Meri chudakad kamsin jism ki madmast chudai ki kahani

Hi friends.. I am Reshma .. Aaj jo chudai kahani badane jaa rahi hu wo meri pyasi choot ki khujli mitane ki madmast chudai ki kahani hai.. aaj main bataungi kaise pados ki ladke se chudwayi, kaise pados ki ladke se chut chatwayi, meri boobs chuswayi, aur meri gand marwayi, aur choot me 9 inch ka lund li, mujhe chod chod ke behus kar diya, chod chod ke mujhe pregnant bana diya. meri kuwari choot ki seal toda, aur kaise mujhe nanga karke choda.Mere pados me ek ladka rehta tha. Uska naam Suraj tha.Woh dekhne may bhout hi zayda seductive tha. Main humesha se chahti thi ki uske jaisa ladka kabhi mujhe chode.Hum same school may jate the. Main kai dino se mokka dhund rahi thi ki kabhi, mujhe usse akele milna ka chance mil jaye taki main usse seduce kr k apni side le saku, kyuki dosto main bata du ki is chiz may bahoot hi zayda expert hu! Ek din mokka mil hi gaya. Mere mom dad dono job karte hai toh aksar subah 9-10 baje tak ghar khali ho jata tha, main ek din balcony may beithi thi ki Suraj ne mujhe aawaz di.

Suraj ne kaha ki “aap to maths may bahoot achche ho na, meri maths weak hai , kya aap mujhe sikahoge?” bus fir kya tha moke pay choka laga diya! Maine kaha tik h tu aadhe gante may aa jana.. Meri toh khushi ka koi tikana hi nahi tha. Maine fatafat apna room tik kiya, mast si blue colour ki one piece pehni jo usually main raat ko sote time pehenti hu. Or uska wait karne lagi. Tabi bell ki awaz aai. Maine darwaza khola or woh tha. Woh mujhe us 1 piece may dekh kar thoda sa shock hua but kuch bola nai. Maine usse ander bulaya. Woh sofe may beith gaya.Uski nazar baar baar mere boobs or legs ki taraf jaa rahi thi. Wel main bata du ki mere boobs ki size 34 hai, ab toh aap samaj hi gaye honge ki main expert kyu hu. Main b usski nazaro se samaj gai ki usko b kuch kuch ho raha hai. Maine usse pani diya or darwaza band kar diya. Main uske pass ja kar beith gai. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Maine usse kaha ki tum mujhe batao ki tumhe kya problm hai? Woh dhire dhire uncomfortable hone laga kyuki main uske pass beithi or apni per uske per se aada rahi thi or , saath hi apno boobs ko expose karne lagi. Maine bra nahi pehna tha toh isiliye mere thoda sa hilne pe boobs bhi hil rahe the mast wale. Humne padai shuru ki, main bahane uski taraf jukh rahi thi. Aadhe gante baad usne kaha ki “mona bhuk lag rahi hai kuch khane ko milega?” main kitchen may chips or biscuits lene gai..Itni der may achanak mujhe Suraj ne piche se aake tight pakad liya. Ufffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff yaar kya feeling thi woh. Main mudi or woh mujhe pagalo i tarah kiss karne laga , maine usse roka or kaha ki Suraj tum jante ho ki kya kar rahe ho?

Toh woh bola “acha kamini ab bholi ban rahi hai, mujhe aadhe gante se tadpa k khud maje le rahi thi mujhe dekh ke. Yeh sun kr toh bus main or mood may aa gai. Main b use pagalo ki tarah kiss smoch karne lagi. Ahhhhhhhhhhhhhhh kya feeling thi, yesa lag raha tha ki hum dono pyaase bus issi ek chiz k liye bekarar hai. Hum pagal huye jaa rahe the. Usne mujhe kitchen platform p beita diya or pagalo ki tarah mere boobs dabane laga.” ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhaaaaaaahahhh chutiye kitna zor se daba raha hai…Ahhhhhhhhhhhhhhh .. Suraj -”abi toh shuruwat hai janeman” woh mere boobs ko kapade k upper se hi dabaa raha tha. Main b madhosh hui jaa rahi thi. Usne mera kapada utar diya or pagalo ki tarah meri boobs chusne laga.” arrrhhghhhhhhhhhhhhhhh ahhhhhhhhhhh Surajjjjjjjjjjjjjjjjj comeeee onnnnnnnnnnnnnnnn suckkkkk it mannnnnnnnnnnnnnnnnnn ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh, katoooo mere boobs ko Surajjjjjjjjjjjjjjjjj kattoooooooo plzzzzzzzzzzzzzzzzzzzz… Woh puri wild tarike se mere dono boobs ko katane laga….Main b uske kaan kat rahi thi toh usse maza aa raha tha. Fir usne mujhe platform se niche utara or hum fir kiss karne lage..Hum ek dusare ki jib chus rahe the.. Kya batao guys…Kitna masssssstttt lagta hai..Try zarur karna . Ab maine uske kapade nikalne lage. Uski pant ko nikalte hi main maine uska gaint lund muh may le liya.. Main b suck karne lagi…..Hmmmmmmmmmmmmmmm kya taste thaa…Woh toh or wild hone lag raha tha.. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Yeh kahani aap facebook desi kahaniyan page par padh rahe hain, Usne mere baal khich kr utaya or bola” bitch sara mazza yehi lai kya? Bedroom kaha hai?” woh mere piche kada ho kar boobs p haath rakh k dabane laga or bola chal le chal! Usne bed dekhte hi mujhe us per daka de diya or bola ” ab toh tu gai saaliiii bahout expose kar rahi thi na, main tujhe badata hu ki expose karna kya hota hai.Woh mere upper aa gaya or mere boobs ko chatne laga. Main pagal huye jaa rahi thi, aaj tak kisi ne mere boobs ko yesa mzza nahi diya tha!

Hhhhaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhh Surajjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjj yeeeeeeeeeeeesssssssssssssaaaaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhhhhh suck itttttttttttttttttttttttttttttttttttt harddddddddddddddddddddddddd . Ab woh meri chut p haath karne laga aahhhhhhhhhhhhh kya maaza aa raha tha. Suraj plz chatona meri chut ko plzzzzzzzzz Surajjjj.. Usne meri baat fat se maan li. Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhaaaaaaaaaaaa yesss yesss ooohhhh yessss comeon Surajjjjjjjj ooohhhhhhhh comeeee onnnnnnnnnnnnnnn… Woh bus 9 inch ka lund meri chut mai ghus gaya tha. Woh 15 mint tak mujhe chatata raha.Main bhi pure josh may aa gai,ab hum 69 position may aa gaye or main uske lund ko muh may le k masti kar rahi or or meri chut main ungali karne laga. Main pagalo ki tarah uske lund ko chusne lagi..Uuuuuuuuuuuuuuu ffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff kya taste tha yaaarrrrrrrrrrrrrrr, mujhe or pagal bana raha tha woh taste. Usse bhi itna mazza aane laga ki woh meri chut mau ungali na karte huye muh se awaze nikalne laga! Ahhhhhhhhhh kaminiiiiiiiiiiiiii chusssssssssssssssss le anderrr or leeeeeeeeeeeee kaminiiiiiiii aahhhh ohhhhh yess…Kuttiiiiiiiiii chuusssssssssssss ache se…Ab tu hi meri randiii haiii chusss or chusssssssss. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Main 20 mint tak usse chus rahi thi. Fir usse achank se josh aaya or mujhe sida letake mere oobs ko dabane laga.Or firse meri chut ko chatne laga… Bus ab icecreamm ki tarah chatate hi rahoge kyaaa ,,come on Surajjjjj hum dono pyaase hai ab toh chod dalo mujhe. Fir kya tha mere itne kehne par usne apna pura lund meri chut me gusa diya. Aaaaaaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh kuuteeeeeeeeeeeeeeeeeeee aaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh gusssssssssssaaaaaaaaaaaaa deeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeee……. Ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh aaaaaaaaaaaahhhhhhh woh mujhe zor zor se strokes dene laga… Ahhaaaaaaaaaaaaaaaaaa ahaaaaaaaaaaaaaaah fuuuuuuuuckkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkkk comeeeeeeeeeeeeee onnnnnnnnnnnnnnnnnnn ..

Kamine tere may jaan nahi hai kya ??? Zor se kar chutiyr fasttttttttttttttttttttttttt fasttttttttttttttttttttttttttttttttttttttt. Yeh sun kr usko b josh aa gaya or woh mujhe ek fast fast chudne laga.. Mujhe wohi ladke pasand hai jo fast chudte hai… Ahhh ahhhhhhhhhhh ahhhhh ahhhhhhhhhhhh haaa arrgggggghhhhhh commeee onnnnnnnnnnnnn yesssssssssss yesssssssss i m cumminnggggggggg yessssss Surajjj Surajjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjjj oohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh yesssssssssssssssssssssssss aaaaaaaaaaaahhh ahhhhhhhhh or under or under chudooooo mujhe ooohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh hum 45 mints tak alag alag position may sex karte rehe.. Mujhe bahout mzza aaya.Us din k baad se hume jab mokka milta hum ek dusare k saath wild sex karte, issi bich maine apne kai seniors k saatth b sex kiya, Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. or ab mera boyfrend b hai but long distance ki wajah se hum sex chat hi kr pate hai, usse mere dusaro k sath sex karne se koi problm nai hai or nahi mujhe koi problm hai agar woh waha p kisi k saath sex kare toh, we love eachother oly, baki toh bus apni sex ki kami ko pura karne k liye karte hai. friends.. kaisi lagi meri chudai ki kahaniya... ascha lage to share karo.. agar kisine meri kamsin jism ki pyas bujha chahte ho aur real me meri chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/ReshmaKumari

लण्ड का प्यासी भाभी की चिकनी चूत की चुदाई

दोस्तों, आज जो देवर और भाभी की सेक्स कहानियों बताने जा रहा हू वो मेरी भाभी के साथ चुदाई की कहानी हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे भाभी को नंगा करके भाभी की चूचियों चूसा, कैसे भाभी की चूत चाटा, नंगा करके भाभी की चिकनी चूत को चोदा  और भाभी की कुंवारी चूत फाड़ दी । एक दिन मेरी भाभी मुझसे पूछा,क्या कर रहे हो रवि ? कुछ नही भाभी बस तैयार हो रहा हू कॉलेज जाना है, क्या शीतल के लिए तैयार हो रहे हो नही भाभी, मैं तो बस कॉलेज के लिए तैयार हो रहा हू, शीतल तो अपना घर गयी है, मैं ही उसे ट्रेन पे छोड़ के आया हू. कभी मेरे लिए भी तैयार हो जाया करो क्या मैं सेक्सी नही हू? अभी २८ साल की हू लेकिन १८ से कम नही हू क्यूँ भाभी आप मज़ाक कर रहे हो, नही रवि मैं मज़ाक नही कर रही हू आज मैं तुमसे एक बात बताना चाह रही हू, तुम्हारे भैया नपुंश्क है, आज तीन साल हो गये शादी के लेकिन मैं अभी भी कुवारी हूँ ।

ये सुनकर मैं अवाक रहा गया ये क्या कह रहे हो भाभी हा रवि सच कह रही हू, मेरी तो ज़िंदगी खराब हो गयी है। मेरी जवानी मे तो जंग लग रहा है जैसे लोहा पानी मे रहकर खराब हो जाता है वैसे बिना सेक्स के मेरी ज़िंदगी नर्क हो रही है सारे अरमान और सपने तार तार हो गया है । ये बात मैं और किसी से कह नही सकती ये बात तो सास या ननद से किया जाता है लेकिन मेरे नसीब मे सास ननद भी नही है, उतराखंड की तबाही मे सास ससूर ननद को भगवान ने बुला लिया है| अब तो तुम ही सब कुच्छ हो । इतना कहते ही भाभी रोने लगी और मैं चुप करा के फिर कॉलेज चला गया । दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।शाम को घर आया तो दरबाजे पे ही भैया मिल गया रवि, मौसी जी की तवियत ठीक नही है वो हॉस्पिटल मे है, मौसा जी का जी कह रहे थे की मैं आज हॉस्पिटल मे ही रहू क्यूँ की मौसा जी तीन दिन से सोए नही है क्यो की वो रात भर हॉस्पिटल मे जागे रहे आज मौसी की तबीयत ठीक है इसलिए मैं ही रहूँगा ठीक है भैया, और हाथ मूह धोकर मैं भाभी से चाय बनाने के लिए कहा, थोड़ी देर मे भाभी चाय बना के ले आई और दोनो साथ बैठकर चाय पी और टीवी देखी, फिर रमेश मेरा फ्रेंड बाईक लेके आ गया रवि चलना है क्रिकेट खेलने मैने हा कह दिया और दोनो चल दिए । रात के करीब ८ बजे भाभी का फोन आया रमेश ने फोन उठाया रवि कहा है भाभी रवि यही है ज़रा सा छाती पे क्रिकेट का बाल लग गया था क्लिनिक आया हू,

३० मिनट मे घर आ रहा हू मैं करीब ८.३० पे घर पहुचा तो भाभी इंतज़ार कर रही थी क्यों की वो घबरा गई थी चोट सुनकर, क्या हुआ रवि कहा चोट लगा दिखाओ मैने अपना कमीज़ खोलकर दिखा दी, अरे बाप रे क्या बात है रवि आपने मेरे से छुपाई कितना सूजन आ गया है छाती पे, चलो आराम पहले खाना खा को फिर आराम करना, मैं गरम तेल की मालिश कर दूँगी, भाभी उस दिन बहुत ही हॉट लग रही थी, क्यूँ की मैने पहला दिन था जो की शाम को मैने भाभी की तैयार देखा था, वो लाल लाल नाइट सूट मे मस्त दिख रही थी. हम दोनो खाना भैया को फोन किए और मौसी का हाल चाल लिया, मैं जल्दी ही सोने चला गया, रवि लाइट मत बंद करना मैं आ रही हू तेल गरम कर रही हू, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।सरसो तेल का मालिश कर दूँगी, मैने कहा नही भाभी आप सिर्फ़ तेल गरम कर दो मैं खुद लगा लूँगा. इतना कहकर में बेड पे लेट गया, भाभी १० मे गरम तेल लेके आ गयी, और लगाने का ज़िद करने लगी मैं कहा भाभी मैं लगा लूँगा प्लीज़ आप छोड़ दो भाभी ने कहा अगर आज आपकी मा होती तो आप भी यही कहते, मैं भाभी हू कोई बात नही, कुच्छ नही करूँगी हसते हुए तिरछी नज़र से देखी और बेड पे बैठ के तेल लगाने लगी, हटाओ शर्ट मैने शर्ट खोल के अलग कर दिया वो मालिश करने लगी, उनका हाथ मेरे छाती पे पड़ते ही आजीव सा सिहरन होने लगा, उस दिन वो बड़ी मस्त दिख रही थी, उनका बड़ा बड़ा चूच आज साफ दिख रहा था, क्यों की ब्रा नही पहनी थी, और उनका गाड़ भी बॅया हॉट था,

पतली कमर लेकिन गाड़ काफ़ी चौड़ा था, वो मस्त लग रही थी, मेरा लंड कड़ा होने लगा, अब तो मुझे लगा की, ये ग़लत हो जाएगा मैं भाभी का हाथ पकड़ लिया और कहा भाभी छोड़ दो प्लीज़ क्यों की हमे अच्छा नही नही लग रहा है भाभी बोली : हमे तो अच्छा लग रहा है, आज पहली बार ऐसा लग रहा है की किसी मर्द के पास हू मैं भाभी का इशारा समझ गया, मैने सोचा भाभी तो आज चूदबा के ही छोड़ेगी मैं पीछे क्यूँ हटु इसमे बुराई भी नही नही अगर मैने कुच्छ नही किया तो सेक्स का भूख कही और मिटाएगी अच्छा है घर का माल घर मे ही रह जाए, उसके बाद मैने छेड़ना शुरू किया ।  आज बड़ी मस्त लग रही हो, झूठा तुम्हे क्या दिख गया है? आज आपका शरीर बिना दिखाए ही दिख रहा है तो?????????????? क्या इरादा है? भाभी के साथ सुहाग रात मनाए मैं कह दिया हा वो इतना कहते ही मेरा हाथ चूम ली मैने भी उनका हाथ पकड़कर तोड़ा खीचकर उनके गाल पे एक किस कर लिया और चुम्मा का शुरआत हो गया कभी वो कभी मैं, धीरे धीरे मैं भाभी की गोल गोल चुची दबाने लगा और वो मेरा लंड पकड़ने लगी. दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।रवि आज मुझे औरत बना दो आज तक मैं लड़की थी, और वो दोनो डटो के नीचे अपना लीप दबाने लगी मैं भी इस अवतार को देखकर मेरा लंड सातवे आसमान पे था और भाभी ने मेरा जौघिया खोलकर मेरा लंड चूसने लगी, मेरा तो लंड टंकार खड़ा हो गया भाभी ने अपना कपड़ा उतार दी ओह माई गॉड मैंने जैसा सोचा उससे ज़्यादा सेक्शी लग रही थी, सुडोल चूच कसा हुआ गोरा बदन, कांख के नीच बाल, होठ गुलाबी तो पागल होने लगा

रवि क्या लंड है तुम्हारा आईस क्रीम भी फेल है और भाभी आपका बदन तो संग मरमर का लग रहा है. तो कोई बात नही मेरे राजा इश्स बदन पे तुम्हारा ही अधिकार है मैं उनको बहो मे ले लिया उनकी तनी हुई चुचि मेरे छाती मे सॅट रहा था और भाभी ने सिसक रही थी, आआआआआ उक्कककककक प्यास बुझा दो रवि चोद दो प्लीज़, मेरे बूर को आज आबाद कर कर दो. दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने नीचे लिटा के दोनो पैरो को उपर कर के बूर के उपर लूँ रखकर मैं कस के धक्का मारा और मेरा लंड उनके बुवर मे दाखिल हो गया वो दर्द से करहने लगी और कहने लगी मार दिया मेरी जान आज तो फॅट गया मेरा बूर मैने धीरे धीरे चोदने लगा, भाभी भी धीरे धीरे अपना .भाभी ने चूतड़ उठा उठा के चोदबाने लगी, मैने भी खूब चोदा रात और ४० मिनट बाद मेरा वीर्य उनके बूर मे चला गया और वो शांत हो गयी हम दोनो करीब १५ मिनट तक शांत लेटे रहे फिर दोनो बात चीत करने लगे, मैने रात भर भाभी को चोदा , और सुबह करीब १० बजे उठा, मैने कहा की भाभी ये सब बात भैया की चिंता ना कर तुम्हारे भैया ने ही चोदबाने के लिए कहा की घर का माल घर मे ही रह जाए अब तो मैं भाभी की रोज चुदाई चोदता हू, जिसका साथ भैया भी दे रहा है. कैसी लगी हम डॉनो देवर और भाभी की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी भाभी की प्यासी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RekhaSharma

मदमस्त नौकरानी की जमकर चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो हिंदी चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी नौकरानी के साथ चुदाई की कहानी हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे जवान नौकरानी को नंगा करके चोदा, कैसे नौकरानी की चूचियों चूसानौकरानी की चूत चाटा, और कैसे नौकरानी की गांड मारी,  कैसे नौकरानी को घोड़ी बानाके चूत मारी । घर में एक बहुत ही सुंदर और सेक्सी नौकरानी काम पर लगी, 22-23 साल की उमर होगी उसकी, सांवला सा रंग था, मीडियम हाईट और सुडौल चूचियाँ..शादी शुदा थी, उसका पति कितना किस्मत वाला था, साला खूब चोदता होगा, यही सोच कर मैं झड़ जाता था।चूचियाँ ऐसी कि बस दबा ही डालो, ब्लाउज़ में समाती ही नहीं थी,

कितनीभी वो अपनी साड़ी से ढकती, इधर उधर से ब्लाउज़ से उभरती हुई उसकी चूचियाँ दिख ही जाती थी। झाड़ू लगाते हुए जब वो झुकती तब ब्लाउज़ के गले से नौकरानी की चूचियों के बीच की दरार छुप न पाती।एक दिन जब मैंने उसकी इस दरार को तिरछी नज़र से देखा तो पता लगा कि उसने ब्रा तो पहनी ही नहीं थी। कहाँ से पहनती, ब्रा पर बेकार पैसे क्यों खर्च किये जायें !जब वो ठुमकती हुई चलती, तो उसके चूतड़ हिलते और जैसे कह रहे हों कि हमें पकड़ो और दबाओ, अपनी पतली सी सूती साड़ी जब वो सम्भालती हुई सामने अपनी चूत पर हाथ रखती तो मन करता कि काश नौकरानी की चूत को मैं छू सकता ! करारी, गरम, फूली हुई और गीली गीली चूत में कितना मज़ा भरा हुआ था ! काश मैं इसे चूम सकता, इसके मम्मे दबा सकता, और चूचियों को चूस सकता और इसकी चूत को चूसते हुए जन्नत का मज़ा ले सकता !लंड मानता ही नहीं था, चूत में घुसने के लिये बेकरार था !दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। लेकिन कैसे?यह तो मुझे देखती ही नहीं थी, बस अपने काम से मतलब रखती और ठुमकती हुई चली जाती। मैने भी उसे कभी एहसास नहीं होने दिया कि मेरी नज़र उसे चोदने के लिये बेताब है, पर अब चोदना तो था ही !मैंने अब सोच लिया कि इसे उत्तेजित करना ही होगा, धीरे धीरे उत्तेजितकरना पड़ेगा वरना कहीं मचल जाये या नाराज़ हो जाये तो भांडा फूट जायेगा।मैंने उससे थोड़ी थोड़ी बातें करनी शुरु की, उसका नाम था पूजा !एक दिन सुबह उसे चाय बनाने को कहा,

चाय का गर्म कप उसके नर्म-नर्म हाथों से जब लिया तो लंड उछला। चाय पीते हुए कहा- पूजा, चाय तुम बहुत अच्छी बना लेती हो !उसने जवाब दिया- बहुत अच्छा बाबूजी !अब करीब करीब रोज़ मैं चाय बनवाता और उसकी बड़ाई करता। फिर मैंने एक दिन कॉलेज जाने के पहले अपनी शर्ट प्रेस करवाई। पूजा, तुम प्रेस भी अच्छा ही कर लेती हो। थोड़ी बात करने पर पता चला कि उसका पति शराबी था और रोज़ पी कर आता था और चोदने की बजाय आकर सो जाता था क्या दुःख भरी कहानी थी !यहाँ जिसको यह चूत मिली थी, वो तो चोदता ही नहीं था और जिसे नहीं मिली, वो देख कर मुठ मार कर ही काम चला रहा था।धीरे धीरे उसके साथ मेरी बातें और गहरी होने लगीं..एक दिन मैंने मौका देख पूछ ही लिया- ..तुम्हारा आदमी पागल ही होगा?अरे उसे समझना चाहिये, इतनी सुंदर पत्नी के होते हुए शराब की क्या ज़रूरत है?उसने कुछ कुछ समझ तो लिया था लेकिन अभी एहसास नहीं होने दिया..मैं नौकरानी को चोदने के मौके की ताक में रहने लगा और आखिर एक दिन ऐसा एक मौका लगा।कहते हैं कि ऊपर वाले के यहाँ देर है लेकिन अंधेर नहीं !रविवार का दिन था, मकान कालिक की पूरी फ़ैमिली एक शादी मैं गयी थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मेरे दिल में लड्डू फूटने लगे और लौड़ा खड़ा होने लगा।वो आई, दरवाज़ा बंद किया और काम पर लग गई।

 इतने दिन की बातचीत से हम खुल गये थे और उसे मेरे ऊपर विश्वास सा हो गया था इसीलिये उसने दरवाज़ा बंद कर दिया था।मैंने हमेशा की तरह चाय बनवाई और पीते हुए चाय की तारीफ़ की। मन ही मनमैंने निश्चय किया कि आज तो पहल करनी ही पड़ेगी वरना गाड़ी छूट जायेगी।पर कैसे पहल करें?फिर मैंने उससे उसकी चुदाई के बारे में पूछताछ शुरू की, पूछा- तेरा कोई बच्चा नहीं है? तेरा पति ठीक भी है या कुछ कमी है?इत्ना पूछने पर भी उसने कुछ नहीं कहा और मुस्कुरा कर मेरे सवालों का जवाब देती रही, बोली- शराब के नशे में क्या बच्चे हो सकते हैं।मैंने सोचा कि लौंडिया पट चुकी है, चुदाई में देर नही होनी चाहिए..फिर मैंने जानबूझ कर अपने सारे कपड़े उतारे और लेट गया, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर उसे आवाज़दी।वो मेरे कमरे में आई और मेरे खड़े लंड को देख कर शरमा गई।मैं बोला- आओ रानी.. ये तुम्हारा ही इंतज़ार कर रहा है..वो धीरे धीरे मेरी तरफ बढ़ी और मेरा लंड सहलाने लगी..मैं बोला- इससे पहले कि कोई आ जाए, तुम इसका पूरा मज़ा लो फिर मैंने नौकरानी को धीरे धीरे नंगा कर दिया.. नौकरानी की चूचे तो जैसे हेडलाइट्स जैसे लग रहे थे और चूत गुलाब जैसी..वो मेरे खड़े लंड को अपनी चूत पर टिका कर बैठ गई.. मेरा पूरा का पूरालंड नौकरानी की चूत के अन्दर घुस गया.. नौकरानी उछल उछल के चुदवाने लगी.. मैंने मज़े के लिए उसकी चूत चाटने को कहा.. वो खुश हो गयी.. फिर मैंने नौकरानी को जवान घोड़ी बनाकर चोदा और बोला- तू तो मस्त रंडी है रे !

पता नहीं तेरा पति तुझे क्यों नहीं चोदता वो बोली- एक आप ही मेरा दर्द समझते हैं.. आप जब भी कहोगे, जहाँ भी कहोगे, मैं चुदने के लिए हमेशा तैयार रहूँगी मैं उसे लगातार चोद रहा था और वो मज़े ले रही थी। काफी देर तक इस तरहमैंने उसे चोदा.. फिर जैसे ही मैं झड़ने वाला था, उसने मेरा लंड मुँहमें ले लिया और सारा माल पी गई..मैं थक चुका था लेकिन वो साली रंडी अब भी चुदने के लिए उतारू थी..मैं बोला- आज की क्लास यहीं तक, बाकी की पढ़ाई कल करेंगे..फिर मैंने अपना लंड साफ़ करके उसे अपनी जेब में से निकाल के 500 रुपये दिए और बोला- रख लो, काम आयेंगे..वो खुश हो गई..वो दिन था और आज का दिन है, हर दूसरे तीसरे दिन मैं नौकरानी की चुदाई करता हूँ और बदले में मैं कभी कभार कुछ पैसे उसे दे देता ह.दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कैसी लगी नौकरानी के साथ सेक्स की कहानियों , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी नौकरानी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/PoojaKumari

साले की बीबी को चोदा जी भर के

हेलो दोस्तों, आज जो हिंदी ईन्सेस्त सेक्स की कहानियों बताने जा रहा हू वो मेरी साले की बीबी के साथ चुदाई की कहानी हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे साले की बीबी की चूत फाड़ दिया, कैसे साले की बीबी की चिकनी चूत को चोदा, कैसे साले की बीबी की रात दिन चुदाई की ।मेरे साले की शादी दो साल पहले हुई थी। रेनू को जब मैंने पहली बार देखा तो मुझे लगा की हूर जमीन पर आ गई है। बस देखता ही रह गया।मेरी साले की पत्नी खूबसूरत है। नाम रेनू, उम्र 22 साल, कद लम्बा, रंग साफ़, देखते ही बाँहों में ले कर चूमने को दिल करे।नज़रें चार हुईं, मेरी आँखों मैं अपने प्रति वासना देख कर वो शर्म से लाल हो गई।अब वो नज़र बचा कर बार-बार मेरे को ही देख रही थी।खैर हमारे बीच ये आँख मिचोली का खेल दो साल चलता रहा।

18 माह तक कोई संतान न होने के कारण डॉक्टर से जांच कराने पर पता चला कि मेरे साले में कमी होने की वजह से वो माँ नहीं बन पाएगी और यौन सुख से भी वंचित रहेगी।उसने मेरी बीवी को बताया कि 18 माह से वो सेक्स का कोई आनन्द नहीं उठा पाई थी।इस घटना के बाद वो मेरी पत्नी के और पास आ गई।रेनू को यौन सुख पाना था और उसकी नजर में मैं ही था जो उसे यौन सुख दे सकता था, पर वो शर्म से कुछ कह नहीं पाती थी।मैं भी रेनू को चोदना चाहता था।मैंने अपनी बीवी रेखा के साथ मिल कर एक योजना बनाई। मेरे साले का कैंटीन का बिज़नेस वेस्ट इंडिया में है। वो साल में 6 माह के लिए वहाँ पर जाता है, घर पर सासू और रेनू ही रह जाती हैं।सासू 65 साल की एक उम्रदराज हैं।  दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।रेखा व मेरे प्लान की मुताबिक साले के जाते ही रेखा की बीमारी का बहाना बना कर साले के घर रहने चले गए।सासू बूढ़ी हैं तो दिखाई भी कम देता है, हाथ-पैर भी कंपते हैं, बेचारी रात को जल्दी सोती और सुबह देरी से जगती हैं।घर में दो कमरे थे, एक में मैं रेखा की साथ, दूसरे में रेनू सास के साथ सोती थी।प्लान की मुताबिक मैं सुबह रेखा की जोर-जोर से आवाज़ लगाने पर तथा मेरा लंड जोर से हिलाने पर ही जागता था।रेनू रोज़ सुबह यह सब ड्रामा देखती थी। मैं लुंगी पहनता था, सुबह मेरा लंड खड़ा रहता था जो 8 इंच लम्बा था।एक दिन सुबह रेखा रसोई में काम कर रही थी, मैं सोने का नाटक कर रहा था।रेखा ने जोर की आवाज़ लगाई- रेनू, अपने जीजा जी को जगा दे..

मैं रसोई में काम कर रही हूँ।मेरा लंड खड़ा था, रेनू मेरे कमरे मैं आई दरवाज़े पर खड़ी हो कर मेरे लंड को निहारने लगी। जैसे बरसों पुरानी चाहत पूरी होने जा रही हो।रेखा की आवाज़ आई- रेनू… जगाया या नहीं..!रेनू ने चार-पांच बार ‘जीजाजी.. जीजाजी’ आवाज़ लगाई, पर मैं नहीं उठा।वो बोली- दीदी, जीजाजी नहीं जागे..!रेखा रसोई में से चिल्लाई- अरे लंड हिला कर उठा.. जैसे मैं करती हूँ ऐसे नहीं उठेंगे..!अब रेनू बार-बार मेरे लंड को देखे रही थी। वो धीरे-धीरे चल कर बेड के पास आई और बेड पर बैठ गई, कांपते हाथ से लुंगी हटाई, लंड देखा, धीरे से हाथ मेरे लंड पर फेरा और धीरे से बोली- जीजाजी उठो..!रेनू को मैं नज़र बचा कर बार-बार देख रहा था कि वो क्या कर रही है।फिर जब उसने देखा मेरे पर कोई असर नहीं है, तो वो पूरे लंड को अपने हाथों में भर कर मसलने और खींचने लगी। मेरे लंड का आकार बढ़ने लगा।रेखा- क्या हुआ…!रेनू- लंड हिला रही हूँ.. पर जग नहीं रहे…!रेखा- अरे जोर से हिला..!रेनू- जोर से हिला तो रही हूँ..!रेखा-अरे नहीं उठ रहे तो लंड चूस कर उठा.. लंड खड़ा हुआ या नहीं..!रेनू- दीदी, लंड खड़ा है।रेखा- तो चूस न..!रेनू- अच्छा दीदी..!फिर रेखा ने कहा- रेनू लंड चूसने से पहल अपनी ब्रा और पैन्टी उतार दे शायद तेरे मम्मे तन जाएँ..!रेनू ने नाइटी की नीचे काली ब्रा-पैन्टी पहनी थी। उसने उतार दी, अब रेनू हल्की पारदर्शी नाइटी में थी।  दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उसके बोबे मध्यम साइज़ के थे और भूरे निप्पल देख कर मुझे कण्ट्रोल करना मुश्किल हो रहा था।

रेनू ने लंड चूसना चालू कर दिया।रेखा की आवाज़ आई, “रेनू जब तक वीर्य न निकले जब तक लंड चूस.. बाद में वीर्य पी जाना।”वो बोली- ओके..लंड खड़ा था वो एक अच्छी रांड की तरह मेरे लंड को अपने मुँह में ले कर जीभ से चूसने लगी। मुझको मज़ा आने लगा।दस मिनट के बाद मेरा वीर्य निकला, वो पी गई, पर मैं अब भी नहीं जगा।रेनू- दीदी जीजू नहीं जागे.. मैंने वीर्य भी पी लिया.. लंड भी जोर-जोर से हिला लिया।रेखा- रेनू तू जीजू की पास लेट जा और उनके हाथ अपने बोबे पर रख कर उन्हें दबवा..।रेनू ने पास लेट कर एक बोबे पर मेरा हाथ रखा तथा दूसरा मेरे होंठों से लगा दिया। धीरे-धीरे मैं रेनू के बोबे दबाने लगा व चूसने लगा।क्या रुई की तरह मुलायम नरम बोबे थे..!फिर रेनू गर्म हो चुकी थी, उसने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपनी चूत पर रखा। मैंने उंगली साले की बीबी की चूत में आगे-पीछे करनी चालू कर दी, गर्म भट्टी की तरह चूत भभक रही थी।एक हाथ से रेनू मेरा लंड सहला रही थी, मैं गरम हो चुका था, वो अब नंगी मेरे साथ लेटी थी।मैंने धीरे से आँख खोली और बोला- रेनू ये क्या कर रही हो..!  दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।तुम्हारी दीदी देख लेंगी..!वो कुछ नहीं बोली और कस कर मुझसे लिपट गई।मैंने होंठों का चुम्बन करना चालू कर दिया। उसे अपने नीचे ले कर उसकी चूत में धीरे-धीरे अपना लंड पेलने लगा।वो चिल्लाई…

मैंने बोबे पर धीरे-धीरे हाथ फेरा तो वो कुछ शान्त हुई और मैंने जोर का धक्का मारा। मेरा 8 इंच लम्बा लंड साले की बीबी की चूत की झिल्ली फाड़ता हुआ चूत में दाखिल हो गया।चूत में से खून आने लगा।मैं साले की बीबी की चूत की सील तोड़ दिया। अब वो आराम से मेरा लंड चूत में ले कर कमर उठा कर ऊपर-नीचे हो रही थी।बीस मिनट बाद उसने पानी छोड़ दिया। मैंने भी अपना वीर्य चूत में डाल दिया।रेखा दरवाज़े पर से सब देख रही थी, हँस रही थी.. रेनू खुश थी।अब हम 3 माह तक रहे, मैं रोज़ रेनू को चोदता था, रेनू भी खुल गई थी। खूब मजे से चुदवाती, लंड चूसती। दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कैसी लगी साले की बीबी के साथ सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी साले की बीबी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RenuSharma

भाई जैसे पड़ोस के लड़के से चुदवाई

हेलो दोस्तों, आज जो हिन्दी ईन्सेस्त सेक्स की कहानियों कहने जा रही हु वो नौ इंच का लण्ड से  मेरी प्यासी चूत की खुजली मिटवाने की कहानी हैं । आज मैं कहने जा रही हु कैसे पड़ोस के लड़के से चूत चटवाईदूध पिलाईगांड मरवाईनौ इंच का लण्ड से चोदी ।मेरा नाम सुमति है, अभी मैं 34 की हु, ये कहानी है जब मैं 21 साल की थी, मेरा पति दिल्ली में रहता था, शादी के पंद्रह दिन बाद ही मेरा पति दिल्ली आ गया और मैं रह गई थी अपने बूढी सासु माँ के पास, मेरे घर में मेरा एक देवर है वो भी बाहर ही रहता है. घर में मैं और मेरी बूढी सास दोनों ही रहते थे, मुझे चुदाई का चस्का लग गया था, शादी के बाद तो मैं खूब चुदी थी, पर जालिम पति मुझे यू ही तड़पता छोड़ गया,

पर जाना भी जरूरी था इस वजह से मैं कुछ कह भी नहीं सकती, पर जैसे शेर के मुह में खून लग जाए तो वो शिकार को छोड़ता नहीं वैसे ही मेरे साथ हुआ था, मेरे बूर में लंड जैसे ही गया मैं तो बहुत ही ज्यादा चुदक्कड़ हो गई थी, दोस्तों आप यकीं ना करेंगे जब तक मेरे पति मेरे साथ था मैं दिन में चुदने का बहाना ढूंढते रहती थी, और मौक़ा मिलते ही पति मुझे क्या चोदेगा मैं खुद ही पति को चोद देती, वो कहते ही रह जाता था की सुमति रात में प्लीज रात में, पर मैं नहीं मानती थी. एक दिन वो दिल्ली अपने काम पे चला गया, मैं बस दुल्हन बनी सिर्फ खिड़की के झांकते रहती थी, घर में कोई और था नहीं जिससे मैं बात करती, सुबह से शाम तक बाहर ही निहारते रहती, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।उस समय मेरे पास मोबाइल फ़ोन भी नहीं था की पति के साथ बात कर लू, मेरा पति सप्ताह में एक बार मुझे कॉल करता था उसके लिए भी मुझे पड़ोस के चाची के यहाँ जाना पड़ता क्यों की उनके पास लैंडलाइन था. पर वो भी मजे से बात नहीं कर सकती थी, मन मसोस के रह जाती. मेरे खिड़की के सामने एक और मकान था उसमे एक लड़का रहता था रणवीर, वो ग्रेजुएशन कर रहा था काफी सुन्दर था बहुत भोला भाला लड़का, मैं उसको निहारते रहती थी, फिर वो मुझे देखने लगा, मैं भी हंस देती, वह पे सब लोग मिलजुल कर रहते है सबका एक दूसरे के यहाँ आना जाना रहता है, सच पूछिये तो पूरा मोहल्ला ही एक फैमिली होता था,

फिर वो मेरे से बात करने लगा, क्या हाल है भाभी, मेरी सास बोली रणवीर कभी भाभी से मिलने भी आ जाया करो बेचारी बोर हो जाती है, रणवीर ने कहा क्यों नहीं आज ही मैं आता हु, और रणवीर उस दिन से आने जाने लगा, पर वो मुझसे ज्यादा मजाक नहीं करता था, मैं चाहती थी की वो मुझसे मजाक करे, पर वो हमेशा अच्छी अच्छी बाते ही करता था, मुझे लगा की ये ऐसे नहीं मानेगा, फिर मैंने रणवीर से कहने लगा रणवीर मेरी एक बहन है क्या आप उससे शादी करोगे, तो वो कहता नहीं अभी पढाई कर रहा हु, पर उसका थोड़ा थोड़ा इंटरेस्ट ये सब बातों में होने लगा, वो अब शादी गर्ल फ्रेंड आदि बातों में काफी दिलचस्पी दिखाने लगा, फिर वो मुझसे देर तक बाते करता, रणवीर को देखते ही मेरी चूत में खुजली होने लगती, अब मैं उसको किसी भी बाळात में पाना चाह रही थी, मैं चुदना चाह रही थी. मेरी सासु माँ अपने मायके गई थी क्यों की उनके भाई का देहांत हो गया था, घर में मैं अकेली थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।पर सासु माँ ने चाची को बोल दी थी की आज रात को आप मेरे घर में ही जाना बहू घर पे अकेली है. गर्मी का दिन था रणवीर कॉलेज से आया था, बाहर तेज धुप थी, जोर जोर से हवा चल रही थी, कही कोई नहीं दिखाई दिया, रणवीर को देखते ही खिड़की से बोली रणवीर, मन नहीं लग रहा है आ जाओ, वो घर गया कपडे चेंज कर खाना खा कर आ गया, मैं खुश हो गई, पता नहीं मुझे लग रहा था आज मैं चुदुंगी, रणवीर से बात करने लगी, मैं दरवाजे के पास ही बैठ गई वो अंदर पलंग पे बैठा था, बात चित चल रही थी,

अचानक रणवीर उठा और बोला भाभी अभी आ रहा हु, पर जैसे वो दरवाजे के पास मेरे करीब पंहुचा मैंने उसका लंड छु दी, वो झटक के पीछे वापस कमरे में चला गया.मैं ठहाका देके हसने लगी, रणवीर बोलने लगा भाभी ये गलत बात है, तो मैंने कहा क्यों कुछ कुछ होता है क्या, या मेरा छूना अच्छा नहीं लगा या की अपने पत्नी के लिए बचा के रखोगे, वो बोला मजाक मत करो प्लीज, और फिर से बाहर जाने लगा, मैंने बैठी थी जैसे ही वो करीब आया, मैंने इस बार लंड को ही पकड़ ली, उसका लंड पहले से ही खड़ा हो चूका था, मैं कास के पकड़ी हई थी, वो खड़ा था और कह रहा था छोडो छोडो और मैंने हंस रही थी, और फिर बाद में छोड़ दी, उसका लंड खड़ा हो गया था, फिर रणवीर बोला अगर मैं भी आपका पकड़ लू तो, तो मैंने कहा पकड़ के दिखाओ, मैं तो चाह रही थी की वो मेरी चूचियों को मसल दे, पर वो कर नहीं रहा था, मैंने फिर से कहा इतनी आपमें हिम्मत कहा,इतना कहते ही वो मेरे तरफ आने लगा, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं दौड़कर अंदर चली गई ताकि बाहर ऐसी ना हो कोई घर में आ जाये या कही से देख ले, वो मेरे पीची दौडा मैं कमरे में भागती रही और और मुझे पीछे से पकड़ लिया और हाथ आगे करके मेरी चुचियो को दबाने लगा, मुझे काफी अच्छा लग रहा था पर कह रही थी छोडो ना प्लीज छोडो ना प्लीज, उसका लंड मेरे गांड के बीच में सट रहा था मोटा लंड मुझे महसूस हो रहा था मेरी गांड के बीच में सटा था, इतने में मेरा कपड़ा अस्त व्यस्त हो गया था आँचल निचे गिर गया था,

वो ब्लाउज के ऊपर का दो हुक खोलने में कामयाब हो गया, और टाइट ब्लाउज के अंदर चूची को हाथ से पकड़ लिया, मैं शांत हो गयी और वो फिर सारे हुक खोल दिया, मैं ब्रा नहीं पहनी थी उस दिन,उसके बाद वो आगे आ गया और ध्यान से चूचियों को देखते हुए दबाने लगा शायद वो पहली बार चूची देख रहा था, मैं रणवीर को बहसि निगाहो से देख रही थी, उसके बाद रणवीर ने कहा भाभी चोदने दोगी मैंने कहा हां, मैं चाहती भी यही थी, मैं बाहर आई इधर उधर देखि कोई नहीं था पीछे का दरवाजा बंद कर दी, गर्मी की वजह से कोई भी नहीं दिख रहा था, वापस आई रणवीर लंड पकड़ के खड़ा था, मैं दौड़कर उसमे लिपट गई, और चूमने लगी, मैं खिलाडी थी वो अनाड़ी था, मैं वही खटिया पर सो गई और साडी को ऊपर कर दी, मेरी चूत में हलकी हलकी झांट थी, थोड़ा पैर फैला दी लाल लाल चूत के बीच का दरार, रणवीर बड़ा ध्यान से देख रहा था मेरी मोती मोती गोिर जाएंगे रणवीर को पागल कर दिया, और वो मेरे ऊपर लेट गया, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मेरे होठ को चूसने लगा, उसके बाद मैंने उसके लंड को पकड़ी और अपनी बूर के ऊपर रख के उसको बोली मार धक्का, और वो धक्का दिया मुझे संतुष्टि मिली, वो अब लंड को अंदर बाहर करने लगा, मैं गांड उठा उठा के चुदने लगी, लंड काफी मोटा था और लंबा था इस वजह से मैं काफी आनंद ले रही थी, और जवान लंड पहली बार मेरी चूत में गया था, पर वो ज्यादा देर तक नहीं रहा शायद वो नवसिखिया था, ज्यादा देर तक चोद नहीं पाया और वो झड़ गया,

पर मैं भी मौके का हालात देख के दो तीन झटके दी और मैं भी झड़ गई, मैं निढाल हो गई, वो उठ कर खड़ा हो गया, मैंने बैठने के लिए बोली, मेरी चूत को जांघ को मेरी चूचियों को वो निहार रहा था,उसके बाद वो बोला काफी मजा आया मुझे, मैंने कहा किसी को बताना नहीं और रात को आना, आज रात को खूब मजा दूंगी, फिर वो चला गया, रात को मैं इंतज़ार करते करते सो गई, लालटेन जल रहा था, खिड़की खुली तभी, मुझे महसूस हुआ की कोई पत्थर का टुकड़ा मार रहा था, मैं उठ गई देखि रणवीर खिड़की के बाहर मुझे उठाने की कोशिश कर रहा है छोटी छोटी पत्थर को फेककर, मैंने कमरे से बाहर आई, आँगन में मेरी चाची सो रही थी जैसे की मेरी सास उनको बोल के गई थी. फिर मैं पीछे का दरवाजा खोल के रणवीर को अंदर की, और कमरे में लाके दरवाजा लगा ली, मै अपना साडी उतार दी और ब्लाउज भी खोल दिया.वो मेरी चूचियों को मुह में ले लिया और मैं उसका बाल सहलाने लगी, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैंने खटिया पे लेटने लगी तभी रणवीर बोला नहीं खटिया पे नहीं निचे चटाई बिछा लो, मैं समझ गई की आज इसका मूड कुछ और है उसे पता है की खटिया आवाज करेगा, मैं चटाई पे लेट गई, वो लंड निकला के मेरे चूत पे रख के धक्का देने लगा पर इधर उधर हो रहा था मैं लंड को पकड़ के अपने चूत के ऊपर राखी की वो जोर से धक्का दे दिया, अब क्या बताऊँ दोस्तों आप उसके बाद वो मुझे जोर जोर से चोदने लगा, मैं भी गांड उठा उठा के चुदवाने लगी, इस बार वो मुझे करीब 45 मिनट तक चोदा, तब तक मैं दो से तीन बार झड़ चुकी थी, मुझे काफी आनंद आया था,

इसके बाद तो रणवीर मुझे रोज चोदने लगा, करीब तीन महीने तक उसने मुझे रोज रोज चोदा पर तीसरे महीने मुझे माहवारी नहीं हुई, मैं डर गई गाव समाज था, मैंने एक चाल चली बीमार होने का, और पति को फ़ोन करवाई वो तीन से चार दिन के अंदर आ गया, फिर धीरे धीरे ठीक होने का नाटक की, और पति से चुदी और फिर नेक्स्ट महीने कह दी की मैं माँ बनने बाली हु, और पेट में जो बच्चा था रणवीर का और मैंने पति का नाम दे दी थी, कैसी लगी मेरी चुदवाने की कहानी  , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी प्यासी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो अब जोड़ना Facebook.com/SumatiKumari

रात भर बेटे ने मुझे जी भर के चोदा

हेलो फ्रेंड्स, मैं कौशल्या देवी,आज जो माँ और बेटा की ईन्सेस्त कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी बेटे के साथ चुदाई की कहानी हैं । आज मैं कहानी कहने जा रही हु कैसे बेटे ने मुझे बिल्कुल नंगी कर के मेरी स्तन चूसा, कैसे बेटे ने मेरी चूत चाटा, कैसे बेटे ने मुझे रात भर चोदा । मैं ३९ साल की हु, और एक बैंक में जॉब करती हु, ज़िंदगी काफी अच्छी चल रही है, पति के पास नहीं जा पाती हु, क्यों की आपको पता है की वो विदेश में है, वो दो साल में एक बार आते है, सब सुख है पर सिर्फ सेक्स से बंचित थी, क्यों की दो साल में सिर्फ १ महीने के लिए ही मैं रंगरेलियां मना पाती थी, बाकी ज़िंदगी तो सुखाड़ थी, किसी और से भी अगर सेक्स सम्बन्ध बना लू तो सकाज का डर फिर बाद में वो इंसान मुझे किस तरह से उसे करेगा,

ये सब सोच के मैं बहकते बहकते बची,पर मेरा जिस्म मुझे बहका रहा था, जब भी रात को सोती थी तो मुझे दूसरे मर्दो का ख्याल आता था, और मेरे तन बदन में आग लग जाती थी, कभी कभी तो सेक्स की जवाला ऐसे धधकती थी, मैं बाथरूम में जाके ठन्डे पानी का सहारा लेना पड़ता था चूचियाँ तन जाती थी, चूत गरम हो के पिघलने लगती थी, और सच तो ये था की ये चार साल जब से मैं 35 की उम्र पार की, मेरे शरीर का बनावट और अच्छा हो गया था, गांड गोल गोल चूचियाँ बड़ी पर सुडौल, पेट और कमर सुराही की तरह, गोरी तो हु ही, अपने आप की मेंटेन करती थी किसी चीज की कमी नहीं थी, स्पा और बिउटी पारलर हमेशा जाती हु, सच पूछिये तो आजकल मैं सेक्स बम हो गई थी. मेरा बेटा जो २१ साल का है, अभी कॉलेज में जाता है, रणवीर कपूर से काम नहीं लगता है, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।जब वो सोलह साल का हुआ था तभी से मैंने उससे अपने साथ सुलाना बंद कर दिया था पर जब उसका बर्थडे अप्रैल 2015 में हुआ तो मैंने उसे गिफ्ट मांगने के लिए बोली, मैंने कहा मनपसंद गिफ्ट दूंगी इस बार तुझे, मैंने सोचा वो जो भी गाडी, मांगेगा मैं दूंगी, पर उसने मुझे इमोशनल कर दिया था. उसने कहा माँ मैं आपके साथ सोना काफी मिस कर रहा हु, मुझे आप अपने आप से अलग मत करो मेरा आपके सिवा और कौन है, मैं आपके साथ ज़िंदगी में कभी भी साथ नहीं छोड़ना चाहता, मैं रो पड़ी और कह दी ठीक है बेटा तू जो कहेगा होगा,

उसके बाद से वो मेरे साथ ही सोने लगा, मेरे मन में कभी भी कोई ख्याल नहीं आया था, बस वो मेरे साथ सोने लगा था, देर रात तक बात करते और फिर दोनों एक दूसरे को गुड नाईट कहके सो जाते, पर एक दिन सब कुछ बदल गया था, रात के करीब २ बजे मेरी नींद खुली, मैंने देखा वो मेरे ऊपर चढ़ा हुआ था, और मेरी चूचियाँ दबा रहा था, मेरे होठ को चूस रहा था, मैं जैसे ही जगी उसको धक्के दे के नीच की, और मैंने दो तीन गालियां दे दी, और कहा मैं अभी फ़ोन करते हु तेरे डेड को, तुमने क्या किया है मेरे साथ, माँ बेटे के रिश्ते को तार तार कर दिया है, तुम्हे पता भी है की तुम क्या कर रहा था, माँ बेटा का एक रिश्ता होता है.तो बेटा कहने लगा, माँ तुम मुझे मत रोको, मैं जवान हु, घर से बाहर मुह मारूं इससे बढ़िया है की आपको भी खुश कर दू और मैं खुद भी एन्जॉय करूँ, मैंने कहा हरामी है तुम, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैं सोची थी की तुम अच्छा इंसान बनेगा पर तू तो हरामी निकला, तो कहने लगा, मैंने क्या किया क्या मैं ही ऐसा करता हु, मेरे दोस्त बंटी, मेरा दोस्त रणवीर, उन दोनों के पापा भी कनाडा में रहते है, और वो दोनों भी अपने माँ की चुदाई करता है, बंटी तो अपने बहन को भी नहीं छोड़ता, तो बुराई क्या है, घर की बात घर में ही तो है. एक मिनट के लिए तो ऐसा लगा की मैं कोमा में चली गई, फिर अपने आप को सम्हालते हुए बोली की पर मैं ऐसा नहीं कर सकती, तभी मेरा बेटा बोला अगर तुम ऐसा नहीं कर सकती तो आज से मैं आपका बेटा नहीं, सुबह ही मैं कही और चला जाऊंगा,

मैं डर गई, मैंने उसको गले से लगा लिया और बोली बेटा तू जो कहेगा वैसा ही मैं करुँगी, मैं अपने बेटे को खोना नहीं चाहती थी, ज़िंदगी बहुत छोटी होती है, मैं इसको बर्बाद नहीं करना चाहती थी, मैं सोची अगर मैं बेटे के साथ सेक्स नहीं करती हु तो मेरा बेटा मेरे हाथ से चला जायेगा और अगर राजी हो जाती हु तो बेटा तो बेटा रहेगा ही, पति भी बन जायेगा, मैंने उसको गले से लगा ली पर वो हैवान हो गया था, वो मेरी चूचियाँ पे टूट पड़ा और मेरे होठ को चूसने लगा, मैंने भी उसी नदी की धरा में बह गयी मैं भी उसको हेल्प करने लगी, और हम दोनों अपने अपने जिस्म पर के कपडे कब निकाल दिए पता ही नहीं चला, आज मेरे सामने एक जवान लण्ड मुझे सलामी दे रहा था, मेरे तन बदन में आग लग गई थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने झट से उसके लण्ड के अपने मुह में ले ली, और चूसने लगा वो मेरे सर के बाल को पकड़ के लण्ड को अंदर बाहर कर रहा था और कह रहा था आज से तू मेरी माँ नहीं बल्कि रंडी माँ है तू मेरी रखैल है, आज तो तुम्हे चोद के तेरे चूत फाड़ दूंगा, मैं भी कहा काम थी मैंने भी दो तीन गलियां दे दी, मैंने कहा तेरे लण्ड में इतनी ताकत है तो मुझे आज संतुष्ट कर के देख, अगर तू सच में मादरचोद है तो आज मैं देखना चाहती हु तेरे में कितना दम है.

इतना कहते ही हम दोनों 69 के पोजीशन में आ गए, और बेटे ने मेरा चूत चाट रहा था और मैंने बेटे का लण्ड, लण्ड भी क्या था मोटा और करीब नौ इंच का, मेरे मुह में पूरा लण्ड नहीं आ रहा था, मैं उसके बदन को महसूस कर रही थी, उसके बाद वो फिर मेरे ऊपर आके मेरी चुचिया से अठखेलियां करने लगा, पर मैं और ज्यादा बर्दास्त नहीं कर सकती थी मुझे जल्द से जल्द लण्ड चाहिए था, मैंने कहा देर मत कर आज तू इस रखैल को खुश कर दे.बेटे ने मेरे पैर को अपने कंधे पर रखके अपना मोटा लण्ड मेरे चूत के बीच में रखा और एक ही धक्के में पूरा नौ इंच का लण्ड बेटे ने मेरे चूत में डाल दिया, मैं कराह उठी, आज तक मैं इतना मोटा लण्ड कभी भी नहीं ली थी, फिर क्या था, लैपटॉप ओन कर दिया और एक रसियन एडल्ट फिल्म लगा दिया, और मुझे उसकी स्टाइल में चोदने लगा, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।रात में करीब ६ बार बेटे ने मुझे चोदा, और मैं भी बेटे से चुदवाई, आज सुहागरात के बात पहली बार था जब ६ बार मैं चुदी. अब तो बेटा बेटा ना रहा, अब तो समझ ही नहीं आ रहा है क्या कहूँ, रोज चुदती हु, अपनी बेटे से वासना की आग को शांत करती हु, पर ज़िंदगी बहुत ही अच्छी चल रही है. कैसी लगी हम डॉनो मां और बेटे की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो अब जोड़ना Facebook.com/KushaliyaDevi

दामाद के साथ सास की नाजायज़ सेक्स की कहानियों

हेलो फ्रेंड, मैं राधिका वर्मा, आज जो दामाद और सास की सेक्स कहानियों बताने जा रहा हू वो मेरी दामाद के साथ सेक्स की कहानियों हैं । आज मैं कहने जा रही हु कैसे दामाद से चूत चटवाईदूध पिलाई, दामाद से गांड मरवाई और कैसे दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु ।मैं 36 साल की हु, और विधवा हु, आप सोच रहे होंगे की 36 तो हां मेरी शादी 16 में ही हो गई थी, और और मैंने अपनी बेटी की शादी इसी साल ही की, मुझे और कोई संतान नहीं था सिर्फ बेटी के अलावा, मेरा दामाद गुडगाँव में एक कॉल सेंटर में मैनेजर है, मेरी बेटी एक पब्लिक स्कूल में नौकरी करती है, घर पे मैं होती हु, बेटी सुबह 7 बजे ही चली जाती है और 4 बजे शाम को आती है, मेरा दामाद दिन में ३ बजे जाता है और रात को २ बजे आता है.

जब मेरी बेटी 8 साल की थी तभी मेरे पति का देहांत हो गया, मैं बहुत ही खुले विचार की महिला हु, मैं ना तो अपनी बेटी को किसी चीज की कमी होने दी ना तो मैं कभी ऐसे रही की मैं एक विधवा हु, पर मैंने कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था, पति इतना पैसा छोड़ के गए थे उससे अभी तक की ज़िंदगी काफी आराम से चल रही थी, पर जब से दामाद घर जमाई बना तब से काफी कुछ चेंज हो गया. कैसे मैं आगे बताती हु, एक दिन मैं किचन में काम कर रही थी, बेटी मेरी जॉब पे गई थी, सुबह से आठ बज रहे थे मेरा दामाद अनिल उठा और किचन में आया और मुझे गले से लगा के हैप्पी बर्थडे मम्मी जी कहा, मेरे आँख से आंसू छलक गए, क्यों की इसी तरह से मेरे पति भी मुझे बर्थडे विश करते थे, मैं थोड़ी नरवश हो गई और रोने लगी, मेरा दामाद मुझे गले से लगाए रखा, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मुझे बहुत अछा लग रहा था पर मैंने महसूस की की मेरी छाती उसके छाती से चिपक रही थी और ब्लाउज से बाहर आने लगी मेरा आँचल भी निचे गिरा हुआ था, और अनिल ये सब देख रहा था, मैं शर्मा गई और अपने पल्लू को ठीक की, मैं अपने दामाद को थैंक्स कहा, उस दिन मैं दिन भर सोचते रही कैसे वो मुझे अपने सीने से चिपकाये हुए खड़ा था क्यों की काफी दिनों के बाद मुझे किसी मर्द ने स्पर्श किया था वो भी इस तरह से, सच पूछिये तो मेरा मन डोल गया और मेरे मन में कई सारे विचार आने लगे, ऐसा लगा की रेगिस्तान के पेड़ में किसी ने पानी डाल दिया और वो पौधा धीरे धीरे लहलहाने लगा,

वही मेरे साथ भी होने लगा, उस दिन मेरे मन में अजीब सी कौतुहल थी, पर आगे सिर्फ मेरे तरफ ही सिर्फ नहीं थी उधर भी था, अनिल जब भी सुबह सुबह उठता अब वो गुड मॉर्निंग कहके, मुझे अपने गले से लगा लेता, क्यों की उस समय बेटी होती नहीं थी. एक दिन अनिल ने गले लगाते हुए मुझसे कहा सासु माँ आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो, जब मैं आपको गले से लगाता हु मेरे रोम रोम सिहर जाता है, मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है, मैं आपसे सेक्स करना चाहता हु, मेरे तो होश हवास उड़ गए पर ये होश उड़ने का नाटक था, मैंने कहा अनिल ये गलत है मैं तुम्हारी सास हु, अगर ये सब ज्योति को पता चलेगा तो क्या कहेगी, अनिल ने कहा सासु माँ देखो मैं आपकी फीलिंग्स भी समझ रहा हु, पर अगर आप मेरे से सम्बन्ध बनाते हो तो हमारे तीनो के रिश्ते और भी प्रगाढ़ हो जायेगा, आप मना नहीं करो प्लीज मैं वादा करता हु आप दोनों को मैं बहुत खुश रखूँगा. मैंने चुचाप खड़ी थी मेरी नजर झुकी हुई थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।और जब नजर उठाई तो वो हाथ फैलाये खड़ा था, और हम दोनों एक दूसरे को बाहों में सामा गए, मैं उसकी मजबूत बाहों में थी वो मेरी पीठ को टटोल रहा था और हाथ निचे करके मेरी चुतड के उभार को दबाते हुए अपने लण्ड के पास ले गया और मेरे होठ को चूसने लगा, मैं भी समा जाना चाहती थी, आज रेगिस्तान में वारिश हो रही थी, बारह साल के बाद मैं किसी की बाहों में झूल रही थी.

हम दोनों एक दूसरे को होठ को इस तरह से चाट रहे थे जैसे किसी प्यासे को पानी मिल गया हो. उसके बाद मेरे दामाद मुझे उठा लिया और मुझे बेड रूम में लेके बेड पे लिटा दिया और आँचल को निचे कर के मेरे चूच को अपने हाथो से सहलाने लगा, मैं उससे देख के मुस्कुरा रही थी, और बोली ये बात सिर्फ मेरे और आपके बीच में ही रहनी चाहिए, अनिल ने मेरे सर पे हाथ रखा और कहा आप विस्वास करो मैं किसी को नहीं कहुगा चाहे जो भी सिचुएशन हो जाये, और मैंने फिर से उसके होठ को चूसने लगी, दामाद ने मेरे ब्लाउज के हुक को खोल दिया और मेरे चूच को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा मेरा बड़ा बड़ा चूच ब्रा से निकलने के लिए बेताब थी मैंने खुद ही दोनों को अपने ब्रा से आज़ाद कर दिया, दामाद ने दोनों चूच को बारी बारी से चूसने लगा और फिर हाथ निचे किया और साडी को ऊपर उठा के मेरे चूत को सहलाने लगा, मैं उस दिन पेंटी नहीं पहनी थी, मेरा चूत काफी गरम और गीली हो चुकी थी, मैं दो दिन पहले ही चूत के बाल को साफ़ किया था तो अनिल ने कहा आपका चूत तो बिलकुल साफ़ है तो मैंने कहा आपको कैसा चूत पसंद है तो अनिल ने कहा मुझे क्लीन शेव चूत पसंद है मैंने रात को ज्योति के चूत की बाल को खुद अपने हाथो से साफ़ किया है रेजर से. दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और फिर निचे जाके दामाद ने मेरी चूत को चाटने लगा. मैं तो बस आअह आआह आआह उफ्फ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ कर रही थी . आप मैं पागल हो रही थी मुझे लण्ड चाहिए था,

मैंने दामाद के लण्ड को खुद ही निकाल ली और हिलाने लगी फिर मैं अपने मुह में ले ली अनिल का लण्ड इतना मोटा था की मेरे मुह में आ नहीं रहा था अनिल ने मुह को थोड़ा चिर के लण्ड डाल दिया मुझे सांस लेने में भी प्रॉब्लम होने लगी थी मेरे कंठ तक लण्ड जा रहा था. पर मैं उसके लण्ड को मुह में बर्दाश्त नहीं कर पाई मैं कहा अनिल आज तुम मुझे इतना चोदो की बारह साल की कमी पूरी हो जाये अनिल मेरे टांगो को अलग अलग किया और चूत को चिर के देखा और बोला ओह्ह माय गॉड आपकी चूत तो एकदम लाल है ऐसा लग रहा है आप वर्जिन है, मैंने कहा मत तड़पाओ चोद दो मुझे और उसने मेरे चूत पे लण्ड का सुपाड़ा रखा और लण्ड को चूत में डालने लगा पर चूत के अंदर लण्ड प्रवेश नहीं कर पा रहा था, दोस्तों ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर दामाद ने चूत में और लण्ड पे वेसलिन लगाया और जोर से धक्का मार पूरा लण्ड मेरे चूत में समा गया, एक अलग ही आनंद की अनुभूति हुई, मैं अपना गांड उठा उठा के दामाद से चुदवाने लगी. मेरे मुह से सिर्फ आअह आआह उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ निकल रहा था और वो मुझे चोदे जा रहा था, करीब दामाद ने मुझे १ घंटे तक चोदा मैं पसीने से तर वतर हो गई थी, अब मैं पूरी तरह से संतुष्ट थी मैं तीन से चार बार झड़ चुकी थी, अनिल एक गहरी सांस लेते हुए और और जोर से आआअह की आवाज करते हुए सारा माल मेरे चूत के अंदर ही डाल दिया और दोनों एक दूसरे को पकड़ को सो गए, फिर क्या था रात मेरी ज़िंदगी काफी अच्छी कटने लगी,

मैं सुबह होने का इंतज़ार करती थी कब सुबह हो और अनिल मेरी बाहों में हो, क्यों की वो रात को मेरी बेटी के साथ सोता था मैं तो दिन की थी.पर इस महीने गड़बड़ हो गया है, मैं घर में किट लाके चेक की मैं प्रेग्नेंट हु, क्यों की आठ माहवारी हुए आठ दिन हो गए है, किट में पॉजिटिव है, क्या करूँ अब तो मैं अपने दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु, क्या करूँ समझ में नहीं आ रहा है, कैसी लगी हम डॉनो दामाद और सास की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी सास की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RadhikaVerma


Bua ke sath group sex story

Dosto aaj jo hindi group sex story batane jaa raha hu wo meri bua ki rape sex story hai.aaj main bataunga kaise hum 4 dosto ne milkar bua ki shamuhik balatkar ki. kaise bua ki gand mari aur kaise bua ki chut mari,kaise ek sath sab milkar bua ki chudai ki ..meri bua ki age 40 honge.. lakin dekhne me bohut hot & sexy hai.. bade bade choochi moti gand mast figure .. dekhte hi lund khada ho jate hai. to hum char dosto ne milkar bua ko chodne ki plan banaya..Fir maine kaha yaar ye but hoga kaise maine badi muskil se to pehle 1 baar unhe ek friend ke saath sex ke liye manaya tha is baar bahot muskil hai tum hi log kuch plan karo fir un sab ne sochne ke liye time liya or fir hum sab ghar chale aaye. Puri raat main bas yahi sochta raha or 2 baar muth maar ke so gaya. Subh Sameer ka phone aaya ki aaj college over hone ke baad uske ghar pe sab aajain 1 plan mil gaya hai ye sun main bahot hi excited ho gaya or jaldi-2 college tayar hoke chala gaya.

Puri class bas college over hone ki sochta raha or fir jaise ho college over hua hum sab  jaldi-2 Sameer ke ghar pahoch gaye. Waha pe sameer ne bataya ki next week uske papa or mummy 2 dino ke liye kisi relative ko dekhne jarahe hain or wo unse college ke bahane se akele waha bhej dega fir usne mujhe kaha ki wo apni bua ko mere yaha ye bol ke leta aaye ki mera birthday hai or maine unhe bhi invite kiya hai jayada hoga to wo khud bhi call kar ke unhe invite kar lega after all meri bua bhi mere sare friends ko jaanti hi hain isse unhe koi sak bhi nahi hoga or ek baar wo hamare saath ghul mil jaye fir to wo khud hi tayar ho jaingi.
Pehle to mujhe uske plan pe doubt hua ki kahin ye fail na ho jaye fir maine socha ki 1 try leke dekhte hain. Fir maine use ok bol waha se nikal liya, or wait karne laga next saturday ka. Fir main daily-2 bas Saturday ka hi wait karne laga or fir Friday ko humne fir se mil kar apne programe ke bare mein discuss kiya or for kal hone ka wait.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Us din puri raat so nahi paya bas bua ke bare mein sochta raha or kab subh ho gayi pata hi nahi chala. Maine uthte hi sameer ko call kiya or conform kiya ki uske mummy papa gaye ki nahi to usne bola han bas nikalne hi wale hain fir maine bola dekh nikalte hi wo meri bua ko call laga ke unhe invite kare or puri koshis kare ki wo maan jaye or fir main wait karne laga uske phone aane ka.Karib 3 ghante ke baad uska call aya ki yaar badi muskil se teri bua ko manaya hai but unhone kaha hai ki wo sirf aadhe ghante ke liye aayengi tere saath mein maine bola bas yaar bas apna kaam samjh le ho gaya ab to aaj ful night party hai apni tu Bakiyun ko bi bol de aaj ready rahe hum sab thik raat 9 baje milenge.

Main bahot khush tha ki aaj to bada maja aaiega bua ke sath sex ka or fir main raat hone ka wait karne laga thik raat 8 baje main ghar se ye bol ke nikala ki aaj main sameer ke yaha hi rukunga wo ghar pe akela hai to mummy ne kaha thik hai lekin subh jaldi aajana. Main apne ghar se nikalte hi bua ke ghar gaya to wo waha baithi thi maine pucha kya hua aap ready nahi huin abi tak to unhone bola ki unki tabiyat thik nahi hai wo nahi ja paingi ye suntr hi mera sara excitement hi khatm ho gaya but fir bhi maine unse bola are bas aadhe hi ghante ki To baat hai wo mere saath chale or main unhe fir wapas le aaunga after all unhone sameer ko promise bhi to kiya hai ab agar nahi gayin to use bura lagega na or fir aise hi do char baar manane ke baad wo bolin thik hai lekin sirf aadhe ghante ke liye maine ha main khud unhe drop kar dunga or fir wo taya hone chali gayin thodi der ke baad wo tayar ho ke bahar aain, sach mein aaj to wo or bhi sexy maal lag rahin thin man to kiya abi hi unhe chod dun but fir maine apne aap ko control kiya or hum saath saath unke ghar se nikal pade. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Hum thik 9 baje waha pahonch gaye raste mein maine aise hi 1 gift le liy taki unhe lage ki sach mein aaj sameer ka birthday hai. Maine bell bajaya to sameer ne hi gate khola gate kholte hi humne use happy birthday waish kiya or hum sab andar chale aaye. Ghar pahonchte hi bua ne pucha ki tumhare mummy papa kaha hain to Sameer ne bola unlogon ko achanak hi bahar jana pad gaya unke koi relative bimar hain.

Fir sameer ne baat badalte hue bola ki are chodiye na aap ho na bade aap hi unhe aashirwaad de dena or fir usne jaldi-2 Cake mangwaya or use kata or fir hum sab ko thoda thoda khilya fir usne hum sab ko bithaya or andar se coldrinks le aaya or hum sab ko serve kiya, bua ne to pehle lene se mana kar diya lekin sameer ke request karne par le liya fir main sameer ke saath andar chala gaya or use bata yaar ye aa hi nahi rahin thi badi miskil se manake laya hun ab kya karein to usne bola are ab hum nahi ab jo bhi karega ye colddrink hi karega tab main samajh gaya ki usne jarur kuch cold drinks mein milaya hai to usne bola hai usmein thodi si wine mila di hai jo uske papa pite hain bas thodi der unhe kaise bhi karke ke uljhaye rakhana hai. Fir hum dono bahar aaye to bua ne bola ki unhe jana hai unki taiyat thik nahi hai to usne bola  are bas bua ji bas thodi der or ruk jaiye na please bas thodi der fir hum sab baat karne lage karib aadhe ghante ke baad maine dejha ki bua ko halki-2 neend aarahi hai main bahot hi khus ho gaya. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Fir bua ne bola ki unhe ghar jana hai to maine kaha bas 10 minute or hum sab fir baate karne lage lekin hum sab ka dhyan bas bua pe hi tha hum sab bas time waste kar rahe the fir thodi der bad main bua ke paas jake baith gaya or apna unke kahndon pe rakh waha dabane laga fir dhere-2 maine apna haath unke pet pe rakh use sehlane laga, bua aadhi neend mein thi isliye kuch kar nahi pa rahin thi fir maine mauka dekh unke gardan par kis karne laga wo ab excited hone lagi thi ye sab dekh praksh ko bhi raha nahi gaya

or usne bhi apne haathon se uske boobs ko halka-2 dabana suru kiya ye sab mehsus kar bua bolne lagin nahi mat karo meri tabiyat thik nahi hai please nahi humm aahhh but ab unki awaaj mein ek nasha tha jo hume exicted kar raha tha ab maine thodi jayada speed se unki pet masalne laga tha ab wo puri garam ho chuki thi ab hum samajh chuke the ki apna kaam ho chuka hai. Humne unhe utha ke bed room le jake leta diya or usnhe dekhne lage wakai wo ek sex ki devi lag rahi thi jise bhagwan ne bas chodne ke liye hi banaya hai bua ki bade bade boobs dekh sameer unpar tut pada or uske boobs ko uske blouse par se hi dabane or chusne laga, bua ab puri tarah hamara saath de rahi thi or sameer ko apne boobs se hatane ki kosish kar rahi thi lekin sameer ab rukne wala kaha the usne to or jod-2 se bua ki boobs dabana suru kar diya tha wo mano uske boobs ko aam samjh ke usmein latak chuka tha uske 2 no bade-2 boobs uski puri pakad mein bhi nahi aarahe the but wo to use bas dabaye ja raha the use khich raha tha or chus raha tha uski or uper bua aaaahhmmmmm ki awaz se hume or exicted kar rahin thi uski aankho mein ab gajab ka nasha tha jo sirf ek madhoos aurat mein hota hai. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Uski blouse jo halke aasmani color ki thi or jo pehle se hi transparent thi or jismein se uska black color ka bra saaf dikh raha tha use sameer ne nipple ke paas chus-2 ke gili kar diya tha itne mein Raju ne sameer ko kich ke hataya or bola saale sara ras tu hi chus lega to main kya chusung or fir ab wo bhi bua ki boobs ko chusi ab bua ko sayad dard hone laga ho isliye usne raju ke balon ko khichana suru kar diya or aahhhh bbbaaaas nnnhhiiiiiii huuummmm awaj nikalne lagin ise dekh Prakash

or Sameer Ne ski haathon ko pakad ke daba diya or raju ko bola chus iske ras ko aaj thaka de is randi ko aaj ise asli sex ka maja de isko jo isne life mein nahi kiya hoga itna bolte hi raju ne or jor-2 se uske boobs ko chusna suru kar diya, or uper bua ki halat or kharab ho rahi thi wo sir idhar udhar patak rahi thi or wo kuch kar bhi nahi sakti thi.Aise hi ek-ek baar hum sab ne uske boobs ke saath khela jise jo man mein aaya usne waise hi uske boobs ko dabaya chusa or kata. Fir Manoj ne uski saari uske badan se utaar di or uske pet pe kiss karna to bua or chatpatane lagi fir aisa hi chumte hue usne use ulta leta diya piche se uski peeth us transparent blouse may bhi saaf dikh rahi thi or saath mein uska black bra ke hook.Peeth mano nangi hi ho aisa lag raha tha us blouse se, fir manoj ne use sidha kar uske  blouse ke button kholne laga to bua ne uske haath pakad liye fir manoj ne unke haath hata  jaldi-2 kar button kholne laga. Fir usne button kholne ke baad uske blouse ko uske badan se nikal fek diya ab to bua black bra mein or bhi mast maal lag rahi thi, hum sab to jaise uske boobs dekh pagal hi ho gaye the fir manoj ne use ulta kar jaldi uske bra ka hook bhi thod diya or uski nangi peeth ko chatne or katne laga Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. wo ab apne hosh mein nahi tha wo kya hum sab bhiapne hosh mein nahi the hum pe bas use chodne ka junnon sawar tha. Fir baari-2 hum sab ne  uske peeth ko man bhar chuma or chata kisi-2 ne to itne jod ki daant lagai ki uske peeth pe jagah-2 pe datton ke nisaan ban gaye the, to maine bola bhaiyon jara aram se karo kya aaj hi pura kha jaoge kya are or kabhi ke liye bhi to rehne do laekin mere bolne ka ab kahan kisi pe koi farak hone wala tha sab to apni-2 masti mein hi chur the so mere bolne ka koi asar hi nahi tha ab infact i was also enjoying a lot.

Fir Raju ne use sidha kiya or uski bra ko bhi utar diya ab to wo upar se bilkul hi nangi thi uske bade-2 lal tamator jaise dono boobs mano rubber ke do bade-2 ball jaise lag rahe the is par raju ne bola bhai ma kasam maan gaya is saali ko is umer mey bhi itni tight body figure wah maja aagaya or aise bolte-2 usne uske boobs ko dabana suru kar diya or upper buaa aaahhh ohhhhhhhhhhhhuuuuummm ki awaze nikal rahi thi jo or josh dila rahi thi tabhi manoj ne bola are yaar dekh kya raha hai are iska sara dudh aaj pi ja iske boobs se sara dhudh aaj nikal le or usne aisa bolte hi apna muh uske dusre wale boobs ke nipple pe laga ke chusna suru kar diya or dusre nipple se Raju ne uska dudh pina suru kar diya dono ne apni puri takat laga di dudh pine mein magar sayad ab uske boobs mein dudh nahi hota hai isliye dudh nikal nahi pa raha tha lekin fir bhi undono ne apni puri takat laga di uske nipples ko chusne mein karib 10 minute tak unlogon ne chus-2 kar bua ki nipples ko laal kar diya fir undono ke hatne ke baad prakash or sameer ne bua ki boobs ko suck kiya fir sameer ne uski petticoat ko uske badan se niche kich diye ab to bua ek dum nangi padi thi kyunki wo chaddi nahi pehenti hai wah hume to maja araha tha uski mast chikni or gori-2 tangon ko dekh ke mere sare ke sare dost to mano bhukhe kutte ki tarah uki tango or chuttar pe tut pade jise jaha mila wo use hi kaatne or chusne laga koi uski janghon pe katata to koi uske chuttar pe daant gad deta or aisa karte hi bua ki chikh nikal jati thi wo bilkul padesan ho chuki thi bua ki chut bilkul gili ho chuki thi or ful bhi gayi thi wo bas apne aapko ko nochata hua dekh rahi thi or maje le rahi thi. Fir thodi der baad manoj ne unki chut ko chatna suru kar diya jisse bua or chatpata uthi or pura maja lene lagi or tarah-2 ki awaazein nikalne lagi Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aaahhhhhhuuumm maaaarrrr gayyiiiiii hhh or joooddddddd sssse aaahhhhhh firhum sab ne thodi-2 der ke baad uski chut chati bich-2 mein koi apni ungli bhi uske chut mein daal deta jisse wo or machal uthti aisa karte-2 humne use dor baar jhad diya jisse wo puri tarah thak gayi or ab use or dard hone laga or hame or maja aane laga.

Fir sameer ne kaha yaar ab main or nahi ruk sakta hun mujhe ab apne lund ko iske chut se saant karwana hai or fir usne uski dono tango ko faila ke apna lund uske chut ke muh pe rakh dhaka maarna suru kar diya pehle dhakke mein hi usne apni 7 inch lambi or mote lund Ko pura ka pura uske chut mein utaar diya jisse bua chikh padi aahhhhh maaarrrrrdaallllaaa. ahhhhhh ssiiiiiii fir usne apni puri laga ke ause chodana suru kar diya or jod-2 se dhakke maarne laga uper bua chilla rahi thi or niche uski speed badhati ja rahi thi kareeb 10 minute ki jordaar thukai ke baad usne apna lund bahar nikala or fir manoj ko bola aa tu bhi apni lund ki pyaas bujha le or fir manoj ne bhi apna waise hi apna lund uske chut ke muh mein rakh jor ka jhatka mar or pura lund bua ki chut mein ghusa diya or laga jod-2 se chodne, is baar bua bhi pura maja le rahi thi or bol rahi thi or or jod se chod do faad do loot lo mujhe waahhhh maja agaya tum jawano ke saath sex karke aaaahhhhh ooooorrrrrrr ab to hume bhi or himmat aagayi or humne 1-1 karke bari-2 se bua ki chut maari, jisme jitni takat thi sab laga di use chodne mein, Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. itne mein raju ne bola yaar teri aunt mein bada dum hai is umar mein bhi 5-5 logon ko jhel rahi hai maja agaya yaar sach mein iske andar bahot tel hai,is par sameer ne bola aaj puri nikal hi dete hain iska tel or usne bola ise ulta leta or iski gand maar tab dekhte hain saali mein kitna dum hai isne chodwa-2 ke apne chut ko gufa bana li hai isliye ise maja aaraha hai iski gaand maron tab jake iska asli dum pata chalega is bua thodi seham gayi or boli nahi ab aaj ke liye bas karo main thak gayi hun or meri tabiyat bhi aaj achci nahi hai fir kabhi meri gand maar lena ab to ye tumhara hi hai beta par kis ne uski 1 na suni or humne use ulta kar usko dogi style mein khada kar bua ki gaand marna suru kiya sabse pehle is baar main gaya or iske gaand pe apna lund ka top rakh ek jor se dhakka mara or pura lund uske gaan mein hi utaar diya bua chik padi nikalo nahiiiiiiiiiii

Maaaarrrrrjaungiiii hhhhhhh is par sameer ne bola bas itni hi jaan hai tere mein are abhi or 4 logon ka lund tujhe khana hai janeman or fir usne mere ko bola dekh le ab to khush hai na humne teri bua ke pasine chuda diye na aaj ki chudai ye kabhi nahi bhulegi maar gand saali ka or fir maine dhakka lagana suru kar diya or fir niche se bua ne bhi apni gand hilani suru kar di karib 5 minute ke baad maine apna sara ka sara Cream uske gaand mein hi nikal diya or fir 1-1 karke sab ne uski gaand ko mara or apna-2 cream uski gand mein hi daal diya ab uska gaan ke ched bhi bada ho gaya tha jisme se hum sab ka cream bahar aaraha tha hum sab ab kaafi thak chuke the bua to jaise mari padi thi uski halat 1 road par ke kuttiye jaise ho gayi thi kisse 5-5 kutton ne choda tha wo ek dum nidhal ho chuki thi Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.  or aise hi giri padi rahi hum sab bhi let gaye gaye wahi pe. Raat karib 3 baje manoj or raju ne 1 baar or apni pyaas bua ko chod ke bhujhai bua chik rahi thi or wo sale pagal kutte ki tarah use chod rahe the humne bhi unhe bola yaar chod de ab bas kar kahin kuch ho gaya to lene ke dene na pad jayein lekin undono ne apni pyaas bujha ke hi use choda or uske upper hi so gaye. Subh karib 6 baje maine bua ko jagaya or unhe kapde diye bua kafi thak chuki thi unse kahda bhi nahi hua ja raha tha lekin itna hone ke baad bhi unke chere Pe 1 halki si muskan thi or fir main unhe le kar unhe unke ghar drop kar diya waha unhone bola  ki tumne mujse jhut kyun bola dekh sab ne kya halat bana di hai unki maine bhi unhe sorry bola or unhe 1 kiss de kar waha se chala gaya. She gave me smile then and went into the house. Friends.. kaisi lagi bua ki shamuhik chudai ki kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisine meri bua ke sath sex karna chahte ho to add karo Facebook.com/KavitaSharma

Sharabi dost ki biwi ki chudai

Dosto aaj jo dost ki biwi ki chudai ki kahani batane jaa raha hu wo mere ek gaheri dost ki biwi ke sath sex ki kahani hai. aaj main bataunga kaise dost ki biwi ne mujhse chudwaya.. kaise maine dost ki biwi ki dudh piya, dost ki biwi ko nanga karke choda,kaise dost ki biwi ki chut chat chat ke ras piya aur rendi bana ke choda.Mera ek dost tha jiski shadi hue teen saal hue the aur unke ek ladka tha.Dost ki biwi jiska naam veera tha.Woh ek sundar aur gajab ke figure ki malkin thi.Use main jab bhi dekhta tha toh bas ek hi khayal man main aata thi ki bas ek bar ise chod doon.Par main yeh bhi jaanta tha ki yeh mumkin nahin hain aur yeh soch kar main hatash ho jata tha.Par kudrat ke likhe ko kaun badal sakta hai.Uska pati kisi karan se roj hi sharab pee kar ghar aane laga.Yeh mujhe baaton hi baaton main Veera neh hi bataya.Aur usne yeh bhi bataya ki sharab pee kar woh Veera se marpeet bhi karta hai.Veera bahut hi pareshan thi.

dost ki biwi ki chudai
Sharabi dost ki biwi ki chudai
Maine use kaha ki ho sakta hai kuch din main sab theek ho jaye.Par yeh silsila chalta raha.Ek din dopahar main achanak mere pas Veera ka phone aaya aur woh boli use mujhse usi waqt milna hai.Main phoren uske ghar pahuncha.Wahan ja kar pata chala ki Veera ka pati aur baki sabhi gharwale ek shadi main unke pushtainy gaon gaye hain aur kareeb paanch din baad aayenge.Veera baccha chota hone ki wajah se nahin gayee.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Maine Veera se poocha ki usne mujhe kyon bulaya tha aur kya baat hai.Veera boli ki main bete ko doodh pila kar sula denti hoon phir baat karenge.Usne apne bete ko apni godh main liya aur mere hi samne apna ek boba nikal kar uske moonh se laga diya.Yeh dekh kar main hairan reh gaya.Veera ke bobe ka size dekh kar mera lund ek faulad ki jaise tan gaya aur apni pant main use chupana mushkil ho gaya.Main tirchi nazar se Veera ke bobe dekh raha tha aur bahut uttejit ho raha tha.Iccha kar rahi thi main bhi Veera ke paas ja kar uska doosra boba apne moonh main lekar choosoon.Veera ko shayad mari halat ka pata chal gaya tha aur woh meri taraf dekh kar dhire se muskarayee.

Phir hamare beech baatcheet chalu ho gayee jo is prakar thi:
(Veera ke liye ‘V’ aur mere liye ‘M’)
V: Kya dekh rahe ho?
M: Kuch nahin bas yeh dekh rahan hoon ki kitne pyar se pila rahi ho.
V: Accha,aur kuch naheen dekh rahe?
M: Dekh toh raha hoon par kewal dekhne se kya ho jayega?
V: Chaho toh bahut kuch ho sakta hai.

Main yeh sun kar hairan reh gaya.Maine himmat ki aur uske paas ja kar bed par baith gaya.Ab main uske bobe saaf dekh sakta tha.Usne apna ek haath maire haath par rakh diya.Main uske aur paas khiska aur phir uska moonh apne haaton se pakar kar apni taraf kiya aur uske hoton ko choom liya.Ab tak uska beta neend le chuka tha.Veera ne use apni godh se uthaya aur bed ke niche uske apne bistar par sula diya.Phir woh meri taraf aayee aur mere hoton ko jor se chhoma.Main bhi uske hoton ko apne hoton se jakad liya aur apni jeebh uske moonh main jhusa di.Woh kafi excited ho chuke thi.

V: Jaanu,main bahut pyaasi hoon?
M: Main tumhari saari pyaas bujha doonga.
Yeh keh kar maine apna ek haath uske bobe par rakha aur jor se dabane laga.

V: Raja,yeh kya kar rahe ho.Sare shareer main aag lag rahi hai.
Maine yeh suna toh uske blouse ke button khol diye aur uske bobe ko choosne laga.Woh siskariyan bharne lagi.Usne acahanak ek haath neeche kiya aur mera lauda pakad liya.
V: Ise kya andar hi rakhna hai ya bahar bhi nikaloge.
M: Agar tumhari iccha hai toh bahar nikal lo.
Usne phurti se mere pant ki chain kholi aur mere 7″ke laude ko bahar nikal liya.

V: Kitna lamba aur mota hai tumhara yeh lauda.
M: Agar pasand aaya hai toh ek puppy le lo.

Woh niche bethi aur mera lauda apne moonh meh lekar choosne lagi.Mujhe aise laga ki main bas jhad jaoonga.Aur main yeh mauka khona naheen chahata tha.Maine use uthaya aur bed par lita diya.Phir uska blouse aur bra utar di.Kya bobe the!!Main toh unpar toot para. Ek bobe koh moonh main liya aur doosre ke ek haath se dabane laga.Veera buri tarah se excited ho chuki thi.Usne bhi mera lauda pakda aur jor jor se sehlane lagi.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Maine apnne pant aur underwear utar di.Ab main poora nanga tha.Phir maine uske jhaange sehlayee aur apne haath ko uski choot par rakh diya.Woh puri gili ho chuki thi.Maine uska petticoat bhi utar diya.Ab woh bhi bilkul nangi thi. Main dost ki biwi ki choot ko dekh kar hairan raheh gaya.Bilkul saaf bina jhaton ki choot aur phooli hui phaken!Main apna moonh uski choot ke paas le gaya aur dost ki biwi choot ko chatne laga. V: Jaanu,chato meri choot jor se chato.Bahut din ho gaye mujhe choot chatwaye huye ya choot main lauda liye hue .Voh ucchalne lagi aur achanak usne apni pichkari mere moonh main chod di.V: Ah mere raja kitna maja aya hai.Ab apne laude se mujhe chod bhi de. Maine bhi der naheen ki aur uske pehr uthakar apne khandon par rakhe aur apne laude ko uski choot par laga kar ek jor ka jhatka diya aur mera poora 7″ lauda uski choot main ghus gaya. V: Jaanu,jor se chod,phad de meri choot.Mere bobe daba aur jor se dhakke mar.

Woh bilkul paaglon ki jaise chillane lagi.
Maine bhi khoob jor se dhakke lagane chalu kiye.Woh bhi apni gaand uchal uchal kar mere laude koh aur undar lene ki koshish kar rahee thi.Mujhe acahanak laga ki main jhadne wla hoon
M: Veera,mera nikalne wala hai

V: Undar mat nikalna
M: Toh kya moonh main nikaloon?
V: Haan,par rukna main bhi aane wali hoon.
Aur woh bhi doosri baar jhad gayee.
Mera bhi nikalne wala tha.Maine apna lauda uski choot se nikala aur uske moonh main de diya.Veera use jor se choosne lagi aur ab main apne aap ko rok naheen paya aur uske moonh main hi jhad gaya.Usne mera sara ras pee liya.Hum dono nidhal ho kar let gaye aur apne hoton ko ek doosre ke hoton se sata liye.
V: Mere jaanu,tumhara lauda toh vastav main bahut hi damdar hai.Aaj meri choot ki pyas bahut dino baad bujhi hai. M: Mere koh bhi bahut accha laga.Tumhari choot toh bas mere laude ke liye hi hai.
V: Haan jaanu, ab jab iccha ho apni is rani ko chod lena.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.  Phir hamne apne kapde pehne aur ek baar phir uske hoton ko choom kar main apne ghar ke liye ravana hua. Hamara yeh laude-choot ka rishta ab bhi kayam hai aur mohka milte hi hum chudayee kar lete hain.Yeh ek bilkul sacchi haqueeqat hain aur koi fantasy naheen hai... friends kaisi lagi meri dost ki biwi ki chudai ki kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisine meri dost ki biwi ki gand mari na chahte ho to add karo meri dost ki biwi ko Facebook.com/Kaamdevi

Choti behan ke sath hot sex story

Dosto aaj jo hindi bhai aur behan ki sex story batane jaa raha hu wo meri choti behan ke sath sex ki kahani hai.. aaj main bataunga kaise meri choti behan ko choda,kaise meri behan ki choot ki seal todi, aur kaise behan ki chut se masti kiya. meri behan ka name shelly hai or vo muj se teen saal choti hai vo dikhne main bahut sunder hai choti behan ki boobs ka size 34 hai or gaand ko dekhte hi lund khada ho jata hai ab main apni story per aata hu pehle mere man main essa koi vichar nahi tha aphi behan ko chodne ka lekin vo din bar din nikharti ja rahi thi ek din vo ghar main akeli thi sab bahar gye the or main apne collage gya tha meri chutti jaldi ho jane ki vajeh se main ghar jaldi aa gya jab main ghar pahucha to shelly naha rahi thi ussne bathroom lock nahi kiya tha kyoki ghar main koi nahi tha main apne hand wash karne ke liye bathroom main gya to vo pani se bhigi hui bilkul nangi thi or apni chut main ungli kar rahi thi main ye sab dekh kar dang rah gya or sorry bol kar baher aa gya

mere dimag main Abhi bhi usska nanga badan aa raha tha vo raat ko mere saath hi soti hai khana khane ke baad hum tv dekne lage lekin humne koi baat nahi ki thi jab hum sone lage to thodi der baad usse nind aa gyi main abhi jaag raha tha mere dimak main yahi baat thi ki meri behan ko lund ki jarurt hone lagi hai sali ungli kar rahi thi or socha kyo na main hi chod lu or main ab apna kaam chalu kar diya sabse pehle mene usse aavaj lagai vo kuch nahi boli main samaj gya vo puri neend main Hai main apna haath badaya or usske boobs ko dabane laga Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. fir main thora sarak kar uske paas ho gya or dhire se apna lund nikaal kar uski gand per lagane laga muje bahut der bhi lag raha tha or bahut maja aa raha tha thori der essa karne ke baad main uski t-shirt utarne laga muje bahut mushkil ho rahi thi lekin thori der tak uski peeth nangi thi main uske saath chipak gya mera lund uske lower ke uper se uski gand ko lag raha tha thori der essa hi raha fir vo thora hili or peeth ke Bal late gyi ab muje behan ki nange boobs the maine aaram se uski tshirt uper ki or gaden tak le gya usske 34 size ke boobs mere samne the main uski nipel ko muh main le kar chusne laga kya maja aa raha tha ab vo dhire dhire mere baalo main haath ferne lagi main samj gya saali jag rahi hai fir thora uper uttha kar usski puri t shirt nikal di ab main usske lips kiss kar raha tha fir mene uska haath paker kar apne lund per rakh diya or usse sahlane ke liye bola vo bade pyaar se

Lund ko hila rahi thi ab meri behan ke chudne ka time ho gya tha mene usse boola ki taiyar ho ja saali vo boli kis liye mene kaha chudne ke liye teri chut main bahut garmi hai na usse thanda karta hu ab main uska lower utar raha tha usne muje roka to main kaha ab mat roko meri behna or behan ko puri nangi kar diya kya lag rahi thi saali kya chut thi meri behan ki mene apna lund jaberdasti uske muh main de diya or usske halak main utar diya usska saans ruk gya 10 second Baad mene lund nikala to boli main ko gasti nahi jo essa kar rahe ho Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. main tumahri behan hu bhai mene kaha ki main kab kah raha hu tu gasti hai esse sex karne main to maja hai or shelly ko leta diya or bola shelly meri behan ab tu aurat banne vaali hai main lund uski chut per ragdne laga kya maja aa raha tha mene ek jatka mara or lund ka supda uski chut main kar diya vo chilai mene kaha jitna marji chila le shelly tuje koi sunne waala nahi hai mene fir ek jatka mara or 5 inches Lund under kar diya vo itni jor se chilai ki abhi behosh ho jayegi muje maja aa raha tha vo rone lagi main usse chodta raha ab fir ek jatka or 7 inch lund behan ki chut me chala gya vo tadfene lagi mene kaha le tu ban gayi aurat or dhire dhire jatke marne laga thori der chilane ke baad vo shant hui to mene kaha kessa lag raha hai kahne lagi ab derd thora kam hai mene kaha fir maru teri chut tej jatko se to ussne kaha pehle mujh per raham nahi kiya or ab puch rahe ho accha ab koi

Derd nahi hai tuje vo boli ap bhaiya aram se chodo muje plz meri chut ki garmi nikal do bahut pareshan karti hai meri chut ki khujli or main tej jatko ke sath apni behan ki chut bajane laga meri behan ahhhhhh oohh aaaaahh ya oh ya oh ya or tej bhaiya maro meri or tej aaha aahhhhh main mer gayi bhai mai jar rahi hu bhaiya aahhh mera bhi nikalne waala tha fir main tej dhako ke saath jad gya or usske uper hi gir gya mene kaha kaise laga meri behana boli ki koi bhai essa Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. Bhi karta hai apni behan ke sath jo tumne kiya hai mene kya kiya hai saali tu kud hi kah rahi thi or tej or tej ab bol rahi hai essa bhi karta hai koi bhai fir mene apni behan ko 4 baar lagatar choda.. to friends.. kaisi lagi meri behan ke sath sex ki story.. ascha lage to share karo .. agar kisine meri choti behan ki chikni chut se masti karna chahte ho to add karo meri behan ke sath real me sex karne ke liya Facebook.com/ShellyGupta

Padosan bhabhi ki pyasi chut ki chudai

Dosto aaj jo bhabhi ki chudai khani batane jaa raha hu wo mere padosan bhabhi ki chudai ki hai.. aaj main bataunga kaise padosan bhabhi ki choot ki pyas bujhai,kaise bhabhi ko nanga karke ghodi bana ke choda,kaise bhabhi dudh piya aur bhabhi ki pyas chut ko santust kiya. Meri padosan bhabhi ka naam rani hai.bhabhi bohut sexy aur sundar par saali nakhra bahut dikhati hai use dekhkar mai andar akar hand practice karke land ka mal nikla karta tha aur usko bhabhi kahke bulata tha lekin bluase se jab uske gaure gaure mote boba dekhta tha to usko chodne ur ye sochta tha yahin saali ke badan ko masal kar iske garam gore badan ka ras pi jau. usk husband  jyada handsum aur jawan bhi nahi tha aur patla duble saattha tha to mere ko lagta tha ye isko kya santusht karta hoga halanki usne ek londa aur ek londi paid kar di thi lekin salli phir bhi garam tja mal lagti hai .

bhabhi ki chudai
Padosan bhabhi ki pyasi chut ki chudai
ek din voh mere yahan ek ladki se sawal pooch rahi thi yaar inka land thodi der me hi dhila ho jata hai itini sardi padh rahi hai 2 minute me land jhad jata hai khada karne ki koshish karti hu to saala so jaata hai chusne par bhi lamba nahi hota kaise apni pyas bujhau. uski ye baat maine sun li aur ab me usse baat karne ka muka dhundh ne laga. apne bache ke sath liye koi s kisi kam se ayi to main vahi tha uske free hone par main bola bhabhi tum kuch us ladki ko kuch bol rahi thi aajkal kuch murjhai si rahti ho kya bat hai gaura rani boli kuch nahi hamari uraton ki aapas ki bat thi phir maine jyada kureda to boli yar tumhare bhai ajjkal dhile chal rahe hai to maine turant jawab diya kabhi dever ka bhi shara le liya karo to boli kahan dever saath dete hai apni masti me mast rahte hai maine kaha jara haath do dekha to vo bilkul garam padi thi aur samne se uska blause bhi dhila tha mera man uske badan par lalchane laga Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. ab mujhe gaura ko chodne ka moka milne wala tha. gaura boli dever ji kabhi bhabhiyon par bhi dhyan de liya karo maine kaha bolo kab kis cheese par dhyan doo to gaura boli samne poore garam maal ki thali rakhi hai pooch rahe ho kya khau jo khana chaho khao iss thali ki har cheese teste hai to maine bola thali kab paros rahi ho to usne jhat se apne pallu niche gira diya uske khule boba dekha  to mera land lamba hone laga jaldi se gura ka haath pakar kar paint ke uppar hi rakh diya dekho tumhare kahne se kya halat hai khyenge to kya halat hogi phir maine halka sa gaal par kiss kar chod diya aur bola chalo chat par chalte hai ur me uske chat par mere kamre me le ayya. kamre aate hi gaura phailkar mere bistar par so gayi . aur gaura boli lo ab to thali tumhare saamne hai ji bhar ke khalo chuslo meetha namkeen pani roti boti veg non veg jo chaho khao.

maine thoda sa sabra se kam lena uchit samjha kyonki me usko poora bhogna chahta tha aur poora ras pina chahta tha kyonki dubara vo mere niche ayegi nahi ayegi koi bharosa nahi tha.main gaura ke bagal me jakar so gay aur uske gallon ko sahlane laga aur mere hoth gaur ke lal gulabi hotho par rakh diye . hatho se uske galo ko gol gol ghumate huae uske hotho ka ras me chusne laga uske hot bahut mithe shahad jaise lg rahe the halanki pahle bhi maine aurat aur ldkiyo ko hotho se kafi baar chusa tha par phir bhi bda maja aaraha tha kai dino se koi ladki ya aurat ke hotho ka ras nahi piya tha. ab gaura ka badn bhi tayar tha aur usne apne hatho me harkat ki aur apne blause ka ek btton khol diya bhabhi ki sexy badan ki khushbu ab mujhe mahakane lagi. gaura ab muskarane lagi to maine poocha kaise lag raha hai bola kuch karoge tabhi to bataungi hotho ko chusete rahoge to mujhe kya maja ayega. maine gaura se kaha maja lena ho to kuch harkat kar to uska hath meri paint ki chain ki taraf gaya aur usne meri paint ki chain khol di aur paint utar di aur chaddhi me khud kapde pahne apni jangho par bitha liya Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.  ab chaddhi me uske uppar betha tha to maine bhi uske blause ko uske badan se batan kholkar alag kar diya aur uski piche se bra ke hook khol diya ab uski boba jinka main kafi dino se pyasa tha mere samne the jhat se dono hatho se ek boba ko bichh me se gol kar dono taraf se dbane laga aur uski boba ki nipple ko daanto ke bich me lekar khinchne laga to tarap uthi aur boli tum to shdi shuda mrde se bhi jyada sex main expert ho. mujhe uske boba chusne me nand ane laga to poora boba muh me bhar liya aur chusne laga aur dono hatho se jhath se paine sahit uska peticot uttar diya

ab vo poori nangi mere samne padi thi mujhe vah taja gosht ki thali lagne lagi jiska poora rang lal tha usne bhi jhat se meri chadhi khinch li aur boli ab to poora badan tere hawale kar diya land to pakra de aur aur dono hatho se land ko pakar kar lassi banane ki tarah ghumane lagi . ab dono ko bkhel me maja aara tha aur voh han han kar maja le rahi thi . kahne lagi toum to chhupe rustam nikle main vse hi tarap rahi merea aadmi ko sale ko aurat ko bhogn hi nahi aata sidha chut me landa ghusa kar maal chodkar so jaata hai aur me tarap ti rahti tu mujhe pahle pata hota to kitni bar dever ji tumhare land ko pi jaati.jaise hi usne land pine ke naam liya turant mera land bhi usko chusane ko machalne laga aur me uske nange badan par uske naak aur aankh ke bich apni gaand raakh kar muh me lad ghusa diya to chi chi chi karne lagi bhut karwa hai main bola gaura rani pahle kabhi chusa nahi kya gaura boli nahi kabhi chusya hi nahi to chusti kaise tum jabardasti kar rahe to chusne hi parega. shuru me thoda sa undar ghusaya aur halka halka dheere dheere chut ko chode ki tarah muh ko chodna chalu kiya Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aur halka halka pani uske  muh me ana laga to vo thukne ke liye uthne lagi to maine bol gaura ye thukne ki nahi pine ki cheese hai abhi tu hi to bol rahi tera lad pahle hi pee jati to meri jaan ab land ko piyo bahut maja ayega.to gaura land ko aur thoda ndar le gayi ab vh khud hi hath se pakar kar muh me de rhi thi ab jab jyada niklne laga to voh pine ke liye machlne lagi aur usne apne land chusne ki speed badha di. chunki me uske boba  ki taraf muh kar ke usko land chusa raha tha to maine bhi uske boba ko maslna shuru kar diya aur pump karne laga to land chuste chuste vo siskariya bharne lagi aur gaura bolti ja rahi thi jor se maslo jor se maso mujhe bhogo bahut pyasi hun pahli bar itne mast chudai karwa rahi hun

to mera bhi josh badh aur maine apni lambi tang niche tak faila di aur uske saadi ke pallu se ek boba ko golakar banakar ek hath se pakad kar ek hath se jor jor se dabane laga to uski sikari ki awaz ne meri uske badan ko aur jor se maslne ki pyas badha di to bhabhi ki dono boobs ko saadhi se kaskar golakar bndh diya aur aur dono hatho se jor jor se pump karne laga to mere land ki saari nas khadi ho gayi lekin abhi uski chut chodna baki tha to maine lnda ko chut me ghusa diya aur gaura ko bola tune jo muh me bhr rkh hai vo gilas me nikal kar chut me undel de usne aisa hi kiya ab mere land uski chut me andar tak ja chuka tha chut me poora ghuste hi gaura ne ek lambi saans li aur boli tumne to dever ji meri dum hi nikal di ab jakar thoda sukun mila hai mere bal chalega to roj tumse hi karvungi. dheere gaura ki chut ko uppar se masal ta ja raha tha aur dono boba ko pahle ki tarah jor jor se dabate hue chudai kar raha tha aur gaura ko bola tera khli gils me chudai ka maal bhar le usne niche gilas lagaya to maine jhat se usi ki chut ke maal aur mere land ka pani nikal kar uske gilas me bhar diya aur aur uske muh ko kholkar uske muh dalkar uska muh band kar diya aur bola pija gaura rani tera hi maal hai bahut teste lagega to vo machlne lagi dever ji tumne mujhe poori tarah narak ki ranmdi bana diya. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aur chodne ki spped badha di kyonki land ka maal niklne ko tayar tha to jhat se apne land uske muh par rakh diya aur uske poore muh par facial ki tarah masal diya uska poora chera safed maal se raang gaya lekin ab vo mujhe chodne ko tayar nahi thi. maine kaha ab sab to kar diya ab kya karvayegi to gura boli tune dever meri gaand to mari hi nahi ajj main poori randi hi bann ke nikloongi aaj tak maine kabhi gaand nahi marvayi kyonki mere khasam ka land to 4 inchi se badha kabhi ho hi nahi vo to maine hi koshish kar ke do aulad paida kar li.

gaand chodne ke liye maine usko onndha patka aur koolhe ke bich me halka gol nukila danda maine apna lund bhabhi ki chut me ghusa diya to vo chilla utha land ki jagah danda kyun ghusaya hai to maine kaha gaand ko dhili to karunga gand kaise marunga gur boli ajj teri bhi marji karle man bhar ke mujhe bhog chod kha jo karna hai kar le . jab gaand thodi dhili ho gayi to maine anda niklkar land ko gaand me ghusa diya aur jo saadi dono bobba se bandhi thi dono side se khinchne laga to uske boba dard karne lage aur vo siskarne lagi chunki yeh mere second round tha to land ka jhadne kar dar nahi tha aaram se suki gaand mare jaara tha . ab me usko aur maslna chaht th tha.gaura ko bola tere gore gaal mujhe dede bade surkh ho rahe hai jara in par meri mohar to lagwa le sali . gura ne upne gaal mere taraf piche ki aur ghomma diya ab vo saab taraf maswne ja rahi thi . ek gaal ko muh me liya aur chusne laga aur dusre ko ek haath se khinchne aur chentua bharne laga kyunki saadi ke dono taraf ke boobo khinchne ke hisse ek hi haath se pakd liye. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. ab mujhe lagne laga aur santushti hua ki iss gaura ko jo mujhe kabse tarpa rahi thi poori tarah randi bana diya to maine poocha aur maslna chahti hai ya tujhe chhod dun to gaura boli teri marji jai phir mat kahna poori thali nahi parosi thoda mere garam garam gosht ko chak le bhabhi ke chudele bahut mast maal hun phir mile na mile to maine poocha teri bhi abhi koi chahart rah gayi  hai ya sabhi poori ho gayi hai to vo boli ek baar ji bhar ke laand chus lene de bahut maja aya  to gaand ka ganda land hi uske muh me ghoosa diya aur booba jo sddi se khinch rakhe the dhile chod diye aur muh me bhar ke chusne ki hjagah dadh se khane laga uske garam garam lal maal safed chamdi khane me bahut maja aaraha tha .

aab dubara mere lannd jhadne ko tayar tha to maine booba ko jor se muh me dabaya aur muh me jo land ghusa rakha tha uski spped bada di teh dhar se lnmd ka safed maal ab uske muh me hi nikal gaya use maine uske muh me under masoodho par masal diya aur pila diya maal ke saath thoda land se mere moot bhi nikal gaya jise bhi usk muh dbakar pila diya.ab hum dono poori trah jhd chuke the aur pasine se tar ho rahe the to maine usko jane ke liye kaha to to vio bathroom ghus gayi aur mujhe bhi le gayi naha dhokar fresh bahar aye to gura boli agle sundey ko phir tayar rahne me mere khsm ko kisi bahane ghar se bahar bhe dungi.friends kaisi lagi bhabhi ko chodne ki kahani ascha lage to share karo .. agar kisine gouri bhabhi ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/Gouribhabhi

सेक्स कहानियाँ,Chudai kahani,sex kahaniya,maa ki chudai,behan ki chudai,bhabhi ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter