Nigro lund se jawan didi ki chudai ki kahani

 Hello friends.. aaj jo didi ki chudai ki story batane jaa raha hu wo meri didi ki chudai ki hai.. aaj main bataunga kaise didi ne nigro lund se chudi,kaise 9 inch ka lund didi  ki choot me dala,kaise nigro ne meri didi ko choda, kaise nigro ne 9 inch ka lund se didi ki choot phaad di,kaise didi ki ras bhari choot ki chudai ki, kaise didi ki boobs ko chusa, kaise didi ki choot ko chata, kaise didi ko ghodi bana kar choda, kaise mere samne meri didi chud gayi. meri didi ka naam priya singh hai meri didi dekhne me bahut sundar nahi hai par unhe dekh kar log akarshit ho jate hai.meri didi ka fig 32-30-32 hai.meri didi hamesha se hi ek modern ladki rahi hai unke kapde pahene ka bhi dangh hamesha fashionable raha hai.didi apne school time se hi bahut sundar aur jawan dikhne lagi thi mai aur meri didi ek hi school me hi padhte the mai hamesha unke class le ladko ya unke seniors ko didi ko gandi nazar se dekhte the.

didi jub sidhiyo se upar jati thi toh ladke hamesha unki kachhi dekhte the.meri didi jeans top aur skirt pahenti hai ya kabhi koi function hua toh salwar suit bhi pahenti hai.jaise jaise meri didi badi hoti gayi aur khubsurat aur jawan hoti gayi.aur mardo ki nazar unpar aur gandi hoti gayi.mai jub bhi apni didi ke sath bahar jata tha toh ladko ko unki gand aur boobs dekhte hue pata tha.jub bhi hum local busme jate the toh kitne bar aisa hota tha ki ladke meri didi ke piche khade ho jate the aur unka lund meri didi keg and me satta rahta tha.haan toh ab mai aapko apni main kahani par le jata hu jaha se ye chudai ka silsila suru hua aaj se 3 mahine pahle ki bat hai.lafi din ho gaye the hume kahin sath me enjoy kiye hue toh maine mummy aur didi se kaha ki hum log amusement park jayenge ghumne plan bana ki next Sunday hum log ghumne jayenge Sunday ke subah hum ready hue amuse ment park jane ke liye meri didi ne blue jeans aur black top pahna aur hum nikal pade.hume pata tha ki vaha water park bhi hai isi liye Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. main eek rat pahle hi swimming dress kharida.didi aur mummy ne kaha ki vo log ghar ke hi kapdo me kam chala lengi.hum vaha pahuche aur maine 3 ticket liya aur hum aadar chale gaye maine mummy se kaha pahle water park me chalte hai aur didi ne kaha nahi pahle rides enjoy karenge aur humme jhagda hone laga.mummy ne kaha ek kam karte hai hum swimming ke kapde pahente hai aur bari bari se enjoy kar lenge hum dono raji ho gaye .hum changing room me jake humne kapde change kiye aur bahar aa gaye mummy aur didi ne lower aur top pahen rakha tha. aur hum rides ke liye chal pade didi aur meri mummy dono mere aage chal rahi thi aur mai unke just piche.meri didi ne dark blue lower aur aur white top pahna tha aur didi ki lower bahut tieght thi.didi ki gand se unki panty ka shape dikh raha tha.vaha laske bar bar meri didi ke gand ke taraf dekh rahe the.2 ghante tak humne rides ki aur fir maine kaha chalo na ab water park chalte hai unhone kaha theek hai.aur kuch der me hum swimming pool pahuch gaye.aur aadar jake pani ko enjoy karne lage.maza aa raha tha.

meri nazar kuch ladko pe padi aur meri didi ko dekh rahe the.maine dekha toh didi ka top  bingh gaya tha aur didi ki black bra dikh rahi thi.un ldko ki umar 27-28  ki hogi.water park me kuch kuch der me wave chalate hai aur pani ka lavel upar hota jata hai.so achanak pani ka wave aaya aur maine mummy ko pakda aur didi humse thoda dur ho gayi.kuch der bad vo kadke bhi vaha aa gaye.aur wave ke aane ke sath meri didi ko help karne lage usi bich unhone didi ko kaha kaha nahi hath lagaya.jub wave khatam hua toh mai mummy ko lekar bahar aaya aur didi bhi. bahar aa gayi.pani se nikalne ke bad maine dekha didi ka lower unki gand me ghussa hua tha aur vo sare didi ki gand ko dekh rahe the.kuch der bad jub body sukh gayi toh maine mummy se kaha ek bar fir rides par chalte hai.didi ne kaha ki ab vo nahi jayengi aur vo kapde badalne chali gayi aur mai aur mummy rides par chale gaye Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aur lagbagh hum aadhe ghante tak rides par the fir jub hum laut ke changing room ke pass aaye toh maine dekha ki didi ne kapde badal liye the aur un ladko me se ek ladka didi se bat kar raha tha.vo ladka vaise dekhne mai normal tha par usne bahut achi body bana rakhi thi uske cuts dikh rahe the.kuch der bad maine aur mummy ne apne kapde badle aur hum ghar ki taraf chal pade.kuch din beet gaye sab normal tha par maine gaur kiya ki didi us din ke bad se messeging bahut karne lagi thi pata nahi kisse.aur har din sham me kahin ghumne jati thi.mujhe un par koi shak nahi tha kyuki maine aaj tak didi me aise koi bat nahi dekhi jisse ye lage ki vo chudkkar hai ek din didi apna cell chod ke nahane chali gayi aur maine unke cell se message padhe.vo sare message ek hi number se the aur bahut ajeeb messages the.mujhe kuch shak hua.fir didi nahake vaps aayi aur mai apne room me chala gya.fir sath me humne lunch kiya aur aur mai apne kaam me lag gaya mujhe pata tha didi 5 baje har din bahar nikalti hai mai isi liye ghar se kuchder pahle nikal kar ek jagah chip gaya.taki mai dekh saku aakhir bat kya hai.

kuch der me didi niche aayi aur walk karte hue kuch dur aage gayi.mai bhi unke piche piche chala gaya.kuch dur aage jane ke bad maine dekha ki ruk gayi ek tree ke niche aur ek call kiya.kuch der tak didi vahi khadi rahi.mai chup ke dekh raha tha ki kuch der bad ek yellow karizma aayi aur didi us par baith gayi mai jub us ladke ka face dekha toh vo vahi tha jo us din amusement park me didi se bat kar raha tha.aur dono chale gaye mai dekhta hi raha gaya.aisa bahut dino tak chalta raha.ek din didi ne kaha ki unke friend ki birthday party hai aur sham ke 6 baje didi tayar hokar bahar chale gayi.us din didi ne skirt aur sexy si top pahni thi bahut hot lag rahi thi didi.mai didi ke piche lag gaya theek vahi se us ladke ne meri didi ko pick kiya aur dono bike se nikal gaye mai apni bike se unke piche jane laga Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. thodi dur jane ke bad ek disco  aaya aur us ladke ne apni bike vaha rok di aur didi aur vo ladka disco ke aandar chale gaye.maine bhi apni bike park ki aur aandar chala gaya jub mai aandar gaya toh didi group me baithi hui thi.total 4 ladke the aur bus didi akeli ladki aur vo ladke koi aur nahi jo amusement park me mile the vahi the.kuch der tak sare hansi mazak kar rahe the.fir us ladke ne didi se dance ke liye bola aur sono disc floor pe chale gaye aur dance karne lage didi ke dance karne ke sath didi ki mast boobs hil rahe the aur jub didi round round ghum rahi thi unki kachhi dikh rahi thi didi ne pink colour ki kachhi pahen rakhi thi vo sare ladke meri didi ki kachhi dekh rahe the unmese ek bolta hai kya garam mal hai man toh karta hai iski kachhi abhi nikal du aur yahi chod du isko.kuch der tak aise hi sare meri didi ko ghur ghur ke dekhte rahe fir dono bidh se thoda hat kar jane lage mai bhi unke piche jane laga aandar ke taraf se ek sidhi aandar jati jo ki disco ke basement ke taraf ki thi mai niche gaya vaha kuch rooms bane hue the par mujhe koi dikh nahi raha tha sare rooms band the mai har room ke gate ke pass jake awaz sunne laga mai ek gate ke pass pahucha jaha meri didi ki hasne ki awaz aa rahi thi.

mai gate ki hole se dekhne laga didi aur vo ladka dono khade the aur ek dusre ko kiss kar rahe the us ladke ka hath meri didi ke kamar par tha aur vo meri didi ke lips par kiss kar raha tha aur didi ne apna hath uske neck ke piche karke uska sath de rahi thi thodi der bad usne didi se apna toung nikalne ko kaha aur fir  didi ki toung ko chusne laga Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. chuste chuste usne apna hath meri didi ke chutad par rakh diya aur masalne laga didi apne chutad ko idhar udhar hila rahi thi ab usne didi ki skirt piche se utha didi ki kachhi didi ki gand ke ched me ghusi hui thi usne apne hath meri didi ke chutad par rakh diya aurdabane laga aur didi ke gale par kiss karne laga didi usse kahne aaaa…aaaa…..hhhhh…hhhhh….hhh….ssss….sss bus anupan ab rahne do mujhe late ho raha hai usne didi ki ek na suni aur didi ko kiss karta raha.maine pahli bar apni didi ko is halat me dekha tha ab usne meri di ka top nikal diya aur side me sge par rakh diya didi ne pink bra pahen rakhi thi usmese didi ke boobs gajab ke lag rahe the usne didi ke bra ka hook khol diya aur didi ke boobs ko apne muh me leke chusne laga didi aaa..aaaa…aaa karne lagi usne meri didi ke right boobs ko apne muh me le rakha tha aur left boobs ko daba raha tha ab vo jamin pe ghutno ke bal baith gaya aur didi ke pet par kiss karne laga aur shalane laga didi dhire dhire puri garam hote jaa rahi thi ab vo khada hua aur usne didi ki skirt kamar tak kar di aur didi ke panty me hath dal di aur dhire dhire unki bur ragadne laga didi apne hotho ko dabaye hue siskariya le rahi thi usne apni puri hatheli meri didi ke panty ke aandar dal rakhi thi aur didi ke bur ko ragad raha tha  kuch der me didi ki kachhi gili ho gayi ab usne didi ki kachhi nikal li aur didi ki gili kachhi ko apne hath me lekar sunghne laga aur use chatne laga.

ab vo jaa ke sofe par baith gaya aur didi ghutno ke bal jamin pe baith gayi aur didi ne uske pant ka chain khol ke uske lund ko bahat nikala aur apne muh me lekar chusne lagi.vo ladka aaaa…aaaa….ssss ki siskariya le raha tha aur didi ko dekh raha tha ab usne fir se didi ke boobs pakad liye aur masalne laga.ab didi ne uski pant khol aur kich ke uska underwear bhi nikal diya aur fir se didi ne nigro ka 9 inch ka lund ko apne muh me le liya aur chusne lagi.kuch der me uska lund tan ke khada ho gaya uska lund kariban 9 inch ka tha didi uske pure lund ko apne muh me leke chusne lagi uska lund didi ke thuk se gila ho gaya tha.ab usne didi ko sofe par bitha diya Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aur khud ghutne ke bal jamin par baith gaya aur didi ki dono tango ko faila diya didi ki skirt unki kamar tak uth gayi aur didi ki bur dikhne lagi unke bur par ek bhi bal nahi the usne apni ungli se didi ke bur ko faila diya aur uske muh se aaaahhh nikal padi didi ki phuddi bikul lal thi kuch der tak vo didi ki phuddi dekhta raha aur apne lund ko shalane laga fir usne aage hoke apna jeev didi ki bur me lagaya aur use chatne laga didi ne sofe ko pakad rakha tha aur bar bar thoda upar ho ke aaaa..aaaaa…ssss…..ouhhh kar rahi thi aur vo lagatar didi ki bur ko failaye unki bur chat raha tha usne ab apni ek ungli didi ke bur me ghusa di aur dhire dhire use aandar bahar karne laga aur fir apna jeev didi ke bur ke upar vale hisse me rakh kar chatte hue ungli aandar bahar karne laga.kuch der tak aisa hi chalta raha fir didi ke bur se pani nikalne laga didi se ab bardast nahi ho raha tha unhone kaha please ab bardast nahi ho raha hai jaldi karo please.

vo sofe par baith gaya aur meri didi uske samne khadi thi usne didi ki skirt ka button khol diya ek hi bar me unki skirt niche gir gayi.usne didi se lund pe baithne ko kaha aur didi baith gayi usne apna dono hath meri didi ki chutad par laga aur didi ki bur me apna lund ghusa diya aur dhire dhire meri didi ko apne lund ke upar niche karne laga didi aaaaa..aaaa…ssss…ssss…ouhhhh…maaa….maaa…aaaaa..aaahhhh….ouhhhh karne lagi didi ne apna hath uske shoulder par rakh rakha tha.uske pura 9 inch ka lund meri didi ki phuddi ke aandar bahar ho raha tha aur pure room me thapp….thappp…thappp…puchhh…puchhh ki awaz gunj rahi thi kuch der tak tak usne aise hi didi ki bur ko choda fir usne didi ki jahnge pakadi aur didi ko apni ghod me utha liya aur didi ko upar niche uchalne laga didi ko dard ho raha tha unhone kaha please niche utaro usne didi ki ek na suni aur didi ko apne lund par uchalta raha didi ne apne hath uske gale ke piche kar rakha tha aur unke boobs upar niche ho rahe the kuch der tak usne aise hi meri didi ki chudai ki fir usne apna mal meri didi ke bur me gira diya.Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. fir jake dono soafe par baith gaye aur bate karne lage kariban 15 min bad didi ne apne kapde pahen liye aur usse kaha ghar chod dene ke liye fir us ladke ne apne kapde pahen liye aur mai bhi vaha se apne ghar aa gaya mere gahr pahuchne ke 1 ghante bad didi bhi gahr aa gayi us din ke bad se maine bahut bar didi ko us ladke ke sath jate dekha.friends.. kaisi lagi meri didi ki sex kahani .. ascha lage to share karo agar kisine meri didi ki choot ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/PriyaKumari

Indian hindi family sex stories

Hello friends.. aaj jo hindi family sex story share karne jaa rahi hu wo meri jeth ji ke sath sex ki story hai.
aaj main bataungi kaise jeth ji se chudi, kaise jeth ji ne mujhe choda, kaise jeth ji ne meri choot ko chata, kaise jeth ji ne meri boobs chusa, kaise nanga karke jeth ji ne mujhe raat bhar choda,kaise birthday gift ke bahane jeth ji ne meri choot ko thoka.mera naam Nikita Sing hai aaj main  apani real story likh rahi hu mera naam nikita sing hai main ek married woman hu, aur meri 3 saal ki ladaki hai mera rang gora aur body slim hai mera figar 34 28 38 hai meri join the family hai mere saas sasur aur bade jeth aur unki biwi aur do bachhe aur main mere pati aur meri ladki.

main ek pvt co. main  kaam karti hu ek din mere jeth ji ka birthday tha. so maine office se unhe birthday wish karne ke liye phone kiya.

Main: hello wishes you many happy returns day bhai saheb

Jeth ji: thank you so much aur birthday wish se kam nahi chalega birthday gift bhi chahiye

Main: bolo kya chahiye aap ko

Jeth ji: pahale promise karo main jo manguga woh tum dogi

Main:  ha jarur dugo promise

Jeth ji: tum

Main: main matlab

Jeth: tum matalb samaj jao nikita kain main kya chahata hu I want sex with you

Main: bhai saheb aapko sharam nahi aati main aapke chote bhai ki biwi hu

Jeth: dekho tumne promice kiya hai aaj ke din tum muje hurt karogi

Main : nahi bhai saheb kuch aur mango

Jeth: nahi maine jo kaha hai wahi chahie pls Nikita your promise me muje kuch samaj nahi aa raha tha main kaha ha dekhate hai

Jeth: dekhate hai nahi batao kab karege

Maine: please bhai saheb bola na dekhte hai bye aur maine phone rakh diya main puri tarah se shock thi ki aisi bat kaise kar sakte hai jethji main thodi dar gayi.main apne kam main lag gayi Shyam ko jab main ghar louti to jeth ji muje upar se niche ghur rahe the aur has rahe the main kuch samaj nahi pa rahi thiRat ko khana khake main apne kamare mai apni bachi ke sath so rahi thi mere pati job se vapas aaye nahi the achanak mere room ka darwaja kisine khatkahtaya muje laga mere pati hai lekin woh jeth ji the raat ke 11.30 baje maine pucha kya hua to unhone kaha ke aaj tera pati night shift kar raha hai usne muje phone karke bataya ki woh subah aayega aur tumhara phone band aa raha hai maine apna mobile dekha to band tha.Main kaha thik hai jeth ji to unhone kaha ki acha mouka aaj sex karne ke liye maine kaha nahi jeth ji aap jaiye ghar pe sab log hai unhone kaha ke sab so rahe meri biwi bhi kab ke so gaye aur unhone mera hath pakada aur muje apne pass khicha main kaha chod do muje jeth ji unhone muje kiss karna chalu kiya aur ek hathse mere boobs dabane lage Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. main kya karu muje samaj main nahi aa raha tha maine unhe jor se dhaka Mara aur bola pls jeth ji apne room main jao to unhone kaha tum ne muje promis kiya tha pls nikita sirf ek bar fhir se unhone muje najdik khicha aur kiss karne lage aur iss bar unka hath mere bumps ko press kar rahe aur kah rahe the pls ek bar nikita unke sprash se main bhi garam hone lagi aur unko lipat gayi phir unhone mere nighty khol di andar main ne pink color ki bra aur panty pahni hui thi woh muje upar se niche Ghoor ne lage phir unhone muje jor se apne baho main liya aur kiss karne lage phir apne hath piche le jake mere bra khol di mere boobs dekha ke bole nikita tere boobs bahut tanak hai aur jor jor se press karne lage aur panty ke upar se hi jeth ji ne mere choot ko masalne lage phir unhone muje uthaya aur bed pe litaya mere beti so rahi thi phir unhone apne sare kapade utare unka land  mere pati se bhi jyada lambha aur motha tha

Unhone apna land mere muh main dalane lage maine  na kaha muje acha nahi lagata phir woh mere upar let gaye aur mere boobs ko press karne lage aur unka land mere jang ko tuch ho raha unka land bahut garam tha aur bahut kadak bhi tha phi wo niche gaye panty ke uppase hi kiss karne lage phir unhone ek dum dhire se jeth ji ne meri panty utar di aur dono tange phelake mere choot ko aakhe phad ke dekhane lage aur bole nikita Teri choot bahur gori hai aur lal lal hai mai sharmane lagi phir unhone mere choot ko kiss karne lange aur maine aakhe band karke maza le rahi thi bich bich main woh apni ungli bhi andar bahar kar rahe the kum se kum kuch 15 to 20 minutes mere choot ko chat rahe the aur maine puri gili ho chuki thi phir woh mere upara aaye or mere lips par smootch karne lage aur bolne lage ke maza aa raha hai main sharmai aur kaha ha
Aa raha hai fhir bole aage badhe maine kaha ha jaldi karo jethe ji ab rukha nahi ja raha hai phir unhone mere dono tange phelayi aur apna land mere chhot pe rakha unka land bahut garam tha aur unhone ek dhaka mara aur maine apni chikh andar hi dabadi kyoke meri beti so rahi thi unka land pura andar chala gaya tha aur ab Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. woh jor jor se dhake marne lage main aakhe band karke sirf maza le rahi aur mere muh se sirf aaaa Haa aur jor se jeth ji phir unhone muje alag alga angle se choda kabhi apne uppar to kabhi dog short phire unhone mere dono tange mere sir ke yaha lake apna land mere choot main dala aur jaise pumping karte hai waise wo jor jor se chod rahe the minimum 45 minutes se jyada huye jeth ji ka stamina bahut tha maine to do bar apna pani choda tha lekin jethe ji jor jor se dhake mar rahe phir unhone apna garam pani

Mere choot mian choda unaka pani itna nikala ki meri puri choot bhra gayi main bahut khush thi aisi chudia ka maza mere pati se bhi nahi mila tha thodi der tak woh mere upar hi lete rahe aur maine bhi unko gale se laga rakha phir unhone mere kaan main kaha maza aaya na nikita maine kaha bahut maza aaya jeth ji yeh rat main kabhi nahi bhulugi phir wo uthe aure maine bhi uthi aur waisi hi puri nangi bathroom main chali gai mere choot se jeth ji ka pani nikal raha tha main fresh hui Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai. aur bahar aai to Jeth ji ne apne kapde pahne huye the main waisi hi nang unke samne kahde thi phir maine apni bra pahani aur apne panty dhudne lagi to unhone ka kya dhud rahi ho maine kaha meri panty kaha hai to panty unke hath main thi maine kaha do to  unhone kaha nahi ye mere pass rahegi maine kaha do na please to unhone di aur unhke samne hi maine apni panty pahne fhir nighty bhi pahani phir unhone muje gale lagaya aur ek kiss kar ke chale gaye aur bhi bed pe let gayi aur so gayi phir jab bhi mauka milata main aur jeth ji chudai karte.kaisi lagi hamari family sex ki story.. ascha lage to share karo .. agar kisine meri pyasi chut ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/NikitaSharma

माँ और बहन की एक साथ चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो माँ और बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी माँ और बहन की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे माँ को चोदा,कैसे माँ ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे माँ ने मुझसे चुदवाये , कैसे माँ को नंगा करके चोदा,बहन की चूचियों को चूसा ,कैसे बहन की चूत चाटी, कैसे बहन को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से बहन की चूत फाड़ी,  माँ की गांड मारी , और खड़े खड़े माँ को चोदा । कैसे मेरी बहन की कुंवारी चूत को ठोका । हम घर में चार लोग रहते है.. मेरे पापा, मम्मी, में और मेरी एक छोटी बहन और हमारे साथ मेरी बहन प्रिया भी रहती है। वो हमारे शहर में पढ़ने आई हुई है इसलिए वो हमारे ही साथ रहती है। मेरी बहन की उम्र 19 साल है.. वो बहुत सेक्सी है और उस पर कॉलोनी के सभी लड़के लाईन मारते है। उसका फिगर 32-26-35 है। मेरी माँ का नाम पूनम है और उसकी उम्र 39 साल है..

लेकिन वो चेहरे से ऐसी लगती है जैसे 28 तो 29 साल की एक लड़की हो। उनका फिगर शायद 35-28-37 होगा।दोस्तों यह बात उन दिनों की है जब मेरे पापा किसी काम से एक महीने के लिए जयपुर गये हुए थे और वो काम के सिलसिले में ज़्यादातर घर से बाहर ही रहते थे और इसी बात का फ़ायदा उठाकर में अपनी कज़िन प्रिया को चोदा करता था। मेरी कज़िन जब से आई है तब से ही हम रोज सेक्स करते है। मेरे पापा कुछ दिनों के लिए बाहर गए हुए थे तो मेरी मम्मी बहुत अकेला महसूस करती थी। इसलिए वो प्रिया और मेरी छोटी बहन के पास ही सोने लगी। जिससे में प्रिया के साथ सेक्स नहीं कर पा रहा था। फिर अगले दिन सुबह मैंने प्रिया से पूछा कि क्या करें? इतना अच्छा मौका है कि मेरे पापा घर पर नहीं है और यह मौका हमें भविष्य में फिर से कभी नहीं मिलेगा। तो प्रिया मज़ाक में बोली कि आपकी मम्मी और बहन को भी साथ में मिला लो.. अपने साथ सेक्स करने के लिए और फिर पूरी फेमिली एक साथ हो जाएगी और हम साथ में सेक्स करेंगे। बस उसी दिन से मैंने अपनी मम्मी को दूसरी नज़र से देखना शुरू कर दिया था।वो इतनी सेक्सी थी कि में उन्हें देखकर पागल हुआ जा रहा था। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उनका कलर एकदम दूध जैसे सफेद था। वो सलवार कमीज़ पहनती थी और वो हमेशा कमीज़ बहुत टाईट पहनती थी। उनके बदन से उनके चिपके हुए कपड़े शामत ढाते थे और में उनको चोदने के लिया तरसा जा रहा था।

फिर उसी दिन शाम को में अपनी कज़िन के पास गया और उसे मैंने अपने दिल का हाल बताया। उसने बड़ी शैतानी स्माईल दी और बोली कि अगर आपकी मम्मी हमारे साथ आ गयी तो कोई प्राब्लम भी नहीं होगी। हम दिन रात चुदाई करेंगे। तभी में बोला कि लेकिन कैसे बात करूं में? मम्मी तो बहुत सीधी साधी है?तभी प्रिया बोली कि टेंशन मत लो.. वो सब आप मुझ पर छोड़ दो। चाहे वो कितनी ही सीधी साधी हो.. हम उसे बिगाड़ देंगे.. आप बस आपकी मम्मी को थोड़े वैसे वाले इशारे देना शुरू कर दो और बाकी सब मुझ पर छोड़ दो। फिर में मम्मी को उस दिन के बाद बाथरूम के दरवाज़े के ऊपर से नहाते हुए देखता था जिससे मेरी जान ही निकल जाती थी और कई बार तो मेरी पेंट में ही सारा माल निकल जाता था। उसके बाद में मम्मी के साथ ज़्यादा रहने लगा.. उनके साथ घंटो शॉपिंग के लिये जाता था। वहाँ पर मैंने उनसे कहा कि आप क्या यह पुराने फैशन के कपड़े पहनती हो और फिर वहाँ पर मैंने मम्मी को बहुत छोटे छोटे कपड़े दिलवाए और जब वो ट्राई करके देखती तो मेरा 7 इंच का लंड पेंट फाड़कर बाहर आने जैसा हो जाता। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर बस अगले दिन प्रिया मम्मी के पास गयी और मुझसे बोली कि आप बाहर दरवाज़े पर छुपकर सुनो में अंदर क्या क्या गुल खिलाती हूँ। फिर में बाहर खड़ा होकर उनकी बातें सुनने लगा।तभी प्रिया अंदर जाकर मम्मी से बोली कि इतने अकेले अकेले क्या बैठे हो?
मम्मी : क्या करूं कोई काम भी तो नहीं है तेरे फूफा जी (मेरे पापा) तो नहीं हैं टाईम पास नहीं होता।
प्रिया : ज़रा दोस्तों के साथ बाहर घूमा करो.. सब टाईम पास हो जाएगा।
मम्मी : मेरे तो कोई दोस्त भी नहीं है यहाँ पर।
प्रिया : क्या आपका एक भी दोस्त नहीं है? कॉलेज के टाईम का भी कोई दोस्त नहीं है?
मम्मी : तब की बात और थी.. तब तो मैंने बहुत मज़े किये है।
प्रिया : कैसे वाले मज़े? ह्म्‍म्म्म बॉयफ्रेंड के साथ?
मम्मी : शरमाते हुए.. चल हट बड़ी गंदी हो गयी है तू।
आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
प्रिया : मुझसे क्या शरमाना.. आज से मुझे आपकी सहेली ही समझो और बताओ क्या बात है इतने उदास क्यों रहते हो?
मम्मी : कुछ नहीं है.. चल तू अपने कमरे में जा।
प्रिया : आपको एक फ्रेंड की ज़रूरत है.. अब मुझे अपना फ्रेंड मानो और सब सच सच बताओ।
मम्मी : चल ठीक है और वैसे भी बात करने से ही मान शांत होता है।
प्रिया : तो फिर बताओ क्या बात है?
मम्मी : कुछ नहीं बस बहुत अकेला महसूस करती हूँ और वो तो घर पर रहते नहीं है।
प्रिया : अच्छा तो.. हम आज से वही करेंगे जो आप उनके साथ करती थी।
मम्मी : लेकिन अब वो सब कैसे हो सकता है?
प्रिया : स्माइल करके बोली कि क्या मतलब?
मम्मी : चल अब ज़्यादा भोली ना बन
प्रिया : हँसते हुए समझ गयी लेकिन वो सब भी हो सकता है।
मम्मी : क्या?
प्रिया : चलो में मज़े करवाती हूँ।
तभी प्रिया मेरी मम्मी का हाथ पकड़ कर कंप्यूटर के पास ले गयी और वो पॉर्न साईट चला दी जिसमे सब कुछ साफ साफ दिखता है।
मम्मी : अपना हाथ आँखों पर रखते हुए क्या है यह बंद कर इसे अभी।
प्रिया : चलो छोड़ो ना यह सब भूल जाओ कि आप शादीशुदा हो और मज़े से देखो।

फिर प्रिया ने मेरी मम्मी के हाथ पकड़ कर हटा दिए और मम्मी बिल्कुल चुपचाप बैठकर देखने लगी वो अंदर ही अंदर गरम हो रही थी.. लेकिन बाहर दिखना नहीं चाह रही थी। फिर प्रिया ने मम्मी को दूसरी वेबसाइट खोलकर दिखाई तो मम्मी बोली कि हाए राम यह सब भी होता है। उसके बाद मम्मी और प्रिया और मेरी छोटी बहन सोने के लिये जाने लगी तो प्रिया ने मेरी छोटी बहन को मेरे कमरे में जाकर सोने को कहा में और मेरी बहन सो गई और मम्मी और बहन की रात भर चुदाई की बातें की। आधी रात के बाद जब मेरी बहन सो गयी तब में उठकर मम्मी और प्रिया जहाँ पर सोई थी वहाँ पर चला गया। प्रिया तो अभी जाग रही थी लेकिन मम्मी सो गयी थी। फिर प्रिया चुपके से बोली कि गांड गरम है लंड डाल दे। तभी मैंने जैसे तैसे हिम्मत जुटाई और में फिर मम्मी की साईड में जाकर लेट गया। मम्मी उल्टी होकर सोई हुई थी मैंने धीरे धीरे उसकी कमर के ऊपर हाथ रख दिया.. मम्मी ने पीछे से चैन वाली कमीज़ पहनी हुई थी। तभी मैंने धीरे धीरे उसकी चैन नीचे की और उसके बूब्स पर हाथ रख लिया। मुझे ऐसा लगा जैसे कि में जन्नत में हूँ और मेरा लंड बिल्कुल तन गया। इतने में प्रिया ने इशारा किया कि मम्मी अभी जागी हुई है मेरी हिम्मत और बड़ गयी क्योंकि वो जागी हुई है और कुछ नहीं बोल रही थी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने चैन बिल्कुल नीचे तक खोल दी.. मम्मी ने फिर करवट ली और सीधे लेट गयी वो मुझे जैसे बता रही हो कि कमीज़ पूरी उतार लो। मैंने कमीज़ को पूरा उतार दिया अब वो सिर्फ़ ब्रा और सलवार में थी।

तभी में धीरे से अपने होंठ मम्मी के होंठ के पास लाया और उसके होंठो के ऊपर अपने होंठ रख दिए और किस करने लगा। तभी थोड़ी देर बाद मम्मी की तरफ से जवाब आया और वो भी किस करने लगी। हमने 10 मिनट तक किस किया और फिर उसने रोक दिया और बोली कि यह ग़लत है.. में तुम्हारी माँ हूँ और तुम्हारी कज़िन बहन पास ही में लेटी हुई है। इतने में प्रिया खड़ी हुई और मुझे किस करने लगी मम्मी हैरान हो गयी और उसका मुहं खुला का खुला रह गया। फिर में बोला यह कज़िन नहीं है यह तो पिछले 6 महीने से मेरी बीवी है। मम्मी को में फिर से किस करने गया तो वो मंगलसूत्र पकड़ कर बोली कि में शादीशुदा हूँ। तभी मैंने मंगलसूत्र निकाला और प्रिया के गले में डाल दिया और बोला कि अब तुम कुछ नहीं हो बस में राजा और तुम मेरी रानियाँ और मम्मी को पकड़ कर किस करना चालू कर दिया मम्मी ने कुछ टाईम तो विरोध किया लेकिन फिर वो भी गरम हो गयी और वापस किस करने लगी।तभी इतने में बहन ने मम्मी की सलवार उतार दी और खुद भी बिल्कुल नंगी हो गयी और मेरा लंड चूसने लगी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। 15 मिनट यही चलता रहा.. फिर प्रिया ने मम्मी को कहा कि यह लो लंड को मुहं में लो लेकिन मम्मी मना करने लगी तो प्रिया ने मम्मी का मुहं पकड़ कर मेरे लंड पर रख दिया। मेरा लंड पागल सा हो गया ऐसा लगा जैसे आग के गोले में लंड दे दिया हो। इतने में प्रिया ने मम्मी की ब्रा और पेंटी भी निकाल दी मम्मी की चूत बिल्कुल शेव्ड थी।

तभी प्रिया बोली कि बुआ जी बड़े सीधे साधे बनते हो यह गार्डन किस के लिए साफ कर रखा है? लेकिन मम्मी कुछ नहीं बोली बस पागलों की तरह लंड चूसती रही। फिर मैंने मम्मी को लेटा दिया और बहन की चूत चाटने लगा और बहन मेरा लंड चूसने लगी। फिर मम्मी सिसकियाँ लेने लगी और तभी मैंने मम्मी को सीधा लेटाया और मेरे लंड का टोपा मम्मी की चूत पर रख दिया। मम्मी मना करने लगी.. लेकिन तभी प्रिया ने मम्मी के दोनों पैर खोल दिए और उसका मुहं बंद करने के लिये उन्हें किस करने लगी।तभी मैंने धीरे धीरे धक्के देकर अपना लंड मम्मी की चूत के अंदर सरका दिया था और मम्मी ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ ले रही थी और बोल रही थी कि डाल दे सारा अंदर.. चोद दे आज अपनी माँ को। तभी मैंने एक ही झटके से पूरा लंड चूत के अंदर डाल दिया और जोर जोर से झटके देने लगा और प्रिया को किस करने लगा। थोड़े टाईम बाद मम्मी झड़ने लगी.. तभी मैंने लंड को उसकी चूत से बाहर निकालकर प्रिया की चूत पर सेट किया और चूत में डालकर प्रिया को चोदना शुरू किया। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। करीब दस मिनट चुदाई करने के बाद फिर हम तीनो एक साथ झड़ गये और सो गये। उस दिन के बाद से आज तक में दोनों को एक साथ चोद रहा हूँ । कैसी लगी माँ और बहन की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी माँ और बहन की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/PoonamKumari

नयी किरायेदार भाभी के साथ सेक्स की कहानियां

हेलो दोस्तों, आज जो भाभी के साथ सेक्स की कहानियां बताने जा रहा हू वो हमारी नयी किरायेदार भाभी की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे किरायेदार भाभी को चोदा,कैसे भाभी ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे भाभी ने मुझसे चुदवाये , कैसे भाभी को नंगा करके चोदा,भाभी की चूचियों को चूसा ,कैसे भाभी की चूत चाटी, कैसे भाभी को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से भाभी की चूत फाड़ी,  भाभी की गांड मारी , और खड़े खड़े भाभी को चोदा । कैसे मेरी भाभी की चूत को ठोका । मेरे घर में पिछले 3 महीनो से एक नये किरायेदार रहने के लिए आए हुए है। उनकी फेमिली में 3 लोग है भाभी, भैया और उनकी एक छोटी लड़की और वो लोग मेरे घर के सबसे ऊपर वाले हिस्से में रहते है। जहाँ पर 3 रूम और एक किचन है और एक टॉयलेट बाथरूम अटेच है।

भाभी के पति सप्ताह में 5 दिन बाहर रहते है और रविवार को ही घर में पूरे दिन साथ में रहते थे।भाभी दिखने में अच्छी थी और उन्हें देखकर लगता था कि शादी को अभी केवल 3 या 4 साल हुए है। मेरा रूम भी छत पर ही था। भाभी रात तक काम करती थी और वो मेरे सामने कई बार दिखती थी.. क्योंकि किचन रूम के बाहर था और इतनी ज्यादा बार बार दिखने की वजह से मेरा भी मन उनको बार बार देखने को होता था और में छत पर कुछ सामान फेंकने के बहाने या फ़ोन पर बात करने के बहाने से उनके सामने बार बार जाता था।फिर में रात भर उनके बारे में सोचने लगा। उनके ख़याल से ही मेरा 7 इंच लंबा लंड खड़ा हो जाता था। तभी मैंने एक प्लान बनाया क्यों ना भाभी से बात की जाए और उनसे फ्रेंडशिप बड़ाई जाए और फिर में उनसे पानी माँगने के बहाने जाता था और मैंने उनसे बातें करना शुरू कर दिया। धीरे धीरे हमारी दोस्ती बढ़ने लगी और में उनसे बहुत बातें करने लगा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उनको कोई सामान माँगना होता था तो वो मुझसे कहती थी। वो मुझे धीरे धीरे बहुत अच्छी लगने लगी।तभी एक दिन मैंने उनको कहा कि भाभी हम फिल्म देखने चलें तो उन्होंने मना कर दिया और ये सुनकर मुझे उनके ऊपर बहुत गुस्सा आया.. लेकिन में क्या कर सकता था? फिर एक दिन में कंप्यूटर पर थोड़ी तेज़ आवाज़ में गाने सुन रहा था तो भाभी अपने रूम से निकल कर मेरे रूम में आई और उन्होंने मुझसे कहा कि क्या तुम्हारे पास कंप्यूटर है? और तुमने मुझे कभी बताया ही नहीं वो क्यों?

फिर मैंने उनसे बोला कि इसमे बताने वाली क्या बात है? तो उन्होंने कहा कि उन्होंने पिछले 6 महीनो से कोई नयी फिल्म नहीं देखी है और उन्होंने बोला कि एक अच्छी सी फिल्म की डीविडी लेकर आओ और हम साथ में फिल्म देखेंगे।तभी मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने उनसे पूछा कि क्या आपको हॉलीवुड फिल्म पसंद है? तभी उन्होंने कहा कि हाँ मैंने कहा कि इस कंप्यूटर में 100 से ज्यादा फिल्म है क्या आप देखेंगी? उन्होंने कहा कि हाँ लेकिन खाना खाने के बाद। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी मैंने कहा कि ठीक है और वो जल्दी से खाना बनाने चली गई और मैंने भी खाने के बाद अपने रूम का दरवाज़ा बंद कर दिया और लाइट बुझा दी यह देखकर में दंग रह गया और मुझे लगा कि भाभी नहीं आने वाली तो मैंने क्या किया कि अपने कपड़े उतारे और केवल अपनी अंडरवियर में ही सो गया रात को करीब 11.30 बजे मेरे रूम के दरवाज़े पर आवाज़ हुई मैंने झटके से दरवाज़ा खोला तो क्या देखा कि भाभी मेरे सामने खड़ी थी और में उनके सामने अंडरवियर में ही था और मैंने उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और फिर मैंने उनसे बोला कि मुझे लगा कि आप नहीं आओगी.. तो उन्होंने कहा कि चलो अंदर चल कर बातें करे। तभी यह सुनकर मेरा लंड एकदम से फनफनाने लगा.. खेर मैंने उनके सामने शर्ट पहनी और उनके सामने बैठ गया उन्होंने कहा कि में यह सोच रही थी कि बेबी सो जाए तब आराम से फिल्म का मज़ा लेंगे। भाभी ने उस समय सूट पहन रखा था और दुपट्टा नहीं डाला हुआ था और मेरी नजरे बार बार भाभी की चूची को देख रही थी

और तभी भाभी ने मुझे फिल्म चलाने को कहा और मैंने फिल्म चलाई। 45 मिनट देखने के बाद भाभी बोली कि क्या कोई हिन्दी फिल्म नहीं है तुम्हारे पास? तभी मैंने कहा कि एक है तो उन्होंने कहा कि चलाओ तो मैंने बोला कि ठीक है और मैंने मर्डर फिल्म लगा दी.. फिल्म चलने लगी भाभी सोफे पर लेट कर फिल्म देख रही थी और में अपने बिस्तर पर।फिर जब फिल्म चल रही थी तो में भाभी को बार बार देख रहा था और भाभी भी कभी कभी मुझे देखती तभी बहुत गरम सीन शुरू हुआ और भाभी मुझे देखती और मंद मंद मुस्कुराई और में भाभी को बार बार देखता और मुस्कुराता रहा। तभी मैंने उनसे कहा कि भाभी आप बिस्तर में आराम से लेट जाओ और में सोफे पर लेट जाता हूँ।आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी उन्होंने कहा कि ठीक है और में उठकर गया और फिर मेरा लंड मेरी शर्ट में टेंट बना हुआ था तो उसे भी भाभी ने देख लिया और लंड को देखकर अपनी गर्दन को हल्का सा घुमा लिया और मुहं उधर की तरफ घुमा कर हल्का सा मुस्कुराई। मुझे ये देखकर मज़ा आ गया। फिर में सोफे पर लेट गया और भाभी बिस्तर पर आराम से लेटी हुई थी मेरा लंड अब एकदम लंबी रोड बन चुका था.. मन तो कह रहा था कि अभी भाभी को लेटाकर पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में डाल दूँ लेकिन हिम्मत नहीं हो रही थी। तभी मैंने अपने लंड पर बार बार हाथ फैरना शुरू किया और में भाभी को भी देख रहा था और वो भी हल्का हल्का मुस्कुराती और जब उनसे मेरी नज़रें मिली तभी फिल्म ख़त्म हो गयी और फिर मैंने एक दूसरी हॉलीवुड फिल्म जो की हिन्दी में डब थी वो लगा दी।

फिल्म चलते चलते 2 बज चुके थे और भाभी को जब मैंने मुड़कर देखता तो वो किसी भी तरह से नहीं हिल रही थी। फिर मैंने उठकर उनको पास से देखा क्या ग़ज़ब लग रही थी.. मैंने मोबाइल की लाईट जला कर देखा तो वो सो चुकी थी। मेरे लंड का बुरा हाल हो चुका था और फिर मैंने हिम्मत की और उनके पास में लेट गया।करीब 20 मिनट लेटने के बाद मैंने धीरे से उनको टच किया.. लेकिन वो कुछ नहीं बोली और मैंने फिर से उनको कसकर टच किया और उनकी पीठ पर हाथ फैरे तो उन्होंने कोई विरोध नहीं किया और मैंने धीरे धीरे भाभी की चूत सहलाई। क्या बताऊँ दोस्तों दिल की धड़कन तेज़ी से बढ़ती जा रही थी और इतना मज़ा आ रहा था कि क्या बताऊँ और अब डर पूरी तरह से ख़त्म हो चुका था। मैंने भाभी की सूट के अंदर हाथ डालकर चूचियों को दबाना शुरू किया और उनके निप्पल को रगड़ना शुरू किया। लेकिन ये सब ठीक से नहीं हो पा रहा था। बार बार ब्रा बीच में फंस रही थी। फिर मैंने भाभी का सूट उतारा और जब सूट पीठ तक आया तो ऊपर नहीं हो पा रहा था। तभी मैंने भाभी को हल्का सा ऊपर उठाया और में क्या बताऊँ दोस्तों.. में उनके ऊपर कूद पड़ा और उनको पागलो की तरह किस करने लगा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी भाभी उठी और उन्होंने अपनी सलवार को भी उतार दिया। मैंने उनकी चूचियों को मुहं में लिया और ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा। मुझे इतना मज़ा कभी नहीं आया था और मैंने उनको बहुत देर तक चूसा, चाटा और दबाया। तभी मैंने अपनी शर्ट और अपना अंडरवियर को उतार दिया और मेरा लंड बार बार भाभी की नाभि पर और उनके पेट पर लग रहा था।

मैंने एक हाथ से भाभी की पेंटी को उतारा और भाभी की चूत को सहलाने लगा.. भाभी की चूत पर बहुत छोटे छोटे बाल थे। लगता था कि जैसे 5 दिन पहले उन्होंने अपनी झांटे साफ की थी और फिर मैंने अपनी बीच की ऊँगली को उनकी चूत में डाल दिया। उनकी चूत से पानी निकल रहा था और में उनकी चूचियों को लगातार चूस रहा था। अब भाभी ने कहा कि बस अब मुझसे रहा नहीं जाता.. प्लीज डालो ना इसे मेरी चूत में। बहुत दिनों से यह लंड की प्यासी है प्लीज। तभी मुझे और भी जोश आ गया और में भाभी की दोनों पैरो को फैलाकर चूत के सामने बैठ गया और मैंने लंड को चूत पर सेट किया और जोश में आकर एक जोर का धक्का मारा और तभी मेरा पूरा का पूरा लंड भाभी की गीली चूत में एक बार में ही चला गया और फिर उनके चहरे से साफ पता लग रहा था कि उनको कितना दर्द हुआ है।थोड़ी देर बाद वो सिसकियाँ लेने लगी और में धीरे धीरे लंड को चूत में आगे पीछे करने लगा और चुदाई में व्यस्त हो गया। फिर करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद में भाभी की चूत में झड़ गया और पूरा का पूरा वीर्य चूत में डाल दिया और उनके ऊपर ही पड़ा रहा और उनकी चुचियों को चूसने लगा और वो मस्त होकर चुदाई के मजा लेने लगी और फिर कुछ देर बाद में उठा और लंड को चूत से बाहर निकाला पूरी बेडशीट वीर्य से गीली हो चुकी थी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर हमने उठकर कपड़े पहने और भाभी अपने रूम पर चली गई.. कैसी लगी किरायेदार भाभी की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी भाभी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/Shobha bhabhi

सेक्स की भूखी विधवा भाभी की चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो विधवा की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी विधवा भाभी की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे विधवा भाभी को चोदा,कैसे विधवा भाभी ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे विधवा भाभी ने मुझसे चुदवाये , कैसे विधवा भाभी को नंगा करके चोदा,विधवा भाभी की चूचियों को चूसा ,कैसे विधवा भाभी की चूत चाटी, कैसे विधवा भाभी को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से विधवा भाभी की चूत फाड़ी,  विधवा भाभी की गांड मारी , और खड़े खड़े विधवा भाभी को चोदा । कैसे मेरी विधवा भाभी की चूत को ठोका । ये कहानी मेरे और मेरी विधवा भाभी के बीच हुई एक घटना है। यह बात आज से करीब 5 साल पहले की है और वो अक्टूबर का महीना था। मेरी छोटी कज़िन सिस्टर की शादी थी और वहाँ पर सभी रिश्तेदार आए हुए थे और कुछ रिश्तेदार हमारे घर में रुके थे। तो कुछ कज़िन सिस्टर के घर पर और घर में खुशी का माहोल था और शादी का कार्यक्रम चल रहा था।

विधवा भाभी की चुदाई
 सेक्स की भूखी विधवा भाभी की चुदाई
पहले में मेरी विधवा भाभी के बारे में आप सभी को बता देता हूँ.. उनकी उम्र 28 साल की है उनकी शादी के 2 साल बाद ही भैया का स्वर्गवास हो गया था। भाभी बहुत सेक्स है और उनकी लम्बाई 5 फीट 3 इंच की है वो गोरे और सुडोल शरीर की मालकिन है उनके फिगर का साईंज 36-24-36 है और देखने में वो बहुत सेक्सी है भाभी की सुडोल बूब्स देखकर मेरा लंड अक्सर खड़ा हो जाता है। फिर शादी खत्म होने पर ज्यादातर रिश्तेदार वापस चले गए लेकिन फिर भी बहुत सारे अभी बाकी थे जिसकी वजह से घर में भीड़ थी। रात को सभी लोग घर में नीचे जमीन पर सो गये। मेरी भाभी और दो तीन लेडीस और कुछ बच्चे ऊपर वाले मेरे कमरे में सो रहे थे। जब में सोने के लिए अपने कमरे में पहुंचा तो देखा कि एक कोने में थोड़ी जगह है और में वहीं पर जाकर सो गया। तभी कुछ देर बाद मैंने देखा कि मेरे पास में मेरी विधवा भाभी सो रही थी। मेरी नियत भाभी की मस्त बूब्स को देखकर खराब हो गई। उनके बूब्स उनकी सांसो के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे और मेरे दिल पर तलवार चल रही थी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने उनको चोदने का मन बना लिया। तभी कमरे में अंधेरा था और इस बात का फ़ायदा उठाते हुए में धीरे धीरे से उनकी रज़ाई में घुस गया और भाभी मेरी तरफ पीठ करके गहरी नींद में सो रही थी और मैंने महसूस किया कि उनकी साड़ी और पेटीकोट उनके घुटनो तक चड़ा हुआ था। तभी मैंने उनके पैर को छुआ.. क्या बताऊ दोस्तों मलाई जैसे मुलायम और कोमल स्किन को छूकर मेरे रोम रोम में करंट दौड़ गया।

भाभी की गरम रज़ाई में भाभी के साथ होने का अलग ही आनंद था और मेरा लंड खड़ा हो चुका था। तभी मैंने धीरे से अपना एक हाथ भाभी की चूची पर रख दिया और हल्के हाथ से सहलाने लगा.. लेकिन भाभी का कोई विरोध ना देखकर मेरी हिम्मत और बड़ गई और फिर मैंने भाभी के ब्लाउज के हुक एक एक कर खोलने शुरू किए और अंदर भाभी ने गुलाबी कलर की आधी बाहों वाली ब्रा पहन रखी थी जिसमे से उनकी चूची आधे से ज्यादा बाहर थी और में भाभी की आधे नंगे बूब्स को देखकर पागल हो गया और मेरा लंड लोहे की रोड की तरह सख्त हो गया था। अब में धीरे धीरे उनकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर की तरफ सरकाने लगा और आख़िर में उनकी साड़ी को उनकी कमर तक उठाने में सफल रहा। अब मुझे उनकी मस्त 36 इंच की गदराई हुई गोल गांड के दर्शन हुए जिसे देखकर मेरे लंड फनफनाने लगा। तभी मैंने उनकी मस्त गांड पर हाथ फैरा। भाभी की बहुत ही मुलायम गांड थी। फिर मैंने अपनी पेंट अंडरवियर को धीरे से उतार कर अपने 8 इंच लंबे लंड को आज़ाद किया और धीरे से भाभी की मस्त गांड की दरार से लंड को टच किया। टच करते ही मुझे जन्नत का मज़ा आने लगा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैंने धीरे से भाभी के बूब्स को ब्रा से आज़ाद करने के लिये ब्रा के हुक को खोला लेकिन इस बार भाभी कुछ थोड़ा हिली तो में डर गया और ऐसे ही कुछ देर रुका रहा। फिर जब मुझे लगा कि भाभी फिर से सो गई है तो मैंने फिर से अपना लंड उनकी मस्त गांड में टच किया और उनकी चूची को सहलाना शुरू किया और अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।

फिर मैंने चूची पर दबाब बढ़ा दिया और थोड़ा ज़ोर से दबाने लगा और लंड को भी गांड में हल्का हल्का रगड़ने लगा। शायद भाभी जाग रही थी और वो भी मज़ा ले रही थी। तभी भाभी ने हल्की सी अंगड़ाई ली और एक पैर आगे की तरफ करके फिर से सो गई। अब मुझे उनकी चूत भी साफ साफ देखाई दे रही थी और मैंने उनका इशारा समझा और अपनी उंगली भाभी की चूत की तरफ बढ़ा दी। उनकी बहुत छोटी छोटी झांटे थी। फिर मैंने भाभी की चूत के मुलायम होठों को सहलाया और भाभी की चूत को उगलियों के बीच में लेकर मसलने लगा। अब भाभी की चूत गीली हो चुकी थी और वो नींद के बहाने मज़ा ले रही थी। भाभी ने फिर करवट ली और सीधी लेट गई। अब मुझे उन्हें सहलाने में आसानी हुई और मैंने उनकी चूची को मुहं में लेकर चूसना शुरू किया और दूसरी चूची को मसलना। फिर में जन्नत में था और एक हाथ से में उनकी चूत को भी सहला रहा था उनकी चूत मस्त गीली हो चुकी थी। मैंने अपनी एक उंगली चूत पर रगड़नी शुरू की तो भाभी ने धीरे से टाँगे थोड़ी और खोल ली। मैंने भाभी की चूची को चूसते हुए उंगली चूत में डाल दी। उनकी चूत टाईट थी क्योंकि बहुत दिनों से चुदी नहीं थी और उंगली अंदर जाते ही वो सिसकियाँ लेने लगी और वो मजे करने लगी और अब में उन्हें ऊँगली से चोद रहा था। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। भाभी को भी मज़ा आ रहा था.. अब वो भी सातवें आसमान पर थी। तभी भाभी मेरा लंड पकड़ कर सहलाने लगी में 69 की पोज़िशन में आ गया और भाभी की चूत को चाटने लगा और जीभ से उनकी गीली चूत को चोदने लगा और वो अह्ह्ह्ह अया ऊवूफ्फ की आवाज़ निकालने लगी और कहने लगी कि और प्लीज ज़ोर से चाटो बहुत मज़ा आ रहा है।

फिर भाभी ने मेरे लंड को चूसने लगी और फिर जोश में आकर और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी कुछ ही देर बाद में उनके मुहं में झड़ गया और वो मेरा सारा वीर्य पी गई.. लेकिन उन्होंने लंड चूसना जारी रखा.. में अब भी उनकी चूत चाट रहा था और दो उँगलियों से चोद रहा था। तभी मेरा लंड उनके जोर जोर से चूसने से फिर से तैयार हो गया और फिर उन्होंने अपनी टाँगे मेरे सर पर कस दी और उनकी चूत से ढेर सारा पानी निकला जिसे में चाट गया। तभी भाभी ने कहा कि अब मत तड़पाओ फाड़ डालो मेरी चूत। तभी में उनकी टॅंगो के बीच में बैठ गया और मैंने अपने लंड का सुपाड़ा उनकी भूखी चूत पर रखा और एक जोरदार झटका लगाया और मेरा पूरा लंड भाभी की चूत में घुस गया और वो सिसकियाँ लेने लगी। उन्हें बहुत दर्द हो रहा था मैंने उनको लिप किस करना शुरू किया और धीरे धीरे से लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया और वो भी लिप किस का मज़ा ले रही थी। फिर में भाभी को चोद रहा था और उनके मुहं से उउउहह आआअहह और तेज़ करो फाड़ डालो मेरी चूत को। में बहुत दिनों से प्यासी हूँ आज बुझा दो मेरी प्यास.. की आवाजें आने लगी। फिर मैंने स्पीड बड़ा दी और वो भी अपने चूतड़ उठा कर मेरा साथ देने लगी और चुदाई का मजा लेने लगी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर करीब 25 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों ही एक साथ झड़ गये और बहुत देर तक एक दूसरे से चिपके रहे और अब जब भी हमे मौका मिलता है हम चुदाई का खेल खेलते है और हर कभी अपनी चुदाई की प्यास बुझा लेते है। उस रात के बाद मैंने भाभी को कई बार चोदा और बहुत मजे किए । कैसी लगी विधवा भाभी की चुदाई की स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी विधवा भाभी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/SuhanaBhabhi

ट्रेन में एक खूबसूरत लड़की की जम कर चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो ट्रेन में चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो एक सेक्सी लड़की की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे एक सेक्सी लड़की को चोदा ट्रेन में ,कैसे सेक्सी लड़की ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे सेक्सी लड़की ने मुझसे चुदवाये , कैसे ट्रेन में एक लड़की को नंगा करके चोदा, ट्रेन में एक लड़की की चूचियों को चूसा ,कैसे ट्रेन में एक लड़की की चूत चाटी, कैसे घोड़ी बना के चोदा ट्रेन में, कैसे 8 इंच का लण्ड से एक लड़की की चूत फाड़ी,  एक लड़की की गांड मारी ट्रेन में, और खड़े खड़े एक लड़की को चोदा । कैसे एक लड़की की कुंवारी चूत को ठोका । ये बात तब की है जब मैंने अपनी इंजिनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी और मुझे एक नौकरी के लिए बेंगलोर से इंटरव्यू का कॉल आया था। तभी मैंने तत्काल में टिकिट लिया और में वहाँ पर जाने की तैयारी करने लगा। में उस समय जयपुर में था और जयपुर से बेंगलोर पहुंचने में लगभग 40 घंटे लगते है। फिर अगले दिन शाम 7:40 की मेरी ट्रेन थी और में समय पर स्टेशन पहुंच गया और क्योंकि ट्रेन वहीं से शुरू होती है तो में आराम से ट्रेन में जाकर बैठ गया। मेरी सीट साईड में नीचे की थी और फिर मेरे बैठने के थोड़ी देर में ट्रेन चल पड़ी.. मैंने भी अपना समान ठीक से रख लिया और बैठ गया।

फिर इतने में ट्रेन जयपुर के ही एक लोकल स्टेशन पर रुकी जिसका नाम दुर्गापुरा था। वहाँ से एक लड़की चड़ी और मेरी नज़रे तो वहीं पर रुक गयी और वो एकदम हॉट, सेक्सी उसके बाल खुले हुए थे और दिखने में 22-23 साल की लग रही थी और उसने सफेद कलर का कुर्ता और भूरे कलर का लोवर पहना था। उसकी हाईट कुछ मेरे बराबर ही होगी। उसके बाल उसके चहरे पर आ रहे थे और वो अपना बेग उठाए मेरी तरफ आ रही थी। तभी मैंने अपना हाथ थोड़ा साईड में कर लिया और सोचने लगा कि काश ये लड़की मेरी ही सीट पर आए और हुआ भी वही और वो मेरे पास वाली सीट पर आई और उसने अपना समान रख दिया और बैठ गयी और हेडफोन लगा कर गाने सुनने लगी। तभी मेरा लंड तो सातवें आसमान पर था.. लेकिन उसके फिगर का साईज़ तो में ठीक से नहीं बता सकता हूँ.. लेकिन उसके गोल गोल बड़े बड़े बूब्स जिसकी वजह से कुर्ता बहुत उठा हुआ सा थाज उसकी टांगे तो ऐसी थी मानो हाथ लगाया तो फिसल जाएगा। फिर में उसे घूर रहा था कि इतने में उसने मेरी तरफ देखा और मैंने नज़रे झुका ली। फिर मैंने सोचा कि बात करने की कोशिश करते है क्या पता लॉटरी लग जाए। तभी मैंने उससे पूछा कि आप कहाँ पर जावोगी? तो उसने कहा कि में बेंगलोर जा रही हूँ। ये सुनते ही मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे.. फिर हमने बात करना शुरू की और मुझे पता लगा कि उसका नाम यामिनी है और वो भी वहीं पर एक इंटरव्यू देने जा रही है जहाँ पर में जा रहा हूँ। फिर ठंड का मौसम था और रात की 9:00 बज चुकी थी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

मेरी और उसकी बात बीच बीच में शुरू हो जाती.. फिर उसने एक कंबल निकाला और अपने पैरों पर डालकर बैठ गयी और नोवल पड़ने लगी। फिर में ये सोच चुका था कि चाहे कुछ भी हो इसको तो चोदना है और वैसे भी उसे भी मुझ में रूचि थी.. क्योंकि वो बार बार मुझे नज़रे उठा उठाकर देख रही थी और मैंने भी अपना कंबल निकाला और उसकी तरह बैठ गया और उसके कंबल में पैर डालने की कोशिश करने लगा क्योंकि हम आमने सामने बैठे थे। अपने कंबल की आड़ में मैंने अपना पैर उसके कंबल में डाल दिया ताकि किसी को कुछ पता ना लगे और जैसे ही मेरा पैर उसके पैर से छुआ तो उसने एकदम से मेरी तरफ देखा और दो सेकण्ड देखने के बाद वो फिर से नोवल पड़ने लगी.. ये मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था। तभी मैंने अपना पैर उसके पैर से फिर छुआ और उसने भी अपने पैर मेरे पैर की तरफ बड़ा दिया।फिर में अपने दोनों पैरो से उसके पैरों को रगड़ने लगा.. लेकिन उसके लोवर की वजह से ऊपर नहीं जा रहा था और फिर थोड़ी देर तक ये सब चलता रहा और वो अपने नोवल की तरफ देखकर मुस्कुराती रही। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर अचानक वो उठने लगी मैंने अपना पैर अपने कंबल में ले लिया वो उठी और उसने अपना बेग निकाला और उसमे से कुछ लेकर टॉयलेट की तरफ चली गयी। फिर पांच मिनट बाद जब वो आई तो मुझसे मुस्कुराए बिना रहा नहीं गया। उसने अपने लोवर की जगह नीचे तक की एक स्कर्ट पहन ली थी.. मेडम उस दिन फुल मूड में थी। मुझे लगा कि आज रात कुछ तो होगा..

लेकिन मेरे पास कंडोम नहीं था तो मैंने फोन निकाला और अपने फ्रेंड को फोन किया जो कि कोटा में रहता था और गाड़ी 11.00 बजे कोटा पहुंचने वाली थी। मैंने उसे कंडोम लाने को कहा और उसने कहा कि वो टाईम पर पहुँच जाएगा। सामान लेकर उसके बाद हम वापस वैसे ही बैठ गये।अब कुछ लोग सो चुके थे तो थोड़ा रिस्क काम था.. इसलिए मैंने इस बार बड़े आराम से उसके कंबल में अपना पैर डाल लिया और फिर से उसके पैरो को मसाज करने लगा। फिर में उसी सीट पर लेट गया जिससे मेरे पैर आगे तक पहुंच सके और फिर मैंने उसकी जांघो को सहलाना शुरू किया। क्या बताऊँ क्या जांघे थी उसकी.. बिल्कुल मक्खन। मेरा पैर तो बार बार फिसल रहा था। फिर मैंने अपना पैर उसके दोनों पैरों के बीच में फंसा दिया और उसने एकदम ज़ोर की साँस ली.. शायद मुझे लग रहा था कि उसने पेंटी भी नहीं पहनी थी तभी मेरा पैर उसकी नंगी चूत पर था जिस पर हल्के हल्के बाल थे। जिसका मुझे सिर्फ़ अहसास हो रहा था.. मुझे तो बिल्कुल भी यकीन नहीं हो रहा था कि में उसकी चूत को अपने पैर से सहलाने लगा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। अब वो पागल होने लगी थी। उसने अपने हाथ से अपनी नोवल का पेज पूरा हाथ में लेकर फाड़ दिया शायद वो बहुत गरम हो चुकी थी और मैंने भी कोई कसर नहीं छोड़ी और अपने पैर का अंगूठा उसकी चूत में डालने की कोशिश करता रहा। तभी इतने में कोटा का स्टेशन आ गया। हम दोनों ने अपने आपको वहीं पर छोड़ दिया और में अपने फ्रेंड से मिलने नीचे उतर गया..

उसने मुझे कंडोम का एक पॅकेट और एक कोल्डड्रिंक की बॉटल दी और उसने कहा कि मैंने कोल्डड्रिंक में वोडका मिला दी है तू मस्त मजे करते हुए जा ट्रेन चलने वाली थी.. इसलिए मैंने उसे थेंक्स कहा और अपनी सीट पर आकर बैठ गया।जब में अपनी सीट पर पहुंचा तो यामिनी ऊपर अपनी सीट पर जा चुकी थी। फिर में सोचने लगा कि अब क्या होगा? तभी उसने मुझसे कहा कि आप प्लीज़ पर्दा लगा देंगे में समझ गया कि ये लोगो को दिखाने के लिए ऊपर चड़ी है और अब ट्रेन चल चुकी थी और लगभग सभी लोग सो भी चुके थे। मैंने भी अपनी साइड सिट के पर्दे लगाए और अपनी सीट पर बैठ गया और सभी लोगो ने अपनी अपनी सीट्स के पर्दे लगा लिए थे.. इसलिए रिस्क बहुत कम था। फिर 2-3 मिनट बाद वो फिर से नीचे आकर बैठ गयी और उसके आते ही मैंने उसे किस कर लिया।तभी वो बोली कि आराम से अभी बहुत टाईम है डियर। फिर मैंने उसे कोल्डड्रिंक ऑफर की तो उसने मना कर दिया.. फिर मैंने उसे जब बताया कि इसमे वोडका है उसने झट से बॉटल ले ली और 1/3 खाली करके मुझे दे दी। हम बहुत धीरे बातें कर रहे थे ताकि कोई सुन ना ले। फिर मैंने उस बॉटल को पूरा खत्म किया और उसे फिर से अपनी बाहों में ले लिया और दो मिनट बाद हम दोनों किस करने लगे लेकिन मेरा तो छोड़ो वो मेरे होंठो ऐसे चूस रही थी जैसे कोई लंड को भी नहीं चूसता। हमारा किस 5-6 मिनट तक चलता रहा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर में उसके बूब्स उसके कुर्ते के ऊपर से ही दबाने लगा। क्या बूब्स थे उसके जैसे वो मेरे हाथों के लिए ही बने हो..

ना ज़्यादा सॉफ्ट ना ज़्यादा टाईट.. बिल्कुल अच्छे गोल गोल बूब्स थे। तभी मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसका कुर्ता उतार दिया उसने काले कलर की ब्रा पहनी थी मैंने उसकी ब्रा को भी उतार दिया और उसे वहीं पर लेटा दिया और खुद साईड में उसके ऊपर लेट गया।हम दोनों नशे की वजह से भूल चुके थे कि हम ट्रेन में हैं। में उसके बूब्स को चूसने लगा.. उसके निप्पल उसके बूब्स पर बहुत अच्छे लग रहे थे। मैंने उसके निप्पल को मुहं में लिया और उसे भी चूसने लगा और अपने दूसरे हाथ से उसके दूसरे बूब्स को दबाने लगा यामिनी लंबी लंबी साँसे ले रही थी और कभी मेरे बालों को खींच रही थी और कभी मेरे सर को अपने बूब्स की तरफ दबा रही थी। तभी में भी पूरे जोश के साथ उसके बूब्स को चूस रहा था। ऐसा मज़ा पहले कभी किसी के बूब्स चूसने में नहीं आया जो आज आ रहा था। में अपने दांतों से उसके निप्पल को काट रहा था और दूसरे हाथ से उसके दूसरे निप्पल को अपनी उंगलियों में मसल रहा था। वो तेज तेज आवाज़ निकालने लगी आहह आअहह अह्ह्हहरे यार प्लीज़ धीरे करो.. प्लीज़ चूसो बस आाह्ह्ह्हह और कर प्लीज़। तभी मैंने एकदम उसके मुहं पर हाथ रख दिया। थोड़ी देर तक यही चलता रहा फिर वो मेरी टी-शर्ट को ऊपर करने लगी में समझ गया कि उसे क्या चाहिए और मैंने अपनी टी-शर्ट उतार दी और मैंने हम दोनों के ऊपर कंबल डाल लिया फिर वो मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगी और फिर मेरी छाती को चाटने लगी। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। में तो पागल हो रहा था इतने में वो मेरे लोवर में हाथ डालने लगी और उसने उसे बिना उतारे हुए मेरे लंड को बाहर निकल लिया।

फिर वो दो मिनट तक तो बस लंड को ही देखती रही और फिर धीरे धीरे करके उसे अपने मुहं में डालने लगी और थोड़ी देर में वो उसे आईस्क्रीम की तरह चूसने लगी.. मुझे लगा था कि इसे लंड ज़बरदस्ती चुसवाना पड़ेगा.. लेकिन वो तो बहुत तेज थी। मेरा लंड उसके मुहं में पूरा नहीं जा रहा था.. लेकिन वो लंड को पूरा पूरा लेने की पूरी कोशिश कर रही थी। फिर उसने बहुत देर तक मेरा लंड चूसा और जब में झड़ने वाला था तो उसने अपने मुहं में ही झड़ने को कहा.. प्यास में वो सब पी गयी जैसे जन्मो की प्यासी हो और उसके बाद मेरे बॉल्स को मुहं में लेकर चाटने लगी वो अपनी पूरी जीभ मेरी बॉल्स पर बड़े प्यार से फैरने लगी और उन्हें किस भी करने लगी।में तो जैसे जन्नत में था और में जानता था कि इतना मज़ा मुझे फिर लाईफ में कभी नहीं मिलेगा.. इसलिए मैंने उस हर पल को एंजाय किया। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उसने करीब आधे घंटे तक मेरे बॉल्स को चाटा और उसके बाद मैंने उसे लेटाया और उसके बचे हुए सारे कपड़े उतार दिए और साथ साथ अपने भी उतार दिए। वो तो जैसे हर चीज़ के लिए पहले से ही तैयार थी। अब वो सिर्फ़ पेंटी में थी और फिर धीरे से मैंने उसे भी उतार दिया.. क्या चूत थी उसकी? हल्के हल्के बाल थे उस पर.. ऐसा लग रहा था कि अभी कुछ दिन पहले ही साफ किए हो। तभी मैंने उसके लंड चूसने के तरीके से पता लगा लिया था कि ये तो पहले से ही कई लोगो से चुदी होगी.. लेकिन चूत देखने के बाद पता लगा कि में बिल्कुल गलत था और जब मैंने उससे पूछा तो उसने बताया कि वो वर्जिन है।

में बहुत उत्तेजित था की आज तो मुझे सील तोड़ने को मिलेगी और सबसे पहले में उसकी चूत से खेलने लगा। मैंने अपनी एक उंगली खूबसूरत लड़की की चूत में ज़रा सी डालने की कोशिश की तो वो एकदम चीखने लगी तो मैंने उसके मुहं पर हाथ रख दिया। फिर में धीरे धीरे उसकी चूत को अपनी उंगली से खोलने लगा और फिर मैंने खूबसूरत लड़की की चूत को चाटना शुरू किया। में अपनी जीभ चूत में डालने लगा और उसकी चूत को चूसने लगा। वो तो मुझे नोचने लगी और कहने लगी कि खा जाओ इसे.. पूरा खा जाओ छोड़ो मत साली बहुत परेशान करती है चूसो और ज़ोर से चूसो। में भी पूरे जोश में आ गया और ज़ोर से चूसने और उसकी चूत को काटने लगा। फिर थोड़ी देर बाद वो झड़ गई और में भी उसके पेट पर सर रखकर लेट गया और उसके फिर से गरम होने का इंतजार करने लगा।फिर 10 मिनट तक हम वैसे ही लेटे रहे और फिर में उठा और उसे किस करने लगा। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। वो भी मुझे किस करने लगी फिर मैंने उसे कहा कि अब में तुम्हे चोदुंगा.. तुम्हे थोड़ा दर्द होगा लेकिन तुम चिल्लाना मत चाहे कुछ भी हो जाए.. तो उसने कहा कि आज तो चाहे जो भी हो जाए लेकिन में चुद कर ज़रूर रहूंगी। फिर मैंने उसे सीधा किया और और उसके पैरों को फैला कर अपने कंधो पर रख दिया.. मेरा लंड बिल्कुल सीधा खड़ा था और चूत में घुसने के लिए तड़प रहा था।तभी मैंने कंडोम निकाला और उसे अपने लंड पर लगाने लगा.. इतने में यामिनी ने मुझे रोक लिया और कहा कि मैंने सुना है कंडोम से इतना मज़ा नहीं आता।

तुम प्लीज़ बिना कंडोम लगाए ही चुदाई करो और उसने कहा कि उसने पहले कभी भी सेक्स नहीं किया और बात रही बच्चा होने की तो वो टेबलेट खा लेगी। फिर में मान गया और कंडोम को हटा दिया.. फिर मैंने अपने लंड पर थोड़ा तेल लगाया जो मेरे बेग में ही था और थोड़ा उसकी चूत पर भी लगाया.. फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धक्का मारने की कोशिश बार बार करने लगा.. लेकिन लंड हर बार थोड़ा सा जाकर फिसल कर बाहर आ जाता था। उसने अपनी आँखें बंद की हुई थी और हल्की हल्की आवाज़े आ रही थी। मैंने फिर से ट्राई किया.. इस बार मैंने लंड अपने हाथ से उसकी चूत पर लगाया और लंड को पकड़े रहा और एकदम बिना कोई इशारा दिए एक ज़ोर का झटका मार दिया और उसके मुहं पर अपना हाथ लगा दिया वो बहुत ज़ोर से चीखी.. चीख इतनी तेज थी कि उसे मेरा हाथ भी नहीं दबा पाया।तभी मेरा आधे से ज़्यादा लंड अंदर जा चुका था। मैंने ज़्यादा देर ना करते हुए दूसरा धक्का मारा और अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया। वो मुझसे छूटने की कोशिश कर रही थी। फिर मैंने उसे थोड़ी देर उसी पोज़िशन में रखते हुए उसे किस किया और 5-10 मिनट बाद वो थोड़ी ठीक होना शुरू हुई। आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने भी फिर धीरे धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया। अब तो वो भी अपनी कमर उठा उठाकर लंड लेने लगी और मुझे अपनी और खींचकर मेरे चेहरे गले और होंठो पर किस करने लगी। वो इस तरह से उछल रही थी कि जिस तरह से कंगारू भागा करते है।

फिर उसने मुझे नीचे लेटा दिया और खुद मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को अपनी चूत में डाल कर घुड़सवारी करने लगी और चुदाई के पूरे मजे लेने लगी। फिर थोड़ी देर तक ये सब चलता रहा और फिर में उसकी चूत में ही झड़ गया। हम करीब 40 मिनट वैसे ही पड़े रहे और वो मेरे ऊपर थी और उसका एक बूब्स मेरे होंठो के ऊपर था।फिर हम दोनों उठे और हमने अपने अपने कपड़े पहने और फिर उसने मुझे एक जोरदार किस किया और थेंक्स बोला और फिर हम दोनों सो अपनी अपनी जगह पर जाकर सो गये ।आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कैसी लगी ट्रेन में चुदाई की स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई खूबसूरत लड़की की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/SunayenaKumari

Chacha se meri chudai ki dastan

 Hi friends.. aaj jo chudai ki story batane jaa rahi hu wo meri chacha ke sath chudai ki hai.. aaj main bataunga kaise maine chacha se chudi, kaise chacha ne meri choochiyan ko chusa, nanga karke meri choot ko chata,kaise chacha ne kuttiya bana kar meri gand mara,kaise chacha ne mujhe ghodi bana kar choda, kaise chacha ka lund se chut ki khujli mitwayi, kaise chacha ji se choot ki pyas mitwayi. Main Akhi Sharma,
Sab se pehle main kuch kahna chahti hun. Bhale hi apne samaj me chacha se chudai ko thik nahi maana jaata par ye sach hai bahut se gharon me aise hi nazdeek ke rishtedaaron ke beech chudai hoti hai. Maine likh kar kabool kiya hai aur dusre log chhup chhup kar chudai karten hain aur samaj me shareef ban kar rahten hai. Ye ek sachhai hai jise aap bhi jaante honge. Mere chacha ne mujhko choda, par is ke peeche jo achhi baat hai wo mujhe bhi baad me pata chali. Main us samay bahut chhoti thi aur chudai ke baare main itna jaan gai thi ki main kisi se bhi chudne ko tayyar thi.

Us samay shayad koi bhi mujhe chod sakta tha ya main kisi se bhi chudwa sakti thi. Par mere chacha ne sahi samay par ek bold step le kar mujhe galat haaton me jaane se bacha liya. Unhone mujhe jab bhi choda, bade pyar se choda aur meri izzat ko bahar kisi aire gaire ke haath se lutne se bachaya.Ab thoda readers ke baare me. Bahut se male readers shayad ye samajhte hai ki jab maine apne chacha se chudwaya hai to wo sab bhi mujhe chod sakten hai. Unki mail se aisa lagta hai ki mujhe chodna unka haq hai. Yahan main clear kardun ki main sirf apni chudai ki dastaan likh rahi hun aur main apni sex life se khus hun. Kisi ka koi chance nahi hai meri chudai karne ka.Khair........ aap ka jyada samay na lekar main suru karti hun aage ki dastaan. Wahin se suru karti hun jahan se last part me khatam kiya tha. Padhiye aur maza lijiye....... Aur Main Chud Gai.....
Chacha mere upar lete huye the mujh ko khusi me kas kar pakde huye. Main bahut khus thi ki mujhe jindgi main pehli baar kisi mard se chudai karwane ka poora poora maza mila tha. Meri chut me phir se thoda thoda dard hona suru ho gaya tha jo ki mere chacha ne mehsoos kiya. Unhone mere hoothon ka chumban liya aur kaha " Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Dhanyawaad meri chhoti darling Julee apni kunwari chut dene ke liye aur mujhe mauka dene ke liye ki main tumhe ladki se aurat bana sakun."Aur unhone dheere se meri chut se apna lund nikal liya. Maine dekha ki unka lund poora khoon me sana tha. Khoon ke sath aur bhi safed safed sa laga hua tha unke lund par. Main jaan gai thi ki wo safed safed sa unke lund ka ras hai jo meri chut me unhone chhoda tha. Maine dekha ki haalanki unka lund ab bhi utna hi bada tha jaitna chodte samay tha par wo ab utna kadak nahi raha tha. Thoda mulayam ho gaya tha. chacha ka lund ka muh neeche ki taraf tha jo ki chodte waqt upar tha. Meri chut me dard phir badhna suru ho gaya tha. Maine dekha ki bedsheet par bhi laal laal dhabba laga hua tha. Meri chut ke khoon ke sath unke lund rus ka dhabba. Unhone bed sheet kheench li bed se to maine paya ki gadde par bhi laal dhabba tha. Unhone apna khoon aur lund ras se bhara hua lund chaddar se pooncha aur meri chut ka bahri bhaag bhi usi chaddar se saaf kiya.

Phir unhone wo chaddar ek plastic ki bag me daal di. Meri chut ka dard aur bhi badh gaya jab unhone usko chaddar se saaf kiya tha. Main badi mushkil se khadi hui par main bilkul bhi chal nahi paayi. Meri chut se khoon aur unka lund ras abhi bhi nikal raha tha aur main bathroom jaakar meri chut ko saaf karna chahti thi. Chacha mushkaraye aur unhone mujhe apne haathon me ek bachche ki tarah utha liya aur bathroom ki taraf badhe. Unhone mujhe bath tub ke andar khada kiya aur bole " Main tumhari help karta hun safai karne main."Unhone hand shower chalu kiya aur mujhe pair chowde karne ke liye kaha. Hand shower se unhone meri chut par paani daala to mujhe bahut achha laga. Phir unhone apne haath ka istemal karke meri chut aut pair poori tarah saaf kardiye. Maine unhe saabun lagane ko kaha to unhone mana kardiya aur kaha ki agar is samay saabun lagaya to bahut dard aur bahut jalan hogi. Phir wo bhi bath tub ke andar aa gaye aur aur apna lund saabun aur shower ke paani se saaf kiya. Hum bath tub se bahar aaye aur apna nanga badan towel se pooncha. Unhone phir se mujhe apne haathon me uthaya aur bedroom me le aaye. Unhone mujhe ek kursi par bithaya aur bistar ko palang par palat diya. Ab meri chut ke khoon ka dhabba bistar par nahi dikh raha tha. Wo bistar ke palatne se neeche chhup gaya tha. Unhone ek nai chaddar nikali aur usko bistar par lagaya. Unhone phir se mujhe uthaya aur bistar par lita diya. Thoda thik lag raha tha par chut me dard abhi bhi ho raha tha. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Wo wine ki bottle laye aur do glasses me dali wine ek glass mujhe thamaya. Maine abhi tak kabhi wine nahi pi thi. Ek catholic hone ke naate hamare ghar par wine hona ya pina aam baat thi par maine abhi tak taste nahi ki thi. Wo bole " Ye pure Italian red wine hai. Nuksaan nahi karti hai. Pi lo. Tumhe dard se aaram milega. Main to tumhari chut ko bhi ye wine pilane waala hun." Aur wo hans pade. Maine socha shayad mazak kar rahen hai.  Unone kuch cotton ( Rui) li aur usko wine me dubaya. Phir wo bole" Thodi jalan hogi par jaldi hi sab thik ho jayega."

Unhone mujhe mere pair chowde karne ko kaha aur mere aisa karne par meri chut ki taraf dekhte huye bole, "Thodi sujan hai, koi serious baat nahi hai." Unhone wine me dooba cotton meri chut me daal diya aour mujhe pair sidhe karne ko kaha. Unhone mujhe sahara de kar bed par peeche takiya laga kar diwar ke sahare bitha diya. Main aaram se baithi hui thi. Mrei chut me thoda dard aur thodi jalan ho rahi thi. Jalan shayad wine se ho rahi thi jo ab meri chut ke andar tak jaa chuki thi. Lekin dhire dhire mujhe kafi thik lagne laga. Chacha ne mera wine glass mujhe diya aur apna glass le kar mere paas mere jaise hi baith gaye.Wo bole " CHEERS!! meri Julee ki pehli chudai ke naam. Aur aisi hi kai aur chudai ke naam jo aane wale samay me hone wali hai. Tumhare chodu chacha ki taraf se all the best." Maine bhi kaha " CHEERS !! MERE CHODU CHACHA KE NAAM."Main wine peete huye unka lund dekh rahi thi. Unka lund ab koi chuhe jaisa lag raha tha jo unki goliyon par baitha tha. Ab mujhe sab pata hai lekin us samay main is ke baare main poori tarah nahi jaan ti thi. Karan ki maine tab tak sirf do hi lund dekhe the, ek apne papa ka aur dusra apne chodu chacha ka aur dono ko hi tane huye, khade huye dekha tha. Maine kabhi bhi kisi lund ko uski normal position me aaj ke pehle nahi dekha tha. Pehle main sochti thi ki mard ka lund hamesh hi khada rahta hai aur tab maine kai baar apne papa ke lund ko unki pant ke andar dekhne ki koshish ki thi aur main samajh nahi payi thi ki apne lambe lund ko wo kaise chhupate the pant ke andar. Khade huye lund ka ubhar maine kabhi bhi unki pant ke upar se nazar nahi aaya tha. Main lagataar chacha ke baithe huye lund ki or dekhe jaa rahi thi aur soch rahi thi ki shayad ye mard ke bas me hota hoga ki jab chahe khada kar liya aur jab chahe bitha liya. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Maine apna ek haath badha kar unke lund ko pakda. Usko meri ungliyon ke beech masla, Oh........ Kya mast feelings thi meri. Ye to bahut hi naram tha, bilkul meri chuchiyon ki tarah, Sach kahun to meri chuchiyon se bhi mulayam. Maine jab chacha se poocha ki aap isko jab chahe lamba aur jab chahe chhota bana sakte hai, to wo dhire se hanse lage. Phir unhone mujhe asli baat samjhai ki mard ka lund kaise aur kab khada hota hai aur kaise baithta hai. Mard ke lund ke khada hone ke peeche uski chudai ki soch hoti hai. Phir unhone ek bahut hi maze daar baat kahi

Hum ne jab tak apni wine khatam ki tab tak raat ke 2 baj chuke the. Halanki ab bhi meri chut me halka halka dard tha par main ab achha mehsoos kar rahi thi. Chacha ne kaha " Julee, mujhe lagta hai ki kal tum ko school nahi jaana chahiye. Agar kal aaram karogi to dopahar tak ekdum thik ho jaogi. Kal sir dard ka bahana kar ke apni maa se kah dena ki school nahi jaogi. Main bhi kal ghar par hi hun. Kya tum chudai ke baare me kuch aur sikhna chahogi?"
Maine kaha " Haan, Par bahut raat ho chuki hai."
Chacha bole " Koi baat nahi. Thodi si der lagegi."
Maine kaha " OK."
Chacha - " Kya tum mera naram lund chusna chahogi.??
Main - ' Haan. lekin main abhi dusri baar chudne ke liye tayyar nahi hun"
Chacha - " Nahi, main aur nahi chodunga tum ko. Main to tum ko kuch dikhana chahta hun. Aao aur mere mukayam lund ko apne muh me le kar fark mehsoos karo"
Main aage aayi aur chacha ka naram aur mulayam lund apne muh me dala. Mujhe unka naram lund bahut achha laga. Naram lund ki sabse achhi baat ye thi ki maine poore ka poora lund apne muh me le liya aur usko ice cream ke jaise chusne lagi. Turant hi maine mehsoos kiya ki chacha ka naram lund bada hota jaa raha hai jaise usme hawa bhari jaa rahi ho. Unka lund bada aur kadak hota chala gaya. Jaldi hi chacha ka lund waisa khada ho gaya jaise lund ne mujhe choda tha. Lamba, bada, mota aur kadak. Jaise jaise unka lund bada hota gaya, mere muh se bahar nikalta chala gaya aur ab mere muh me sirf unke mote lund ka muh hi rah gaya tha jis ko main chus rahi thi. Chacha ko meri lund chusai me maza aane laga aur wo mujhe aur jor se chusne ko kahne lage. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Maine waisa hi kiya. Phir unhone mujhe lund chusne ka sahi tareeka bataya. Unhone apne lund ke muh ki chamdi neeche karke lund ke muh ko bahar nikala, mere muh me diya aur mujhe lund ko neeche se pakad kar muth maarne ko kaha. Main unke lund ka aage ka bhaag chus rahi thi aur neeche ke bhaag to tight pakad kar upar neeche karte huye muth maar rahi thi. Chacha ke muh se siskaariyan nikal rahi thi. Main unka lund chusne ke sath hi sath muth bhi maarti ja rahi thi aur maine mehsoos kiya ki unka pehle se mota lund aur bhi mota aur pehle se lamba lund aur bhi lamba ho gaya hai.

Wo bole " Ok, Julee, Kya tum mere lund ka swadist ras peena chahti ho? Tum ne jaroor apni maa ko papa ke lund ka ras peete huye dekha hoga kabhi."Chacha sahi kah rahe the. Maine kai baar apni maa ko aisa karte huye dekha tha. Maine unka lund chuste huye aur muth maarte huye apni gardan "haan" me hilayi. Main bhi mard ke lund ka ras chakhna chahti thi.Chacha ne mujhe rukne ko kaha. Ab unhone apna lund khud ke haath me le liya tha. Wo apna lund pakad kar jor jor se aage - peeche, upar - neeche karne lage. Mera muh abhi bhi unke hilte huye lund ke paas tha. Chacha ki pakad unke khud ke lund par jor ki thi aur wo bahut teji se apne lund ko hilate huye muth meer rahe the jaise ki koi machine ho. Wo apni muth maarne ki speed badhate gaye, lund ko aage-peeche karte gaye aur phir wo bole" Apna muh kholo baby. Ras nikalne wala hai......... Oh....... aah......... ooohhhhh ........... ooohhhhhhh........ "Mera muh khula hua tha aur main intezaar kar rahi thi ki achanak....... unke lund se safed dhaar nikali aur mera muh bhar gaya. Maine apna muh band kiya aur unke lund ras ko pi gayi. Mujhe wo bahut achha laga. Thoda sa namkeen sa tha. Unke lund se lagataar ras ki dhar nikalti jaa rahi thi aur meri chuchiyon par girne lagi. Unka lund ras nikalte huye naach raha tha. Unke lund ka kuch ras unke apne haath par bhi laga tha. Jab unhone apne land par se apna haath hataya to maine unke haath ko chat kar saaf kardiya. Unhone bhi meri chuchiyon par laga khud ka ras chat kar saaf kiya. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Maine apne chacha ki aankhon me poori tarah santusti ke bhav dekhe. Main khadi ho kar phir bathroom ki taraf badhi apne aap ko saaf karne ke liye. Mera dard ab kafi kam ho gaya tha. Maine apna badan paani se faaf kiya aur usko poonchte huye bathroom se bahar aayi. Main bahut dhire dhire chal rahi thi kyon ki wine me dubi cotton abhi bhi meri chut me thi. Phir mere chacha ne mujhe kapde pehne se mana karte huye bathroom gaye aur jab wapas aaye to unke haath me ek tube thi. Wo mere pairon ke beech me baithe aur unko chowda kiya. Kya chacha phir se chodne jaa rahen hai mujhe, maine socha. Maine kaha " Chacha. aur nahi aaj. Dard ho raha hai.

Chacha - "Nahi darling, main chod nahi raha hun. Main kal bhi nahi chodunga tujhe. AAj ke liye kafi chudai ho gai tumhari. Ab jab tumhari chut bilkul thik ho jayegi tab chudai karenge. Abhi to main dawa laga raha hun tumhari chut me taki tum phir se chudai ke liye do teen din me tayyar ho jao. Phir tumko koi dard nahi hoga aur sirf maza aayega chudai ka."Phir unhone meri chut se wine ka cotton nikal liya aur apni ungli se dhire dhire meri chut me dawa lagane lage. Unhone apne haathon se meri chut par halki si maalish ki. Apni ungli meri chut ke hole me daal kar andar tak dawa lagai. Phir unhone meri madad ki mere kapade pahn ne main. Unhone apne kapde bhi pehne aur kaha" Aao darling. Main tumhe tumhare bistar tak pahunchdun." Phir pehle ki tarah unhone mujhe apni baahon me uthaya aur mujhe mere bedroom me le aaye. Wo mere kaan me bole " Sweet dreams baby! Subah milten hai. Kal school mat jaana" Phir unhone mera chumban liya aur mere bedroom ka darwaja band karte huye apne bedroom me chale gaye. Aap ye kahani newhindisexstory.com paar paad rahe hai.Meri chut ka dard kafi kam, na ke barabar tha ab.Phir ye sochte huye na jaane kab meri aankh lag gai ki aaj maine apne chacha se apni chut ki chudai karwa ke apni chut ki chatni banwai hai. Wah mere chut chodu chudakkad chacha. friends.. kaisi lagi meri chacha se chudai ki kahani .. ascha lage to share karo Facebook.com/SuptiSharma

Malish ki bahane nanga karke meri mummy ko choda

Dosto aaj jo mummy ki chudai ki kahani batane jaa raha hu wo malishwala ke sath mummy ki chudai ki hai.. aaj main bataunga kaise malishwala ne malish ki bahane mummy ko nanga karke choda, kaise mummy ki boobs ki malish karte karte boobs ko chusa, kaise mummy ki choot ko malish karte karte mummy ki choot me ungli dala, aur nanga karke mummy ko chod diya, kaise mummy ko kuttiya bana kar choda, kaise mummy ki choot me 9 inch ka lund dala. kaise mummy ki gand mara.shadi shuda aurat jo ki apne pati ke alwa kisi aur ke bare mai nahi soachti hai unhe dusra aadmi ya koi jawan ladka seduced kerta hai aur chodta hai. Meri mummy bhi isi tarh ki aurat hai, aur unhe bhi ek paraye mard ne ghar mai choda, vo chodne wala ek malish kerne wala tha.

Mere ghar mai sirf teen hi log hai mai aur mere mummy papa. Papa ki age 55 sal hai aur mummy ki 50 sal hai, mai ab 25 sal ka hu. Mummy ka fig 34 D 38 41 hai ye baat aaj se 8 to 9 saal phele ki hai jab mummy ne malsih kerne vale ke sath sambhog kiya. Sardiyo (winter) ki baat hai mummy ki tabiyat kharab rahne lagi thi unke paavo mai taklif ho rahi thi jab humne doctor ko dikhaya to unhone kuch medicines di unse kuch
Aaram to mila per kuch dino baad phir vahi halat. Isliye isbaar papa mummy ko leker aryuved ke doctor jinhe Vedhya ji kha jata hai unke pass leker gaye, unhone kha ki paavo ka dard sahi ho jayega unhone kuch davayia likhi aur sath mai tel malish ki bhi bola isse jayada phyada hoga. Iske baad mummy ka ilaj start hua, per tel malish start nahi hu, papa tel malish kerne vale ko search ker rahe the to ek aunty hai humari bhut
Achi milne vali hai unki aur mummy ki bhut achi dost hai unhone ne papa ko eek 50 saal ke aadmii se milvya jo ki tel maalish kerta tha aunty  us aadmi ki kafi tariff ker rahi thi bol rahi thi ki unke bhi esi hi taklif thi jo ki usne dur ker di. Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Us aadmi ka name Dayal tha vo 50 saal ka tha jarur per kafi healthy tha, means vo slim tha. Next day se vo aadmi humare ghar aane laga aur mummy ki Malish kerne laga jab vo aadmi Maalsih kerta to papa ya mai koi ek ghar mai hota hi tha 10 days tak esa hi chalta raha per ek din papa ko bhi office jana tha aur mujhe apne friend ke. Yaha jana tha uske elder bhai ki marriage thi. To papa ne aunty ko phone kiya aur situation bayi aur kha ki pls agar aap kal saubha aajo to acha hai, aunty maan gayi. Next day papa office chlae gaye aur mai gahr per hi tha aunty ka wait ker raha tha aadhe ghante baad aunty

Ghar aayi aur 5 min baad hi malish wala bhi aagya. Malish vala aunty ko dekh ker khush hua aur unse baate kerne laga mai dusre kamre mai gaya aur mummy ko bola ki aunty aur malish wala dono aagye hai ab mai chalta hu, mummy ne kha tik hai. Aunty aur malish wala drawing room mai bethe the baate ker rahe the jab mai drawing room mai enter ho raha tha to malishwala aunty se kuch bol raha tha aur aunty uski baat sunker jor se hasi and kha ki mai kuch kerti hu aur aaj tera kam ho jayega.Mai ne poocha ki kya hua aunty kuch jarurat hai kya uncle ko to aunty ne kha ha iska ek kam atka hua hai usi ko kerwane ki bol raha tha maine ha kerdi. Maine poocha meri koi madad chaiye to aunty ne haste hue kha nahi beta nahi mai kerva lungi. Iske bad mai vaha se chala gaya. Mummy bhi ab drawing room mai aagyi aur  aunty se bate kerne lagi, thodi der bad aunty ne kha ki malish ker wa le aur hum bhi baate ker te rahege.Malish kerne vale ne mummy ke paavo ki malish start ker di, jab malish khatm ho gyi aur Dayal hath dhone bathroom gaya to aunty mummy se boli ki kabhi tumne peeth aur hatho per malish kerwai hai Dayal bhut achi malsih kerta hai, mummy ne kha nahi maine nahi kervayi, aur mai ese kese parye mard ko chune du paavo ki malish hi bhut hai. To aunty boli are kuch nahi hota mai to kervati hu isse aur 2 saal ho gaye aur esa nahi hai ki mai chup ke kervati hu mere pati ko pata hai.Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Mummy boli phir bhi to aunty boli agar tujhe problem ho rahi hai to le mai aaj tere samne hi malish kervati hu agar tujhe pasand aaye to tub hi kerwa lena. Mummy ne haa bol di. Dayal jab aaya to aunty ne usse kha ki meri body per oli massage ker de phir agar teri bhabhi ko achi lagi to vo bhi kervayegi. Dayal bola tik hai mai to bhaut achi malish kerta hu aapko to pata hi hai. Ab aunty and mummy bedroom mai gayi

Aur vaha aunty ne apne blouse ko uttar diya aur bra bhi uttar di aur bed per ulta let gayi, phir dayal aa gaya aur usne malish start keri. Dayal bhut dhayan se aunty ki malsih ker raha tha sirf peeth per usne idhar udhar kai bhi hath nahi lagaya 30 min tak malish chali uske baad dayal malish kerke dusre room mai chala gaya aur aunty uta ker  beth gayi, aur apne kapde phente hue boli ki kesa laga sahi kerta hai na mummy Ne kha ha kerta to hai aunty boli fir tu ready hai mummy ab bhi jhijk rahi thi, per aunty ke bar bar bolne per kerwa le ek bar kerwa ker dekh to sahi, to mummy man gayi per mummy ne kha ki tum yaha se thodi der ke liye bhi nahi jana, aunty ne haste hue boli ok ok mai khai bhi nahi jaugi. Mummy bhi apni blouse aur bra ko uttar ker bed per ulta let gayi. Aunty ne dayal ko aawaz deker bulaya aur kha dekh vo razi hai Malish kerwane ke liye aura chi malish kerna ki bar bar tujhe kerne ko khe aur dheere se boli maine kam ker diya hai ab tu sambhalna. Malish wala smile kerke chala gaya aur mummy ke pass jaker beth gaya aur malish kerne laga phele vo mummy ke hatho ki malish kerne laga. Aunty bhi usi room mai beth gayi. Thodi der tak to sahi kerne laga per thodi der mai dayal mummy se bola bhabhi ji ek baat bolu aap bura to nahi Manogi mummy ne kha bolo dayal bola aapki skin bhut soft hai ab tak jitno ki malsih ki hai us mai se sabse soft aapki hai, mummy naraz nahi hu aur smile kerne lagi. Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Phir dayal ne mummy ke hatho ki malish poori hone ke bad vo mummy ki peeth ki massage kerne laga, thodi der mai usne apni shirt uttar ker rakh di mummy ko isbat ka pata nahi chala ab dayal upper se naga tha, usne malish continue rakhi phir usne dheer

Dheere apni dhoti bhi uttar di mummy ko massage ke karan bhut maza aa raha tha unhe pata nahi chala per aunty sab kuch dekh ker muskura rahi thi. Ab dayal mummy ki peeth ke sath unke side mai hath chlane laga jis se mummy ke boobs ko vo touch kerne laga. Mummy apne peat (stomach) ke bal leti thi  to mummy ke boobs bistar se lage hu the 1-2 bar touch hone ke bad jab mummy ne kuch nahi bola to vo usne Mummy ke neeche hath khusa diye aur boobs masalne laga, mummy uth ker beth gayi aur boli ye kya ker rahe ho per dayal ne mummy ko peeche se pakda aur boobs bhi pakd kiye aur unhe maslna chalu rakha. Mummy chutne ki try ker rahi thi per kamyab nahi hu unhone aunty ko dekha jo ki has rahi thi, mummy unse boli tu kya has rahi hai ye kya ker raha hai isse mana ker aunty boli are kya hua ye malsih hi to ker raha hai kern e de mai bhi kerwati hu. Aunty boli are tu dayal ka kamal to dekh tujhe itna santust kere ga jitna tu kabhi nahi hu, dayal tu jara apna hatiyar inhe dikha to. Dayal ne mummy ko apni aur khumaya aur apni underware uttara aur 7 inch lamba aur 4 inch mota lund nikal ke rakh diya mummy ne lund dekh ker hi apni eyes close keer li, dayal ne mummy ke hath mai apna lund de diya mummy ne hath hata liaya. Mummy aunty se boli ye kya hai tub hi Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Iske sath mili hai kya aunty boli ha is ne kha kit u ise bhut pasand hai to maine kha tik hai dayal tujhe aaj iski chut dilwate hai ab dayal mummy se bola bhabhi pls ek bar pyaar kerne ka moka do mai vada kerta hu aap ko nirash nahi keru ga aur mummy ko kiss kerne laga, aunty boli are maje le maje mummy ne kha mai sahdi shuda hu mai esa nahi ker sakti mai kisi parye mard ke sath esa nahi ker sakti hhu, aunty boli are

Mai bhi to sahdi shuda hu mai bhi to iska leti hu per apne pati se bhut pyaar kerti hue  ese hi kisi se sex kerne se kuch nahi hota tu sirf ek bar maze ker shor mat macha koi aagaya to tum dono ko nanga dekh ker kya soache ga vo to tujhe hi galta samjhe ga teri hi badnami hogi, dayla bhi bola bhabhi pls ek bar sirf ek bar kerwa lo aur mummy ko kiss kerne laga.Tikh usi time door bell baji aunty dekhne gayi koi kisika makan search kerte hue humare ghar mai aagaya tha aunty ne use vapas bhej diya, vapas aakar aunty boli dekh tere chilane se tere padosi aagye the maine unhe abhi to taal diya hai per soach agar tu aur chikegi ya chilayehi to next time vo under aajye ge aur tujhe aur dayal ko nange dekhege to tujhe hi galat samjhe ge ab aage teri marzi ye to tujhe aaj chod ker hi chodega chae teri razamandi se ya rape kerke. Aunty ki baat sunker aur badnami ki baat soach ker  mummy ko rona aagya, mummy ne rote hue kha tik hai sirf ek bar aur phir nahi, dayal bola ha ha sirf aaj phir kabhi nahi. Dayal ne mummy ko leta diya aur mummy ke upper let gaya aur unhe chumne llaga. Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Mummy ko vo lip kiss kerna chata tha per mummy apna sir idhar udhar ker rahi thi, dayal ne mummy ka muh pakda aur lips per kiss kerne laga. Phir kiss kerte hue voMummy ke boobs tak pahuch aur boobs ko chumne laga unhe dabane laga mummy ke soft soft boobs ko pakad ker dayal pagal hi hogaya vo kabhi to right chuchi chusta kabhi left chuchi chusta. Mummy bhi ab utejit hone lagi thi, aur mummy ki nipples kadak hone lage, dayal mummy ki chuchio ko jitna ho sakta apne muh mai le leta. Mummy ka rona ab kam hua per vo subak rahi thi. Dayal ne mummy ko dekha aur shatani

Muskan bhari aur kha ab to chup ho jao aur maza lo maza, aur phir mummy ke peat ki aur bada aur mummy ki nabhi ko kiss kera aor usme jibh dal ker jibh firane laga. Phir usne mummy ki sari ko utaar dala aor phir petticoat ka nada khol diya aor khich ker uttar diya aor phir mummy ko dikhate hue petticoat ko sughne laga aur phir ek aor rakh diya, dayal ne mummy ki jangho (thighs) ko dekhne laga mummy ki janghe gori Gori aor moti thi vo unhe chumne laga dono jangho ko chumta chumta hua mummy ki chut tak phucha mummy ki chut per jahte thi, usme se peshab aor chut ki mili juli smell thi. Dayal ne mummy ko utejit ker diya tha jis ki vajah se mummy ki chut gili ho gayi thi, dayal ne mummy ki chut gili dekh mummy se kha bhabhi ab to aap ko bhi maaza aane laga hai phele to bhut natak ker rahi thi ab chut gili ho gayi hai. malishwala ne mummy ki chut mai ungali dal di mummy ke mooh se aah nikalne lagi, malish wala ne chut chatni start ker di, isse mummy kafi xicte hone lagi, vo jor jor se aahe bharne lagi, “aah aah aah aah uhhh haiiiiiii aah. Mummy ki aawaz sun aunty room mai aayi aur mummy ko dekha ker hasni aur boli maza aaya na phele phaltu ke nakhre laga rahi thi.
Dayal bola are mujhe bhi esi aurate pasand hai jo phele nakhre dikhti hai use chodne mai bhut maza aata hai. Aur aap bhi to pheli bar ese hi nakhre dikh rahi thi. Aunty ne kha chup badmmash udhar dhyan de udhar. Ab dayal utha aor mummy ki chut mai loada khusane laga. Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Usne chut se loada lagaya aor dhake marene laga ek dahke se loada chut mai aadha gaya aor mummy ke muh se halki si ah niklai, phir dayal ne ekAor Dhaka lagaya jisse loada poora under chal gaya aor mummy ke mooh se is bar jor ki aah nikali. Ab dayal ne loada todider chut ke under hi rahka, aur phir halke halke jahtke marne laga, dayal ne ek hath se mummy ke boobs ko dabana chalu rakha, mummy halki halki aahe bhar rahi thi, 2 min tak dhire dhire dhake marene ke bad dayal ne lambe shots marne shuru kiye, mummy ko bhi maza aane laga vo bhi dayal

Ka sath sene lagi, dayal ek bar phir ruka dayal ke rukte hi mummy use dekhne lagi aor isharo mai poocha kyo ruk gaye ho, dayal samjh gaya aur vo mummy ke upper jhuka aur mummy ko lip chumne laga aor phir chichiya chusene laga, dayal ne phir halke jhatke marne shuru kiye aor dheere dheere speed bada di is bar dayla ruka nahi. Sardi ke mausam mai bhi mummy aor dayal pasine se bheeg gaye the mummy jor jor se saas le rahi thi aur aahe bhar rahi thi.Dayal ka bhi yahi hal tha, usne apni speed aor bada di aor 15 dhako ke bad uska virya nikal gaya, usne mummy ki chut mai hi apna virya nikal diya, mummy bhi uske sath hi jhad gayi aor dayal mummy ke upper hi gir gaya thodi der mai jab dayal normal hua to vo utha aor mummy ke pass hi beth gaya, mummy ab bhii leti hu    thi, dayal ne pass mai hi padi mummy ki sari ko utaya , mummy use dekh rahi dayal ne mummy ko Dekhte hue apna loada sari se poocha phir apna pasina bhi poocha aor phir mummy ke upper phek diya aur uta ker chal diya aur apne kapde utaye aor dusre room mai jaha aunty thi ke pass chala gaya bistar ki halat kharab thi poore bistar per salvate padi hui thi, mummy ke baal bhikre hue the, aor badan per dayal ke dato ke nishan the, aor mummy ki chut se nikala viray aor mummy ke pani se bed sheet peer nishan ho gaya tha mummy is sab ko dekh rone lagi. Udhar dusre kamre mai dayal aunty se bola kya aurat thi, pati vrata banti thi jab lund khusa to sab bhool gayi aahe bhare rahi thi, per maza aagya mujhe badi trapti mili hai aaj, Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. yeh sab sunker aunty ne kha acha tu ab kapde phen mai uske pass se aati hu, aur aunty bedroom ma aagyi mummy ne chadaar apne upper dal li thi aor apne sir ghutno per rakh ker beti thi. Aunty mummy ke pass aayi aor kha kya hua mummy use dekh

Rone lagi aor boli tune kyo ese aadmi se milvaya ab mai kisi ko muh dikhane layak nahi rahi aor rone lagi. aunty ne mummy ko gale lagay aor kha ro mat ro mat, kisi ko kuch pata nahi chelega tu chup ho ja na mai kisi ko kuch batu gi aor na hi dayal kisi ko kuch batye ga thodi der mai mummy ka rona kam hua, aunty ne kha dekh tere bet eke aane ka time ho gaya hai tu jaldi se kapde phen mai ye sab bistar ko sahi kerti hu verna tera beta kya soachega.Mummy ne yeh sunker uthi aor kapde pahne shur kiya aunty ne bistar sahi kiya. Sab kuch hone ke bad aunty ne mummy se poocha ki unhe kesa laga, dayal ne tujhe santust kiya ya nahi. Mummy kuch nahi boli aunty ne phir poocha aor kha kit u mujhe to bata hi sakti hai tab mummy ne kha ha dayal ne mujhe santusht (satisfy) kiya hai. Dayal vahi door per khada tha vo mummy ke pass aaya aor unse kha sach bhabhi,Mummy ne dayal ko dekh ker apna muh apne hato se chupa liya, dayal mummy ki is harkat ko dekh pagal sa ho gaya usne mummy ko pakda aor uta ker hawa mai ghumaya aor phir niche utar ker mummy ko gale lagaya mummy bhi uske gale laga gayi. Tabhi gahr ke samne bike rukne ki aawaz aayi aunty ne khidki mai se dekha to papa aagye the mummy aor aunty dono drawing room mai aake beth gaye aor dayal bhi aake floor per beth gaya.Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Papa andar aaye to unhone dayal ko dekha aor poocha ki ab tak vo yaha kese, to aunty beech mai bol padi ki aaj maine bhi yaha dayal se malish kerva lit hi isliye ise der ho gyi, papa ne kha tik hai aor papa ne kha mai abhi 5 min mai aaya aor papa apna helmat rakh ker batroom mai chale gaye, dayal ne yeh dekh mummy ke pass gaya aor unke lip chusne laga per mummy ne kha mere pati aajaye ge abhi nahi per dayal nahi mana aor bola bas ek chota sa kiss phir mai chala jauga mummy ne use lip chumne diye.Ab dayal chala gaya next day dayal apne time per aaya , aor us time ghar per mummy ke alwa koi aor nahi tha papa office chale gaye the aor mai apne ek dost ke sath market chala gaya tha gahr mai mummy ko akella dekha dayal khush ho gaya. Mummy uski khushi dekh samjh chuki thi ki dayal kya chata hai mummy bhi dayal se sex kerna chati thi kyo ki dayal ne unhe satisfy kiya tha aor mummy ke man mai sex ki bhook jaga di thi per mummy  ne dayal ke ishare ko na samjhne ka natak kiya.

Jab dayal mummy ke pass aaya to mummy ne dayal ko Dhaka deker haste hue bedroom mai bhag gayi, jab dayal bedroom mai phucha to usne dekha mummy bistar per leti hui hai aor dayal ko smile derahi hai. Dayal jaldi se gaya aor mummy ke upper khud gaya, dono ek dusre ko kiss ker rahi the bistar per lot rahe the kabhi mummy dayal ke upper kabhi dayal mummy ke upper, dono ke kapde isi beech utar gaye dayal Mummy ke poore badan ko chum raha tha, aor phir mummy ne bhi dayal ke poore badan ko chuma-chata dayal aor mummy kafi utejit ho gaye the ab dayal ne mummy ko letaya aor mummy ki chut mai loada khusane laga gaya. Mummy bhi uska poora sath dene lagi thi, poora room futch futch ki aawaz se goonj raha tha 10 min mummy ki chudai ke bad dayal ka virya mummy ki chut mai gir  gaya. Dayal aor mummy dono ek sath hi jhade.Dayal mummy ke upper hi gir gaya aor phir thodi der bad dayal mummy ko kis kerne laga aor kiss kerte kerte so gaya. Jab dayal so ker uta to mummy uske chest per hath phe rahi thi, dayal uth kerb eth gaya, mummy ne use doodh (milk) ka glass diya. Dayal ne glass liya aor dodh peene laga aada dooah peeker usne mummy ko peene ko kha per mummy ne mana kiya per dayal ke khane per mummy ne dayal ka jhoota doodh pee liya.Doodh peen eke baad dayal ne mummy ko lip per chumne laga aor dono ke beech ek bar phir sambhog hua 1 month ke baad malish wale ki jarurat nahi rahi doc ne mummy ko kha ki ab vo bilkul sahi ho gayi hai, is liye papa ne dayal ko aane ko mana ker diya. Jis din dayal ko aane ko mana kiya us din mummy kafi udas ho gayi. Aap ye kahani newhindisexstory.com paad paare hai. Next day mummy aunty ke ghar gayi aor unhe sari bate batayi to aunty ne kha bas itni si baat hai aor tum udas ho gayi lo abhi tumhari udasi dur kerte hai Aunty ne ek jagh phone kiya aor 15 min baad hi dayal vahah aagya, mummy dayal ko dekh kerb hut khush hu aor mummy bhag ker dayal ke gale lag gayi aor rone lag gai. Dayal ne mummy ko chup kervaya aor kha ki hum is ghar mai mil liya kere ge, mummy ye baat sun ker khush ho gayi aor vahi per dayal ko chumne laga gayi. Dayal sahar mai 3 saal aor raha aor tab tak vo aor meri mummy sahrik sambandh bante rahe. To dosto kaisi lagi meri mummy ki sex kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisne meri mummy aur aunty ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/SrutiSharma

सेक्स कहानियाँ,Chudai kahani,sex kahaniya,maa ki chudai,behan ki chudai,bhabhi ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter