Maa behan ki chudai ki parivarik sex kahani

Ye parivarik chudai kahani meri maa aur behan ke saath chudai ki hai.aaj main bataunga kaise maa ko choda phir maa ki madad se behan ko choda.maa ne mera lund ko chusa aur main behan ki chut chati.phir maa ki gand mari aur behan ki chut mari.ye ek real family sex story hai hindi me.Hamaara ek bahut hee khule aur aadhunik vichaaron ka parivaar hai. Maa aur deedee donon hee graduate hain aur main bhee isee saal degree college men gaya hoon.Meree maataji Tara Devi vaise to 45 varsh kee hain par unhen dekh ke lag’ta naheen ki ve 45 varsh kee hai balki 35 – 36 saal kee lag’tee hain. In dinon un’ke shareer par kuchh charbee chaDh’nee shuru ho gai hai. Phir bhee main aap ko bata doon ki mymmy ka badan dekh’ne men bahut sexy hai.Khaash kar meree mummy ke chooche aur gaanD to gajab kee hai. Bhaaree bhaaree aage nik’le huye do mast mumme aur pichhe ko ubharee hui bhaaree bhar’kam gaanD. Mummy kee choochiyon kee size lag’bhag 38D hogee. Mummy saaRee bhee pahan’tee hai aur salwaar kameej bhee.

Ghar me bhabhi ki chudai ki hot sex story

Ye sex story meri bhabhi ke saath sex ki hai.aaj main bataunga kaise chupke chupke apni bhabhi ko choda. nanga kar ke bhabhi ki chut ko chata aur gand me ungli ghusa ke piseche bhabhi ki chut me lund dala aur jor jor se bhabhi ko choda.kaise chupke chupke bathroom me bhabhi ne mujhse chudwaya.Meri family me mumymaa papa bhaiya Bhabi main aur ek behan jis ki shadi hogai hai. Papa sarkari job me hai aur bhai ek private company me kam krte hain bhai ki 3 mahine pahle he shadi hui thi bhai din ko kam per jate aur sham ko ghar ate the meri Bhabi G ka naam irum hai wo dekhne me boht he sexy fair colour aur fig 28 36 28 hai.Bhabi G ate he ghar me chha gain mumy papa aur sub ghar walo ka boht khayal rakhti thi me jb bhi unko dekhta to sochta bhai kitne lucky hain jo har rat Bhabi G ko chodte honge.Me aur Bhabi G boht jald frenk hogae hasi mazak krte aur apni batain share krte. main bhi Bhabi G se kaafi majak kiya karta tha.

Devar ka lund ki pyasi bhabhi ki chut

Ye devar bhabhi ki sex story meri bhabhi ki chudai ki hai.aaj main bataunga kaise bhabhi ko choda,bhabhi ne mujhse chudwaya,bhabhi ne mera lund ko chusa,bhabhi ki nipple chus chus kar chut me lund dala.nangi ho kar chut dhikha ke bhabhi ne mujhe chodne ko kaha.Bhabhi ka naam Sonali hai, jab bhi main bhabhi ko dekhta tha mere ander kuch hone lagta tha, dil karta tha ka abhi bhabhi ki chudai kar du. Bhabhi mujhse 4 months badi hai, unki height 5 feet 4 inch hai, unki body bilkul Rani Mukharjee ki jaisi hai.Yeh 22 din pehle ki baat hai, main kissi kaamse Chandigarh gaya tha aur agle din hi subha 10 bajje main ghar pahunch gaya. Ghar aakar dekha to ghar band tha. Rajesh bhaiya se patta challa k mere ghar ke sabh log Jallandhar gaye hain, waha mere nanaji bahut bimaar the, aur mujhe bhi Jallandhar aane ko kaha hai. Main jaane lagga to bhaiya ne shaam tak rukne ko kaha kyunki unhone kuch kaam se bahar jana tha shaam tak ke liye, main ruk gaya 10 minute baad bhaiya challe gaye.

Zabardasti behan ki chut me lund dala

Ye zabardasti chudai ki kahani meri badi behan ki chudai ki hai.aaj main bataunga kaise meri behan ko choda,behan ko zabardasti nanga kar ke boobs ko chusa aur jor jor se chut me lund ped di.behan ki kachi kuwari chut phad kar khun nikal gayi.Meri badi behan hina first flour pe soo rahi he me ne kamre ka darwaza band kia hina bed pe leti hui thi uska aik hath us k boobs pe tha or aik hath pehlo me wo gehri neend soo rahi thi hina k qareeb ja k beth gaya mera dil zor zor se dharak raha tha me ne us ka hath pakra or uske seene se hata dia uski body muje deewana kr rahi thi mene us k honton ko choma lekin us ne koi harkat na ki me us k sath bed pe late gaya or use apni bahon me le lia maze se mera bura haal tha wo achanak bedar ho gayi or muje dekh kr heran reh gayi ab me ne use dobara kiss kia us ne bi mera sath dia me ne use sakhti se apni bahoon me jakar lia or uski zaban or honton ko chosne laga aisa karte huay wo bi mera poora poora sath de rahi thi muje bohat maza aa raha tha

Behan ki naram naram hont bohat garam ho rahe thay or bohat maza de rahe thay us k hont ab surrkh ho chuke thay or us ne bohat sakhti se muje apni bahon me jakar rakha tha ab me ne use garden pe kiss karna shuru kia ahsta ahsta me us k mamoon tak pohanch gaya lekin wo boli plz abi nahin shaadi k baad me bola karne do meri jan mujh se nahi raha jata ab wo muskarai or khud ko churwate huay boli tarapte raho jano abhi waqt nahi aya nahi plz kuch karne do hina me pagal ho raha hoon us ne muje kiss kia or boli pagal tu me bi ho rahi hoon lekin khud pe control karo mera bura haal ho raha tha mene zabardasti use apni bahon me le lia or dobara se us k honton ko chosne laga wo chup chap leti rahi ahsta ahsta mene us ki kameez utarne ki koshish karne laga us ne bohat koshish ki lekin jeet meri hi hui ab me ne shalwar bi uttar di us k badan pe sirf brazier tha or uski choot saaf nazar aa rahi thi us ne achanak khud ko charwaya ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.orbhagne ki koshish ki lekin me ne us pakar lia or bed par lata k khud us k upper charrh gaya wo meri minat samajat karne lagi plz muje choor do plz warna me sab ko bata doon gi bata dena meri jaan ab muje tu maza lene do me ne apne kapre uttare muje belabas dekh ke wo aik dam ghuse me a gayi or khud ko churwane lagi choro muje me sab ko bata doon gi chor do warna………meri bahain buri tara us k gird lipat chuki thein us k breast mere seene se mile huay thay or muje bohat maza aa raha tha us k jism ki narmi or halki halki tapash mera janoon bhara rahi thi me bedardi se us k boobs ko masal raha tha. or wo sisk rahi thi ufffffffffffffffff ohhhhhhhhhhhhhh ah ah ahhhhhhhhhh na karo lekin mere undar aag lag chuki thi jise ab wo hi bujha sakti thi mene use kabo kia or uske honton or zaban ko chosne laga muje bohat sakoon mil raha tha lekin wo bohat zada mazahamat kar rahi thi mera lun or kharra ho raha tha.mene use bahon se pakra or us k brazier k hook khool diay wo bilkul nangi ho chukki thi use nanga dekh kar mera lun buri tarah kharra ho chukka tha me ne us k boobs ko chosna start kia us ne bohat churwaya ahsta ahsta use maza aane laga me us k boobs ko bedardi se choos raha tha us k munh se siskian nikal rahi thein ufffffffffffffff ohhhhhhh plz meri jan ahastaaaaa karooooooooo.

lekin me musalsal apna kam kar raha tha wo aankhen band kiay leti thi thori der bad us ne pani chorr dia ab achanak me ne apna lun uski choot me daal dia usne aik jhatke se apni aankhen kholein or phir apne ap ko churwane lagi is martaba use kabo karna mushkil ho raha tha us k munh se berabat si awazain nikal rahi thein or wo musalsal chila rahi thi plz mujhe chor do plz mujhe chor do bohat dard ho raha he plzzzzzzzzzz ouiiiiiiiiiiiiiiiii mar gayi takleef se us ka bura haal tha or mera maze se bura haal tha mujhe uski naram bahon garam choot or nazak jism ko chodne ka bohat maza aa raha tha.muje bohat sakoon mil raha tha aj se pehle muje aisa maza or sakon kabhi nahi mila tha. me ne aik or jhatka mara. mera lund mushkil se sirf 2 inch undar gaya uski choot bohat tight thi me ne balon ko lagane wala gel pakra or uski choot me undeel dia phir uski choot me lun daal kar aik zoordar jhatka dia mera lun ab 4inch us ki choot me ja chuka tha uski choot yoon mili hui thi jaise rabar mili hoti he mera lun under jane se masalsal inkar kar raha tha maze se mera bura haal tha jab k wo masalsal chila rahi thi hey mar gai aaaaaaaaaaaaaa ooooooooooooooooooo o plz na na naaaaaaaaaaaaaaaaaa aaa kro plz muje choor do ammiiiii haay ab me ne aik zordar jhatka mara tu mera pura lun us k undar chala gaya ,ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.uski choot phut gayi or khoon aane laga mene romal se uska khoon saaf kia usne aik bharpoor cheikh mari ufffffffffffffffff mar gayi choro wehshi kute muje ab wo bilkul behal ho chuki thi or sidhi leti zorzor se sans le rahi thi uska sar aik side pe dhalka hua tha us ne mazahamat choor di thi uski bahain bejan ho kar us k pehlo me pari thein or wo hole hole bol rahi thi haay marrrrrrrrr gayi plz ohhhhh na plz muje pyarrrrrrrrrrrrrrrr rrrrrrrrrrkro plz na ohhhhhhh plzzzz hayyyyyyyyy usne khub kas k muje jakar lia or muje chomne lagi muje us pe bohat pyar aa raha tha me ne use apni bahon me lia or us k hoton ko chosne laga. meri jan tumhari behan k sath aj tumhari bi suhag raat he achi tarah enjoy kro phir ye mooqa nahi mile ga me ne us k honton ko choomna jari rakha us k boobs ko sehlaya ahasta ahasta use maza aane laga ab me ne undar bahar krna shuru kia tu wo chilane lagi ooooooooo na plzzzz ohhhhhhhhh abi nahi dard ho raha he or muje apni bahon me jakar lia taake me harkat na kar sakon lekin me ne apni karwai jari rakhi maze se mera bura haal ho raha tha ye meri pehli chuddai thi jo me kr raha tha apni pyari cousin ki or muje bohat maza aa

raha tha thori der bad wo bi mera sath dene lagi muje yoon mehsoos ho raha tha k me hawaon me hoon us ka naram garam jism bar bar mujh se takra raha tha us ne muje apni bahon me le lia or khud ko ahasta ahasta chuddwa rahi thi us ne mujhe or me ne use kas k apni bahon me le lia or kissing karne lagay me bedardi se us k honton ko choos raha tha us k naram o nazak hont bohat maza de rahe thay or meri pyaas buja rahe thay masalsal chosne se us k nazak surrakh hont neele ho rahe thay wo chilane lagi zor se karo or zor se or undar karo mera josh us ki batain sun k bharta ja raha tha me zor zor se jhatke marne laga aisa karne se uski siskian cheekhon me tabdiel ho gayen wo buri tarah se cheekhain marne lagi ahhhhhhhhhhh mar geyiiiiiiiiiii meeeeee karooooo oooooooorrrrrrr zor se pura undar daal do muje mar do plzzzzzzzz achanak use jhatka laga us ne mazbooti se muje apni bahon me jakara hilna band kar k mujh se buri tarah chimat gayi ,ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.mere honton ko buri tarah apne danton se kaat lia hum dono akhete hi choot gaye is waqt mera bohat bura hasher hua lag raha tha k me maze se mar jaon ga use bi shayad bohat maza aa raha tha kyun k wo siskian bhar rahi thi ahhhhhhhhhhhhhhh ooooooooohhhh I loveeeeeeeeeee youuuuuuuuuu janoooo mene us k honton se khelna jari rakha i love u too meri jan jin logon ne kisi k sath sex kia he ya girls ne kisi se karwya he wo jante hon gay k ye lamha kitna maze se bharpoor hota he thori der baad me bed pe leta lambe lambe saans le raha tha wo meri taraf dekh kar muskarai or sharma kar apna sar jhuka lia or mere seene pe sar rakh k late gayi thori der baad wo so rahi thi 1hour baad me ne use uthaya tu us ne aik dam rona shuru kar dia mene use chup karwane ki koshish ki lekin wo rooti rahi mene use apne sath laga lia or us k balon ko sehlane laga thori der baad wo chup kar gayi me ne us k honton ko chooma or mehndi k liay rawana ho gaya.kaisi lagi behan ki zabardasti chudai , ascha lage to share karo .. agar kisine meri behan ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/HinaSharma

Sagi behan ki madad se chacheri behan ko choda

Ye chudai ki kahani meri chacheri behan ki chudai ki hai.aaj main bataunga kaise pahle sagi behan ko choda phir uski madad se apni chacheri behan ko choda.chacheri behan ko nanga kar ke body massage ki bahane chut me oil laga ke malish kiya aur chut ne pani chodte hi ungli daalkar hilane lagi aur meri sagi behan chacheri behan ki khada khada mast boobs ko chusne lagi.aur main apna 9 inch ka lund ko behan ki chut me pel diya.main lahore dubai main rahta hoon aur aik massage parlour main kaam karta hoon. mere behan aur mere cousin mujhse milne aur freshment ke liye kuch dino ke liye dubai aien thin. mere pass seprate appaertment hai jahan main rahta hoon isliye woh mere sath hi rahien. mere bahan ki age 19 aur hieght 3.9″ white but fat body. aur mere cousin 18 aur hieght 5.9″ asian but slim. dono hi kafi sexy thin.

woh aien tou maine office se chuttiya lay lien phir main un ko dubai dikhane laga phir aik din hum ajman chale gaye aur unhe kafi sair karvai jab hum ghar aye tou woh kafi thakhan mahsoos kar rahien thin phir unhoon ne kaha yahan tou garmi kafi ziada hai aur kiya idher koi tareeqa hai jis se hum thakhan uttar sakien. hum bohat open minded hain is liye koi bhi hichkichat naa thi. maine unhe kaha yahan body massage hai jo thakhan khutam karta hai.woh bolin woh kaise phir maine unhe apni office pictures dikhaien jin main maine kafi auratoon ka massage kia tha yeh daikh kar woh massage ke liye tayyar hoo gayeien maine apne massage room un ko le gaya aur wahan un ko apne samne hi kapde uattarne ka kaha unhon ne jaldi hi mere samne apne kapde uttar diye aur maine unhe towels band diye. aur khudh shorts pahan lien maine is se pehle kafi auratoon ko nanga daikha tha isliye mujhe koi feelings nahi huien.ye sex kahani newhindisexstory.com pad paad rahe hai.phir maine poocha kaun pahle massage karwai ga tou mere sister boli: pehle main tou maine use massage bed par ulta lita dia aur uske hips se tangoon tak towel rakh dia. aur us ki kamar ko massage start kiya aur kuch 10 min kamar aur garden ke massage ke bad jab main us ke hips par aya tou towel uttar dia aur tangoon aur gand ka massage karne laga pahle tou woh kafi bahtar mahsoos kar rahi thi. phir jab maine gand ke sorakh par massage start kia tou kuch 20 min baad us ke mooh se ahhhhhh…………. ohhhhhhhhhhhhhh…………, ufffffffffffffffffffffff………………..wawahhhhhhhhhhhhh………………..ki awaizien ane lage main samhaj gaya ise acha lag raha hai. phir maine use turn ki aur aur us ke mummo aur pait par massage karne laga. use doran use ke nippels tight hoo gaye the.mera bhi lun khara tha. mere cousin samne baithe massage daikh rahi thi. phir maine jab sister ki chut par massage start ki tou usne ankhien band kar lien aur maza laite rahe phir kuch 1:00 hours baad mere sister humaira ka massage complete hua. tou maine apne cousin asma ko leta liya aur humaira samne baithe relax mahsoos kar rahi thi.

maine asma ka massage start kiya aur uske mamoo aur choot aur tangoo ka massage cpmplete kia aur use turn karwa kar kamar ka massage kia us ki gand kafi sexy thi is liye maine use khoob massage ki aur fingering ki aur woh awazien nikal rahi thi. ahhhhhhhhhhh……. waawaahhhhhhhhhhhhh…………………………………….greattt. ise doran mere sister humaira jo massage ke baad hot hoo chuki thi. us ki nazar mere lun par parhi jo fully tight hoo chuka tha aur size 7″ lamba aur 3″ mota hoo chuka tha,main asma ka massage kar raha tha tou maine mahsoos ki ke mere lun ko koi choos raha hai maine niche daikha tou mere bahan humaira mere lun mooh main liye choos rahe the main ghubra gaya aur cousin ka massage choor kar lun ko bahan ke mooh se nikala aur kaha nahin yeh thik nahi tum mere bahan hoo ise doran asma boli: theek hai yeh bahan hai main tou nahi aur mere body ko seduce karne lagien.phir asma ne lun ko mooh mein le liya aur choosne lage main bhi garam hone laga. phir main apne bedroom aaa gaya woh bhi nangi mere sath hi room mein aaa gaien aur phir maine apne behan ko leta dia aur us ke mammo ko chusne laga aur woh mere sar ko apne mammo par dabane lage. mujhe kafi maza aaa raha tha aur asma mera lun paghloon ki tarhan choos rahi thi. abb main sab rishtoon ka lihaz bhoool gaya phir mummo ko chuste chuste behan ki safaid choot par aaa gaya aur 20 min baad asma ke mooh main hi chood gaya tha.ye sex kahani newhindisexstory.com pad paad rahe hai.asma bhi mera sath dene lage aur humaira ke mamoo ko chusne aur dabane lagi maine humaira ki tangoo ko khola aur chut joo abhi tak bilkul pack thee chatne laga mujhe maza ane laga aur phir kuch 35 min baad humaira bhi sexy awazien aur batien karne lage. ufffffffffffffffffffffffffffffffffff. ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh……………. dal do bhai jan main mar jaon gi phir maine aik takia humaira ke kamar ke niche rakha aur choot ko upper utthaya aur us ki tangoo ke darmian aaa kar us ke choot ke sorakh par lun rakha aur ahista ahista dikhe shooro kiye.abhi lun kuch 3″ inch hi ander gaya tha ke humaira ko kuch kuch takleef hone lage use kam takleef hoo is liye asma us ke mammo ko choos aur suck kar rahi thi.

phir maine apne jhatkoon ki raftar ko barhaya aur 5.5″ inch lun ander kia tou us ki choot se khoon nikal aaya aur woh zoor se rone lagi aur mera lun khoon lagne se aur easy ander hone laga aur sara lun us ki choot main uttar dia abb humaira ne galiyan dene strat kar dien kute kaminey choor mujhay magar abb kaya faida tha. main ne jhatke jari rakhe aur kahta sali tou hi tou lun lena chahti sali kanjri.
aur pitch pitch ki awazzien kamre main aur ahoon ki awazien ghoonjne lagien phir jab main jhurne laga tou lun ko nikal liya abb humaira ne kaha kia hua rook kiyon diya maine kaha agar main ander jhar jata tou tou pregnent hoo jati. phir main un dono ke darmian lait gaya. abb humaira ne mera lun saf kia aur use chusne lagi humaira abb mere niche the main us ke mammo ko choos aur kat raha tha aur woh bhi madad kar rahi thi.phir main us ki choot par aaa gaya aur chut zuban aur dantoon aur zuban se choosne aur katne laga. abb asma siskian aur ahien bhar rahi thi. humaira mera lun choos rahi thi. phir maine lun humaira ke mooh se nikala aur asma ki choot par laya. aur lun ko ander karne laga phir kuch 2.5″ inch ander hua tou maine asma ki kamar main hath dala aur lun ander rakha aur uttha lia. jaise hi utthaya tou 4″ inch ka lun ander chala gaya abb woh rone lagi phir maine zoor zoor se jhatke diye aur us ki choot phat gaye aur khoon niche girne laga. abb asma ko bhi kuch waqt baad maza ane laga.ye sex kahani newhindisexstory.com pad paad rahe hai.aur wooh bhi sath de rahi thi. humaira apne mammo aur choot se khail rahe thi. phir jab main jhurne laga tou lun ko bhar nikalne laga magar asma ne jhaphi dal li aur lun ko bahir nahe nikalne diya isliye main us ke ander hi jhaar gaya. phir hum teeno bed par laite saans laine lage. phir woh dono boli ajj tou maza hi aaa gaya maine kaha abhi tou starting hai.tou humaira boli kia matlab tou maine bola abhi tou tum dono ki gandien baki hain yeh sun kar humaira boli nahi tou main bola kia hua abb tou sharam naa karo tou humaira boli nahi bas kafi hai asma boli koi baat nahi main tayyar hoon yeh sun kar humaira boli chalo theek hai abb humaire ne mere mooh par gand rakh di aur asma lun chusne lagi. main jab bhi kisi ko chodta tha. tou gand zaroor leta tha.

phir kuch 30 min baad gand ko chukhne ke baad humaira ko kutia banaya aur lun ko ander karne laga magar 2″ inch se age lun ander jaa hi nahi raha tha tabhi maine position aur bed par lait gaya aur humaira lun par baith gaye aur us ke wazan se 4″ inch ander hoo gaya aur woh rone lage phir asma humaira ko kandhoon se niche dabane lafi aur main upeer jhatke dene laga aur us ki chiekhain nikalne lagien aur kuch khoon bhii phir aik dam se sara lun ander chala gaya aur woh rone lage asma joo mere upper khari hoo kar madad kar rahi thi mere nazar us ki gand par thi joo humaira se bhi zayda chikhni thi. phir humaira bhi sateh dene lagii aur awazien nikalne lagiiiii. ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh………………… uuuuuuuffffffffffffffff…………………………………………………………………… ahhh aur maza aaa raha tha.is bar mujhe kuch hoosh nahi raha aur main apne bahan humaira ki gand main hi jhaar gaya. phir lun nikala aur saf kar liya abb humaira saans ley rahi thi bed par hi aur asma aaa gaye aur gaud main baith gaye. tou asma boli. abb mere bari tou main bola: jan tere gand tou main marke hi dam loon ga aur asma ko kutiya banaya aur mooh ko gand par rakh kar sahlane laga humaira lun chusne lagi aur main gand chat raha tha aur hathoon se hi asma ki nippels ko kainch aur daba raha tha.ye sex kahani newhindisexstory.com pad paad rahe hai.asama ahien bhar rahe thi. phir maine asma ko bed par karwat ke bal lita diya aur asma ki aik tang ko uttha kar lun ko sorakh par rakha aur jhatke start kiye humaira asma ke mummo ko choos thi aur choot main finger kar rahi thi jis se asma peeche jhatka deti aur main agge aur lun ander chala gaya aur woh phir kuch waqt baad sath danien lage tou. maza ane laga aur main ander hi jhaar gaya.phir hum teeno akhate nahaye aur chudai bhi ki aur phir us din baad woh char din rahien un char dino main hum nange hi rahe aur chudaian karte rahe maine un ki pregency rokne ke liye tablets bhi laa dien isliye un ka dar khattam hoo gaya aur woh maza laene leti rahien.kaisi lagi meri behan ki chudai. ascha lage to share karo .. agar kisine meri cousin sister ke saath sex karna chahte ho to add karo Facebook.com/SanaKhan

Shadishuda cousin sister ki chudai story

Ye chudai ki story meri cousin sister ki chudai ki hai. aaj main bataunga kaise cousin sister ko choda..kaise lund ki pyas me sister ne mujhse chudwaya..Meri chuttian chal rahi thi. Meri bari Cousin aur choti Cousin dono ek hi hyderabad shehar me rehtin thin. Mai Cousins ke yaha rehne gaya hua tha. Meri Bari Cousin ki ek beti hai. Us time uska hubby aur beti ko 1 week ke liye kisi marriage me sehar se bahar jaana pada. Ab mai aur Cousin ghar me akele the. Shaam ho rahi thi. Cousin aur mai tv dekh rahe the. phir woh kuch kaam se apne room me gayi. Mai channel change kar raha tha. Ki achanak star movies par ek sex scene aa raha tha. Mai dekhne laga. Mujhe pata hi nahi chala ki kab chachi waha aa gayi. Maine fatafat wo channel change kar liya. Lekin mera lund khada tha. Itni der me doorbell baji. Saba (Cousin) boli," dekhna kaun aaya hai". Mai utha aur darwaja ke aur bad gaya. Mera khada lund mere lowers me saaf dikhayi de raha tha.
Darwaja khola to saamne (sabeen) Choti Cousin thi. usny mujhe gale se laga liya kyon k woh mujhy bohat chahti hi. uske mote mote boobs meri chest se touch hue to mera lund ekdum tann gaya. Hum teeno sofe pe baith gaye. Ab meri nazar baar baar undono ke mote mote boobs pe hi jaa rahi thi. Thodi der me dono uth kar andar room me chali gayi. Mai sochta raha ki kaash in dono ko chodne ka mauka mil jaye to maja aa jaega. Thodi der baad mai bhi room ki taraf chala gaya. Darwaje tak pahucha to kuch awaaz suni. Wo awaaz sabeen ki thi. Wo bol rahi thi,"ahhhhh!! saba bahot din ho gaye chude hue.. Aaj control nahi ho raha hai". saba boli," sahi boli rahi hai tu choti, chal ek kaam kar jo nakli rubber ke lund laayi hai wo nikal na". Mai key hole me se dekhne laga. saba ne khade hokar apni kameez utari fir salwaar utari. sabeen bhi kapde uatarne lagi. aur dono ne boobs ko pakda aur boli,"saali randi kehti hai kai dino se chudi nahi, aur boobs itne mote mote kar rakhe hai". choti boli," apne dekh na, mere muh se bade bade boobs hai tere". ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Mere lund ka bura haal ho raha tha. saba ne apni panty utari aur boli," bari boli chal ghusa de nakli lund meri choot me". aur choti ne bari ki choot me lund ko ghusaya aur andar bahar karne lagi. saba maon karne lagi," aaahhhh..!! Bahot maja aa raha haiiiiiiiii.!! Kaash kisi ka asli lund mil jae to maja aa jaega..aahh..!!. sabeen boli," bahar baitha to hai ek lund ka maalik". saba ne kaha han tu sahi keh rahi hai, par use bataye kaise ki hum dono chudna chahte hai". sana boli," tu ruk, mai abhi use pata ke laati hu".Mai fatafat bhaag ke wahi sofe pe baith gaya aur tv dekhne laga. 5 min baad woh bahar aayi. Saaf pata lag raha tha ki unhone andar bra nahi pehni hai,unke nipples saaf dikhai de rahe the. Wo aa ke mere paas baith gayi. Maine jaan boojhkar unpe dhyaan nahi diya. Unka haath dheere dheere mere lund par pahuch raha tha jo ki khada tha. Bas ab mujhse bhi control nahi ho raha tha. Mai khada hua aur apne lower utar ke side me faikh diya fir apni t-shirt bhi. Ab mai sirf apne underwear me khada tha. woh boli," yeh kya kar raha hai, tujhe sharam nahi aati". Mai bola," bhua, aap jaisi randi ko dekhkar sharam kaisi". Mai bhua ke boobs kameez ke upar se hi dabane laga.woh boli," pagal ho gaya hai kya, teri niyat theek nahi hai". phir ma ny kaha," chup kar saali, maine tum dono ki baatein sun li hai, chal ab nakhre mat kar, chal andar room me jaha wo dusri chudne ke liye taiyaar hai". phir woh hassne lagi. Maine usko wahi nanga kar diya.woh boli," arre, itni bookh hai kya, chal andar chal, hum dikhayenge ki sex kya hota hai. Hum dono room me aa gaye. Andar woh sirf bra me laiti thi aur lagataar us nakli lund ko apni choot me daal rahi thi. Maine andar aate hi darwaja band kar diya. Maine saba ko apne saath chipka liya aur unke dono hips dabane laga. choti bhi bhaag kar mere paas aa gayi aur mera lund pakadne lagi. Mai dono ko bed pe le gaya. Fir maine kaha,"chalo ab late jao". Dono late gayi. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Maine pehle saba ke boobs ko choosna shuru kar diya. saba boli," aahh..!! Saale ,Chooosss mere dono mummo ka saara doodh pee jaa...Aaaahhhh..". Fir mai sister ki ke boobs choosne laga aur bhatiji ne mera lund pakad ke muh me lene lagi. Ab maine fir dono ko kaha latene ke liye. Fir dono late gaye. Fir maine sabeen ki choot me apna lund ghusaya. woh chillane lagi," aramsy, meri choot phadega kyaa....". Mai bina sune lagataar jhatke maar raha tha. woh choti ke nipple choosne lagi. Fir maine apna lund barii ki choot me se nikaal kar choti ke muh me de diya. Choti use lollypop ki tarah choos rahi thi. pir boli," chal ab meri baari, mujhe bhi chod". Maine usko apne lund pe baitha liya aur phir woh koodne lagi aur moan kar rahi thi," aaahh.. Jor se...aaahhh.. Aur jor se..aaaahhh..bada maja aa raha hai..aahaaahhhh....!!". Aur mera paani uski ki choot me nikal gaya. Aur mai thanda ho gaya. Fir hum teeno nange ki baathroom me nahane gaye aur fir maine dono ko choda.kaisi lagi meri cousin sister ke saath sex. ascha lage to share karo .. agar kisine meri cousin sister ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/DinaSharma

Choti behan ki madad se badi behan ki chudai

Ye ek saath do behan ki chudai kahani meri pados me rahne wali ek muslim parivar ki jawan do behan ki chudai ki hai.aaj main bataunga kaise do behan ko choda.nabeela apne bhai behan ko chhodkar mere paas chudwane aa jati thi. Nabeela ko chodkar mera dil nahi bharta tha. Ek din mai office jaldi ghar aya to baahar hi nabeela dikh gayi. Usne kaha ki aaj uske ghar me karenge. Maine kaha koyi aa gaya to. Usne kaha ki mere parents to ek relative ke ghar gaye hai aur behan lubna college gayi hai. Wo shaam ko lautegi. Maine kaha thik hai. Mai uske ghar chala gaya aur mujhe wo apne bed room me le gayi jo ki upar tha. Uske bedroom ke samne hi uski behan lubna ka bed room tha. Uske parent aur bhai neeche rehate the. Room me jate hi maine nabeela ko jakad liya. Aur uske hontho ko chuste huye uski chunchiyo ko kameez ke upar se masalne laga.
Chunki ghar me koyi nahi tha isliye darwaja band karne ki jarurat nahi samjhi.. Darwaje par ek mota sa parda tha. Maine uski kameez ke upar se hi uske thos chunchiyon ko maslte huye uske gallon ko chum raha tha. Nabeela ne mere pant aur shirt ko khola.. Maine bhi uski kameez upar utha ke khol di. Ab wo ek sexy bra me thi. Maine bra ke upar se uske mamme par munh rakha to wo sihar uthi.. Aahhh.. Aisa mat karo.. Mujhe kuch hone lagta hai..” Maine kaha..”Meri jaan abhi to bahut kuch hoga..” Keh kar maine uski bra bhi khol di. Wo upar se nangi ho gayi thi. Gora badan.. Halanki mai use chod chukka tha fir bhi mera lund bekaabu hua ja raha tha. Usne hath badha kar mere lund ko mere underwear ke upar se pakda aur dabane lagi. Maine kaha kya kar rahi ho? Usne kaha meri cheez hai pyaar kar rahi hoon.ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Aur wo ghutno ke bal baith gayi aur mera lund underwear se nikaal liya.. Aur kaha” ye to har roz jyada lamba aur mota hota ja raha hai.. Kitna salona hai” keh kar usne mere lund ko kiss kiya aur uske supaade ko jeebh nikaal kar chatne lagi. Thodi der chatne ke baad usne mere andkosh ko halke se jeebh lagaya aur chusne lagi.. Maine use khada kiya aur kaha “ meri jaan aaj tumhe tumhare bed room me hi nanga kar ke chodunga..” Usne matkate huye kaha “chodo na kisne mana kiya..’ itna sunte hi maine uski salwar ka nada khinch ke khol diya salwar zameen par giri.. Usne pair jhatakte huye use dur fenka aur sirf panty me mere samne khadi ho gayi. Panty gulabi rang ki thi aur choot bhi gulabi.. Lekin uske jail se choot ki line aur samne ka gila hissa dikhne laga tha. Maine use khada kiiya aur uske peeche aa gaya.. Nabeela ko maine palang pakad kar samne jhukaya. Uski gori ubhari hoee gand mere samne thi.. Ohh kya gol aur chikni gaand .. Maine use chuma.. Choot dikh rahi thi.. Lekin peeche ubharne ke liye maine use samne aur jhukaya.. Fir choot ko panty ke upar se kureda.. Aur peeche chootado ke andar hath daal kar panty neeche kiya.. Uski gaand ka gulabi tight ched aur gili choot mere samne aa gayi.. Ab nabeela puri nangi thi. Mai ab ruk nahi sakta tha. Mere lund ke andar toofan macha hua tha. Maine lund par thook lagaya.. Uski choot to vaise hi bahut gili ho rahi thi. Maine uski choot ke ched par lund ko rakh kar dabaya.. Puch. Ki awaz ke sath mera supada andar ho gaya.. Aur nabeela ..uyiii.. Dheere.. Abhi bhi dard hota hai.. Maine uski kamar par hath fera fir kamar ko kas ke pakad kar ek dhakka lagaaya is baar mera adhe se jyada lund choot me ja chukka tha.

Maine hath badha kar uski chunchiyon ko meri hatheli me le liya.wo halke halke chilla rahi thi.. “ohh kitna mota hai.. Meri to bahut chaudi ho jayegi.. Ye sun kar mujhe aur josh aa gaya.. Maine lund ko peeche khincha aur is baar puri takat se dhakka lagaya aur..pura lund jad tak uski choot ke bahut gehrayi me pahunch gaya .. Nabeela aage ki taraf aur jyada jhuk gayi.. Sir palang par tika diya.. Ab maine use masalte huye jor dar chudayi shuru kar di.. Uski choot to lagataar paani chhod rahi thi.. Isase lund aur tezi se andar ja raha tha aur..fach..fachaak..fach. Fachaak ki awaz aur nabeela ki aahh.. Ohh.. Jor se.. Pura karma bhar gaya tha..tabhi maine dekha uski darwaje ka parda thoda hila.. Mai thoda dar gaya ki is jagah aur kaun aa gaya hai.. Fir neeche dekha to do gore nazuk pair dikhe... Mai samajh gaya ki ye aur koyi nahi nabeela ki kamsin behan lubna hai. Jo college gayi thi… shayad uske pas bhi flat ki chavi hogi aur wo andar aa gayi hai….aaj na jane kyu mera dil hua ki uski choot ka bhi maja liya jaye.. Maine nabeela se kuch nahi kaha… lubna ki bhi chunchiya mast thi aur chutad bhi ubhare huye the.. Vaise maine bataya tha ki luban alhad thi.. Lekin mai dekh raha tha ki parde ke peeche se wo jhank kar andar dekh rahi hai..aur shayad use bhi maja aa raha tha. Meri chudayi pure speed me thi. Tabhi nabeela boli.. Haaiii.. Mai gayii.. Aur andar daalo.. Jor se.. Aah.. Aahh.. Uff mai gayiiiiiiiiii.. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Aur wo jhad gayi aur palang par hi pet ke bal let gayi .. Mera lund uski choot ke andar hi tha. Maine dheere se lund ko baahar nikal aur jaldi se ja kar parda hataya.. Dekha samne lubna hai.. Wo jeans aur top me thi.. Maine uska hath pakda aur kamre me le aya..wo bilkul nashe ki halat me thi.. Hum dono nange the.. Maine lubna ko palang par bithaya to use dekhte hi nabeela ghabra gayi.. Haaii allaahh.. Ye kaise aa gayi.. Maine use chup rehane ka ishara kiya aur lubna ke hontho par mere honth rakh diye .. Ab jaise use hosh aya.. Wo chhutne ki koshish karne lagi.. Lekin maine mera hath uske mamme par rakha aur halke halke dabane laga. .kuch der resist karne ke baad wo shant ho gayi .. Asal me wo nabeela ki chudayi dekh kar vaise hi garam ho chuki thi… mai uske kareeb baitha aur fir use maine apni god me khincha.. Wo kehane lagi.. Plz kuch mat karna.. Maine kaha nahi karunga.. God me to baitho.. Kisi tarah se wo mere khade lund par baithi.. Maine uske hontho ko chuma.. Nabeela dekh rahi thi.. Usne kaha.. Ye abhi kunwari hai . Iske sath jyada kuch mat karna.. Maine kaha fikar mat karo.. Ise bhi maja lene do.. Jitna iska dil chahe utna to lene do… kyo lubna.. Achcha lag raha hai?” Kehate huye maine uski top ke andar hath dal kar uski bra ke upar se hi uske 34 size ke boobs mere hath me liye.. Ab wo sisiyane lagi.. Uske honth mere hontho se jude the.. Neeche mera lund uski jeans ke upar se use maja de raha tha. Uski height 5’2inch hai. Uski chunchiyon ka shape ekdum sakht aur gol gol hone ke karan meri hatheli me top ke upar se hi pure sama rahe the.

Lubna ka badan kaamp raha tha. Mai samajh gaya ki uski ankho ke samne abhi bhi nabeela ki choti se choot me mere mote aur lambe lund ka nazara ghum raha hai. Shayad wo neeche gili bhi ho chuki thi. Lubna aur nabeela dono ek hi height ke hai. She is 5’2” and having a risen boobs and a very good shaped buttocks. Uske gudaz nitamb mere lund ke upar the. Use maine apni taraf ghuma kar fir se uske honto ko chuma chusa aur peeche se hath daal kar top ko upar karte huye maine uska top nikal diiya.. Top nikalte hi gulabi bra me uske ubhar mere samne aa gaye aur wo bhi jaise honsh me aa gayi. Aur jaldi se khadi hoti hoee boli..”Aapa.. Inse kaho mere sath kuch na kare.. Mujhe dar lag raha hai.” Lekin nabeela ka raj use pata chal gaya tha aur wo kisi se bhi keh sakti thi isliye nabeela ne usase kaha.. “dekh ye kuch nahi karenge.. Tujhe thoda pyaar karenge mai tab tak toilet ja kar aati hoon tu inse baat kar” kehati huye nabeela ne apni panty pehani aur apne dono chunchiyon ko ubhare apne chutad matkaati kamre se nikal gayi.. Ab kamre me mai nanga aur lubna kamar se upar adhi nangi thi. Maine kaha “daro mat mai tumhe sirf pyaar karunga.. Abhi jab tum nabeela ko dekh rahi thi to kaisa lag raha tha?” Usne koyi jawab nahi diya. Maine uska hath pakad kar fir mere pas khincha.. Aur poonchha “bolo na.. Achcha nahi laga?’ usne kaha..”Achcha laga lekin mere pure badan me kuch alag feel ho raha hai. “ aur uski nazar mere uchalte huye mote lund par padi.. Wo abhi bhi nabeela ke choot ke juice ke karan chamak raha tha aur thumke laga raha tha. Maine use puchkarte huye fir meri god me khincha aur uske bra ke upar se uski chunchiyon ko sehlate huye kaha.” Kitne sundar hai ye.. Inhe hath lagane se kaisa lag raha hai?’ usne kaha “achcha”. Ab maine uske bra ke upar se uske chunchi par kiss kiya.. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.To wo sihar uthi.. Ishh… karte huye wo mere se chipakne lagi.. Maine uske honth par chumma liya aur hath peeche le ja kar uski bra ka hook khol diya.. Usne jadi se apne dono hath apne seene par rakhe.. “lubna jaan inhe chhupaogi to fir mai tumhe maja kaise dunga” kehate huye maine uska hath hataya aur uska hath mere fadkate huye lund par rakha aur kaha.. Pakadna hai to apne nazuk hath se ise pakdo” usne mere lund ko touch kiya aur bol padi..”Kitna sakht hai.. Aur kitna mota aur lamba.. Baji ke andar dala to unhe bahut dard hua hoga?” Maine kaha haan thoda dard to hua .. Lekin abhi tumne dekha baji kaise pyar se ise andar le rahi thi..use maja aa raha tha.” Aur maine ab uski jean ke upar se uski choot par hath rakha.. Usne mera hath wahi daba diya.. Mai samajh gaya aur maine uski jean ke button kholne shuru kiye.. Usne halka sa resist kiya.. Lekin mai kahan sunane wala tha.. Maine uski jean khol di.. Andar ek bahut choti se gulabi jail dar panty thi… aur.. Ufff. Uske choot ka wo ubhra pan.. Gaddedaar choot.. Lubna aur nabeela dono ki choot ek jaisi thi.. Lekin lubna ki choot kamsin thi.. Panty ke samne wala hissa gila ho chukka tha.. Us gile hisse par maine hath lagaya.. Aur lubna ke munh se “ouchhch.” Nikla.. Maine ab uske nipple par meri jeebh sakht karke use thoker marne shuru kiye.. Aur wo mast hone lagi.. Maine use palang par bithaya.. Aur uska hath fir se mere lund ke upar rakha.. Aur uske chehare se shuru kiya aur uske pure badan ko kiss karna shuru kar diya.. Usne mere lund ko pakda aur use upar neeche karne lagi. Itane me nabeela bhi room me aa gayi..”Ohh.. To meri guddo maja le rahi hai.. “ kehate huye wo bhi lubna ke paas baith gayi. Wo puri nangi thi..

Maine lubna ko bed par thoda peeche jhukaya aur uske boobs aur nipple ko chumne laga.. Wo.. Aahh..ohh.. Mujhe kuch ho raha hai.. “ aur chuso.. Maine uske nipple ek ek kar munh me le kar jor se chusna shuru kiya aur idhar uski panty ke upar se choot ko dabaya.. Choot kya ek naram mans ka tukda thi.. Puri gili ho rahi thi. Maine uski panty neeche ki taraf khinchi.. To usne jaldi se use hath se pakad liya aur kehane lagi..”Nahii.. Use mat nikalo.. Mujhe sharam aati hai” maine kaha “wahi to asali jagah hai pyar karne ki” usne kaha “nahi use nikalne ke baad tum ye mere andar dal doge.. Mai mar jaungi. Maine to aaj tak ek ungli bhi nahi dali.. Baji ne na jane kaise ye itna mota aur lamba pura le liya tha.. Mujhe to usme bhi bahut dard hota hai.” Maine kaha “nahi tum jab tak nahi kahogi mai nahi dalunga aur abhi to mai ise dekh raha hu..” Aur maine uski panty neeche ki usne ab apne chutad upar uthaye aur maine panty uske pairon tak khinch kar nikal diya.. Maine uski panty ko dekha wo choot wale hisse me puri gili ho chuki thi.Maine us hisse ko pehale sungha.. Waah.. Kya sexy smell thi uske choot ki.. Aur uske baad maine apni jeebh nikali aur us gili hisse ko jeebh se chata.. Ye sab lubna dekh rahi thi. Ab maine uski gulabi choot ki taraf dekha aur meri to jaise nazar atak gayi.. Kunwari choot.. Gori.. Ek bhi baal nahi.. Aur choot jaise ek moti darar..dono tarad fuli hoee aur beech ki daraar ekdum chipki hoee gulabi.. Maine halke se us darar par hath fera.. Chipchipa rahi thi.. Maine ek ungli se us darar ke andar se jhankte huye uske choot ke dane ko touch kiya.. Wo hamari chudayi dekh kar sakht ho chuka tha aur laal ho gaya tha.. Use maine anguthe se ragadte huye dabaya aur lubna cheekh padi.. Ohh…baajiii.. Ye kya ho raha mujhe… aahhh.. Maine uske honto ko chuma aur mai halke halke use sehlane laga aur lunbna bekarar hoti ja rahi thi..uski choot fadakne lagi.. Aur usme se aur paani nikalne laga.. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Maine ab apna chehra neeche kiya.. Uski jangho ko aur failaya aur choot ke upar apne honth rakhe aur choot ko chuste huye chumna shuru kiya.. Ab lubna mere sir ko apni choot par dabane lagi thi.. Tabhi maine dekha nabeela ne apne honth lubna ke hontho par rakhe aur uska hath lubna ki chunchiyon par uske nipple ko nichodne lage the.maine uski raano ko halke se sehlaya aur mere hath uske chutadon par pahunch gaye.maine uske chutad upar uthaaye aur ab meri jeebh sakht li aur choot ke gulabi daraar ko kuredne laga.. Meri jeebh uske choot ke fanko ko thoda failati huyi andar gayi.. Wo apne jangho ko sikodne lagi.. Maine apne hath se unhe dur kiya ab uske munh se..” Umm ..aah.. Achcha.. Lag rah hai.. Ohhh.. Haan.. Ab maine uske side me position liya aur mere sakht uchalte huye lund par uska hath rakha.. Usne ab mere lund ko apni muththi me pakda aur halke se use upar neeche kiya.. Mere munh se aahh.. Nikal gayi.. Uske naram hath lagte hi mera lund mano aur sakht hone laga. Mera 8 inch ka lund ab lohe ke rod jaisa ho chukka tha . Mera lund ek kunwari nangi ko bed par dekh kar mano pagal ho raha tha.. Ek hi ghar ki do kunwari choot mere lund ke naseeb me aayi thi. Lubna ka badan makhkhan jaisa mulayam tha. Aur pura badan laal ho raha tha jaise doodhiya rangat aa gayi thi. Uski chunchiyan badi nahi thi lekin aisa lag raha tha jaise do aadhe nariyal ulte rakhe ho. Uska pet chikna aur ekdum sapat tha. Aur uski choot.. Uska to kya kehna.. Lekin bahut tight aur choti si thi, meri jeebh ab adhi andar ja chuki thi.

Maine mere ungliyon se choot ko failaya ohh choot ka ched ekdum laal tha.. Maine us par jeebh lagayi aur lubna uchal padi.. “aahh.. Ye kar diya.. Haan wahi chato.. Aur jor se..ohh mera peshab niklega.. Mujhe bathroom jane do.. Aur wo uthane lagi.. Mai samajh gaya wo jhadne wali hai.. Maine sir utha kar kaha.. Tum yahi peshab karo mere munh me.. Aur fir se maine apni jeebh andar daal di. Aur tezi se andar bahar karne laga. Wo apne chutad upar neeche kar rahi thi.. Tabhi mujhe laga ki mera lund kisi ke munh me hai.. Dekha to nabeela ne mera lund apne munh me liya tha.. Lubna uske jad par pakde huye thi.. Aur nabeela apna munh hilate huye mere lund se apne munh ki chudayi kar rahi thi. Aur idhar lubna ne “aaahhh’’’ mera kuch ..niklaaaaa…. Ooohh.. Oohhh..aaahhh.. Gayiiiiiii..” Aur mere munh me usne bahuut tezi se garam garam paani chhod diya.. Mera munh bhar gaya.. Ab wo meri jeebh hatane lagi.. Wo ekdum shant ho gayi thi.. Udhar nabeela abhi bhi uske mamme aur nipple choose rahi thi aur haba bhi rahi thi.. Ab nabeela ne bhi samajh liya ki lubna jhad gayi hai.. Usne apne honth lubna ke hontho par rakha.. Aur hath badha kar mera fanfanata lund pakad liya.. Maine ab nabeela ko meri taraf khincha aur kiss karne laga… nabeela meri taraf ayi to wo leti hoee lubna ke upar se is tarah ayi ki uski choot lubna ke munh ke thik upar thi.. Uski choot ko apne munh ke upar paa kar lubna ne uski choot me pehale to ungli daali.. Nabeela ne palatkar dekha.. Aur muskurate huye kahan.. “banno.. Chat ise.. Aur jhijhakte huye lubna ne apni jeebh nikaal kar nabeela ki choot par lagaya.. Aur jeebh seedhe.. Nabeela ke choot ke dane se takrayi to nabeela ne apni choot uske munh ke upar dabayi.. Aur lubna ne jeebh choot ke andar daal di aur nabeela ke choot ka namkeen juice chatne lagi.. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Tabhi nabeela ke hath mere lund par aa gaya aur usne mere seene ko chumte huye apna munh mere lund par laya.. Use chata.. Aur fir munh me le liya.. Wo is tarah choos rahi thi ki itani der se lubna ki choot aur nabeela ki jaabh ki garmi se pera paani nikalne wala tha.. Maine uske munh se lund ko khincha aur fir maine nabeela ko khada kiya.. . Lubna jo ki bed par leti thi us ko bed ke kinare la kar uske pair faila diye aur fuli hoee choot ko sehlaya.. Fir maine nabeela ko zameen par ghutno ke bal baithne ko kaha.. Usne baithate hi fir se mera lund munh me le liya.. Aur maine jhuk kar lubna ki choot me apni jeebh laga di.. Lubna . Fir se garam hone lagi.. Wo apne chootad utha utha kar meri jeebh andar le rahi thi.. Aur apne hath se apne nipple masalne lagi.. “aahhh.. Haan.. Uff.. Mai pagal ho jaungii.. Bajii.. Meri choot me bhi .. Aaj lund dalwa do.. Ohh uncle.. Aaj mujhe bhi maja de do.. Maine ab nabeela se bed par chalne ke liye kaha aur use doggy style me is tarah kiya taki uski choot lubna ke munh ke paas aa jaye.. Aur maine lubna se uski choot ko chatne ko kaha.. Aur peeche se mera lund.. Nabeela ki choot par tikaya.. Aisa karte huye.. Lubna ko jeebh mere lund se takrayi.. To usne choot me dalne se pehale hi mere lun ko pakda aur apne munh me le liya aur 2 min tak chatne ke baad maine use nabeela ki choot me dala.. Nabeela ki halat kharab ho rahi thi.. Mere lund ka aage ha supaada andar jate hi usne khud apni chutad se peeche jor se dhakka diya aur pura lund andar le liya.. Maine uski kamar pakad li aur use jordaar dhakko ke sath chodna shuru kiya.. Tabhi lubna uske neeche se nikal kar ayi aur mujhe kiss kiya.. Maine apni jeebh uske munh me daal di.. Fir usne apni jeebh mere munh me daali.. Lubna bhi ab bahut garam ho rahi thi.. Mere dhakke nabeela ki choot par bahut joro se lag rahe the.. Nabeela ki mamme dhakko ke karan bahut tezi se jhool rahe the.. Idhar lubna ne uth kar apna lef mamma hath me pakda aur mere munh ke paas late huye kaha..”Ise.. Chuso.. Munh kholo.. Aur mere munh kholte hi usne jabardasti mere munh me uske mamme ka adhe se jyada hissa andar dhakela.. Mai use jor se chuste huye halke se katne laga.. Aur tabhi nabeela chillayi..”Jor se;; ooh.. Haan.. Meri chooooot.. Gayiiii.. Ohhhhhh.. Mujhe chodo .. Aur andar.. Mai chhutne wali hoon.. Aur iske sath wo apne chutad aur jor se hila rahi thi.. Aur fir wo jhatke dene lagi.. Mere lund ko andar se garam juice ka ahsaas hua.. Jhadte hi nabeela alag ho gayi aur usne lubna ko khinch kar litaya aur kaha.. Uncle.. Iski choot faad do..” Maine kaha lubna tayyar hai kya?” Lubna me meri taraf dekha aur kaha “haan.. Dalo.. Ab jo hoga dekha jayega… “ kehate huye wo apne pair faila kar let gayi.. Mera lund .. Maine uske choot ko failakar uspar ragda.. Upar neeche.. Lubna ki choot se bahut paani nikal raha tha.. Maine jhuk kar use kiss kiya.. Aur uske pairon ke beech apne ko adjust karte huye lund ko choot par tikaya.. Aur tabhi nabeela ne mujhe ishara kiya.. Aur khus uske hontho par khuk kar uske munh ko band kar diya..

Maine lubna ki kamar aur jangh sakh pakdi aur takat lagate huye lund ko andar dabaya.. Supaade ke andar ghuste hi..lubna chatpata uthi.. Lekin nabeela ne uska munh band kar rakha tha isliye.. Wo chilla nahi payi.. Maine thoda aur dabaya.. Lekin 2 inch jate hi lund fans gaya.. Mai samajh gaya ki aage uski seal hai.. Mai ruk gaya.. Kyoki lubna dard se karah rahi thi.. Uski ankho se ansoo nikal aye the.. Utan lund andar dale huye maine uske nipple munh me le liye.. Aur 3-4 min use bahut chooma.. Nabeela bhi use sehla rahi thi.. Dard thoda kam hote hi maine nabeela ko ishara kiya.. Usne fir uske munh par munh rakha aur maine lund ko halke halke aage peeche kiya aur ek hordaal dhakka diya aur lubna buri tarahchatpati.. Usne nabeela ka munh hata diiya.. Maine use bahut kas ke pakda tha.. Wo upar ki taraf sarkne ki koshish karte huye chillayi..”Mar gayiiii….. Mar dalaaaaaaa.. Nikall.. ..lo.. Mujhe nahi chudwana.. Mai ruka.. Aur ab mera hath uske bagal se daal kar uske kandhe pakde.. Aur use chumte huye lund ko andar bahar karne laga.. Uski choot bhi bahut tight thi.. Thodi der aisa karne se use thoda aaram mila.. Lekin wo rote huye keh rahi thi.. Bass ab nikaal lo.. Mai sehan nahi kar paa rahi hoon.. “ lekin maine ek nahi suni.. Aur fir kuch der me lubna ke munh se ..aaah.. Oohh..shhh.. Jaisi dard aur anand ki awaz aane lagi.. Maine ab lund ko supade tak bahar khincha.. Aur use kas ke pakadte huye ek dhakk diya aur lund gili choot me rasta banata hua.. Pura andar ghus gaya.. Mere lund par kuch garam garam mehsus hua.. Maine dekha.. Lubna ke khoon se chadar laal ho rahi thi uski gaand ke neeche…. Kunwari choot ki seal tut chuki thi. Mai bahut der se ruka hua tha.. Pehale.. Nabeela ki chudayi.. Fir.. Lubna ke choot ki chatayi aur mere lund ki nabeela ne ki chusaayi .. Fir nabeela ki choot ki chudayi.. Mujhe lagne laga ki mai jyada der nahi ruk paunga.. Lund aur sakht aur mota hone laga tha.. Aur us par lubna ki tight choot.. Maine ab uske dard ki parwah naa karte huye apne dhakko ki speed badhayi.. Aur ab lubna bhi apni kamar hila kar..”Aahh..haan.. Jor see.. Aur jorse… uncle.. ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.Mera fir se peshaab niklegaa.. Aahh.. Aahh.. “ wo mujhe apne kareeb khinch rahi thi.. Mere peeth ko jakad litaa. Shayad uske lambe nakhoon mere peeth me gadhne lage.. Aur mujhase jor se chipak kar lubna ne apna paani chillate huye nikala.. “aaaaaahh..aaaaah.. Uncle.. Mera niklaaaaa. Mai.. Moot..rahi.. Hoooonn.. Ohhhh..aammaa… gayiiiiiii… aur usne jo jhatke liye.. Uski jhatko ke sath maine apna lund jad tak uski choot me dhansa kar .. Meri pichkaari bhi chalu kar di… bahut der chudayi ke baad jhadne ke karan mere lund se bahut sara paani niklaa.. Aur lubna ki choot puri bhar gayi thi.. Mai uske upar hi let gaya.. Nabeela bhi baju me nangi leti huyi thi.. Thodi der baad dono ki saans thodi normal hoee.. Ab maine mera lund baahar nikala..”Pachch” ki awaz hoee.. Lubna ki choot dekhne layak thi.. Mera white cream.. Uska paani aur khoon sab ek saath bahar nikal kar gaand se hote huye chadar par gir rahe the.. Aur wo patli darar fail chuki thi..nabeela ne mere lund ko hath me liya .. Aur munh me lekar chatne lagi.. Lubna ne sir utha kar dekha.. Aur ishara kiya ki use bhi chatna hai.. Mai lund ko uske paas le gaya.. Aur dono behano me mere lund ko chat chat kar saaf kiya.. Ab shaam ho rahi thi.. Isliye hum teeno ne bathroom ja kar nahane ka faisla kiya.. . Teeno nange hi bath room me gaye.. Aur wahan fir dono behano ki dogy style me chudayi karte huye ek dusre ko saaf kiya.. Aur mai kapde pehan kar wapas apne ghar aa gaya.. Dusre din se.. Dono behane kabhi ek saath ya fir akele me aa kar mere lund ka maja leti hai.. kaisi lagi chudai kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisine shahnaz ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/ShahnazKhan

Rag day me teacher ki chut se holi

Ye chudai kahani teacher ki chudai ki hai. aaj main bataunga kaise rag day me english teacher ki chut mari. aur nanga kar ke doggy style me teacher ki gand mari. chod chod kar teacher ki gand aur chut dono ko phaila diya.mam ka naam shenaj the looking good aur fair in color par very modern stylist, mam ne mujhe question paper diya aur main objective dundh raha tha par usme objetive nahi the, so main has raha tha ke is paper me mera 0 fix hai so main has raha hoon eco mam ne mujhe notice kiya aur warning di ke has kyo rahe ho next time karoge tho paper le lungi.So maine comment kiya mam me paper me objective dhund raha tha par nahi mil rahe hai to class me sab hasne lage, mam bhadak gayi mujpe aur warning di aur fir kuch bola to main paper le lungi, maine kaha ok mam ab kuch nahi boluga fir dhire-dhire sab paper chhod ke ja rahe the kyoki paper kaafi mushkil tha, so main masti kar raha tha comment kar raha tha to mam ne aake mera paper le liya aur mujhe class se bahar jane ko bola, par maine sidhe mam ko bol diya main nahi jaunga meri galti kya hai, aapne mera paper fokat me le liya hai,
mam boli mat ja fir betha reh main tujhe paper nahi dene wali to maine bol diya its ok main so jaunga class me, fir wo boli to so jaao, so maine dhire-dhire mam ko maska lagane laga mam dona paper kam se kam ek answer to lik lu plz mam, to mam bolne lagi tujhe sona hai na fir so ja main nahi dene wali tujhe paper, fir maska continue kiya to mam boli agar 1 ya 2 answer likaga na fir main paper dungi, main ok mam bol ke beth gaya aur fir se ungli karne laga kuch na comment aur karne laga, mam mujhe notice karne lagi aur mere pass aake beth gayi aur bolne lagi, mam “tu konsa ans likhega”.Main “koi bhi ans”, mam “ghade law hai kuch bhi thokega to nahi claega tujhe koi case aata hai ya koi act aata hai to paper me likh”, main “mujhe kuch nahi aata hai? mam apko law aata hai na mujhe ek do aap bata do”, mam “sorry i cant do it”, ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.fir maine mam se unka naam pucha mam boli mera interview baad me le lena pehle paper ka soch aur baad me mujhe paper dene aayi, to maine mana kar diya ke mujhe nahi chahiye fir wo boli tum kyo nahi chale jate tujhe paper aur mera haath pakad ke betha diya aur mere pass beth ke 5 6 case batye silently aur maine paper likh liya aur us doran mam ne mujhe apna naam bataya aur hum kaafi mast hoke ek dusre se baat kar rahe the, jese she is my best friend aur main app sabko unki umar bata doon 25 saal fig 34,30,34 full maska fig aur maine dhire-dhire mam ka number manga fir mam ne mujhe mana kar diya aur maine kaha mam main law me bahut weak hoon aapse help le luga jab mujhe jarurat hogi, fir wo boli sirf matlab ke liye chahiye number main nahi dungi aur chali gayi, fir main paper deke chala gaya aur bahar floor pe masti kar raha tha aur mam bahar aayi aur staff room me chali gayi.kaisi lagi teacher ki chuda. ascha lage to share karo .. agar kisine teacher ke saath sex karna chahte ho to add karo Facebook.com/ShenajKhan

Thuk laga ke teacher ki gaand mari

Ye gaand marne ki kahani meri sexy tution teacher ki chudai ki ha.mere madam dekhne me thi ek dam mast har koi ladka uska dewana tha, madam jab koi sum samjhane ke liye jhukti to uske boobs dekhakar lund mehraj khda ho jata tha, saam ko tution khatm hote he mere roj ka yahi kam tha raat ko medam ke naam ki muti marni, kafi time beet gaya tha Lakin koi muka hi nahi mill rha tha kaise madam ko choda jaye, ek din me kafi der tak madam ke pass oad reha tha, dost ja chuke the, mujhse sum nikal nahi reha tha isliye madam ne keha jab tak sum na nikal jaye yahi rhna me laga hua tha lakin sum nahi nikla akhir ke madam ne keha lo me samjha deti hu kal nikal kar dekahna or madam samhjane lagi , mere nazar madam ke boobs se hat hi nahi pa rahi thi, safed bra me madam ke safed cuche kya dekh rehe the madam samjah gayi me kya dekh reha hu, madam boli Ue dekhne ki umar nahi hai tere, isliye hi to tu sabse kamjor hai, mere muh se ek dam nikal gaya aap ho aise dekhe bina nahi reh saka. madam ne guse me dekha or keha ghar ja ab kal ghar ati hu.

me dar gaya ab kya hoga. me bahut dar gaya, agle din school nahi gaya. madam school se sidhe ghar aa gayi, maa ne puchana start kiya to madam ne keha wiase he aa gayi, aaj kal apka ladka kafi sarrarti ho gaya hai, me kafi dar gaya. medam ne fir keha aaj school nahi aya na tution par jaldi aa jana aaj ka school work repeat Karwa dungi, madam ke jate hi me tyar ho kar tution ke liye chal pada, me sidha kitab rekha kar wiasehe gum reha tha dekha madam apni sahree badal rehi hai or room ka derwaja khula hua hai, me khada hoker dekhne laga, madam kale reng ki saree ko utar rehi thi, saree utarne ke baad kale rang ke peticot or blouse me thi. madam ne mujhe dekh liya or keha idher aa kya dekh reha hai, me dar gaya or andher chala gaya. medam ne keha kab se khada hai. me abhi se boli acha kuch dekha ya dekhna hai. madam ki ye baate sun Kar sochne laga , dekhna hai madam ne keha kya, me wo hi jo abhi tak nahi dekha, boli acha abhi mere pati ane wale hai or dusre student bhi, kal kuch karti hu. me bhut khush hua or kal ke bare me sochne laga. agle din tyar hokar school chala gaya. school me madam ke bare me hi sochta reha madam ne mujhe apne pass bulaya or keha, tu auto se jata hai na ghar mene ha keha boli me abhi lunch time me chuti le kar ja rehi hu, or school ke behar scooty par milungi tu apna bag utha kar baki class ka bunk kar le,kal koi Puche ga to me keh dungi mene di thi chuti, ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai.me behar chala gaya or madam apni scooty le kar behar aa gayi. me madam ki piche bat kar madam ki kusbhu lene laga madam thi kafi smart, dil bhut kush tha aaj chut milegi. ghar paunchkar madam bathroom ki tref jane lagi mene pucha kha ja rehi ho madam ne kha bathroom.mene keha me bhi chlta hu mujhe bhi karna hai. me or madam dono bathroom me. mdam ne keha kabhi chut dekhi hai mene mana kar diya. boli thik hai chal aa kar me kuch detei hu mene aa karliya Madam ne mere muh me muth diya. bhut maja aya. mene bhi apna lund nikal kar madam ke agye kar diya madam boli jaitna socha tha use kafi bada hai or muh me le liye, mene bhi madam ke muh me muth diya. uske baad madam ke kapde utarne laga. madam ab sirf bra me thi. madam ne mere bhi kapde utar diye.me bilkul naga tha or mere lund madam ko salmi de reha tha, madam ki bra bhi utar di. or me wahi madam ki chuche chusne laga, me pagal ho chuka tha mene pheli bar kisi aurat ko naga dekha tha, ji chahta tha chusta hi rahu, madam ne kha agar chus liye ho to bedroom me chale, fir hum bedroom me aa Gaye. hum 69 ki postion me aa gaye kuch der chusne ke baad mene keha madam merea niklne wala hai madam ne keha to kya nikal do mene madam ki muh me hi chod diya. madam ka bhi nkalne wala tha madam jor jor ki waze nakalne lagi. saale kute pi ja mere sab ah ah ah bhut maja aa reha hai. or tej chus or kuch der baad madam ka sara pani pi gaya madam ne mere chus kar duara khada kar diya tha. ab madam ko sofe par lita kar mene jaise he apne lund madam ki chut me dalne laga madam ne keha tail laga Kar kar mene keha tail ki kya jarrurt hai or bhut sara thuk madam ki chut me dal diya or apna lund madam ki chut me dal ka chodne laga.ye sex kahani newhindisexstory.com par paad rahe hai. baar kafithuk madam ki chut par dal deta tha jise gup gup ki awaz ane lagi or madam bhi chila rehi thi or jor se fad de mere chut. ah ah ah swad aa gaya or jor se. hah ah ah ah ah. kuch der baaf madam jhad juki thi or me madam ko chod reha tha, mene keha madam ji me apki gand mar lu who bloi ha kyu nahi mene fir kafi thuk lagaya or mdam ki gand me lund dalne laga. lakin Lund ja he nahi reha tha. tab madam ne aone dono hath se apne cuthad khol diye mere lund ab madam ki gand mar reha tha madam fir chila rehi thi kuch der baad me madam ki gand me jhad gaya or madam ke uper hi late gaya. uske baad do baar or madam ki chut mari. madam ko 2 sal tak khub choda mene fir me engineering karne ke liye behar chala gaya. jab chuti me ata to madam ko chode bina nahi reh sakta tha.kaisi lagi teacher ki chuda.. ascha lage to share karo .. agar kisine madam ki gand me chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/NidhiVerma

बाप ने बेटी को और बेटे ने माँ को चुदाई की पारिवारिक सेक्स कहानी

आज की पारिवारिक चुदाई की कहानी हम बाप बेटी,भाई बहन और मां बेटे की एक साथ ग्रुप चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे बेटी को चोदा,कैसे बेटी ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे बहन ने भाई से चुदवाये , कैसे बेटे ने माँ को नंगा करके चोदा,दीदी की चूचियों को चूसा ,माँ की चूत चाटी, माँ को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से बहन की चूत फाड़ी, मेरी बीवी का नाम कविता है. 36-32-36 फिगर है. मेरा बड़ा बेटा विनोद 19 साल का है ,दोस्तों इस कहानी का असली हीरो मेरा बेटा है जिसने अपनी मम्मी को अपने दोस्त मुकेश के डैड (रोहित) से चुदवाया और यह चुदाई हमारे सामने ही हुई. मुझे उस पर नाज़ है कि उसने हम सबको यह करने के लिए समझाया और बहुत मज़ा दिया. तो रोहित ने मेरी बीवीकविता को मेरे और मेरे घर वालों के सामने नंगी करके जमकर चोदा और हम उसकी इस चुदाई के मज़ा ले रहे थे.

तो एक दिन विनोद ने एक सपना देखा जिसमे उसकी मम्मीकविता को उसके दोस्त के डैड चोद रहे थे और उसके डैड और बाकी घर वाले मज़ा ले रहे थे औरकविता की बहुत जमकर चुदाई हुई और तभी उसकी नींद खुल गई. तो उसने महसूस किया कि उसका लौड़ा एकदम टाईट था और पूरा बदन पसीने से लथपथ था. उसने अपने लौड़ा को हाथ में पकड़ा और अपनी मम्मी के नाम से मुठ मारी और सो गया और सुबह उठकर वो अपने कॉलेज चला गया. तो उसने यह बात उसके कॉलेज के दोस्त को बताई. विनोद ने अपने दोस्त मुकेश से कहा कि यार मुकेश कल रात को मैंने एक सपना देखा, तो मुकेश ने पूछा कि अच्छा बता उसमे तूने ऐसा क्या देखा? तो उसने कहा कि मेरे समझ में नहीं आता कि तुम्हे कैसे बताऊँ? तो मुकेश बोला कि बिना झिझक बताओ, फिर विनोद बोला कि यार कल मैंने एक सपना देखा जिसमे मेरी मम्मी को तेरे डैड चोद रहे थे और मेरा बाप खड़ा खड़ा देख रहा था और मज़े ले रहा था. इतना ही नहीं मेरे दादा, दादी भी मज़े ले रहे थे.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो मुकेश बोला कि क्या यह चुदाई तुम्हारे घर में हो रही थी? और तुम्हारी मम्मी ने सफेद कलर की पेंटी पहनी हुई थी? जिसे मेरे डैड ने तेरे डैड को उतारने को कहा था. तो विनोद झटसे बोला कि हाँ यार, लेकिन यह सब तुझे कैसे पता? तो मुकेश बोला कि दोस्त तुमने और मैंने कल रात शायद एक ही सपना देखा है और मैंने तो यह सपना सुबह देखा और फिर विनोद बोला कि हाँ मैंने भी. तो मुकेश बोला कि मुझे तो लगता है कि यही भगवान की भी मर्ज़ी है तो विनोद बोला कि भगवान की मर्जी हो या ना हो, लेकिन में अब अपनी मम्मी को तुम्हारे बाप से चुदवाकर ही रहूँगा. तो मुकेश बोला कि लेकिन यह सब कैसे होगा? मेरा बाप काला तवा और तेरी मम्मी गोरी सुंदर. वो मेरे बाप से क्यों चुदवाएगी और फिर तुम्हारे डैड का क्या? तो विनोद बोला कि तू चिंता मत कर, में एक प्लान बनाता हूँ तू सिर्फ़ वैसा कर. तो मुकेश बोला कि में तेरी मम्मी को मेरे बाप से चुदवाने के लिए कुछ भी करूँगा, लेकिन यार अगर तुम्हारी मम्मी ने चुदवाने से इनकार किया तो? विनोद बोला तो हम उसका अपहरण करके चुदवाएँगे और फिर सिर्फ़ चुदाई ही नहीं बल्कि रेप होगा और वो भी दस लोगों से और तू फ़िक्र मत कर तेरे बाप का काला काला लौड़ा मेरी मम्मी की गुलाबी चूत में जरुर घुसेगा और चल अब में प्लान समझाता हूँ और उसने पूरा प्लान मुकेश को समझाया. मुकेश अपने घर पर रहता था और उसकी मम्मी के गुजरने के बाद उसके डैड ने दूसरी शादी नहीं की थी, इसलिए उन्हे जब कभी सेक्स की इच्छा होती तो वो मुठ मारते थे. तो एक दिन उन्हे मुठ मारते हुए मुकेश ने रंगे हाथ पकड़ लिया और फिर रोहित बहुत शर्मिंदा महसूस करने लगा. तो मुकेश बोला कि क्या डैड आप कितने दिन तक मुठ मारोगे? तो रोहित बोला कि मुझे माफ़ करना बेटा, लेकिन मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ.

मुकेश : तो डैड कोई लड़की या औरत को पटाईये.
रोहित : अब इस उम्र में मुझसे कौन पटेगी? में अब 47 साल का हूँ और दिखाने में काला और गंजा हूँ.
मुकेश : डैड मेरे एक दोस्त की मम्मी है आप कहे तो में बात आगे चलाऊँ?
रोहित : लेकिन क्या तेरे दोस्त और उसके डैड कुछ नहीं कहेंगे? उन्हे पता चला तो और वो भी क्यों तैयार होगी?
तो मुकेश ने डैड कोकविता की फोटो दिखाई, उस तस्वीर मेंकविता ने नीले कलर की साडी पहनी हुई थी और उसका गोरा पेट और पेट गहरी पर नाभि दिखाई दे रही थी. फिरकविता को देखकर रोहित की खुश हो गया और रोहित बोला कि बेटा, लेकिन इतनी सुंदर औरत मुझसे चुदवाएगी क्या तुम बेवकूफ़ हो? तो मुकेश बोला कि लेकिन डैड यह आइडिया मेरे दोस्त विनोद का ही है, रोहित एकदम चौंक गया, क्या? हाँ डैड और मुकेश ने कहा कि यह आइडिया उसी का है और फिर मुकेश ने रोहित को पूरी बात बता दी. तो रोहित बोला कि ठीक है में तैयार हूँ, फिर मुकेश ने कहा कि ठीक है, में विनोद को अभी बुलाता हूँ, आप उससे बात कर लीजिए, वो अपने साथ मेंकविता के और भी फोटो लाएगा तो आप ठीक तरह से उसे देख लीजिए. फिर मुकेश ने विनोद को फोन करके घर पर बुला लिया और विनोद आ गया. उसने अभी तक रोहित को इतनी ठीक तरह से कभी नहीं देखा था. रोहित 6 फिट उँचा काला, टकला और एक भद्दा आदमी था, लेकिनकविता को ऐसे ही आदमी से चुदते हुए देखने में मज़ा था.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो रोहित ने विनोद से पूछा कि बेटे तुम अपनी मम्मी को मुझसे क्यों चुदवाना चाहते हो? विनोद ने कहा कि अंकल मुझे सिर्फ़ मेरी मम्मी को चुदवाना है, लेकिन क्यों यह पता नहीं? और मेरी मम्मी जैसी सेक्सी रांड को आप जैसा सांड ही चाहिए. तो रोहित हंस पड़ा और वो बोला कि ठीक है बेटा में तुम्हारी मम्मी को चोदने को तैयार हूँ, लेकिन क्या वो तैयार है? और हम तुम्हारे बाप का क्या करेंगे? तो विनोद बोला कि आप मेरे बाप की चिंता मत कीजिए वो मान जाएगा. फिर रोहित बोला कि लेकिन बेटा मैंने तुम्हारी मम्मी को चोदा तो उसके आगे क्या? उसके बाद और क्या होगा? तो विनोद बोला कि फिर मेरी मम्मी आपकी रांड बनेगी और आप उसे हमेशा चोदना. में मेरी मम्मी को पूरी तरह से आपके हवाले करूँगा और फिर आप जो चाहे वो करना उसके साथ और आप चाहे तो उसे भरे बाज़ार में नंगी करो तो भी मुझे कोई आपत्ति नहीं और उसके जैसी छिनाल आईटम को आप जैसा मर्द ही चाहिए. फिर रोहित ने कहा कि ठीक है अब मुझे दिखाओ मेरी चिकनी चमेली के फोटो. तो मुकेश और विनोद दोनों हंसने लगे, विनोद ने कहा कि अंकल यह हुई ना मर्दो वाली बात. तो रोहित ने कहा कि बेटे विनोद जब में तुम्हारी मम्मी कविता की गांड मेरे लौड़ा से चोदूंगा तो वो होगी मर्दो वाली बात और फिर सब हंसने लगे.

फिर विनोद ने कहा कि अंकल मेरी मम्मी की गांड आपके लौड़ा की राह देख रही है और फटने को बेकरार है, अंकल आपका काला मोटा ताज़ा लौड़ा मेरी मम्मी की गांड चीर देगा तो बड़ा मज़ा आएगा. तो रोहित बोला कि ठीक है विनोद दिखा दे मुझे मेरी चिकनीकविता के फोटो. फिर विनोद ने रोहित कोकविता के फोटो दिखाए, रोहित ने कहा कि में अपना लौड़ा बाहर निकाल कर फोटो देखूँगा.कविता का पहला फोटो देखकर रोहित बोला किकविता डार्लिंग तुम इतने दिन से कहाँ थी? रोहित हर फोटो पर कॉमेंट कर रहा था और दोनों हंस रहे थे.कविता ने एक फोटो में जीन्स पहनी हुई थी उसे देखकर रोहित बोला कि देख मुकेश बेटा इस छिनाल ने क्या टाईट जीन्स पहनी है? साली की गांड तो गोल गोल है, मस्त मज़ा आएगा इस कुतिया की गांड मारने में. विनोद बेटा क्या इस छिनाल की गांड तुम्हारे हरामी बाप ने मारी है? तो विनोद बोला कि अंकल इस छिनाल की गांड अभी भी कुंवारी है. मुकेश बोला कि तो इस गांड को फाड़ने में बहुत मज़ा आएगा. तो विनोद बोला कि प्लीज तुम दोनों बाप बेटे इसकी गांड जरुर फाड़ दीजिएगा.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है.फिर सभी फोटो देखने के बाद रोहित बोला कि बेटे विनोद तुम्हारा बाप बहुत कमीना है जो ऐसे सेक्स बम को अकेला चोदा. तो विनोद ने कहा कि रोहित अंकल अब में मेरी मम्मी को पूरी तरह से आपके कब्जे में दे दूँगा. तुम मेरे बाप को इसे हाथ भी मत लगाने देना. तो रोहित बोला कि ठीक है बेटे, मुझे तुम पर पूरा विश्वास है तुम मेरीकविता मुझे जरुर दिला दोगे, विनोद बोला कि ठीक है अंकल. में अब चलता हूँ मुझे मेरे डैड को भी समझाना है और फिर विनोद वहां से चला गया और विनोद घर पर आकर अपने डैड को समझा रहा था, लेकिन उसका बाप सुरेश मान नहीं रहा था. आख़िरकार सुरेश मान गया और विनोद से बोला ठीक है बेटा मेंकविता की चुदाई उस रोहित से करवाने को तैयार हूँ और उसके बाद मेंकविता को उसके हवाले करने को भी तैयार हूँ, मुझे भी बहुत बार ऐसा ही लगता था कि तुम्हारी मम्मी को दूसरा कोई आदमी चोदे. तुम उसे घर पर बुला लो वो इस बहाने से उसे देखेगा. तो विनोद ने मुकेश को फोन किया और कहा कि मुकेश तुम अपने बाप को लेकर बाज़ार पहुँचो, वहां परकविता गई हुई है तुम उसे नज़र मत आना सिर्फ़ रोहित अंकल से बोलो कि उसको छेड़े और अपना चेहरा उसे दिखाओ. फिर सुरेश ने बोला कि मुझे उस आदमी की तस्वीर तो दिखाओ, विनोद ने सुरेश को रोहित की फोटो दिखाई उसे देखने के बाद सुरेश बोला कि यह तो बहुत काला है.

तो रोहित बोला कि काला है, लेकिन दिलवाला है.कविता बहुत अच्छे आदमी की बीवी बनाने वाली है. तो सुरेश बोला कि तो क्याकविता अब उसकी बीवी बनेगी? विनोद बोला कि हाँ अब से सिर्फ़ नाम के लिए आपकी बीवी रहेगी, चुदाई और बाकी के काम वही करेंगे और थोड़ी देर में मुकेश का फ़ोन आया. उसने विनोद से बात की सुरेश ने विनोद से पूछा कि क्या हुआ? तो विनोद ने कहा कि उन्होंने मम्मी को पहले पीछे जाकर गांड पर एक फटका मारा नाभि में उंगली की और गाल पर किस किया. तो सुरेश बोला कि क्या इतने लोगों के सामने? विनोद बोला कि अब तो सिर्फ़ किस किया आने वाले दिनों में रोहित अंकलकविता को उसी माल में पब्लिक के सामने नंगी करेंगे और चोदेगें. सुरेश अब पूरी तरह से समझ गया था और वो अबकविता की चुदाई के सपने देख रहा था. उसकी भी बरसो की इच्छा उसका बेटा विनोद पूरा करने वाला था. विनोद फिर एक बार रोहित से मिलने गया, रोहित विनोद से बोला कि बेटाकविता तो एकदम मक्खन है, धन्यवाद बेटा तुमने मेरी जिंदगी बदल दी. तो विनोद बोला कि अंकल एक और खुश खबरी है. आपके रास्ते का सबसे बड़ा रोड़ा मेरा बाप सुरेश मान गया है और वो आपसे मेरी मम्मी की चुदाई करने को तैयार है और बाद मेंकविता को आपके हवाले करने को भी तैयार हो गया है. तो रोहित एकदम उछल पड़ा और अब स्वर्ग सिर्फ़ उसके हाथ से दो कदम दूर था और रोहित भी अबकविता के साथ चुदाई के सपने देख रहा था और एक दिन सुरेश ने विनोद से कहा कि बेटा मुझे रोहित से मिलना है में भी तो देखूं कि मेरी बीवी को चोदने वाला आदमी कैसा है? तो विनोद बोला कि ठीक है और उसने रोहित से फोन पर बात कर ली और फिर सुरेश विनोद के साथ रोहित के घर पर चला गया. रोहित 6 फिट लंबा, थोड़ा सा मोटा, काला और टकला आदमी था. उसकी उम्र करीब 48 साल थी. तो रोहित ने सुरेश का और विनोद का स्वागत किया, लेकिन बहुत देर तक कोई भी एक दूसरे से बात नहीं कर रहा था और उस रूम में रोहित, सुरेश, विनोद और मुकेश बैठे हुए थे.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उस कमरे की दीवार परकविता की एक तस्वीर लगी हुई थी. उसे देखकर सुरेश ने विनोद से कहा कि यहाँ तो बहुत आग लगी हुई है और तभी सब लोग हंस पड़े और फिर रोहित बोला कि क्या बताऊँ साहब, आपकी बीवी है ही ऐसी चीज़?कविता जैसी सेक्सी औरत से मिलने के लिए नसीब की ज़रूरत होती है और यह तो विनोद बेटे की कृपा है कि वो मुझे मिलने वाली है. तो सुरेश ने कहा कि देखो रोहित मैंने भी मेरी बीवी को बहुत बार चोदा है, लेकिन आज कल मुझे भी उसे चोदने में उतना मज़ा नहीं आता है और अब तुम उसे चोद सकते हो, लेकिन पहले तुम्हे उसे पटाना होगा. तो रोहित बोला कि में तो विनोद बेटा जैसे कहेगा वैसा ही करता जाऊंगा, लेकिन सुरेश जी आपकी बीवीकविता बहुत ही गरम माल है. तो सुरेश बोला कि गरम ही नहीं बल्कि उसकी गांड में भी बहुत खुजली है. रोहित बोला कि आप चिंता मत करो में उसकी गांड की सारी खुजली और मस्ती भी उतार दूँगा और मैंने सुना है कि आपने आपकी बीवी की गांड नहीं मारी है? तो सुरेश ने कहा कि हाँ नहीं मारी, मैंने दो बार ट्राई किया था, लेकिन फिर भी मार नहीं पाया.

तो रोहित बोला कि अच्छा हुआ नहीं मार पाए, मेरे लिए उसकी गांड तो कुँवारी बची है. अब आप देखिए आपकी सेक्सी बीवी की गांड जमकर मारूँगा. तो सुरेश ने कहा कि बिंदास रोहित. फाड़ दे उस छिनाल की गांड. में अपना लौड़ा नहीं घुसा पाया कम से कम तुम्हारे लौड़ा से तो फटने दो मेरी हरामजादी बीवी की गांड को. तो रोहित बोला कि में मेरा लौड़ा भीकविता के मुहं में देने वाला हूँ और मेरा पानी पिलाने वाला हूँ में अभी बता देता हूँ. तो सुरेश बोला कि में मेरी बीवी को आपके हवाले कर रहा हूँ आप जो चाहे उसके साथ करो. उसे उठाकर, लेटाकर, खड़ा करके, उल्टा करके जैसी चाहे जहाँ चाहे और जब चाहे चोद दो और यह बात सुनकर सब हंस पड़े. तो विनोद बोला कि मुझे ऐसे लग रहा है कि में तुम दोनों की बातें सुनता ही रहूँ, मुझे कितना अच्छा लग रहा है. डैड आपको मम्मी के बारे में ऐसी बातें करते हुए मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. फिर सबने जमकर शराब पी और दूसरे दिन का प्लान करके सुरेश और विनोद घर लौट आए. आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो दूसरे दिन का पूरा प्लान विनोद ने सबको समझा दिया था और घर पर आने के बाद विनोद ने दादाजी और दादी को भी पूरा प्लान समझा दिया, उन दोनों को भी यह प्लान बहुत पसंद आया. तो दूसरे दिन विनोद नेकविता से कहा कि मम्मी आज मेरा दोस्त मुकेश और उसके डैड आने वाले है,कविता बोली कि ठीक है बेटा लेकिन वो लोग कब आने वाले है? तो विनोद बोला कि वो शाम के 4.00 बजे आने वाले है,कविता बोली कि ठीक है और शाम के ठीक 4.00 बजे मुकेश और रोहित विनोद के घर पर आ गए.कविता किचन में काम कर रही थी. तो सुरेश ने दरवाजा खोला, रोहित और मुकेश अंदर आ गए. रोहित ने सुरेश से धीरे से पूछा कि मेरी चिकनी चमेलीकविता कहाँ है? तो सुरेश ने कहा कि तो अंदर है, वो शायद तुम्हारे लिए कुछ बना रही है. तो रोहित ने कहा कि उसे कहो कि में आज उसे ही खाने आया हूँ और वो दोनों हंस पड़े. मुकेश और रोहित सोफे पर बैठे हुए थे और अंदर सेकविता पानी लेकर बाहर आ गई. उसने सफेद कलर की साड़ी पहनी हुई थी और उसने साड़ी नाभि से 4 इंच नीचे पहनी हुई थी और सफेद कलर का बिना बाँह का ब्लाउज पहना हुआ था. साड़ी का पल्लू ऐसे लिया था कि उसका एक बूब्स और नाभि दिखाई दे और जब कोई मेहमान घर पर आते है तोकविता हमेशा साड़ी कमर से ज़्यादा नीचे पहनती थी ताकि देखने वाले को उसकी सेक्सी नाभी अच्ची तरह से दिखाई दे और उसके होंठो पर हल्की सी गुलाबी लिपस्टिक थी. दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है.

फिर रोहित को देखते हीकविता एकदम चौंक गयी, लेकिन सब लोगों के सामने अपनी परेशानी को उसने जाहिर नहीं किया, उसने मुकेश और रोहित को पानी, चाय, नाश्ता दिया और चली गयी और थोड़ी देर इधर उधर की बातें होने के बाद रोहित ने कहा कि विनोद बेटे तुम्हारी मम्मी को बुलाओ मुझे उनसे कुछ कहना है. तो विनोद नेकविता को बुलाया,कविता बाहर आ गई तो रोहित बोला कि में तुम सब लोगों के सामने एक बात कहना चाहता हूँ, मैंने तुम्हारी मम्मी के साथ मॉल में बत्तमीजी की है, लेकिन में नहीं जानता था कि यह तुम्हारी मम्मी है.कविता जी में आप से माफी मम्मीगना चाहता हूँ. तभी विनोद की दादी बोली कि देखो बहू यह आदमी शरीफ लगता है, इसने तुमसे माफी मम्मीगी है इसे माफ़ कर दो, सुरेश भी बोला कि हाँकविता माफ़ कर दो. तोकविता बोली कि ठीक है रोहित जी और इधर उधर की बातें होने के बाद मुकेश और रोहित जाने को निकले उन्होंने सुरेश के माता, पिता के पैर छुए और सुरेश को बोले कि चलो सुरेश और दोनों गले मिले और विनोद को रोहित ने कहा कि चलो विनोद बेटे. तभीकविता भी बाहर आई. मुकेश बोला कि ठीक है आंटी बाय.कविता बोली कि बाय बेटे आते जाते रहना और रोहित बोला कि अच्छाकविता जी में अब चलता हूँ.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी सुरेश बोला कि रोहित तुमकविता कोकविता ही कहो, क्योंकविता? तोकविता बोली कि हाँ क्यों नहीं? तो रोहित बोला कि वैसे तो मेंकविता से दोस्ती करना चाहता हूँ, सुरेश बोला कि क्यों नहींकविता आगे आओ और रोहित से हाथ मिलाओ. तोकविता आगे आ गई और उसने रोहित से हाथ मिला लिया, तभी विनोद बोला कि अंकल आप और मम्मी सच में अब दोस्त हो गये हो तो अब आप दोनों गले क्यों नहीं मिलते? तोकविता शायद रोहित के गले नहीं लगना चाहती थी, लेकिन रोहित ने उसे बाहों में ले लिया और सब लोग हंसने लगे और तुरंत रोहित नेकविता के गाल पर एक किस कर दिया औरकविता शरम से पानी पानी हो गयी. फिर रोहित ने उसे थोड़ी देर उसे वैसे ही पकड़कर रखा. विनोदकविता से बोला कि मम्मी अब आप रोहित अंकल को एक किस करो. तोकविता बोली कि नहीं में ऐसा नहीं करूँगी, लेकिन सबनेकविता से कहा तो उसे रोहित को मजबूरी में किस करना ही पड़ा. रोहित नेकविता के होंठो को चूमा और सुरेश से पूछा कि क्या अब मेंकविता कोकविता डार्लिंग बुला सकता हूँ? तो सुरेश बोला कि मुझे इसमें कोई भी आपत्ति नहीं है. सुरेश के मम्मी, बाप यानीकविता के सास ससुर भी बोले कि हमारी तरफ से भी कोई मना नहीं है और विनोद तो बोला कि मेरी तरफ से रुकावट होने का सवाल ही नहीं आता, मुझे तो बहुत खुशी होगी. फिरकविता बोली कि ठीक है, लेकिन मुझे सोचने का थोड़ा वक्त चाहिए तो रोहित बोला कि ठीक है डार्लिंग तुम्हे हमने टाईम दिया बेबी और उसनेकविता के गालों पर एक और किस कर लिया और उसकी नाभि में भी उंगली की औरकविता तो शरम से पानी पानी हो गयी. फिर दूसरे दिन सुबह ही रोहित, विनोद के घर पर आ गया.

सुरेश के पिता नारायण ने दरवाजा खोला तो रोहित को देखकर नारायण ने कहा कि अरे रोहित बेटा सुबह सुबह कैसे आना हुआ? तो रोहित ने कहा कि अरे चाचाजी में यहीं से गुजर रहा था तो मैंने सोचा कि आपके दर्शन करता जाऊँ. फिर नारायण ने कहा कि ठीक है में समझ गया कि तुम किसके दर्शन करने आए हो? तुम तुम्हारी चिकनी चमेलीकविता डार्लिंग के दर्शन करने आए हो ना. रोहित शरमा गया और फिर नारायण ने कहा कि अरे बेटा शरमाना कैसे? आओ अंदर और रोहित अंदर आ गया. तभी सुरेश ने कहा कि वेलकम रोहित जी लगता है आपको रातभर नींद नहीं आई है? आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है.तो रोहित ने कहा कि में क्या बताऊँ रातभर सपने में एक सेक्सी माल आता रहा और वो दोनों हंस पड़े और तभीकविता किचन से बाहर आ गई. उसने आज नीले कलर की टाईट जीन्स और काली कलर का बिना बाँह का टॉप पहना हुआ था और फिरकविता को देखते ही रोहितकविता से लिपट गया औरकविता भी उससे आज खुलकर लिपट गई और वो दोनों एक दूसरे को चूमने लगे. आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो रोहित बोला कि क्या तुम मेरी डार्लिंग बनाने को तैयार हो?कविता बोली कि अगर यहाँ पर किसी को ऐतराज़ नहीं है तो मुझे क्यों ऐतराज़ होगा, फिर रोहित बोला कि तो क्या तुम मेरी बीवी बनोगी? तोकविता बोली कि लेकिन सुरेश का क्या होगा? तो सुरेश बोला कि कुछ नहीं तुम मेरी नाम के लिए बीवी रहोगी, असली बीवी तुम रोहित की ही रहोगी, रोहित कहेगा वो सब तुम करोगी, वो जब चाहे तुम्हे चोदेगा और जब चाहे तुम्हे नंगी करेगा. तोकविता बोली कि ठीक है चलेगा, विनोद बोला कि देख लो मम्मी रोहित अंकल तुम्हे हमारे सामने भी चोद सकते है. तोकविता बोली कि ठीक है बेटा मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है, विनोद बोला कि ठीक है रोहित अंकल आपकी बीवी को आप अभी हमारे सामने चोद सकते है. तो रोहित नेकविता को पूरी तरह से नंगा किया और रोहित खुद नंगा हो गया. सुरेश ने कमरे का दरवाजा जानबूझ कर खुला रखा था.

तोकविता बोली कि दरवाजा तो बंद कीजिए, विनोद बोला कि नहीं मम्मी आपकी चुदाई दरवाजा खुला रखकर ही होगी, ताकि अगली बार आपको शरम ना आए और जिस किसी को यह चुदाई देखनी है वो देख ले. तोकविता बोली कि ठीक है और रोहित नेकविता को पहले अपना लौड़ा चूसने को कहा.कविता भी बड़े शौक से लौड़ा चूस रही थी, सब देखकर हंस रहे थे. तो रोहित बोला किकविता मेरी जान क्या मस्त लौड़ा चूसती है तू. रोहित ने सुरेश से पूछा कि क्या इसने कभी आपका लौड़ा चूसा था? तो सुरेश बोला कि नहीं इसने कभी मेरा लौड़ा नहीं चूसा,कविता ने लौड़ा मुहं से बाहर निकाला और बोली कि में सिर्फ़ असली मर्दों के लौड़ा चूसती हूँ और सब हंस पड़े. तो सुरेश के पिता नारायण ने कहा कि बेटा यह छिनाल तुम्हे नामार्द कह रही है. तो सुरेश रोहित को बोला कि रोहित इस छिनाल, रंडी, कुतिया की आज गांड, चूत सब फाड़ दो. रोहित बोला वो तो में आज वैसे भी फाड़ने वाला हूँ,कविता बोली कि में भी मेरी गांड आज फड़वाकर ही रहूंगी और रोहित नेकविता के मुहं में पिचकारी मार दी. तोकविता ने रोहित का सारा वीर्य पी लिया और अब रोहित नेकविता को सोफे पर पेट के बल लेटा दिया और ऊपर से उसकी चूत में अपना ताज़ा, मोटा, काला लौड़ा डाल दिया. दोस्तों जैसे ही लौड़ा अंदर गया वैसेकविता चिल्ला उठी आईईईईईइ में अह्ह्हह्ह्ह्ह मर गइईईईईई मेरी चूत फट गई और सब लोग हंसने लगे. तोकविता की सास बोली कि देख रंडी आज तेरा सामना असली मर्द से हुआ है तुझ जैसी छिनाल औरतों को तो ऐसा ही मर्द चाहिए. तोकविता बोली कि सासू मम्मी आज यह मर्द मुझे पूरी तरह से खाने वाला है औरकविता विनोद से बोली कि धन्यवाद बेटा, मुझे असली मर्द देने के लिये और रोहित अब तेज स्पीड में लौड़ाकविता की चूत के अंदर बाहर कर रहा था औरकविता नीचे तड़प रही थी. दोस्तोंकविता की चूत कितने दिनों से आग में जल रही थी और रोहित का लौड़ा भी कितना तड़प रहा था. रोहितकविता को 20 मिनट तक चोद रहा था. फिर सुरेश बोला कि रोहित ठोक साली रंडी को और ज़ोर से ठोक इसकी चूत में आज अपना पूरा लौड़ा दे और फिर रोहित का दस इंच का लंबा लौड़ाकविता के बच्चेदानी में घुसकर हल्ला मचा रहा था और रोहित नेकविता की चूत में वीर्य गिरा दिया.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तो अबकविता भी शांत हो गयी और रोहित भी शांत हो गया और थोड़ी देर दोनों उसी पोज़िशन में रहे. रोहित ने लौड़ा को बाहर निकाला और देखा किकविता की चूत थोड़ी सी फट गयी थी और अब रोहित नेकविता को डोगी स्टाईल में बैठाया और पीछे से उसकी गांड में लौड़ा डालने को शुरुवात की रोहित का सुपाड़ा गांड के होल में घुसते हीकविता दर्द से चिल्ला उठी. तोकविता बोली कि रोहित प्लीज़ बाहर निकालो, मेरी गांड फट जाएगी तो रोहित बोला कि मेरी छम्मक छल्लो मैंने लौड़ा क्या बाहर निकालने के लिए अंदर डाला है, अब में तुम्हारी गांड फाड़कर ही दम लूँगा. उसने और ज़ोर से लौड़ा गांड के छेद में घुसा दिया. तोकविता की आँखे सफेद हो गई. उसकी आँखो के सामने तारे चमक रहे थे और चेहरा लाल हो गया था और दर्द से उसका बहुत बुरा हाल हो रहा था और फिरकविता बोली कि भगवान के लिए मेरी गांड से लौड़ा बाहर निकालो वरना में मर जाउंगी. तो सुरेश बोला कि रोहित बिल्कुल मत निकालना फटने दो इसकी गांड और मरने दो इसे. फिरकविता की सास बोली कि हाँ रोहित बेटे अब पीछे मत हटो फाड़ दो इसकी गांड,कविता बेटी थोड़ी हिम्मत रखो तुम सबसे बड़ी रंडी बनोगी.

तो रोहित ने कहा कि में भी एसी टाईट गांड थोड़ी छोड़ने वाला हूँ और रोहितकविता की गांड में अंदर बाहर लौड़ा करने लगा,कविता चिल्ला रही थी उईईईईई मम्मी उह्ह्ह्हह्ह मर गई, विनोद बेटे यह हरामखोर तुम्हारी मम्मी की गांड ही फाड़ देगा उईईईईई मम्मी आआअ बड़ा जालिम है और बिना फ़िक्र के रोहितकविता की गांड मार रहा था और उसनेकविता को कहा कि मदारचोद साली कुतिया और उसनेकविता की गांड पर एक ज़ोर का चांटा मार दिया. तोकविता बोली कि अबे साले हरामी मार मत. रोहित बोला कि फिर क्या तेरी पूजा करूं, रंडी चल हिला अपनी गांड और एक ज़ोर का चांटा मार दिया सटाक और सब लोग ज़ोर ज़ोर से हंसने लगे. तोकविता बोली कि मेरी यहाँ पर गांड फट रही है और तुम सब हंस रहे हो. विनोद आगे आकरकविता के बूब्स दबाते हुए बोला तो मम्मी आप अपनी गांड क्यों नहीं हिलाती?कविता बोली कि यह लो हिलाती हूँ और उसने गांड हिलाना शुरू किया और अब सभी और ज़ोर ज़ोर से हंसने लगे. तो रोहित बोला कि देखो विनोद बेटे तुम्हारी मम्मी कैसे रंडी जैसे गांड हिलाती है. हिला मेरी बेबीकविता और ज़ोर से हिला. तो विनोद बोला कि अंकल अबकविता आपकी रंडी है, रोहित बोला कि नहीं बेटा इस हरामजादी को में सच की रंडी बनाऊंगा. सुरेश तूने अब तक यह सेक्सी माल अकेले ने खाया है.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।  अब सारे शहर को इसे चोदने दो. तो सुरेश ने कहा कि रोहित मेरी बीवीकविता अब तुम्हारी गुलाम हो चुकी है तुम इसे जिसे चाहे और जहाँ चाहे चुदवा सकते हो. फाड़ दो साली की गांड और रोहित नेकविता की गांड पर ज़ोर ज़ोर से थप्पड़ जड़ दिए. तोकविता बोली कि आप मुझे इतना मार क्यों रहे हो? रोहित बोला कि तो क्या तेरी पूजा करूं? छिनाल कहीं की चल हिला साली तेरी गांड, नहीं तो आज फाड़ दूँगा और रोहित अपना लौड़ा अंदर बाहर कर रहा था.कविता दर्द से चिल्ला रही थी और सभी हंस रहे थे. दोस्तों यही वो सपना था जो विनोद ने देखा था और आज वो पूरा हो गया था. तभीकविता की गांड से खून आने लगा. रोहित ने फिर भी गांड में धक्के दिए शायदकविता की सील टूट गयी थी और सब लोग तालियां बजा रहे थे. तो रोहित ने लौड़ा बाहर निकाला तोकविता पेट के बल लेट गई, रोहित उसके ऊपर लेट गया. वो दोनों बहुत थक गये थे और आधे घंटे के बाद दोनों की नींद खुली. तोकविता बहुत फ्रेश महसूस कर रही थी और आज वो सुहागन बन गयी थी. रोहित का काम होते ही उसका बेटा मुकेश खड़ा हो गया और उसने भीकविता की जमकर चुदाई की और फिर रोहित और मुकेश बाप बेटे ने मिलकरकविता की चुदाई की, रोहित ने सबकोकविता की गांड दिखाई जो की थोड़ी सी फट गयी थी. फिरकविता ने नहाकर साड़ी पहन ली और सब लोग मंदिर चले गये. वहाँ पर रोहित नेकविता से शादी की, अबकविता सुरेश के साथ रोहित की भी बीवी बन गयी थी. रोहित नेकविता के सामने एक एग्रीमेंट रखा, जिसमे लिखा था किकविता रोहित की बीवी है और रोहित जिसे कहेगा उससे वो चुदाई के लिए तैयार है. तोकविता बोली कि यानी मुझे पूरी रंडी ही बनाना चाहते हो तुम लोग. ठीक है जैसी आप सबकी मर्ज़ी औरकविता ने एग्रीमेंट पर साइन कर दिया औरकविता अब पूरी तरह से रोहित की हो चुकी थी.कैसी लगी पारिवारिक ग्रुप सेक्स की कहानियों , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर तुम ग्रुप चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/KavitaSharma


दामाद ने चोद कर अपनी सास को प्रेग्नेंट बना दिया

आज जो दामाद और सास की चुदाई कहानी बताने जा रही हु वो दामाद से मेरी चुदाई की कहानी हैं । दामाद ने मुझे प्रेग्नेंट किया, दामाद ने मुझे नंगा करके चोदा, दामाद ने मेरी चूत और गांड दोनों को मारा और दामाद ने बेटी से पहले मुझे प्रेग्नेंट कर दिया .मेरा नाम मीरा है,मैं 38 साल की हु, और मेरी एक बेटी है सनम, सनम अभी 19 साल की है, मैंने उसकी शादी कर दी है आज से छह महीने पहले, शादी करने का कारन ये था की मेरे पति नहीं है, उनका देहांत हो गया है रोड एक्सीडेंट में, आज से ६ साल पहले, तो मैंने सोचा की आज कल का युग ख़राब है जवान बेटी घर में है, कोई गार्जियन भी नहीं है, तो अपने बेटी का रिश्ता किसी जानकार के द्वारा कर दी, लड़का इंजीनियर है, दिल्ली में रहता था, बात बन गई. क्यों की लड़का अकेला भाई है, मुझे लगा की इससे बढ़िया रिश्ता कोई और नहीं हो सकता.

शादी हो गई. मेरी बेटी दिल्ली चली गई. करीब दो महीने बाद मेरी बेटी और दामाद का फ़ोन आया की माँ जी आप अकेले क्या करोगी धनबाद में, आप मेरे यहाँ ही आ जाओ. मुझे अच्छा लगा क्यों की मेरा दामाद बेटे की तरह व्यबहार किया, और मुझे बुलाया, मैं चली गई. अपने बेटी और दामाद को देखकर मैं काफी खुश थी, क्यों की उन दोनों को किसी भी तरह से कोई दिक्कत नहीं था. और एक माँ को चाहिए ही क्या? तो दोस्तों मैं भी अपना सारे दुःख भूल गई. और ख़ुशी ख़ुशी रहने लगी. मेरा दामाद एक दिन बोला माँ जी आप विधवा के तरह मत रहो. आप अपने लाइफ का एन्जॉय करो. जो होना था सो हो गया, ये ज़िन्दगी दुबारा नहीं आता है. तो आपको अपने ज़िन्दगी को खूब अछि तरह से एन्जॉय करनी चाहिए. तो मैंने कहा मैं कर तो रही हु,
तो मेरा दामाद बोला की पहले तो अपने ये रूप रंग उसको ठीक करो. एक काम करना आज शाम को तैयार रहना, आज मैं ऑफिस से ३ बजे ही आ जाऊंगा उसके बाद मैं आपको स्पा ले जाऊंगा, वो ३ बजे आ गया और हम तीनो स्पा चले गए, वह मेरा मेक ओवर किया गया, फिर माल से मेरे लिए अच्छे अच्छे वेस्टर्न ड्रेस लिया, कैपरी और टी शर्ट. मैं भी खुश थी, वो दोनों मेरे चेहरे को देखकर कह रहे थे की मम्मी जी आप 25 साल की लग रही हो, ये बात सच है, की मैं बहूत जवान दिखने लगी थी. क्यों की मैंने अपने बॉडी पे हमेशा ध्यान दिया था, ऊपर से नहीं अंदर से. यानी की मेरा शरीर एक परफेक्ट शेप में है. मेरी ब्रा की साइज 34D है, मेरी कमर पतली पर मेरा जांघ मोटी मोटी है. मेरी चूचियां टाइट और होठ मेरे लाल लाल है. मैं बहूत ही ज्यादा गोरी हु,आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैं भी उनलोगों में ही रस बस गई और खुश रहने लगी. मैं अपने बेटी की बड़ी बहन की तरह दिखती थी ऐसा सारे लोग कहते थे. बस रात में ही तन्हाई होती थी. क्यों की मुझे अपने दूसरे कमरे से आह आह आह आह उफ़ उफ़ की आवाज आती थी. मेरी बेटी और दामाद की, और पलंग की आवाज आती थी. मेरी बेटी कहती थी धीरे धीरे, पर मेरा दामाद कहता था, रूक मादरचोद, अभी तो स्टार्ट ही हुआ है. और जब मेरी बेटी पुरे जोश में होती तब वो कहती. चोद ना साले, क्या हुआ, चूचियां किसके लिए है. तेरा बाप आकर दबाएगा क्या? और यही अब वो दोनों गन्दी गन्दी बात करता और मैं दूसरे कमरे में, नंगा होक अपने चूत को सहलाती और अपने चूचियों को मसलती. ऐसा ही चलता रहा. मैं वासना के आग में जलने लगी. अब तो मैं रोज रोज उसके कमरे के पास चली जाती जब वो दोनों चुदाई करते, और मैंने वह खड़े खड़े ही अपने चूत में ऊँगली करते रहती.

मेरी बेटी को सरकारी जॉब का जोइनिंग लेटर आया तो हमलोग खुश हो गए. मुझे भी लगा की सारी खुशियां मिल गई. पर एक दिक्कत थी. की मेरी बेटी बोली की मुझे २० दिन के लिए ट्रेनिंग में जाना है वो भी मुम्बई हेड क्वार्टर, हम दोनों को यही चिंता थी की अकेली लड़की कैसे रहेगी. पर वो कहने लगी आप लोग चिंता नहीं करो. सिर्फ बिस दिन की ही तो बात है फिर पोस्टिंग तो दिल्ली ही है, और मेरे साथ दो और लकड़ी है जो जा रही है. हम तीनो साथ रहेंगे. तो मुझे और दामाद जी को जान में जान आया, और थोड़े दिन बाद ही वो मुम्बई चली गई बिस दिन के लिए.दोस्तों मैं दिन भर बोर होती, शाम को दामाद जी आते. फिर वो मुझे बाहर घुमाने ले जाते. और मैक्सिमम टाइम हम दोनों बाहर खाना कहते और सप्ताह में दो दिन तो मूवी देखते, सच बताऊँ दोस्तों मुझे लगा ही नहीं को वो मेरे दामाद है. हम दोनों साथ साथ रहते और दोस्त की तरह बात करते. पर रात को हम दोनों अलग अलग रहते, तीसरे दिन ही दामाद जी बोले. मम्मी जी. जब हमलोग ऐसे दोस्त की तरह रहते है तो ये रात में अलग अलग क्यों रहते है. मैंने कहा कुछ तो मर्यादा होता है. तो दामाद जी कहने लगी. मैंने पहले ही आपको बोला था ना की ज़िन्दगी को एन्जॉय करो. मुझे लगा की मेरा दामाद नाराज ना हो इस लिए मैंने कहा ठीक है, और वो मेरे रूम में ही आ गया, सोने के लिए, उस दिन मैं पिंक कलर की नाईटी पहनी थी. आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।  अंदर मैंने ब्रा नहीं पहनी थी. मेरी चूचियां बाहर से पता चल रहा था की कैसी है. निप्पल तक बाहर से दिखाई दे रहा था. वो सब देखकर मेरे दामाद को रहा नहीं गया और बोल उठा, माँ जी एक बात बताऊँ आप सनम से ज्यादा हॉट और खूबसूरत हो. मैंने कहा चुप हो जाओ. मजाक मत करो, उसने फिर कहा, मैं मजाक नहीं कर रहा हु, आप वाकई में बहूत ही ज्यादा हॉट हो. मैंने कहा तो फिर क्या इरादा है. उसने करीब आके बोला आज आप मेरे लिए सनम बन जाओ. मैंने कहा नहीं नहीं ये सब नहीं करुँगी. उसने जोर देने लगा. और कहा मैं की नाराज हो जाऊंगा. मैंने सोचा की एक ही तो है चाहे दामाद कहूँ या बेटा, अगर ये नाराज हो गया तो मैं कही की नहीं रहूंगी. तो मैंने कहा ठीक है. पर आज के लिए है बस.

उसने कहा ठीक है. और हम दोनों एक दूसरे के करीब आ गए. मुझे थोड़ा ठीक भी नहीं लग रहा था क्यों की मैं अपने रिस्ते को क्या करने जा रहे थी. मैं अपने बेटी की ज़िन्दगी में एंट्री लेने जा रही थी. तभी दामाद जी का हाथ मेरे चूचियों को मसलने लगा और होठ मेरे होठ पे लग चुके थे. थोड़े देर तक तो शांत रही, फिर पता नहीं ६ साल की तन्हाई का उबाल आया और मैंने उसी के ऊपर चढ़ गई. और और मैं ऐसे चूमने लगी. की मानो मैं कई सदियों से प्यासी हु, और फिर हम दोनों एक दूसरे के कपडे उतार दिए. जब मैं पूरी नंगी हो गई. तो दामाद जी. मुझे ऊपर से निचे तक देखा और बोला वाओ, क्या चीज है. आज तक मैंने कभी ऐसी चिज नहीं देखि. सनम तो आपके सामने कही नहीं है. और वो टूट पड़ा मेरे ऊपर.दोस्तों उसने पहले मेरे चूत को खूब चाटा, मैंने भी उसके लंड को खूब चूसी, मैंने उसको अपने गोद में सुला की अपनी चूचियां खूब पिलाई. मैंने उसके muh में अपनी चूत खूब रगड़ी. उसने मेरे गांड को भी अपने जीभ से खूब चाटा, ये सब करीब चालीस मिनट तक चलता था. उसका लंड पत्थर के तरह हो गया था. उसने मेरे चूत पर अपना लंड का सूपड़ा रखा, और घुसेड़ दिया. दोस्तों मैं छह साल बाद लंड को अपने चूत में ले रही थी तो मेरे पुरे शरीर में वैसी ही गर्मी और सिहरन आने लगी थी जब सुहागरात को आई थी. आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर क्या था. उसने चोदना सुरु किया और मैंने भी उसके लंड को अपने चूत में लेके खूब मजे करने लगी. मेरे चूत से व्हाइट क्रीम निकलने लगा, मेरे दामाद हरेक पांच मिनट बाद वो मेरे चूत के क्रीम को चाट जाता, इस तरह से मुझे उसने करीब दो घंटे तक चोद चोद कर मेरे चूत का फालूदा बना दिया. मैंने भी उसके मोटे और लंबे लंड का खूब मजे ली.दोस्तों फिर हम दोनों दूसरे दिन, शिमला चले गए, तीन दिन का हनीमून का पैकेज लेके, वह जाकर तो दोस्तों वो तीनो दिन तक कभी भी मैं पेंटी नहीं पहनी थी. वो चोदता और मैं खूब चुदवाती. ये सिलसिला चलता रहा, जब बेटी वापस भी आ गई थी तब भी हम दोनों का जिस्मानी रिश्ता कायम रहा, पर मेरे पैर से जमीं तब खिसक गई जब मैंने चेक किया किट लाकर, की मैं प्रेग्नेंट हु, दोस्तों आज मेरे पेट में चार महीने का मेरे दामाद का बच्चा है. अब मुझे समझ नहीं आ रहा है. की क्या करें.कैसी लगी दामाद से मेरी सेक्स की कहानियों , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर तुम मेरी चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/MeeraSharma

लण्ड की प्यासी एक विधवा औरत की सेक्स कहानी

ये चुदाई कहानी एक विधवा औरत के साथ चुदाई की हैं. आज मैं आपको बाटूंगा कैसे विधवा औरत को चोदा होटल में, कैसे विधवा औरत को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से विधवा औरत की चूत मारी,
केसे मैने विधवा औरत की बड़ी गांड मारी.आंटी की पहली चुदाई के बाद मैने उनके साथ कई बार सेक्स किया और अलग अलग पोज़िशन मे उनको चोदा ये बात तब की हे जब मेरे घर पर कोई नही था मे अकेला ही था तो मे टीवी पर पोर्न मूवी देख रहा था वो मोविए अनल सेक्स की थी मुझे भी जोश आ गया और मे अपने लंड को बाहर निकल कर उसको सहलाने लगा और मूठ मरने लगा बड़ा मज़ा आ रहा था तभी मेरे दिमाग़ मे आंटी की गांड मरने का आइडिया आया तो मैने तुरंत आंटी को कॉल किया और अपने घर आने को कहा तब आंटी मार्केट गई हुई थी तो एक घंटे के बाद आने को बोला उस वक़्त उनको ये नही था की मे उनकी गांड चोदने के लिए उन्हे बुला रहा हू खैर कुछ देर बाद आंटी मार्केट से सीधे मेरे घर आ गई उन्होने मुझे बताया की वो अंडरगार्मेंट्स लेने मार्केट गई थी.

उस वक़्त टीवी पर एक गन्दी मूवी देख ही था तो आंटी भी सोफे पर मेरे से चिपक कर बैठ गई और अनल सेक्स देखने लगी. आंटी ने मुझ से पूछा दीपक ऐसे करने मे ज़यादा मज़ा आता हे क्या तो मे बोला नही आंटी मैने कभी किया नही इसलिए मुझे नही पता अगर आप को जानना हे तो चलो अभी ये भी ट्राइ कर लेते हे तो आंटी बोली नही नही मेरी गांड का छेद बहुत छोटा हे और ये तेरा लंड नही सह सकती टीबी मैने आंटी को थोड़ा फाॅर्स किया और समझाया तब जाकर आंटी गांड फदवाने के लिए राज़ी हो गई.तब मैने आंटी को कस कर पकड़ लिया और किस करने लगा आंटी भी मेरा साथ देने लगी कुछ देर हम ऐसे ही किस करते रहे और एक दूसरे की ज़बान को चूसने लगे दोस्तो इतना मज़ा आ रहा था की मे बयान नही कर सकता अगर आप भी ट्राइ करोगे तो टा चल जाएगा आप को फिर हम ने धीरे धीरे एक दूजे के सारे कपड़े खोल दिए कुछ ही देर मे हम दोनो नंगे हो गये मे आंटी की गांड पकड़ के सहला रहा था और आंटी मेरे लंड को पकड़ कर आगे पीछे कर रही थी और किस करते हुए हम दोनो बेडरूम मे चले गये और आंटी को बिस्तर पर पटक दिया और अपना लंड उनके मूह मे देकर खुद उनकी चूत की तरफ मूह कर उन पर चढ़ गया टीबी हम 69 पोज़िशन मे थे.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। आंटी मेरे लंड को पूरा का पूरा निगल रही थी जो गले तक जा रहा था और इधर मे आंटी की चूत को ज़बान से चोद रहा था जिस से हम दोनो को ऐसा लग रहा था जैसे हम जन्नत मे पहुच गये हो और आस पास का हमें कुछ भी पता नही था और हम आनंद के सागर मे गोते लगाने लगे.अब आंटी की चूत पानी चोदने लगी थी जिसे मे मज़े से चाट रहा था और उधर मेरा भी होने वाला था तो आंटी ने मूह मे झाड़ने को बोला मे अपने लंड को आंटी के मूह मे और जौर से दबाने लगा कुछ देर बाद मेरा भी पानी निकल गया और आंटी उसे पी गई. हम दोनो को थोड़ी थकान लग रही थी तो मे किचन मे गया और संतरे का जूस लेकर आया और हम ने पिया कुछ देर आराम करने के बाद आंटी फिर से मेरे लंड से खेलने लगी और वो भी धीरे धीरे खड़ा होने लगा.

अब मे भी आंटी की चूत को सहलाने लगा और अपनी एक उंगली चूत मे डाल दी जिस से आंटी की आह निकल गई उनकी चूत अभी भी गीली थी तो मेरी उंगली भी पूरी तरहा से चिकनी हो गई अब मैने उंगली को चूत से निकाला और उनकी गांड के छेद मे घुसा दिया जिस से आंटी कराह उठी अब मे उंगली को अंदर बाहर करने लगा और एक बार फिर एक ही झटके से पूरी उंगली उनकी गांड मे घुसा दी और आंटी चीख पड़ी अब मे आंटी के उपर चढ़ गया और किस करने लगा साथ ही अपनी उंगली से आंटी की गांड को चोदने लगा आंटी को मज़ा आने लगा और वो आआहह आअहह उऊहह करने लगी मुझे भी उनकी गांड मेडिया उंगली करना अच्छा लग रहा था अब आंटी का भी मन कर रहा था की मे लंड उनकी गांड मे डाल डू पर मे उनको और तड़पाना चाहता था इसलिए मे उठा और किचन से आइस के कुछ टुकड़े ले आया और उनको रग़ाद कर थोड़ा गोल कर अब मैने आंटी को सीधा लेटने को कहा और वो लेट गई.मैने कुछ आइस के टुकड़े उनकी नाभि पर रखे और उनके पेट पर मलने लगा जो आंटी को थोड़ा अजीब सा लगा पर मज़ा भी बहोत आ रहा था उनको इसीलिए वो आहे भर रही थी अब मैने एक टुकड़ा उठाया और धीरे से उनकी गांड मे घुसा दिया जिस से आंटी तिलमिला उठी और मैने अपनी उंगली से उसको और अंदर तक दबा दिया आंटी हहुउ आअहह सस्स ऊहह यार बड़ा मज़ा आ रहा हे आअहह मुउउहह उउउइमा मे मर जाउंगी अब जल्दी से लंड को घुसा गांड मे.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मे भी अब उतावला हो रहा था उनकी गांड फाड़ने के लिए मे खड़ा हुआ और आंटी की दोनो टॅंगो को ज़यादा से ज़यादा फैला दिया जिस से उनकी चूत और गांड दोनोसाफ नज़र आ रहे थे अब मैने 3 तकिये आंटी की गांड के नीचे लगा दिए उनकी गांड का छेद अब मेरे लंड के बराबर मे आ गया था मैने देर ना करते हुए अपने लंड को सेट किया और ज़ौर से एक झटका लगाया पर लंड फिसल कर उनकी चूत मे घुस गया मैने एक बार फिर ट्राइ किया इस बार लंड को गांड पर रख कर थोड़ा दबाया जिस से लंड का सुपरा गांड मे घुस गया पर आंटी चीखी और उछल पड़ी जिस से लंड वापस बाहर आ गया.

आंटी को ज़यादा दर्द हुआ तो अब वो गांड मरवाने के लिए ना बोलने लगी फिर मैने उनको किस करते हुए फिर से मनाया अब मे वॅसलीन की डिब्बी लाया और आंटी को घोड़ी बनाने को कहा आंटी घोड़ी बन गई और मे वॅसलीन अपने हाथ पर निकल कर उनकी गांड के छेद पर लगाने लगा और एक उंगली से उनकी गांड के अंदर भी वॅसलीन डाल दिया उनकी गांड चिकनी हो गई थी जिस से उंगली अब आराम से अंदर बाहर हो रही थी फिर मैने थोड़ा वॅसलीन अपने लंड पर भी माल दिया.अब मे फिर से गांड मरने के लिए उठा और लंड को गांड के छेद पर टीकाया आंटी अब भी घोड़ी बनी हुई थी और मैने इस बार ज़ौर से झटका लगाया जिस से मेरा आधा लंड आंटी की गांड मे घुस गया था आंटी चीखी और लंड बाहर निकालने की कोशिश करने लगी लेकिन वो लंड बाहर निकले इस से पहले मैने उनकी गांड को कस कर पकड़ाफिर एक ज़ौरडार झटका लगाया और अब पूरा का पूरा लंड आंटी की गांड मे फस गया था मुझे भी थोड़ा दर्द हुआ पर गांड चुदाई का मज़ा लेने के लिए मैने दर्द की परवाह नही की मे कुछ देर ऐसे ही रुका और आंटी का दर्द जब कम हुआ तो वो गांड हिलने लगी मे भी समझ गया और पलंगतोड़ चुदाई शुरू कर दी आंटी आअहह आअहह उउउहह फाड़ दे मेरी गांड को भी आज तो अभी तक कुँवारी थी आज इसकी भी प्यास बुझा दे आअहह उऊहह ससस्स और ज़ौर से चोद मेरे दीपक आआहह हं मज़ा आ रहा हे स्पीस और तेज कर आअहहा और ऐसे ही चिल्लाते हुए आंटी झाड़ गई पर मे अब तक लगा हुआ ही था कुछ देर बाद आंटी भी फिर से गरम हो गई और हम ने पोज़िशन चेंज की.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मे बिस्तर पर बैठ गया और अपने पेर लंबे कर दिए अब आंटी को मेरे लंड पर बैठाया और लंड उनकी गांड मे दे दिया और आंटी ने पैरों को मेरी कमर मे लपेट लिया अब आंटी धीरे धीरे उपर नीचे होने लगी और मे भी नीचे से अपनी गांड उठा कर उनको झटके लगा रहा था और मज़ा भी बहुत आ रहा था हम ने इस पोज़िशन मे 20 मिनट तक गांड चुदाई की अब आंटी से रहा नही जा रहा था तो अब हम नौरमल पोज़िशन मे आ गये और चुदाई करने लगे अब मेरा भी होने वाला था तो मैने भी अपनी स्पीड बड़ा दी और कुछ देर बाद मे आंटी की गांड मे ही झाड़ गया. शाम का टाइम हो गया था और अब आंटी को जाना था तो आंटी फ्रेश होकर अपने कपड़े पहन कर जाने लगी तो मैने उनको कस कर पकड़ा और किस किया फिर आंटी चली गई.कैसी लगी विधवा औरत की सेक्स कहानियों , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर तुम विधवा औरत के साथ सेक्स करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/NidhiVerma

चचेरी बहन रुपाली की कुंवारी चूत का उद्घाटन

आज जो चुदाई कहानी बताने जा रहा हु वो अपनी चचेरी बहन की कुंवारी चूत का उद्घाटन किया उसी की कहानी हु, मेरे पाप दो भाई भाई है, मेरे चाचा मुम्बई में रहते है और चाचा जी को बस एक बेटी है उसका नाम रुपाली है. गजब की खूबसूरत है, दूध की तरह गोरी है, आपको तो पता है बड़े घर की लड़कियां की खूबसूरती ही अलग होती है. वैसी ही थी मेरी बहन, भगवान् ने उसको बड़े ही खूबसूरती से बनाया था. मैं तो फ़िदा हो गया था उसी समय, गजब की टाइट टाइट चूचियां और गोल गोल जांघ, जब वो टेनिस खेलने जाती थी गजब की लगती थी ऐसा लगता था की मैं उसके कपडे फाड़ कर उसके चूत में अपना लंड पेल दू, पर ऐसा कर नहीं सकता, नही तो पता है ना आपको, मैं चाचा जी के घर से उठा कर फेंक दिया जाता. मैंने अपने लंड और दिल और दिमाग पर काबू रखा.


दिन बीतते गया, रुपाली की कजरारी आँख और होठ गुलाबी, जाँघे गोल गोल, चूचियां क्रिकेट की बॉल की तरह बड़ी बड़ी, गाल ऐसा की चूमने के बाद ही खून निकल जाये इतिनी गोरी. मैं उसको देखता तो मैं खो जाता था. एक दिन की बात है, मेरे चाचा जी और चाची जी. एक कंपनी के काम से दुबई चले गए, घर में मैं और मेरी बहन रुपाली थी, दोस्तों उस दिन संडे का था, मैं नहाने बाथरूम में जा रहा था, मैं अपना कपड़ा पहले ही उतार चूका था, और सिर्फ तौलिया लिपटे बाथरूम के पास गया, और दरवाजा खोलने से पहले ही मैं तौलिया गिरा दिया, क्यों की अब अंदर ही जाने बाला था मैं ऐसा अक्सर करता था क्यों की तौलिया दरवाजे के बाहर ही छोड़ देता था. और दरवाजा में धक्का लगाया और अंदर चला गया, अंदर जाते ही रुपाली नहा रही थी, वो चीख उठी क्यों की वो पूरी नंगी थी, और मैं भी नंगा था, मैं हक्का बक्का रह गया, ना तो कुछ बोल रहा था ना बाहर निकल रहा था ऐसा लग रहा थे मुझे सोक लग गया था.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। रुपाली अपने दोनों हाथो से चूचियों को ढके हुए थे और अपने चूत को जांघो से चिपकाये हुए थी और ऊपर झरना चल रहा था पानी उसके ऊपर गिर रही थी. मेरा लंड उसके बदन को देखकर लंड खड़ा हो गया था, और मेरी बहसि आँख उसको बदन को निहार रही थी. तभी रुपाली बोली भैया बाहर जाओ, फिर मैं बाहर निकल आया और बाहर पड़े तौलिये को लपेट लिया और अपने कमरे में चला गया. थोड़े देर बाद रुपाली आई अपने बाल में तौलिये लपेटे हुए और बाल को रगड़ते हुए, बोली क्यों आप अंदर आ गए थे, तो मैंने कहा मुझे लगा की तुम अंदर नहीं हो. पर अगर तुम अंदर थी तो दरवाजा बंद क्यों नहीं किया था. तो रुपाली बोली मैं भूल गई थी दरवाजा बंद करने के लिए. मैंने उसके चूंच को अभी भी निहार रहा था. और सोच रहा था काश वो मुझे दाबने और उसके निप्पल को चूसने के लिए मिल जाये तो मजा आ जायेगा.

फिर उस दिन दोनों खाना खाये और टीवी देखने लगे. हम दोनों एक दूसरे को देख रहे थे और मुस्कुरा रहे थे. क्यों की आज हम दोनों एक दूसरे को नंगे देखे थे. तो मैंने रुपाली से कहा रुपाली इसके पहले तुमने कभी किसी लड़के को इसतरह से देखि है. तो वो बोली नहीं और फिर उसने पूछी की आपने देखि है किसी लकड़ी को ऐसे मैंने कहा नहीं पहली बार देखा हु तुमको और अभी तक वही दृश्य सामने आ रहा है, फिर रुपाली बोली भैया एक बात बताओ पेंट के ऊपर से तो इतना बड़ा नहीं दिखता है पर बाथरूम में तो बहूत बड़ा और मोटा दिख रहा था . तो मैंने समझाया की की जब भी कोई लड़का लकड़ी को नंगे देखता है तब ये बड़ा हो जाता है. तो रुपाली बोली बड़ा होने का क्या मतलब है. तो मैंने बताया की लड़का लड़की जब मिलती है तो पता है ना सेक्स होता है. तो रुपाली बोली तुम मुझे बेवकूफ समझ रहे हो मैंने तो यों ही पूछ रही थी. मैं सब जानती हु, मैं पढ़ी लिखी और मॉडर्न हु, मेरे कई दोस्त है जो की सेक्स कर चुकी है. तो मैंने कहा की तुमने कभी किया की नहीं. तो वो बोली नहीं. मैंने कभी भी नहीं किया.आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं बहूत खुश था क्यों की, वो मेरे से खुल कर बात कर रही थी. मुझे लग रहा था की आज मैं कामयाब हो जाऊंगा. मैं ये सोच ही रहा था की रुपाली बोली क्या सपने देख रहे हो. मैंने कहा यार वही बाथरूम बाली सिन को ही याद कर रहा हु, रुपाली बोली क्या चाहते हो. मैंने कहा मैं तुम्हारे साथ आज रात बिताना चाहता हु, तो रुपाली बोली अगर ये बात पापा मम्मी को पता चल गया तो, तो मैंने कहा पता नहीं चलेगा, वो आज यहाँ है भी नहीं और वो जानेंगे कैसे. तो रुपाली बोली अगर तुम्हारा स्पर्म अंदर चला गया तो? तो मैंने कहा एक टेबलेट मिलता है खा लो फिर 72 घंटे तक सेक्स कर सकते हो. रुपाली बोली फिर ठीक है ले आओ. मैं तुरंत बाहर जाकर मेडिकल से वो टेबलेट ले आया, और आते ही मैं रुपाली को हग कर लिया वो भी मुझमे लिपट गई.

दोस्तों मेरा सपना साकार हो रहा था जिसको मैं ३ महीने से अपनी नजर से पि पि कर सपने देख रहा था वो आज मेरे बाहों में थी. फिर में उसके गुलाबी होठ को चूसने लगा. वो कह रही थी धीरे धीरे किश करना नहीं तो निशान लग जायेगा. मैंने उसके ऊपर के टी शर्ट को उतारा वो ब्लैक कलर की ब्रा पहनी थी. गोर बदन पे ब्लैक ब्रा तो और खूबसूरती में चार चाँद लगा रहा था मैंने उसका केपरी उतार दिया. वो हलकी पट्टी बाली पेंटी पहनी थी. ओह्ह्ह पीछे देखा तो वो पट्टी गांड में दन घुसी हुई थी और गोल गोल चूतड़ हिल रहे थे. मैंने ऊके चूतड़ को चाटने लगा. और फिर पेंटी उतार दी और ब्रा भी. मैंने उसको दोनों हाथो पे उठाया और नजर में नजर डाले हुए उससे बैडरूम में ले गया.उसको बेड पे पटकते हुए मैं उसके चूत को चाटने लगा. वो अंगड़ाई लेने लगी. मैंने उसके बूब्स को दबाते हुए उसको निप्पल को पिने लगा वो आह आह आह कर रही थी. फिर मैंने अपनी ऊँगली उसकी चूत में घुसाने की कोशिश की पर उसने कहा नहीं नहीं ऊँगली मत डालो फिर मैंने अपना लंड निकाल लिया, रुपाली की चूत काफी गीली हो चुकी थी पर अंदर कोई छेद दिखई नहीं दे रहा था, मैंने अपने लंड को चूत के ऊपर रखा और उसका पैर फैला दिया, फिर जोर से धक्का मारा लंड छिटक गया, फिर मैंने try किया और जोर से घुसाने की कोशिश की पर फिर नाकामयाब रहा, क्यों की बहन की चूत की छेद बहूत ही छोटी थी वो इसके पहले नहीं चूड़ी थी. फिर मैंने उसको घोड़ी बनाया, और फिर पिच्छे से लंड को उसके चूत पर सेट किया और एक धक्का लगाया और चूत के अंदर मेरा लंड फाड़ते हुए अंदर दाखिल हो गया. आप ये कहानी निऊ हिंदी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। दोस्तों वो रोने लगी और उसके चूत से खून निकलने लगा. मैंने उसके पीठ को सहलाया और बोला अब दर्द नहीं करेगा, और फिर धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करने लगा. वो थोड़े देर बाद मजे लेने लगी, और फिर क्या बताऊँ दोस्तों उसके मखमली बदन को चाट कर मैंने साफ़ कर दिया. और चूत को लाल कर दिया, चोद चोद कर. वो दर्द से चल नहीं पा रही थी जब पहली चुदाई के बाद बाथरूम जा रही थी वो टांगो को फैलाकर जा रही थी, दोस्तों उस दिन मैं रात भर रुपाली को चोद चोद कर परेशां कर दिया, वो भी खूब चुदी, अब हम दोनों रोज रोज चुदाई करते है क्यों की घर तीन बजे ही आ जाते है शाम को छह बजे तक हम दोनों एक दूसरे के जिस्म से खेलते रहते है.कैसी लगी मेरी चचेरी बहन की चुदाई कहानियों , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर तुम मेरी चचेरी बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RupaliSharma

सेक्स कहानियाँ,Chudai kahani,sex kahaniya,maa ki chudai,behan ki chudai,bhabhi ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter