek short mara aur apna land pura ander dala diya aur ander bhar kare laga aur aunty apni kamar uper niche karne lagi aur main marta raha phir aunty ko apne uper bathya aur wo mere uper land ko padkar uper
Niche hone lagi Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. kareb 15 min tak karta raha phir main aunty ko ek table ke upper bethya aur un ke choot main apna land dal kar sort mara main un ke sath 5 6 position main choda phir main unko bad par leta kar marane laga 30 min bad mere maal nikle ko tyaar tha main aunty ke ander ki chood diya

aunty boli rahul ye kya kiya main kaha aunty is ka asli maza ander hi hai aur wo boli tu baad badmash hai chal hat mere uper se main aunty ke uper hi lat gaya aur bola aunty ruko na jara aap ko kiss karne do main aunty ke boobs choosta raha aur aunty ke sath todi dar soya raha shaym ke 5 baj gye the par mere man ghar jane ho nahi kar raha tha aunty boil ghar nahi jana maine kaha aunty aap ko chod kar jane ka man nahi kar raha aunty boli tu kya huva ruk ja apni aunty ke pass aur pyaar kar puri raat main kush huva aur soch Aaj sahi time hai maine ghar main call kar ke bola diya aaj main apne dost ke yaha ruk gya hu kuch kaam hai aunty aunty ko baho main lekar kis karne laga aunty aunty boli ruk ja rhaul aaj puri raat hi teri hai puri thara muj ko pyaar karyo main kushi se aunty ko kass ki baho main jakad liya aur kiss karta kara aur wo bhi sath dene lagi thodi dar hum ek dusera ko kiss karte rahe Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. phir us ne kaha abhi toda aram kar lo hum baad mai pyaar kare ge phir wo apni nighty pan kar kitch mai gyi aur thoda kahne ke liye snack layi aur boli chlo khate hai main kaha aunty aap mere goad mai batiye aur aap muj ko apne hato se khilao aunty boli ye achi baat hai chalo tum towal phan lo main bola aunty kuch nahi hota mai aise hi aap ko goda main bitha ga aunty mere goda main aake bahta gyi aur apne hato se snack khilne lagi. friends.. kaisi lagi meri aunty ki chudai ki kahani .. ascha lage to share karo agar kisine aunty ki gand aur chut ki chudai karna chahte ho to add karo aunty ke sath real me chudai ke liya Facebook.com/SunitaSharma


Mere samne uncle ne meri mummy ko choda

Friends.. aaj jo hindi chudai ki kahaniya batane jaa raha hu wo meri mummy ki chudai ki story hai.. aaj main bataunga kaise padosan uncle ne meri mummy ki gand mari aur nanga karke mummy ko choda. Meri mummy ka naam Sudha hai. aur meri mummy 40 saal ki hai.Ek din main apne dost ke birthday pe gaya tha maine mom se bola ki main night me vahi rukunga. Main apne ghar se chala gaya. Meri mom ki height 5'2" hai.mummy dekhne me bohut hi khoobsurat aur sexy the. mummy ki sexy figure 38-30-38 honge. Hamre neighbour uncle ka naam shyam  hai wo 45 years ke honge and he is handsome. He looks good his height is 5'8"he has athletic body. Us night ko main party se jaldi free ho gaya aur main ghar aa gaya. Maine duplicate key se door open kia aur andar aa gaya maine dekha mom ke room me  slow music chal raha tha aur door halka sa khula hua tha maine socha ki mom ko bol du ki main aa gaya hu aur

Unke room ki taraf gaya. maine door se andar dekha to kisi ke bat karne ki awaz aa rahi thi. Maine dekha andar shyam uncle khade the aur mom ko piche se pakad ke unke boobs daba daba rahe the ye dekhkar meri aankhe khuli ki khuli rah gayi .Shyam uncle mom ke boobs ko mom ki nighty ke upar se press kar rahe the. Main turant side se khada hoke dekhne laga ki kya ho raha hai.Maine socha jake abi dono ko daantu par main ruk gaya aur khada hoke dekhne laga uncle mom ke boobs ko piche se pakad ke daba rahe the aur mom siskari le rahi thi aur kah rahi thi jor se dabao. Main mom ke muh se ye sunkar hairan ho gaya. Mom ne phir uncle ki pant utar di uncle ka lund underwear k upar se hi khada hua dikh raha tha aur mom ne unki shirt b utar di aur unke underwear ke upar se .Hi lund ko press kar rahi thi aur uncle mom ke honth ko chusne lage aur mom unki back pe hath pher rahi thi aur thodi der baad mom ne uncle ka underwear utar diya Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.  aur maine dekha ki uncle ka lund lagbhag 6.5" ka hoga aur thoda mota bi tha. Mom ne use apne hatho me leke sahlana shuru kar dia aur apne ghutne pe baith gai aur usko topi ko apni jibh se sahlane lagi uncle ne apni ankhe band kar li aur siskari le rahe the.

Mom ne unke lund ko pura chusna shuru kar dia. aur uncle mom ke head ko pakad ke dhakke marne laga 5 min. baad wo jhad gaye aur apna virya mom ke muh me chod diya. Mom ne sara virya pi liya. Uncle ne mom ko khada kiya aur unke nighty ko utar diya. Mom white bra aur white panty pahni hui thi. Unki body chamak rahi thi.Unki bra silk ki thi aur shine kar rahi thi uncle ne mom ke boobs ko upar se hi dabana shuru kar diya aur mom ne siskari lena suru kar diya.Phir uncle ne mom ki bra utar di.Mom ke boobs white the aur chamak rahe the.Unke nipples choclatey the. Uncle mom ke ear ko chus ahe the aur boobs daba rahe the aur unka tana hua lund mom ki chuatd ko daba raha tha aur mom  siskari le rahi thi.Mom ke nipples tane hue the Uncle ne mom ke samne aa gaye aur uncle ne mummy ki booobs ke nipple ko hontho me lekar chusne lage mom uahh ahhhhh ki siskari le rahi thi uncle ne mom ki panty me hath dala aur mummy ki chut ko sahlane lage mom siskari le rahi thi uncle ne unki panty uatarni suru kar di. Uncle ne mom ki panty utari to Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. maine dekha mom ki chut ke upar ek bi hair nahi tha.Aur mummy ki chut bilkul saaf dikh rahi thi mom ki chut pink thi uncle ne mom ki chut pe hath phera to mom ne apni ankhe band kar li. Uncle ne moom ki tange phaila di aur apni jibh se mummy ki chut ko chusne lagi aur mom ne siskari lena suru kar dia mom ne apne boobs ko apne hatho se dabaya aur siskari le rahi thi thodi der tak chatne ke baad uncle ne mom ko ulta kia aur unke chutad ko chatne lage aur mom siskari le

Rahi thi thodi der tak chatne ke baad uncle ne mom ko sidha kia aur unke pet pe apni jibh phirna suru kar diya aur mom bahut siskari le rahi thi uncle ne mom ko chutad ko dabana suru kar dia aur unhe bahut der tak dabaya. Mom ke chutad phule hue the thodi der bad uncle ne mom ko ghodi banaya aur apna lund mom ki gand pe rakh ke dhire se dhakka mara to mom ki chikh nikal gai.Uncle ne dhire dhire apna lund mom ki gand me ghusa dia aur uncle mom ko dhire dhire chodne lage aur mom siskari le rahi thi aiiiiiaaaiiiiihhhhha uuhhhh aaaaamm uncle mom ki chut ke upar apni ungli se sahla rahe the uncle ne mom ko panch minute tak dhire dhire choda aur apni speed bada di aur mom bi bahut tez jhatke le rahi thi aur uncle ne ek dum mom ko apni or khicha aur mom aur uncle jhad gaye aur Mom ki gand me hi apna bij gira diya Uncle ka lund latak raha tha aur mom bi thodi thak gai thi phir Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Uncle uthe aur apna lund mom ke hath me de diya aur mom usko sahlane lagi thodi der baad unka lund khada ho gaya aur uncle ne mom ko sidha litaya aur unki taange phaila di aur apna lund unki chut par rakh ke ragadne lage aur mom siskari le rahi thi.Uncle ne thodi der bad lund ko mom ki chut me sarka dia aur unhe chodne lage mom unka sath de rahi thi aur apni kamar se dhakke mar rahi thi. thodi der bad uncle ne mom dhakke tez kar diye aur wo jhad gaye aur tabhi mom bi jhad gai uncle ne mom ki chut se lund nikal liya aur mom ki chut ko apni jibh se chat ke saaf kar diya aur mom se chipak ke let gaye.

Uncle ne phir apne kapde pahan liye aur mom ne bi nighty pahan li aur mai apne room me jaldi se chala gaya. Thodi der baad maine door khulne ki awaz suni aur uncle chale gaye. Mani jab subah utha to mom ne mujhse pucha tu kalkab aaya maine kaha main subah hi aaya hu. Mom khus dikhai de rahi thi. Mom ne mujhse bola jaldi fresh hoke nashta kar le phir mom chali gai. .. kaisi lagi meri mummy ki chudai ki kahani.. ascha lage to share karo .. agar kisine meri chudasi maa ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/SudhaSharma

गांड में ऊँगली घुसा के मकान मालकिन को चोदा

हेलो दोस्तों, आज जो ग्रुप सेक्स सेक्स की कहानियां बताने जा रहा हू वो मेरी मकान मालकिन और उनकी बेटी की चुदाई की कहानी हैं . कैसे मैं गांड में ऊँगली घुसा के मकान मालकिन को चोदा और मकान मालकिन बेटी की कुँवारी चूत की चुदाई की, मकान मलिक की मृत्यु हो गई थी, और घर मे बस आंटी और उनकी लड़की(अनु) जिन्हे मैं दीदी कहता था रहते थे, ह्म दोनो की फॅमिली मे अच्छी बनने लगी. पर मैं बहुत शर्माता का था तो उनलोगो से बात नहीं करता था. एक बार की बात है बार दीदी कही शादी मे गई थी तो सुबह आने वाली थी तो आंटी ने कहा की मैं उनके यहा सोने आ जाऊं क्यों की आंटी को डर लगता था अकेले सोने में, मम्मी ने मुझे भेज दिया.आंटी की उम्र 50 साल थी, और चुचे बड़े थे पर उतने टाइट नहीं थे, पर मुझे फ़र्क नि पड़ता क्यूकी कैसे व हों चोदने मे हमेशा मूठ मरने से ज़्यादा ही मज़ा आता ह. मैं गया तो उनलोगो क पास एक ही बेडरूम था.

तो हम और आंटी दोनो बेड के एक कोने पर सो गये. आंटी ने नाईटी पहनी थी, शायद वो शर्मा रही पर डर लग रहा था इसलिए मुझे बुला लिया था. और एकदम किनारे पर सोई थी बेड के, की तभी फिसल क बेड से नीचे गिर गई. मैं तुरंत उनके पासा गया और तुरंत उनके कमर मे हाथ डाल के उठाने लगा मैने सोचा इसी बहाने छूने को तो मिलेगा मैने उन्हे बेड पर लिटाया, उनकी गांड मे चोट लगी थी पर मेरे सामने वो सहला नहीं पा रही थी, उन्होने मुझे किचन से पानी लाने को कहा, मैं समझ गया और दरवाजे से देखने लगा मेरे जाते वो गंद को सहलाने लगी, और दर्द से अजीब फेस बना रही थी, मीन्स ज़्यादा चोट लगी थी, मैं पानी ले के आया ,वो फिर नॉर्मल होने की कोसिस करने लगी,दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैने पूछा आंटी कहा चोट लगी ह, कोई क्रीम लगा लो, वो बोली नि कहीं नहीं लगी, पर उनके आँखो मे आँशु थे, मुझे दया आई और मैने कहा आंटी डोंट वरी आप लगा लो मैंने एक क्रीम आलमारी से निकाल के दिया और कहा तब तक आप लगा लो मैं छत पर से घूम कर आता हु , मैं उन्हे क्रीम देके चला गये जब कुछ देर बाद आया तब व आंटी रो रही थी, मैने पूछा क्या हुआ, तो उन्होने कहा मैं क्रीम नहीं लगा पा रही हु और दर्द भी काफी हो रहा है, तो मैने तुरंत कहा मैं लगा देता हूँ,आप शरमाइए ना मैं आपकी बेटी से व छोटा हूँ मुझसे क्या शरमाना.तो काफ़ी सोचने क बाद उन्होने कहा ठीक है लगा दे.

वो पेट क बाल लेट गई, मैने तुरंत उनकी नाईटी कमर से ऊपर तक की, और इससे पहले वो कुछ कह पाती मैने उनकी पेंटी खीच के उतार दी और गांड पे मूव लगाने लगा, फिर वो कुछ नहीं बोली, आंटी मेरे सामने बिल्कुल नंगी उनकी गांड बड़ी थी, मैं दोनो चूतडो को फैला कर मालिश कर रहा था ताकि उनका छेद दिख सके, छेद बहुत छोटा था जैसे किसीने आज तक उनकी गांड मारी ही नहीं हो, मैं खूब अच्छे से मालिश कर रहा था ,और उनके छेद पर व उंगली ले जा रहा था,वो मजे से मालिश करवा रही थी उन्हें आराम लग रहा था वो कुछ नहीं कह रही थी, मैने पूछा आंटी कैसा लग रहा ह तो उन्होने कहा अब अब रहने दो, मैने कहा थोड़ी देर और कर दूं वरना फिर दर्द करने लगेगा तो उन्होने कहा थी है, कुछ देर बाद वो सो गई और मैने उन्हे सीध घुमाया मेरे सामने उनकी एकदम नंगी बूर थी मैने उनकी टाँगे फैलाई तो मुझे वहा गीला महसूस हुआ मैं समझ गया आंटी को मजा आ रहा था, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।बस अब तो मेरी हिम्मत बढ़ गई, मैने तुरंत उनकी बूर पर अपना मूह रख दिया और चाटने लगा ,क्यूकी मैं जनता था अगर वो जाग व गई तो चाटने से उन्हे इतना मज़ा आएगा की वो ना नि करेंगी, उनके मूह से सिसकियाँ लेने की आवाज़ आ रही थी पर आँखे बंद थी मैने उनकी नाइटी को पूरा निकल दिया,उन्होने ब्रा नहीं पहना था,

अब वो बिल्कुल नंगी थी,मैं व अपने सारे कपड़े निकाल के सो गया उनके उपर,बड़ा मज़ा आ रहा था, मेरे सीने क नीचे उनके चुचे और मेरे लंड क नीचे उनकी बूर. मैं जानता था वो जाग रही और मकान मालकिन की बूर चाटने की वजह से वो गरम व हो चुकी थी,पर मैं चाहता था वो सोने का नाटक छोड़े,क्यूकी अगर सोने क नाटक मे चोदा तो वो फिर शायद मौका ना दे पर अगर जागते हुआ चोदा तो जब चाहूँगा तब बूर मिलेगी,मैं उनके सरीर से उतरा और किनारे जाके सो गया,उन्हे समझ नहीं आया मैं ये क्या कर रहा हूँ,मकान मालकिन की बूर की गर्मी पागल कर रही थी इसलिए वो मेरी तरफ आई और मेरे लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी,मेरा 7 इंच का लंड एकदम टन गया था,उन्होने मूह मे लिया और चूसने लगी,मैं उनके बाल को सहलाने लगा वो मेरी तरफ देखी और मुस्कुरा दी,फिर उन्होने का अब प्लीज मुझे चोद दो अब बर्दाश्त नहीं हो रहा,मैने कहा जानू थोड़ा और चूसो ना मेरा लंड,फिर हम 69 पोज़िशन मे आ गये.वो तैयार नहीं थी वो बस चुदना चाह रही थी, पर मेरे ज़ोर देने पर आ गई,मे उनकी बूर चाट रहा था,और अपनी एक उंगली मे थूक लगा क उनकी गांड मे घुसा रहा था,एक उंगली किसी तरह घुसी पर वो चिल्लाई, दर्द होता है गांड में और तुम्हे गांड में क्या मिल रहा है गांडू,दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। 

फिर उन्होने मेरी तरफ गुस्से से देखा मैं डर गया,वो घुमी और मुझे खीच केअपने उपर किया और मकान मालकिन मेरे लंड को हाथ मे पकड़ क अपनी बूर क छेद पे रखा .मैं समझ गया अब इससे बर्दाश्त नहीं होगा,मैने ज़ोर से धक्का मारा और आधा अंदर गया,बूर गीली थी पर टाइट भी थी इतनी दिन से चूदि नहीं होगी ना, मैं धक्के पे धक्के मरता रहा 10 मीं बाद उन्होने कहा अंदर अपना माल मत निकालना,जब मेरा निकलने वाला हुआ तब मैने अपना लंड बाहर निकाला और वो मूह मे लेकर चूसने लगी.कुछ देर बाद मैं उनके मूह झड़ गया,वो तो पहले ही 3 बार झड़ चुकी थी,फिर हम वैसे ही सोए रहे नंगे,सुबह व होने वाली थी,हम दोनों एक दूसरे को पकड़ के सो गया, सुबह जब नींद खुली तो उनकी बेटी के आवाज से, वो खिड़की से झांक के देख रही थी और मम्मी मम्मी चिल्ला रही थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।उसने हम दोनों को नंगे देख लिया, फिर आंटी फटा फट नाइटी पहन के दरवाजा खोली, उनकी बेटी अंदर आई और बोली यहाँ रात भर क्या चल रहा था मम्मी, उसकी मम्मी और मैं एक दूसरे का मुह देख रहे थे, आंटी बोली कुछ भी नहीं बस वो मेरा मालिश कर रहा था मैं बाथरूम में गिर गयी थी. कैसी लगी मकान मालकिन की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी मकान मालकिन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/SapnaRani

मेरे पति ने देवरानी को नांगा करके डौगी बनाके चोदा

हेलो दोस्तों, आज जो हिंदी ईन्सेस्त सेक्स कहानियां बताने जा रहा हू वो मेरी देवरानी की चुदाई की हैं. कैसे मेरे पति मेरी देवरानी की चूत चूसास्तन चूसा, और नांगा करके डौगी बनाके चोदा . मैं मेनका इंदौर से हु, मैं २८ साल की हु और मेरे पति ३० साल के है, मेरा पति मुझे बहुत ही ज्यादा प्यार करता है मुझे, पर आजकल मेरे सामने एक अजीब समस्या हो गयी है, ना चाहते हुए भी अपने पति को मुझे दूसरे को बाहों में सौपना पड़ा, लेकिन करती भी क्या, मैं भी एक औरत हु मैं अगर अपने आपको राशि (मेरी देवरानी) के जगह पे रख के सोचती तो मैं भी वही करती जो वो कर रही है,मैं आपको पूरी कहानी बताती हु, मेरे देवर की शादी को हुए अभी २ साल हुए है, पर शादी के आठ महीने बाद ही उसका ट्रैन हादसे में दोनों पैर कट गया, वो अपाहिज हो गया,

मेरी देवरानी इंदौर की एक बहुत ही अच्छी घराने की लड़की है, वो काफी पढ़ी लिखी और देखने में तो मत पूछो मेरे दोस्त गजब की है, उसका शरीर भगवान ने बनाया है तराश के, मखमली बदन, गोरी चिट्टी, कमर तक बाल, होठ गुलाबी, बड़ी बड़ी सुडौल चूचियाँ, गजब का उभर चूतड़ का, पेट सुराही के तरह, आँख कजरारी, मैं औरत होकर भी उसके रूप पे फिदा हु, तो और क्या कहु, यहाँ तक की मेरा देवर उसके सामने कुछ भी नहीं था अब तो भगवान ने सब कुछ ही छीन लिया, देवर जब से एक्सीडेंट का शिकार हुआ तब से उसका मस्तिस्क भी सही से काम नहीं करता है वो अपने आप ही कुछ भी बोलने लगता है, उसका दिमाग का भी एक नस फट गया था, मेरी देवरानी बड़ी ही गुम सुम सी रहने लगी थी, शायद अब उसे लग रहा होगा की ज़िंदगी में सब कुछ छीन गया है उससे, मैंने उसको देखा की वो अपने चेहरे पे बहुत ही कम ध्यान देने लगी थी, उसकी चिंता हम पति पत्नी करने लगे, मुझे उसका दुःख देखा नहीं जा रहा था.दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

दिवाली के दूसरे दिन की बात है, हम पति पत्नी दोनों आपस में बात कर रहे थे, तभी मेरे देवरानी के कमरे से रोने की आवाज आई, हम दोनों भागकर बाहर निकले तो मेरी देवरानी सिसककर रो रही थी, दरवाजे के फांक से झांक कर देखि तो हैरान रह गहि, मेरी देवरानी नंगी थी, और वो मेरे देवर के ऊपर बैठी थी, पर डिअर का प्राइवेट पार्ट ढीला पड़ा था, सारा माजरा समझ में आ गया, उस टाइम मैं कुछ कर भी नहीं सकती, मैं वापस आ गयी, मुझे रात भर नींद नहीं आई मैं सोच रही थी की भगवान ने राशि के किस्मत में क्या लिखा है, कितनी मुस्किल दौर से गुजर रही है. दूसरे दिन मैंने फिर से उसके कमरे से आवाज आते सुनी रात के करीब बारह बजे, उस दिन वो कमरे का सारा सामान इधर उधर फेंक दी और रोने लगी, कह रही थी तुमने मेरी ज़िंदगी ख़राब कर दी है, मैं क्या करूँ, मुझे तुम कोई भी सुख नहीं दे पा रहे हो, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं किसको बताऊँ, और क्या बताऊँ. मैंने देवर के तरफ देखि तो देवर कह रहा था मुझे माफ़ करो राशि, मैं कुछ भी नहीं कर सकता, मेरी गलती नहीं है, मुझे रहा नहीं गया, मैं दरवाजा खटखटा दी, दरवाजा खुलने में पांच मिनट लग गए, फिर मेरी देवरानी आई और बोली दीदी आप और इतनी रात को,

मैंने कहा हां राशि मेरा सर बहुत दर्द कर रहा है, तुम थोड़ा दबा दो और बाम लगा दो, वो बाहर आई और मैंने बाम से मालिश करवाने लगी, मैं राशि को बहन की तरह ही मानती थी, तो मैंने कहा बहन आज मैं तुमसे एक बात करना चाहती हु, मैं तुम्हारी दर्द नहीं देख पा रही हु, तुम पति के सुख से वंचित हो, मुझे पता है इंसान को खाना पीना कपड़ा के अलावा भी बहुत कुछ की जरूरत पड़ती है.मैंने कहा देख तुम्हे किसी चीज की कमी नहीं है यहाँ, बस नहीं है तो शरीर का सुख मैंने समझ रही हु तुम्हे आजकल. तुम एक काम कर सकती हो, तुम सेक्स की भूख और सेक्स की संतुष्टि मेरे पति से पूरी कर सकती हो, मैं उन्हें मना लुंगी, तुम्हारे ज़िंदगी में किसी चीज की कमी नहीं होगी, मैं तुम्हे अपना पति शेयर करने के लिए तैयार हु, बस तुम हां कहो, इतना सुनकर देवरानी रोने लगी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कहने लगी क्या बताऊँ दीदी, वो मुझे कुछ भी नहीं कर पा रहे है, उनका प्राइवेट पार्ट खड़ा नहीं होता है, मैं कितनी भी कोशिश करती हु, पर ज़रा सा भी जान नहीं आता है उसके लण्ड पे, एक दिन मैंने काफी कोशिश की अपने चूत में घुसाने को पर कैसे जा सकता है, पर सेक्स के बिना रह भी नहीं सकती अभी तो मेरी भरपूर जवानी है,

क्या करूँ, अगर आप मेरे लिए अपना पति शेयर कर रही हो तो ये मेरे लिए भाग्य की बात है,फिर मैंने दूसरे दिन अपने पति को सब बात बताई की मैंने रात को ये सारे बात राशि से की तो वो दिखावटी गुसा करने लगा, मैं सब समझ रही थी, दुनिया का कौन ऐसा मर्द है जिसको नयी नयी चूत मिल रही हो वो भी पत्नी के विरोध के बिना तो उस इंसान की तो लॉटरी लग जाना हुआ,  दूसरे दिन रात को मैं खाना खाके अपने देवरानी को भी अपने कमरे में बुलाई, और पति से बोली की जी आप से मुझमे और राशि में कोई भी अंतर नहीं समझना, राशि का भी अधिकार आपपर उतना ही जितना की मुझपर, आज से ये भी आपको जेठ की नजर से और पति के नजर से देखेगी और मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं है, वो दोनों चुप चाप मुझे देख रहे थे, और मैं बोली आप लोग बात करो, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं सामने हलवाई के दुकान से मिठाई लेके आती है, दुकान भी बंद होने का टाइम हो रहा है और मैं चली गयी.जब वापस आई तो देखि, राशि नंगी है और मेरा पति उसके दोनों पैर को उठा के अपना मोटा लण्ड दिए जा रहा था, मेरे पति को भी नया माल मिला तो ऐसे चोदे जा रहा था की उसको भी बर्षो से चूत का दर्शन नहीं हुआ हो,

मैं हैरान थी, वो गजब का चोद रहा था, वो ऐसे झटके दे रहा था की राशि की चुचियन जोर जोर से हिल रही थी और राशि भी हाय हाय हाय मजा आ गया भैया, गजब के हो आप, मुझे खुश कर दिया, आज तो मैं धन्य हो गयी, अब मुझे किसी चीज की कमी नहीं है, आज से आप ही मेरे भैया और सैया हो, मुझसे रहा नहीं गया और मैंने भी अपना कपड़ा खोल दी, और साथ लग गयी चुदवाने में, अब मैं अपना चूत अपने देवरानी के मुह में रगड़ने लगी और चूचिआं दबाने लगी, और अब तो मुझे भी जोश आ गया चूत गीली हो गयी, राशि कहने लगी आपका चूत तो नमकीन लग रहा है, मैंने कहा ले राशि जी ले अपनी ज़िंदगी, आज से हम दोनों साथ साथ चुद्वायेंगे.राशि अपना गांड उठा उठा के चुदवा रही थी, और मेरा पति चोद रहा था, मैं भी कभी चूत की पानी ऊँगली से निकाल से राशि के मुझ में डालती तो कभी पति के मुह में आखिर एक घटे के चुदाई के बाद राशि निढाल हो गयी और मेरा पति भी आआउउउच बोल के अपना सारा वीर्य राशि के चूत में दाल दिया, मेरा पति बोला थैंक यू मेनका तुम्हारे जैसी पत्नी सबको मिले, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और राशि बोली थैंक्स दीदी आपके जैसी जेठानी सबको मिले और भैया आपके जैसे जेठ भी हम जैसे अभागन को मिले ताकि वो अपनी वासना की आग को अपने ही घर में बुझा सके.आपको मेरी कहानी कैसी लगी जरूर बताएं, मैं भी आपके तरह ही निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पे रोज आती हु, अगर मुझे भी कोई मौक़ा मिला चुदने का पर मुझे मोटा लण्ड चाहिए, मैंने जरूर चुदवाउंगी, कैसी लगी हम डॉनो की ग्रुप सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी देवरानी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RasniSharma

चचेरी बहन की जमकर चुदाई

दोस्तों, आज जो भाई बहन की चुदाई की कहानियां बताने जा रहा हू वो मेरी चचेरी बहन की चुदाई की हैं .मैं आज तक कभी किसी भी लड़की की चुदाई नहीं पर मन बहुत करता था, अब मेरी ये तमन्ना पूरी हो गयी है, क्यों की कल ही मैंने अपने चचेरी बहन शिल्पा की चुदाई की है वो भी बड़े ही फिल्मी स्टाइल में, क्यों की मैं काफी कुछ एडल्ट मूवी देख के सिख गया हु, कैसे लण्ड घुसाते है कैसे चूत को चाटते है, सबसे बढ़िया तरीका कौन सा होता है चुदाई करने के लिए. मेरे मम्मी पापा दोनों मामा जी की यहाँ गए थे क्यों की मेरी नानी की तबियत खराब थी, तो मैं घर पे अकेला था, मेरे पापा दो भाई है, बड़े चाचा बगल बाले घर पे रहते है, उनकी बेटी यानी की मेरी चचेरी बहन शिल्पा बहुत ही खूबसूरत है,

वो मेरे से एक साल बड़ी है, पर अभी शादी नहीं हुई है वो पढाई कर रही है, तभी मेरा दरवाजा किसी ने खटखटाया, मैं जाके देखा तो शिल्पा थी, बोली कुशाग्र चाची है, मैंने कहा नहीं वो तो मामा जी के यहाँ गए है, तो बोली अरे यार मम्मी भेजी है, बोली जा चाची के यहाँ से चीनी ले आ, तो मैंने कहा कोई बात नहीं मैं दे देता हु, वो अंदर आ गई और मैं चीनी लेने रसोई में चला गया. मैं रसोई में से चीनी लेके बाहर आया तो देखा की शिल्पा मेरे लैपटॉप के सामने बैठी थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं सोफे ऑफ़ बैठ के एडल्ट मूवी लैपटॉप पे देख रहा था और बंद करना भूल गया, मैं बहुत हड़बड़ा गया था, मैं झट से लैपटॉप को बंद किया और बोला सॉरी, गलती से चालू ही रह गया, मैं डर गया था, पर शिल्पा मुझे तिरछी नजर से देख रही थी, और अपने होठ पे दांत को दबा रही थी, ऐसा लग रहा था वो सेक्स की नशे में आ गई थी, तभी शिल्पा बोली क्या तुम्हे ये मूवी अच्छा लगता है, मैंने कहा हां, तो वो बोली मुझे भी बहुत अछा लगता है, चालू कर ना सुरु से, मैंने स्टार्टिंग से मूवी को चालु कर दिया, वो मेरे साथ बैठ गयी सट के और हम दोनों मूवी देखने लगे,

धीरे धीरे शिल्पा ने मेरे लण्ड को पकड़ लिया फिर वो मेरे में लिपट गयी, बहन की बड़ी बड़ी चूचियाँ मेरे साइन से चिपक गयी, मैं शिल्पा के होठ पे किश कर लिया, वो भी मुझे किश कर रही थी, फिर मैंने उसके टॉप को ऊपर कर दिया और बड़ी बड़ी मदमस्त चूचियाँ दबाने लगा, हम दोनों मूवी भी देख रहे थे और एक दूसरे को किश करते हुए वो मेरे लण्ड को सहला रही थी और मैंने उसके चूची को सहला रहा था, मैंने कहा चाची चीनी का इंतज़ार कर रही होगी, तो शिल्पा बोली वो तो मैंने झूठ बोला था, मम्मी पापा दोनों गाँव गए है, रात को आयेगे, इतना सुनते हु, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैंने उसके कपडे उतार दिए, ब्रा का हुक भी पीछे से खोल दिया बड़ी बड़ी चूचियाँ मेरे सामने झूल रहे थे, मैंने एक एक करके दोनों चूचियों को मुह में ले रहा था, और दबा रहा था शिल्पा सिर्फ आअह आआह आआह आआह कर रही थी, फिर दोनों लैपटॉप लेके बैडरूम में आ गए लैपटॉप का वॉल्यूम थोड़ा और बढ़ा दिया, हम डॉनो भाई बहन 69 की पोजीशन में आ गए, यानी की मैंने बहन की चूत को चाट रहा था और वो मेरे लण्ड को अपने मुह में लेके चाट रही थी, मैंने बहन की चूत को चाटा उसके बाद मैंने अपनी एक ऊँगली बहन की चूत में घुसा के अंदर बाहर करने लगा ये सिलसिला करीब १५ मिनट तक किया, क्या बताऊँ दोस्त शिल्पा के मुह में आआह आआअह आआअह आआअह आआअहाआ की आवाज़ निकल रही थी और वो वाइल्ड तरीके की कर रही थी, हरेक तीन से चार मिनट में वो अपने चूत की पानी छोड़ रही थी, जैसे ही वो पानी छोड़ती मैं फटाफट चाट जाता.

फिर मैंने उसको किश करने लगा और बूब को दबाने लगा, शिल्पा बोली कुशाग्र अब मुझे मत तड़पाओ प्लीज, मेरा चूत तेरे लण्ड को पाने के लिए बेक़रार है, मैंने भी अपने लण्ड को दो बार हिलाया मेरा लण्ड करीब 8 इंच का हो चूका था, और सलामी दे रहा था, मेरा लण्ड भी शिल्पा के चूत में जाने को बेक़रार था, मैंने शिल्पा के दोनों टांग को फैलाकर अपने दोनों कंधे पे लिया और अपना लण्ड उसके चूत के सामने रखा, फिर एक झटका दिया, मेरा लण्ड पूरा बहन की चूत में चला गया था, फिर वो गांड उठा उठा के चुदवाने लगी.दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैंने शिल्पा को घोड़ी बना और मैंने मैं कुत्ते की तरह हो गया और चोदने लगा, करीब मेरी और बहन की चुदाई २ घंटे तक चली थी, इस बीच मैं दो बार झड़ चुका था पर उससे छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था, इसलिए जैसे ही मैं उसको छेड़ता मेरा लण्ड फिर से तैयार हो जाता, और jab भी मैं शिल्पा की चूत में ऊँगली घुसाता और अंदर बाहर करता और जीभ घुसता उसका भी चूत पानी पानी हो जाता, कैसी लगी हम डॉनो भाई बहन की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी चचेरी बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/ShilpaSharma

नौकरानी की जवान बेटी की चुदाई की कहानियों

दोस्तों, आज जो हिंदी सेक्स की कहानियों बताने जा रहा हू वो नौकरानी की जवान बेटी की चुदाई की हैं.

मेरी नौकरानी खुद भी चुदी और अपने बेटी को चुदवाई आज मैं उसी का दूसरा पार्ट जिसमे मैंने नौकरानी की बेटी को चोदा, क्यों की जिस दिन नौकरानी चुद के गयी उसके दूसरे दिन नौकरानी काम पे नहीं आयी नैना आई, नैना बोली की मम्मी की तबियत ख़राब है इसलिए वो मुझे भेजी है. मैंने नैना से पूछा नैना तुम्हारे उम्र क्या है तो नैना बोली अभी मैं १९ साल की हुयी हु, मैंने कहा क्या करती हो, तो वो बोली मैं अपने मोहल्ले के छोटे छोटे बच्चे को टूशन पढ़ाती हु, और ब्यूटी पारलर का काम सिख रही हु, मैंने कहा बहुत अच्छा, फिर मैंने कहा नैना तुम या तो तुम्हारी माँ दिखती बहुत ही संस्कारवान हो, तो बोली हां भैया आपको तो पता है की हालात के चलते ही हमलोग यहाँ पर है, माँ भी ज्यादा नहीं कमा सकती है, अब मैंने भी थोड़ा थोड़ा हाथ बताने लगी हु,
कल मेरी माँ बोल रही थी रात को की कल तू ही चली जाना, आपको बारे में कह रही थी आप बहुत अच्छे इंसान हो, वो कुछ भी कहेंगे तो तुम मना नहीं करना, मैंने कहा अच्छा ये बोली है तुम्हारी माँ, की किसी चीज के लिए मना नहीं करना, फिर क्या था, मैंने पहले नैना को काम करने दिया, वो अपना दुपटा खोल के किचन में ही रख दी थी और घर पे वो झाड़ू पोछा करने लगी, जब वो पोछा लगा रही थी तो उसकी चूचियाँ उसके घुटने के दबाब से बाहर निकल रहा था, उसकी कजरारी आँखे और भरा पूरा जवान शरीर देखकर मेरा मन ललच उठा, कल ही मैंने इसकी माँ को चोदा था, आज मुझे नौकरानी की बेटी चुदाई का हैंगओवर था, फिर मैं नैना से प्यार भरी बाते करने लगा, नैना तुम्हारे कोई बॉय फ्रेंड है की नहीं, तो नैना बोली नहीं नहीं, आज तक कोई अच्छा नहीं मिला, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर वो काम खत्म करके मेरे से बात करने लगी, फिर मैंने नैना से कहा, नैना तुम बहुत सुन्दर हो, तुम अगर कुछ करना चाहती हो तो करो पैसे के बारे में मत सोचना, मैं दे दूंगा, तुमको जितना चाहिए उतना दे दूंगा, तो नैना बोल उठी क्या आप १० हजार रूपये दोगे, ये माँ ने ही कहा है, मुझे अपनी माँ के जेवर छुड़ाने है, वो गिरवी रखा है, तो मैंने कहा १० हजार ? बोली हां, नैना फिर बोली की माँ बोल के भेजी है की किसी चीज की मना मत करना, मैं समझ गया की कुसुम नैना को समझा के भेजी है, की अगर उसे चुदने को भी कहा जाये तो चुद जाना.

मैंने नैना को बेड पे बैठाया, और उसके कान की बाली को अपने ऊँगली से हिलाने लगा, वो मुस्कुराते हुए अपना सर निचे कर ली, फिर मैंने अपना ऊँगली उसके गाल पे घुमाया, वो चुपचाप ही रही फिर मैं ऊँगली को उसके होठ पे जाके रखा और होठ को कोमलता को महसूस किया, वो मुझे तिरछी आँख से देखने लगी, फिर वो नजर उठा के देखि, ओह्ह्ह उसकी आँख नशीली हो चुकी थी, मैंने अपना हाथ उसके कंधे पे रखा और कहा ले लेना १० हजार, मैंने थोड़ा करीब हो गया और अपना होठ उसके होठ के तरफ बढ़ाया, वो भी थोड़ी झुकी, और हम दोनों एक दूसरे को किश करने लगे, फिर मैंने अपना एक हाथ उसके बूब पे रखा, और दबाया, वो मेरे तरफ झुक गयी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।ऐसा लगा की वो अपने आप को मुझे सौप दी, मैंने भी उसको अपने बाहों में भर लिया उसकी बदन की गर्माहट को मैं महसूस कर रहा था. मैंने उसको बेड पे लिटा दिया और उसके समीज को ऊपर ऊपर कर दिया पर चूची के ऊपर नहीं हो रह था क्यों की उसकी चूचियाँ काफी टाइट और बड़ी बड़ी थी, फिर वो उठ के बैठ गयी और ऊपर से अपने समीज को बाहर निकाल दी, ओह्ह्ह्ह क्या बताऊँ दोस्तों मैं तो हैरान था गोल गोल चूची मैंने पीछे से ब्रा को खोल दिया, ब्रा खुलते ही ऐसा लगा की दो घोड़े को लगाम लगा के रखी थी, मैं उसके बूब को मुह में ले लिया और किश करने लगा, और फिर से लिटा दिया, वो अपने मुह से इस्स्स इस्स्स इस्स्स्स इस्स्स्स इस्स्स्सस उफ्फ्फ्फ़ फ्फ्फ्फ़ फ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ

आउच अकह की आवाज निकाल रही थी, फिर मैंने जैसे ही नाड़ा पकड़ा खोलने के लिए, वो बोली भइया प्लीज धीरे से करना, दर्द नहीं होनी चाहिए मुझे बहुत डर लग रहा है, मैंने कहा ठीक है में धीरे धीरे करूँगा.
फिर मैंने नौकरानी की बेटी की  सलवार को खोल दिया और पेंटी भी उतार दी, अब वो पूरी नंगी मेरे सामने लेटी थी, मेरा लण्ड खड़ा हो गया था, सलामी ले रहा था, पर नैना मेरे मोटे और लम्बे लण्ड को देखकर डर रही थी बार बार वो यही कह रही थी की धीरे से करना प्लीज, मैंने लण्ड पे थोड़ा थूक लगाया, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ऐसे उसकी चूत काफी गीली हो चुकी थी पर चूत कुवारी थी इस वजह से मैंने सोचा थोड़ा थूक लगा लू जिससे आराम से अंदर जायेगा और दर्द भी नहीं होगा, वही हुआ मैंने अपने लण्ड को नैना के चूत पे रखा और अंदर घुसा दिया, वो अकबका गयी, दर्द से कराह उठी बेटी की चूत बिलकुल वर्जिन थी, खूब भी निकलने लगा, फिर धीरे धीरे कर के अंदर बाहर करना सुरु कर दिया, अब नैना को भी काफी जोश आ गया था क्यों की वो भरपूर जवानी में थी गदराया हुआ बदन था, वो भी चुदवाने लगी, मैंने नैना के पैर को ऊपर उठा दिया, और बेटी की के चूत में अपने लण्ड से ड्रिल करने लगा, फच फच की आवाज आ रही थी, चूत काफी टाइट थी, पर उसकी चूत की पानी से लण्ड और चूत में फिसलन थी इस वजह से आराम से आ जा रहा था, फिर मैं निचे लेट गया और नैना मेरे ऊपर आ गयी, वो मेरे लण्ड को पकड़ के अपने चूत में मुहाने पे सेट की और बैठ गई, पूरा लण्ड धीरे धीरे नौकरानी की बेटी की चूत में समा गया था अब मेरा लण्ड दिखाई नहीं दे रहा था,

लण्ड वो अपनी चूत में ले रखी थी, फिर वो धीरे धीरे ऊपर निचे होने लगी, अब दोनों काफी गरम और वाइल्ड हो गए थे.फिर वो निचे हो गयी, मैंने अपने लण्ड को बेटी की चूत में डाल दिया वो अपने पैरो से मुझे रिंग बना ली, मैंने अपना मुह उसके कंधे के पास रख लिया, नैना की दोनों चुचिया मेरे साइन से दबी थी, और मैं उसके चूत में झटके पे झटके दे रहा था, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर एक टाइम ऐसा आया की नैना काफी जोर से अंगड़ाई ली, और अपने नाख़ून से मेरे पीठ में गड़ा दी और अपने बदन को टाइट कर के एक लम्बी आह ली और शीतील हो गयी, अगले कुछ ही पलों में मेरे अंदर सिहरन हुआ और मैंने अपना पूरा माल नौकरानी की बेटी की चूत में डाल दिया, आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है, उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को पकड़ के सो गए,कैसी लगी नौकरानी की बेटी की चुदाई स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई नौकरानी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/NainaSharma

दादाजी ने मां को चोदा होली की बहाने

दोस्तों, आज जो ससुर और बहू की सेक्स कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी मां की चुदाई की हैं. यह सेक्स की कहानी इसी 2015 होली की है। 6 साल के बाद मैं होली में अपने घर पर था। मेरी उम्र 19 साल की है।मेरे अलावा घर में मेरे बाबूजी और माँ है। मेरी छोटी बहन का विवाह पिछले साल हो गया था। कुछ कारण बस मेरी बहन रेनू होली में घर नहीं आ पाई। मेरे माँ की उम्र 34-35 साल की। माँ कहती है कि उसकी शादी 14 वे साल में ही हो गई थी और साल बीतते बीतते मैं पैदा हो गया था। मेरे जन्म के 2 साल बाद रेनू पैदा हुई।

अब जरा माँ के बारे में बताउँ। वो गाँव में पैदा हुई और पली बढ़ी। पांच भाई बहनों में वो सबसे छोटी थी। खूब गोरा दमकता हुआ रंग, 5’5″ लम्बी, चौडे कन्धे, खूब उभरी हुई छाती, उठे हुए स्तन और मस्त, गोल गोल भरे हुए नितम्ब। जब मैं 14 साल का हुआ और मर्द और औरत के रिश्ते के बारे में समझने लगा तो जिसके बारे में सोचते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो जाता था, वो मेरी माँ मालती ही है। मैने कई बार मालती के बारे में सोच सोच कर हत्तु मारा होगा लेकिन ना तो कभी मालती का चुची दबाने का मौका मिला, ना ही कभी उसको अपना लौड़ा ही दिखा पाया।दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। इस डर से क़ि अगर घर में रहा तो जरुर एक दिन मुझसे पाप् हो जायेगा, 8वीं क्लास के बाद मैं जिद कर होस्टल में चला गया। माँ को पता नहीं चल पाया कि उसके इकलौते बेटे का लौड़ा माँ की बुर के लिए तड़पता है। छुट्टियों में आता था तो चोरी छिपे मालती की जवानी का मज़ा लेता था और करीब करीब रोज रात को हत्तु मारता था। मैं हमेशा यह ध्यान रखता था कि माँ को कभी भी मेरे ऊपर शक ना हो। और माँ को शक नहीं हुआ। वो कभी कभी प्यार से गालों पर थपकी लगाती थी तो बहुत अच्छा लगता था। मुझे याद नहीं कि पिछले 4-5 सालों में उसने कभी मुझे गले लगाया हो।

अब इस होली कि बात करें। माँ सुबह से नाश्ता, खाना बनाने में व्यस्त थी। करीब 9 बजे हम सब यानि मैं, बाबूजी और दादाजी ने नाश्ता किया और फिर माँ ने भी हम लोगों के साथ चाय पी। 10 – 10.30 बजे बाबूजी के दोस्तो का ग्रुप आया। मैं छत के ऊपर चला गया। मैंने देखा कि कुछ लोगों ने माँ को भी रंग लगाया। दो लोगों ने तो माँ की चूतड़ों को दबाया, कुछ देर तो माँ ने मजा लिया और फिर माँ छिटक कर वहाँ से हट गई। सब लोग बाबूजी को लेकर बाहर चले गये । दादाजी अपने कमरे में जाकर बैठ गये।दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर आधे घंटे के बाद औरतों का हुजूम आया। करीब 30 औरतें थी, हर उम्र की। सभी एक दूसरे के साथ खूब जमकर होली खेलने लगे। मुझे बहुत अच्छा लगा। जब मैने देखा कि औरतें एक दूसरे की चुची मसल मसल कर मजा ले रही हैं, कुछ औरतें तो साया उठा उठा कर रंग लगा रही थी। एक ने तो हद ही कर दी। उसने अपना हाथ दूसरी औरत के साया के अन्दर डाल कर बुर को मसला। कुछ औरतों ने मेरी माँ मालती को भी खूब मसला और मां की चुची दबाई। फिर सब कुछ खा पीकर बाहर चली गई। उन औरतो ने माँ को भी अपने साथ बाहर ले जाना चाहा लेकिन माँ उनके साथ नहीं गई।

उनके जाने के बाद माँ ने दरवाजा बन्द किया। वो पूरी तरह से भीग गई थी। माँ ने बाहर खड़े खड़े ही अपना साड़ी उतार दी। गीला होने के कारण साया और ब्लाऊज दोनों माँ के बदन से चिपक गए थे। कसी कसी जांघें, खूब उभरी हुई छाती और गोरे रंग पर लाल और हरा रंग माँ को बहुत ही मस्त बना रहा था। ऐसी मस्तानी हालत में माँ को देख कर मेरा लौड़ा टाइट हो गया। मैने सोचा, आज अच्छा मौका है। होली के बहाने आज माँ को बाहों में लेकर मसलने का। मैने सोचा कि रंग लगाते लगाते आज चुची भी मसल दूंगा। यही सोचते सोचते मैं नीचे आने लगा। जब मैं आधी सीढी तक आया तो मुझे आवाज सुनाई पड़ी !दादाजी माँ से पूछ रहे थे,” विनोद कहाँ गया…?”“मालूम नहीं, लगता है अपने बाबूजी के साथ बाहर चला गया है।” माँ ने जबाब दिया।
माँ को नहीं मालूम था कि मैं छत पर हूँ और अब उनकी बातें सुन भी रहा हूँ और देख भी रहा हूँ। मैने देखा मालती अपने ससुर के सामने गरदन झुकाये खड़ी है। दादाजी माँ के बदन को घूर रहे थे।तभी दादाजी ने माँ के गालो को सहलाते हुये कहा,”मेरे साथ होली नहीं खेलोगी?”दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैने सोचा, माँ ददाजी को धक्का देकर वहाँ से हट जायेगी लेकिन साली ने अपना चेहरा ऊपर उठाया और मुस्कुरा कर कहा,” मैने कब मना किया है, और अभी तो घर में कोई है भी नहीं !”कहकर माँ वहां से हट गई। दादाजी भी कमरे के अन्दर गये और फिर दोनों अपने अपने हाथों में रंग लेकर वापस वहीं पर आ गये। दादाजी ने पहले दोनों हाथों से माँ की दोनों गालों पर खूब मसल मसल कर रंग लगाया और उसी समय माँ भी उनके गालों और छाती पर रंग रगड़ने लगी। दादाजी ने दुबारा हाथ में रंग लिया और इस बार माँ की गोल गोल बड़ी बड़ी चुचियों पर रंग लगाते हुए चुचियों को दबाने लगे। माँ भी सिसकारती मारती हुई दादाजी के शरीर पर रंग लगा रही थी।

कुछ देर तक चुचियों को मसलने के बाद दादाजी ने माँ को अपनी बाहों में कस लिया और चूमने लगे। मुझे लगा कि माँ गुस्सा करेगी और दादाजी को डांटेगी। लेकिन मैंने देखा क़ि माँ भी दादाजी के पांव पर पांव चढ़ा कर चूमने में मदद कर रही है। चुम्मा लेते लेते दादाजी का हाथ माँ की पीठ को सहला रहा था और हाथ धीरे धीरे माँ के सुडौल नितम्बों की ओर बढ़ रहा था । वे दोनों एक दूसरे को जम कर चूम रहे थे जैसे पति-पत्नि हों।दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। अब दादाजी माँ के चूतड़ों को दोनों हाथों से खूब कस कस कर मसल रहे थे और यह देख कर मेर लौड़ा पैंट से बाहर आने को तड़प रहा था। क़हां तो मैं यह सोच कर नीचे आ रहा था कि मैं माँ के मस्त गुदाज बदन का मजा लूंगा और कहां मुझसे पहले इस हरामी दादाजी ने रंडी का मजा लेना शुरु कर दिया। मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था। मन तो कर रहा था कि मैं दोनों के सामने जाकर खड़ा हो जाऊँ। लेकीन तभी मुझे दादाजी कि आवाज सुनाई पड़ी,” रानी, पिचकारी से रंग डालूँ ?”

दादाजी ने माँ को अपने से चिपका लिया था। माँ का पिछवाड़ा दादाजी से सटा था और मुझे माँ का सामने का माल दिख रहा था। दादाजी का एक हाथ चुची को मसल रहा था और दूसरा हाथ माँ के पेड़ू को सहला रहा था।
“अब भी कुछ पूछने की जरुरत है क्या..?”दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
माँ का इतना कहना था कि दादाजी ने एक झटके में साया के नाड़े को खोल डाला और हाथ से धकेल कर साया को नीचे जांघो से नीचे गिरा दिया। मैं अवाक था माँ की बुर को देखकर। माँ ने पैरों से ठेल कर साया को अलग कर दिया और दादाजी का हाथ लेकर अपनी बुर पर सहलाने लगी। बुर पर बाल थे जो बुर को ढक रखा था। दादाजी की अंगुली बुर को कुरेद रही थी और माँ अपनी हाथो से ब्लाउज का बटन खोल रही थी। दादाजी ने माँ के हाथ को अलग हटाया और फटा फट सारे बटन खोल दिए और ब्लाउज को निकाल दिया। अब माँ पूरी तरह से नंगी थी। मैने जैसा सोचा था, चूची उससे भी बड़ी बड़ी और सुडौल थी। दादाजी आराम से मां की नंगी जवानी का मजा ले रहे थे। माँ ने 2-3 मिनट दादाजी को चुची और चूत मसलने दिया फिर वो अलग हुई और वहीं फर्श पर मेरी तरफ पाँव रखकर लेट गई। मेरा मन कर रहा था कि जाकर चूत में लौड़ा पेल दूँ। तभी दादाजी ने अपना धोती और कुर्ता उतारा और माँ के चेहरे के पास बैठ गये। माँ ने लन्ड को हाथ में लेकर मसला और कहा,”पिचकारी तो अच्छा दिखता है लेकिन देखें इसमें रंग कितना है…! अब देर मत करो, वे आ जायेंगे तो फिर रंग नहीं डाल पाओगे।”

और फिर, दादाजी ने माँ पाँव के बीच बैठ कर लन्ड को चूत पर दबाया और तीसरे धक्के में पूरा लौड़ा बुर के अन्दर चला गया। क़रीब 10 मिनटों तक माँ को खूब जोर जोर से धक्का लगा कद चोदा। उस रन्डी को भी चुदाई का खूब मजा आ रहा था, तभी तो साली जोर जोर से सिसकारी मार मार कर और चूतड़ उछाल उछाल कर दादाजी के लंड के धक्के का बराबर जबाब दे रही थी। मां और दादाजी  की चुदाई देखकर मुझे विशवास हो गया था कि माँ और दादाजी पहले भी कई बार चुदाई कर चुके हैं…दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।“क्या राजा, इस बहू का बुर कैसा है? मजा आया या नहीं ?” माँ ने कमर उछालते हुये पूछा।“मेरी प्यारी बहू ! बहुत प्यारी चूत है और चूची तो बस, इतनी मस्त चुची पहले कभी नहीं दबाई।”दादाजी ने चुची को मसलते हुये पेलना जारी रखा और कहा।“रानी, तुम नहीं जानती, तुम जबसे घर में दुल्हन बन कर आई, मैं हजारों बार तुम्हारे चूत और चुची का सोच सोच कर लंड को हिला हिला कर तुम्हारा नाम ले ले कर पानी गिराता हूँ।”

दादाजी ने चोदना रोक कर माँ की चुची को मसला और रस से भरे ओंठों को कुछ देर तक चूसा। फिर चुदाई शुरू की और कहा,”मुझे नहीं मालूम था कि एक बार बोलने पर ही तुम अपनी चूत दे दोगी, नहीं तो मैं तुम्हें पहले ही सैकडों बार चोद चुका होता !”मुझे विश्वास नहीं हुआ कि माँ दादाजी से पहली बार चुद रही है। दादाजी ने एक बार कहा और हरामजादी बिना कोई नखरा किये चुदाने के लिये नंगी हो गई और दादाजी कह रहे है कि आज पहली बार ही माँ को चोद रहे हैं।लेकिन तब माँ ने जो कहा वो सुनकर मुझे विश्वास हो गया कि माँ पहली बार ही दादाजी से मरवा रही है।दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। माँ ने कहा,” राजा, मैं कोई रंडी नहीं हूँ। आज होली है, तुमने मुझे रंग ल मैं तो ये सुन कर दंग रह गया। एक ससुर अपनी बहू से होली खेलने को बेताब था।आज होली है, तुमने मुझे रंग लगाना चाहा, मैने लगाने दिया, तुमने चुची और चूत मसला, मैने मना नहीं किया, तुमने मुझे चूमा और मैने भी तुमको चूमा और तुम चोदना चाह्ते थे, पिचकारी डालना चाहते थे तो मेरी चूत ने पिचकारी अन्दर ले ली। तुम्हारी जगह कोई और भी ये चाहता तो मैं उस से भी चुदवाती। चाहे वो राजा हो या नौकर ! होली के दिन मेरा माल, मेरी चूत, मेरी जवानी सब के लिये खुली है……..!”

माँ ने दादाजी को अपनी बांहों और जांघों में कस कर बांधा और फिर कहा,”आज जितना चोदना है, चोद लो, फिर अगली होली का इंतजार करना पड़ेगा मेरी नंगी जवानी का दर्शन करने के लिये !”माँ की बात सुनकर मैं आश्चर्य-चकित था कि होली के दिन कोई भी उसे चोद सकता था..लेकिन यह जान कर मैं भी खुश हो गया। कोई भी में तो मैं भी आता हूँ। आज जैसे भी हो, माँ को चोदूँगा ही। यह सोच कर मैं खुश था और उधर दादाजी ने माँ की चूत में पिचकारी मार दी। बुर से मलाई जैसा गाढ़ा दादाजी का रस बाहर निकल रहा था और दादाजी खूब प्यार से माँ को चूम रहे थे।दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। क़ुछ देर बाद दोनों उठ गये ।“कैसी रही होली…?” माँ ने पूछा,” आप पहले होली पर हमांरे साथ क्यों नहीं रहे। मैने 12 साल पहले होली के दिन सबके लिये अपना खजाना खोल दिया था।”माँ ने दादाजी के लौड़ा को सहलाया और कहा,” अभी भी लौड़े में बहुत दम है, किसी कुमांरी छोकरी की भी चूत एक धक्के में फाड़ सकता है।”माँ ने झुक कर लौड़े को चूमा और फिर कहा,”अब आप बाहर जाईये और एक घंटे के बाद आईयेगा। मैं नहीं चाहती कि विनोद या उसके बाप को पता चले कि मैंने आप से चुदाई है।”

माँ वहीं नंगी खड़ी रही और दादाजी को कपडे पहनते देखती रही। धोती और कुर्ता पहनने के बाद दादाजी ने फिर माँ को बांहो में कसकर दबाया और गालों और होंठों को चूमा। कुछ चुम्मा चाटी के बाद माँ ने दादाजी को अलग किया और कहा,”अभी बाहर जाओ, बाद में मौका मिलेगा तो फिर से चोद लेना लेकिन आज ही, कल से मैं आपकी वही पुरानी बहू रहूंगी।”दादाजी ने चुची दबाते हुये माँ को दुबारा चूमा और बाहर चले गये। कैसी लगी मां और दादाजी  की चुदाई स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी मां की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/MalotiSharma

साले की बीवी की कुँवारी चूत की चुदाई

दोस्तों, आज जो कुँवारी चूत की सील तोड़ने की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी साले की बीवी की चुदाई की हैं .जब नयी नवेली दुल्हन को चोदने का मौक़ा मिल जाये वो भी अपनी नहीं, किसी और की दुल्हन को, है ना मजे की बात? टाइट चूत की चुदाई की कहानी, आज कल मैं नई नवेली साले की बीवी की चुदाई कर रहा हु, जैसी की मेरी ही शादी हुई हो. मेरी शादी अभी ३ साल पहले ही हुयी है, ये कहानी मेरे साले की बीवी ख़ुशी की है, मेरा साला रजत का उम्र २४ साल है और उसकी नयी नवेली दुल्हन कशिश २२ साल की है, मेरा साला का पैर ठीक नहीं है वो पोलियो से पीड़ित है, पर खूब पैसा बाला है इस वजह से उसकी शादी हो गयी है, ख़ुशी गरीब घर की लड़की है पर देखने में बड़ी ही सुन्दर है, मैं ही गया था रिश्ता करवाने के लिए, मैंने लड़की बाले को आस्वस्त किया की लड़का काफी अच्छा है, बहुत खुश रखेगा, लड़की मेरे बात चित से काफी इम्प्रेस्सेड हुयी थी.

कुँवारी चूत की चुदाई
साले की बीवी की कुँवारी चूत की चुदाई 
ख़ुशी में अगर मुझे सबसे बढ़िया लगा था वो खुले दिमाग की है, उसका शरीर की बनावट और रूपरेखा काफी अच्छा है, मैं खुद भी फ़िदा हो गया था उसकी होठ और गाल और बूब्स की बनावट और पतली कमर, और मस्त चूतड़ देख के. पर मैं तो जीजा जी बना बैठा था, आप यू कहिये की कोई भी लड़का जिसको अच्छा लड़की और सेक्सी बम चाहिए तो वो ख़ुशी को देखकर कभी भी शादी से इंकार नहीं कर सकता था.दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। शादी हो गयी, सब कुछ अच्छा रहा, पर सुहागरात को सब कुछ ठीक नहीं रहा, मैंने पूछा की ख़ुशी क्या हाल है, रात कैसी कटी, तो बोली जीजाजी ठीक नहीं रहा लगता है वो शर्माते है, इस वजह से ज्यादा कुछ भी नहीं हो सका, मैंने सोचा सही बोल रही है, पर दूसरे दिन और तीसरे दिन भी यही सूना, मैं दिल्ली गया, पर एक सप्ताह तक सेक्स सम्बन्ध नहीं हुआ तो मैं चिंता में पड़ गया, मैंने उन्दोनो को शिमला जाने के लिए कहा हनीमून मानाने के लिए, और होटल भी बुक कर दिया, वो दोनों तय समय पे दिल्ली आ गए, मैंने कहा क्या बात है साले साहब आप मैडम को अभी तक खुश नहीं कर पाये है, तो मेरे साला बोला जीजा जी आज मैं आपसे एक बात करना चाहता हु, मैंने कहा ठीक बताओ क्या बात है.

तब मेरा साला ने सब कुछ बताया बोला जीजा जी, मुझे भी अपनी सुहागरात के दिन ही पता चला की मैं सेक्स नहीं कर सकता, मेरा लिंग खड़ा होते ही स्थिल हो जाता है, मैंने तरय किया पर मुस्किल से १० सेकंड में ही मेरा वीर्य अपने आप निकल जाता है, मैं तो पाने सामान को उसके सामान तक ले भी नहीं जा पा रहा हु, सब कुछ तुरंत हो जाता है . मैं समझ गया की ये बहुत ख़राब हुआ, और मैंने एक लड़की की ज़िंदगी खराब कर दी, मुझे खुद पे ग्लानि होने लगी, मुझे लगा की मैं ही इन दोनों कआ शादी करवाया और आज क्या हो गया है.दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैंने ख़ुशी को बुलाया अकेले में, उस समय मेरा साला भी बाहर चला गया, मेरी वाइफ उस समय अपने मायके गयी थी, मैंने कहा ख़ुशी आज मुझे एक बात पता चला. मैं आपसे माफ़ी मांगता हु, सब मेरी गलती है, मैंने कहा आप स्वतंत्र है, आप जो कहेंगे वही होगा, यहाँ तक की मैं आपको शादी दूसरे जगह करवा दूंगा, पर ख़ुशी रोने लगी और गुस्सा भी करने लगी बोली जीजाजी अब मैं शादी के लिए सोच भी नहीं सकती, आप ने मेरी शादी के बारे में कैसे सोच लिया अब जैसा है वैसा ही ठीक है, मैं इनको भी नहीं छोड़ सकती, आप चिंता नहीं कीजिये यही मेरे भाग्य में लिखा था,


वो लोग शिमला जाने का प्लान दिल्ली में कैंसिल कर दिए, बोले की हम दोनों आप के पास ही थोड़े दिन तक रहेंगे, मैं भी सोचा चलो मेरी वाइफ तो अभी १० दिन बाद आएगी तो ठीक है तब तक ये दोनों यही रह लेंगे. ख़ुशी को देखकर मेरी नियत थोड़ी थोड़ी बदलने लगी, मैं ख़ुशी को पसंद करने लगा, और वो भी थोड़ी थोड़ी करीब आने लगी, एक दिन वो कपडे चेंज कर रही थी, मुझे पता नहीं था वो कमरे में है मैं अंदर चला गया, वो बिलकुल नंगी थी, मैं देखा तो देखते ही रह गया, वो भी बस मुस्कुरा दी और अपने कपडे आराम आराम से पहनने लगी, मैं तब तक उसको निहारते रहा जब तक की वो पूरी कपडे नहीं पहन ली, फिर वो करीब आई और बोली क्या बात है, नियत खराब हो गयी है क्या? मैंने कहा गजब की है तुम, भगवान ने गजब बनाया है आपको ख़ुशी, तो ख़ुशी बोली क्या करू ये सब बेकार है, किसी काम का नहीं इससे भोगने बाला कोई नहीं.दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

मैंने कहा सॉरी यार सब मेरी वजह से हो गया है, तो बोली चलो मैं आपको माफ़ कर सकती हु, अगर आप मुझे अपने १० दिन दे दो, जब तक आपकी वाइफ नहीं आ जाती, मैं भी जब से आपको देखा तब से मैं भी बैचेन हु, इतना कहते ही ख़ुशी मेरे से लिपट गयी, हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे, उसके गुलाबी होठ को मैं अपने होठ पे दबाये रखा पीछे से चूतड़ को अपने लण्ड के पास सटा के उसके होठ चूस रहा था, फिर वो एकदम से पीछे मुद गयी उसका गांड मेरे लण्ड के पास आ गया अब मैं आगे से दोनों चूच को हाथ से मसलने लगा ब्लाउज के ऊपर से ही, ख़ुशी सिर्फ आह आह कर रही थी और गांड मेरे लण्ड में रगड़ने लगी, वो काफी कामुक हो चुकी थी और मेरा लण्ड भी काफी खड़ा हो गया था, जी कर रहा था मैं चोद दू साली को यही पे, तभी मेरा साला नहा के निकल पड़ा बाथरूम से, वो दूसरे कमरे में कपडे चेंज करने लगा, और वापस आया और बोला जीजा जी मैं आ रहा हु, मुझे सलून जाना है, बाल कटवाने के लिए, वो चला गया,दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है।


उसके जाते ही ख़ुशी दरवाजा बंद की और मेरे ऊपर टूट पड़ी, वो मेरे होठ को किश करने लगी, मैंने भी आवेश में आ गया और उसको अपने गोद में उठा लिया, चूमते हुए बेड पे गिरा दिया और एक एक कर के सारे कपडे उतार दिए, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने दोनों हाथो से उसके चूच को दबाना सुरु कर दिया वो आआअह आआआह आआअह की आवाज अपने मुह से निकाल रही थी, फिर मैं निचे हो गया और दोनों पैर के बीच में बैठ के चूत को झाकने लगा, वो दोनों पैर को अलग अलग कर दी, ऐसा लगा की वो मुझे साले की बीवी की चूत को मेरे हवाले कर दी, मैंने जीभ से साले की बीवी की कुमारी चूत को चाटने लगा फिर उसके चूत से नमकीन नमकीन पानी निकलने लगा और वो अंगड़ाइयां लेने लगी और कह रही थी मत तड़पाओ ना जी, जल्दी करो ना प्लीज, प्लीज मुझे शांत कर दो ना, आज मुझे खुश कर दो ना प्लीज,

इतने में मैं अपना लण्ड निकाल के ख़ुशी के चूत के ऊपर रखा और धक्का लगाया मेरा लण्ड बड़ी मुस्किल से
एक इंच गया था, पर वो दर्द के मारे बैचेन होने लगी, मैं थोड़ा सहलाया और फिर कोशिश की, फिर भी मेरा लण्ड ख़ुशी के चूत में नहीं गया क्यों की चूत एकदम टाइट था आज तक चुदी नहीं थी, पर अगले धक्के में मेरा लण्ड साले की बीवी की के चूत में दाखिल हो गया वो वो कराह उठी और रोने लगी, चूत से खून भी निकलने लगा, फिर थोड़ा मैंने सहलाया और फिर अंदर बाहर करने लगा, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरि डॉट कॉम पर पड़ रहे है। अब ख़ुशी को बी मजा आने लगा, फिर क्या था वो भी अब गांड उठा उठा के चुदवाने लगी, करीब २० मिनट में मैं झड़ गया क्यों की जल्दी भी करनी थी मेरा साला वापस आने बाला था, ख़ुशी भी बोली जल्दी कर लो, अभी आज रात को आप मेरा पति को खूब शराब पिला देना, फिर हम दोनों आज रात भर चुदाई करेंगे, हुआ भी ऐसा शाम को मटन बनाया और व्हिस्की लाया मै एक पेग लिया पर मेरा साला खूब चढ़ा लिया और सो गया, फिर क्या था, मैं और ख़ुशी दोनों एक दूसरे को खूब मदद किया चुदाई में और रात भर चुदाई करते रहे.

कुछ दिन बाद ये बात मेरे साले को भी पता चल गया की हम दोनों में जिस्मानी रिश्ता कायम हो गया, पर उसे एक दिन के लिए बुरा लगा, फिर बोला मैं भी क्यों ख़ुशी की ख़ुशी छीन सकता, कमी तो मुझमे है, कोई बात नहीं मैं ख़ुशी के लिए सब कुछ कर सकता हु, फिर मेरा साला बोला जीजा जी आप शिमला का टिकट बनाओ हनीमून का, फिर वही हुआ, हम तीनो शिमला गए, मेरा साला अलग कमरे में सोता था और मैं और ख़ुशी एक कमरे में, ख़ुशी अब प्रेग्नेंट भी हो गयी है, मैंने अपने साले के लिए एक स्टोर खुलवा दिया हु, अब हम सब लोग साथ साथ रहते है, कैसी लगी साले की बीवी के साथ सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी साले की बीवी की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/KhushiSingh

सेक्स कहानियाँ,Chudai kahani,sex kahaniya,maa ki chudai,behan ki chudai,bhabhi ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter